You are currently viewing Amit Shah Biography in Hindi |अमित शाह जीवन परिचय

Amit Shah Biography in Hindi |अमित शाह जीवन परिचय

Quick Links

अमित शाह की जीवनी

पूरा नाम अमित अनिलचन्द्र शाह
जन्म स्थान मुंबई, महाराष्ट्र,भारत
जन्म तारीख 22 अक्टूबर, साल 1964
पेशा भारतीय राजनेता
पद भारतीय जनता पार्टी के वर्तमान अध्यक्ष, पूर्व विधायक, राज्यसभा के सांसद
माता का नाम
पिता का नाम अनिल चन्द्र शाह
पत्नी का नाम सोनल शाह
कुल भाई-बहन
कुल बच्चे एक बेटा
लंबाई 5’6
वजन 81 किलो
आखों का रंग काला
बालों का रंग सफेद
धर्म हिंदू
कुल संपत्ति 34 करोड़ के करीब (2014 तक)

गृह राज्य मंत्री अमित शाह की जीवनी व उनसे जुड़े विवाद

Amit Shah Biography in Hindi अमित शाह का संबंध भारतीय जनता पार्टी से है और वह इस पार्टी के अध्यक्ष के रूप में काम किया करते है और अमित शाह के दम पर बीजेपी ने कई ऐसे राज्यों में चुनाव जीते हैं

2019 के लोकसभा चुनाव के बाद अमित शाह को नरेंद्र मोदी की नई सरकार में अमित शाह को गृह राज्य मंत्री का प्रभार दिया गया है.





अमित शाह का जन्म और शिक्षा

महाराष्ट्र राज्य में एक गुजराती परिवार में जन्म 52 वर्ष शाह का जन्म सन् 1964 में हुआ था. इनके परिवार का संबंध गुजरात के मेहसाना गांव से है और शाह ने अपनी शुरुआती शिक्षा यहां के ही एक स्कूल से प्राप्त की है. शाह एक विज्ञान के छात्र थे Amit Shah Biography in Hindi और इन्होंने सी.यू शाह साइंस कॉलेज से विज्ञान के विषय में डिग्री प्राप्त की थी, ये कॉलेज अहमदाबाद में स्थित है.

अमित शाह का परिवार

इस अच्छे नेता के पिता का नाम अनिल चन्द्र शाह बताया जाता है और उनका अपना एक व्यापार हुआ करता था. इनकी मां का नाम कुसुमबा था और उनका क्या पेशा था, इसके बारे मे जानकारी नहीं है. वहीं इनकी पत्नी का नाम सोनल है Amit Shah Biography in Hindi  और इनका एक बेटा भी है. जिसका नाम जय शाह है और वो पेशे से एक व्यापारी है. जय ने निरमा विश्वविद्यालय से इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रखी है.

अमित शाह के राजनीति करियर की शुरुआत 

साल 1983 में RSS से जुड़े अमित शाह ने अपने कॉलेज के दिनों में ही राजनीति में आने का निर्णय ले लिया था और साल 1983 में ये अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुड़ गए थे. वहीं RSS से जुड़ने के बाद साल 1986 में ये बीजेपी पार्टी में शामिल हो गए और इन्होंने पार्टी के लिए publicity का कार्य करना Start कर दिया. इनको साल 1997 में पार्टी की ओर से विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए Ticket दिया गया था. Amit Shah Biography in Hindi जिसके बाद इन्होंने गुजरात की सरखेज विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा और इन्हें इस चुनाव में जीत मिली. फिर इन्होंने इसी सीट से लगातार तीन बारी और चुनाव लड़ अपनी जीत दर्ज करवाई.

साल 2019 में अमित शाह बने गृहमंत्री और लोकसभा अमित शाह ने गृह मंत्री का पद ग्रहण करते ही सबसे पहले जम्मू कश्मीर का आतंकवाद खत्म करने की ठान ली जो कि भारत देश के लिए नासूर बन चुका था।

जम्मू कश्मीर को दबाए रखने और वहां के बढ़ते हुए आतंक रोकने के लिए उन्होंने जम्मू कश्मीर में 35 ए का ध्वस्त किया और उन्होंने धारा 370 खत्म कर दी जिसके बाद जम्मू-कश्मीर का मुख्य हिस्सा भारत में जोड़ लिया गया। धारा खत्म होने के बाद वहां पर नए नियम बनाए गए और नए नियमों के अनुसार भारत में 1 राज्य और शामिल किया गया जिसके बाद जम्मू-कश्मीर से लद्दाख को भी अलग कर दिया गया। यह काम देश के गृहमंत्री अमित शाह द्वारा नतीजा दिया गया।

एनआरसी का मुद्दा –

देश को एक सबसे बड़ा झटका दिया लेकिन देश में से आतंकवाद और गैर कानूनी अपराध को कम करने के लिए उन्होंने यह कदम उठाया जिसे एनआरसी का नाम दिया गया। Amit Shah Biography in Hindi  जिसके तहत उन्होंने देश से कुछ ऐसे बांग्लादेशियों को बाहर निकालने की बात कही जो देश में unauthorized रूप से कई सालों से रहते आए हैं Amit Shah Biography in Hindi

नक्सलवादी का मुद्दा –

भारत में कुछ राज्य ऐसे थे जहां पर नक्सलवाद को लेकर भारतीय नागरिक परेशान थे जिनमें से एक छत्तीसगढ़ में हुआ एक बहुत बड़ा धमाका था जो नक्सलवादियों द्वारा नतीजा दिया गया था जिसके बाद अमित शाह ने नक्सलवादियों का ध्वस्त करके भारत से उन्हें प्रतिशोध करना। Amit Shah Biography in Hindi  उन्होंने नक्सलवादियों को यही विचार दिया कि यदि वे देश में रहना चाहते हैं और सरकार से बचना चाहते हैं तो वे अपने हथियार छोड़कर अपने को सौंप देना  ताकि हम उन्हें कुछ भी नहीं कहेंगे और उन्हें देश का नागरिक बना कर रखेंगे उन्होंने ऐसी strategy बनाई जिस पर अमल करना नक्सलवादियों के लिए जरुरी हो गया।

अमित शाह से जुड़े विवाद

फर्जी Encounter का आरोप (Fake Encounter Case)– साल 2005 में गुजरात में हुए एक Encounter में तीन लोगों को आतंकवादी बताते हुए मार दिया गया था. Amit Shah Biography in Hindi  लेकिन कहा जाता है कि इस Encounter के पीछे शाह का हाथ था. इस Encounter की जांच कर रही CBI ने इसे एक नकली Encounter बताया था. वहीं शाह पर आरोप लगे थे कि उन्होंने पैसे लेकर ये Encounter करवाया था.

गुजरात में Entry करने पर लगी रोक

शाह को साल 2010 में पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया था और इन पर हत्या और वसूली के आरोप लगाया गए थे. इतना ही नहीं कोर्ट ने इनको इनके राज्य से बाहर निकाल दिया था और राज्य में Entry करने पर रोक लगा दी थी. ये रोक साल 2012 में इनके ऊपर से हटाई गई थी.

गुजरात दंगों के सबूत साफ करने का आरोप

वर्ष 2002 में गुजरात में हुए दंगों को लेकर भी शाह विवादों में घिरे रहे थे. शाह पर आरोप लगाए गए थे गृह राज्य मंत्री अमित शाह की जीवनी व उनसे जुड़े विवाद कि इन्होंने इस दंगे से जुड़े सबूतों की मिटाने की की कोशिश की थी. शाह पर ये भी आरोप लगा था कि इन्होंने इस केस के साक्षी को उनका साक्ष्य बदलने पर मजबूर किया था.

महिला की भेदियापन करने का आरोप

साल 2009 में शाह पर एक बार फिर विवादों में आ गए थे, जब इन पर एक महिला की भेदियापन करने का आरोप लगा था. कहा जाता है Amit Shah Biography in Hindi कि शाह ने गैर कानूनी तरीके से और अपनी ताकत के दम पर एक महिला की भेदियापन करवा रहे थे. हालांकि शाह ने इन सभी आरोपों को गलत बताया था.

शाह को मिलती है जेड प्लस सुरक्षा

सरकार द्वार जेड प्लस सुरक्षा दी जाती है. शाह के साथ हर समय 25 कमांडो रहते हैं जो कि उनकी सुरक्षा करते हैं Amit Shah Biography in Hindi  साल 1982 में मिले थे मोदी से – अमित शाह और मोदी एक ही पार्टी के लिए कार्य करते हैं और ये दोनों एक दूसरे के काफी अच्छे दोस्त भी हैं. कहा जाता है कि साल 1982 में इन दोनों की पहली मुलाकात हुई थी, ये दोनों अहमदाबाद में आरएसएस के आयोजित हुए एक कार्यक्रम में आए थे. वहीं उस समय हुई इनकी ये छोटी से मुलाकात जल्द ही दोस्ती में बदल गई थी. stock broker के तौर पर भी किया है Amit Shah Biography in Hindi कार्य – शाह आज भले ही राजनीति में एक जाना मान चेहरे बन गए हों, लेकिन उन्होंने अपने करियर के शुरुआती दिनों में बतौर एक stock broker भी कार्य किया था. इतना ही नहीं कहा जाता है कि शाह ने एक संबंधी बैंक में भी कुछ समय तक अपनी सेवाएं दी थी.

साल 2002 में मिला मंत्री पद

जरात के विधानसभा चुनाव में जब बीजेपी पार्टी को जीत मिली, तो पार्टी ने शाह को राज्य के कई मंत्री पदों की जिम्मेदारी दे दी. जिस समय शाह को ये मंत्री पद दिए गए थे, तो उस समय प्रधानंमत्री नरेंद्र मोदी इस राज्य के मुख्यमंत्री हुआ करते थे Amit Shah Biography in Hindi  इतना ही नहीं साल 2000 में शाह की नियुक्ती अहमदाबाद जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष के तौर पर भी की गई थी और वो अपने राज्य के चेस एसोसिएशन के अध्यक्ष भी रहे चुके हैं.

साल 2014 में किया मोदी के लिए Publicity

एक ही राज्य से संबंध रखने वाले शाह और मोदी जी एक दूसरे को लंबे समय से जानते थे. वहीं साल 2014 में हुए लोकसभा चुनावों में शाह ने अपनी पार्टी और मोदी जी के लिए publicity का कार्य किया था Amit Shah Biography in Hindi  और इन चुनावों में अपनी पार्टी को magnificent जीत दिलवाई थी. इसके अलावा इन्होंने पार्टी के अन्य नेताओं के लिए भी publicity का कार्य किया था. साल 1991 में हुए लोकसभा चुनावों के दौरान इन्होंने लालकृष्ण आडवाणी के लिए भी चुनाव जीतने की strategy तैयार की थी.

साल 2014 में बनें बीजेपी पार्टी के अध्यक्ष

अमित शाह ने लोकसभा चुनाव में अपनी पार्टी को विजय बनाने के लिए कड़ी मेहनत की थी. वहीं उसी साल यानी 2014 में इन्हें पार्टी अध्यक्ष की जिम्मेदारी दे दी गई थी. जिसके बाद इनकी अध्यक्षता में पार्टी ने कई राज्यों में चुनाव जीते और साल 2016 में एक बार फिर इनको दोबारा से इस पद के लिए चुन लिया गया था. Amit Shah Biography in Hindi  परन्तु 2019 में लोकसभा चुनाव जीतने के बाद मोदी सरकार के नए cabinet minister में अमित शाह को गृह राज्य मंत्री (Minister of Home Affairs) बनाया गया है.Amit Shah Biography in Hindi  साल 2017 में इन्हें भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की और से राज्यसभा में भेजा गया था और इस समय ये राज्यसभा के member भी हैं. इन्हें गुजरात राज्य की सीट से राज्यसभा भेजा गया है

2019 लोक सभा चुनाव में अमित शाह का रोल 

अमित शाह जी ने सन 2019 के लोकसभा चुनाव में गुजरात के गांधीनगर से चुनाव लड़ा था, जिसमे उन्होंने कांग्रेस पार्टी के डॉ. सी. जे. चावड़ा को पीछे छोड़ते हुए 5 लाख से भी अधिक votes के margin से जीत हासिल की हैं, जिसके चलते उन्होंने लाल कृष्ण अडवाणी के 4.83 लाख votes का भी record तोड़ दिया. इस चुनाव में मुख्य रूप से मुकाबला बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह एवं कांग्रेस के डॉ. सी. जे. चावड़ा के बीच था. जिसमें बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह जी ने जीत हासिल की. चुनाव आयोग की वेबसाइट के मुताबिक अमित शाह जी ने 69.7 % votes प्राप्त किये. यानि इसमें अमित शाह जी को लगभग 8,80,000 votes हासिल हुए हैं.

2014 के लोकसभा चुनाव की तरह ही, 2019 के लोकसभा चुनाव में भी अमित शाह जी ने बीजेपी के लिए चुनावी strategy तैयार की थी. बीजेपी का चाणक्य कहे जाने वाले अमित शाह जी की मेहनत के चलते ही नरेन्द्र मोदी जी को 303 seats के साथ, पुरे देश से बहुमत मिला है. मोदी जी और अमित शाह की जोड़ी एक बार फिर Hit हो गई, और भारत देश में मोदी लहर की क्रांति आ गई.

काफी सारी rallies की थी, जिसमे उन्होंने जनता को यह भरोसा दिलाया कि मोदी जी एवं उनकी सरकार ही देश के विकास को आगे बढ़ा सकती हैं. और इस भरोसा के चलते ही चुनाव में बीजेपी ने पूर्ण बहुमत के साथ सफलता हासिल की और गृह राज्य मंत्री का पद हासिल किया.

FAQ –

Ques: अमित शाह का जन्म कहाँ हुआ है?

मुंबई, महाराष्ट्र, भारत


Ques: अमित शाह का जन्म कब हुआ था?

22 अक्टूबर 1964


Ques: अमित शाह की पत्नी का नाम क्या है?

कोमल शाह


Ques: अमित शाह की शिक्षा क्या है?

बीएससी जैव रसायन में


Ques: अमित शाह का पद क्या है?

भारत के गृह मंत्री प्रारंभ 2019


Ques: अमित शाह के कितने बच्चे हैं?

1 बेटा -जय शाह


Ques: अमित शाह विवाह दिनांक

साल 1987








3.3 3 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments