You are currently viewing Backlink Kya Hai Kaise Banaye 2022 

Backlink Kya Hai Kaise Banaye 2022 

BACKLINK KYA HAI  दोस्तों ,BACKLINK KAISE BANAYE हम आपको इस पोस्ट के द्वारा आपको यह जानकारी देंगे की बैकलिंक क्या है और कैसे इस्तेमाल करे और दोस्तों इससे जुडी सारी जानकारी आपको देंगे हम तो शुरू करते है यह है क्या आपको दोस्तों यह जानना चाहते है तो यह पोस्ट आप ही के लिए है SEO (सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन) के फील्ड में backlink kya hota hai इसका नाम काफी सुना जाता है SEO (सर्च इंजन ऑप्टिमिज़ेशन) में बैकलिंक काफी महत्वपूर्ण रोल निभाता है।

Backlink Kya Hai Kaise Banaye 2022 

इस समय कई ऐसे भी ब्लॉगर्स है जो ब्लॉगिंग के फील्ड में नए है और उन्होंने जल्दी ही एक नया ब्लॉग या वेबसाइट बनाये है, और उन्हें यह term backlink को समझने में काफी मुश्किल लगता है.BACKLINK KYA HAI अगर हम सरल भाषा मे आपको बैकलिंक के बारें में समझाए तो  बैकलिंक SEO का एक बहुत ही महत्वपूर्ण भाग है ? बैकलिंक की सहायता से हमारे ब्लॉग या वेबसाइट की अथॉरिटी बिल्ड होती है.

BACKLINK KYA HAI 

BACKLINK KYA HAI जब कोई हमारे ब्लॉग या वेबसाइट का url अपने वेबसाइट पर दे देता है तो उसे हम बैकलिंक कहते है.अगर हम इसको सरल भाषा मे समझे तो मान लीजिए BACKLINK KYA HAI  कि एक ब्लॉग आपके पास है. और एक ब्लॉग आपके किसी एक दोस्त के पास है.अगर आपके दोस्त में आपके ब्लॉग के किसी लिंक को अपने वेबसाइट पर दे दिया तो आपको एक बैकलिंक मिल गया, इसकी को बैकलिंक कहते है.

बैकलिंक के कुछ महत्वपूर्ण टर्म्स

 Link Juise :- जब हमारे वेबसाइट या किसी वेबपेज के लिंक को कोई अपने वेबसाइट या वेबपेज से लिंक करता है तो इसे हम सर्च इंजन ऑप्टिमिज़ेशन (SEO) की भाषा मे हम उसे link juice कहते है. Link Juice से हमारे ब्लॉग की अथॉरिटी बढ़ती है और हमारे ब्लॉग को सर्च इंजन में रैंक होने में काफी सहायता करता है.

 Do-Follow Link :– जब कोई हमारे वेबसाइट के किसी भी url को बिना no-follow attribute के लिंक करता है तो उसे हम Do-Follow बैकलिंक कहते है.Do-Follow लिंक कुछ इस प्रकार का होता है –

<a href=”yourwebsiteurl”>Link Text</a>

No-Follow Link :- जब कोई हमारे किसी वेबपेज के url को अपने वेबसाइट से no-follow attribute के साथ लिंक करता है तो उसे हम no-follow बैकलिंक कहते हैं.No-follow बैकलिंक का स्ट्रक्चर कुछ इस प्रकार का होता है.

 <a href=”yourwebsiteurl” rel=”nofollow”>Link Text</a>

Linking Domain Root :– आपकी वेबसाइट या कोई वेबपेज कितने यूनिक डोमेन से लिंक होता है  जैसे कि मान लीजिए कि आपके किसी वेबपेज का लिंक एक ही वेबसाइट पर 5 बार लिंक है. तो उसे हम एक Linking Domain Root कहेंगे.इसे referring domain भी कहते है.BACKLINK KYA HAI 

Anchor Text :– Anchor text वह text होता है जिसपर हम hyper linking करते है अगर आप किसी पर्टिकुलर कीवर्ड पर रैंक करना चाहते है तो आप उस कीवर्ड का anchor text बैकलिंक बनाकर काफी आसानी से सर्च इंजन पर रैंक करवा सकते है।

Inter linking :- जब आप अपने किसी वेबपेज को अपने ही किसी दूसरे वेबपेज के साथ लिंक कर देते है तो उसे interlink कहते है.

बैकलिंक कितने प्रकार के होते है?

आमतौर पर बैकलिंक केवल दो ही प्रकार की होती है पहला Do-Follow backlink और दूसरा No-Follow backlink.

Do-Follow Backlink

इससे Do-follow बैकलिंक link juice पास करने में काफी मदद करती है ? Do-Follow बैकलिंक सर्च इंजन (Google, bing, yahoo, etc.) पर रैंक होने में काफी सहायता करता है.

Do-follow लिंक से आपके ब्लॉग की अथॉरिटी बढ़ती है ? और इससे आपके ब्लॉग या वेबसाइट को एक high-quality की बैकलिंक मिलती है  Do-फॉलो बैकलिंक का स्ट्रक्चर कुछ इस प्रकार का होता है –

<a href=“https://www.yourwebsiteurl.com”> Link Text</a>

Or

<a href=“https://www.yourwebsiteurl.com” rel=”dofollow”>Link Text</a>

Or

<a href=“https://www.yourwebsiteurl.com” rel=”external”>Link Text</a>

No-Follow Backlink

जब आपका वेबसाइट या वेबपेज किसी दूसरे वेबसाइट के साथ no-follow एट्रिब्यूट के साथ लिंक होता है तो उसे no-follow बैकलिंक कहते है.इससे आपके सर्च इंजन रैंकिंग में ज्यादा इफ़ेक्ट नही पड़ता है. लेकिन कुछ नही से no-follow बैकलिंक बहुत ही अच्छा है No-Follow बैकलिंक का स्ट्रक्चर कुछ इस प्रकार का होता है.

<a href=“https://www.yourwebsiteurl.com” rel=”nofollow”>Link Text</a>

Or

<a rel=”dofollow” href=“https://www.yourwebsiteurl.com”>Link Text</a>

बैकलिंक कैसे बनाये?

अभी तक दोस्तों हमने आपको बैकलिंक क्या है यही समझ आया होगा और इसके कितने प्रकार है यह मालूम है और बैकलिंक के कुछ इम्पोर्टकण्ट टर्म.कीबात करते है यह है क्या और कैसे बनता है किस टाइप के बैकलिंक से हमारे वेबसाइट आ सकता है काफी सारे तरीके है जिनके सहायता से आप क्वालिटी बैकलिंक बना सकते है दोस्तों हम आपको सरल भाषा में आपको बतायेगे

Question-Answer वेबसाइट को जॉइन करें।

बैकलिंक बनाने का पहला तरीका है कि Question- Answer की वेबसाइट को जॉइन कर लें जैसे कि Quora, आदि  यहाँ पर आपको अपने वेबसाइट से रिलेटेड टॉपिक को सर्च करना है.और उस question का आपको एक अच्छा-सा आंसर देना है और answer के लास्ट में आपको अपने उस question से रिलेटेड वेबपेज का लिंक दे देना है.BACKLINK KYA HAI  इससे आपके एक do-follow बैकलिंक भी मिल जाएगी और referral ट्रैफिक भी आएगा.

Guest Post

दूसरे नंबर पर आता है Guest Post का मतलब होता है.कि आप आने वेबसाइट से रिलेटेड किसी दूसरे वेबसाइट के लिए एक पोस्ट लिखना पड़ता है.और इसके बदले उस वेबसाइट का ओनर आपको एक do-follow बैकलिंक देता है.

Guest Post एक बहुत की effective तरीका है do-follow बैकलिंक बनाने का। और guest post से मिलने वाले लिंक को हम Do-Follow बकलिंक कहते है.

Broken Link

Broken link एक तरह से dead लिंक होता है अगर कोई यूजर किसी ब्रोकन लिंक पर क्लिक करता है तो वह 404 page पर redirect हो जाता है.आप अपने टॉपिक से रिलेटेड बड़े-बड़े वेबसाइट के ब्रोकन लिंक को ढूंढना है BACKLINK KYA HAI और उस वेबसाइट के ओनर से कांटेक्ट करके उनके ब्रोकन लिंक के बारें में उन्हें बताना है.और कहना है इससे जगह वह आपके उसी टॉपिक से रिलेटेड आर्टिकल को लिंक दे

बैकलिंक, इन्टर्नल लिंक और लिंक में क्या अंतर है।

कई लोग बैकलिंक्स और लिंक्स के बारे में काफी confused रहते हैं, जबकि ये दोनों काफी ही सरल है किसी भी वेबपेज का url जब किसी जगह पर इस तरह मौजूद होता है कि उस पर click करके लोग उस webpage तक पहुँच सकते हैं तो उसे ‘Link’ कहते हैं। जब किसी साइट के किसी वेबपेज का url, किसी दूसरी साइट पर link के रूप में मौजूद होता है तो उस लिंक को ‘Backlink’ बोलते हैं। कोई भी link बैकलिंक तभी माना जाएगा BACKLINK KYA HAI जबकि वह किसी दूसरी साइट पर हो। यानि backlink के लिए दो अलग-अलग साइटें होना अनिवार्य शर्त है। BACKLINK KYA HAI

जब हम अपनी ही साइट की एक पोस्ट को दूसरी पोस्ट से link करते हैं तो इस प्रकार के लिंक को ‘Internal Link’ कहा जाता है। इन्टर्नल या आंतरिक लिंक एक ही वेबसाइट के दो अलग-अलग webpages को जोड़ता है।

बैकलिंक SEO के लिए क्यो इम्पोर्टेन्ट है

Backlink SEO के लिए बहुत ही इम्पोर्टेन्ट है इसके इम्पोर्टेन्ट जानने से पहले हमें यह जानना बहुत जरूरी है कि SEO के लिए हमे कहा से बैकलिंक बनाने चाहिए। BACKLINK KYA HAI जब भी आप बैकलिंक बनाये तो यह जरूर ध्यान दें कि बैकलिंक same niche वाले वेबसाइट से ही बनाएं.

मान लीजिये की आपकी वेबसाइट फैशन से रिलेटेड है आप किसी दूसरे फैशन से ही रिलेटेड वेबसाइट से बैकलिंक बनाना है.BACKLINK KYA HAI अगर आप अपने फैशन से रिलेटेड वेबसाइट को किसी गेमिंग रिलेटेड वेबसाइट से बैकलिंक बनाते है तो यह आपने वेबसाइट के रैंकिंग को एफेक्ट कर सकता है.

High Quality Backlinks kaise Banaye

किसी भी New Blogger को धीरे-धीरे ही समझ में आता है कि Backlink Kya Hai और ब्लॉगिंग के क्षेत्र में बैकलिंक्स का क्या महत्व होता है। ब्लॉग के SEO को improve करने के लिए Backlinks कितने जरूरी हैं? लेकिन अपने ब्लॉग के लिए Quality Backlinks बनाना किसी भी New ब्लॉगर के लिए बिल्कुल भी सरल काम नहीं होता।

आपके New Blog के लिए High Quality Backlinks बनाना बहुत ही जरूरी है ताकि आपके ब्लॉग पर ज्यादा से ज्यादा Visitors आ सके और आपके ब्लॉग को भी लोग जानने लगे। BACKLINK KYA HAI क्योंकि Backlinks की वजह से जितना ज्यादा अच्छा SEO आपके ब्लॉग का होगा उतने ही ज्यादा Visitors आपके ब्लॉग को Visit करेंगे तथा आप उतना ही ज्यादा पैसा अपने ब्लॉग से कमा सकते हैं। चलिए जानते हैं कि आप अपने ब्लॉग के लिए Backlinks कैसे बना सकते हैं

Comment करना Start करें।

अपने ब्लॉग के Niche वाले दूसरे Blogs की Posts पर Comment करना शुरू कर दीजिए। ऐसा करने से आपको Do-Follow Backlinks तो नहीं मिलेंगे लेकिन No-Follow Backlinks की मदद से आपकी Blog Posts को गूगल में Rank होने में काफी मदद मिलेगी। Comments केवल उन्हीं Blogs या Websites पर करें जिन पर आपको Comment लिखने के दौरान अपनी वेबसाइट का URL डालने का Option भी मिलता हो। इसलिए कमेंट करते समय अपने ब्लॉग या अपनी किसी Post का URL डालना बिल्कुल न भूले।

Awesome Content लिखे।

अपनी New ब्लॉग के लिए Quality Backlinks प्राप्त करने का यह सबसे अच्छा तरीका है। एक अच्छा Content ही किसी भी ब्लॉग की जान होती है।कोशिश करें कि आप अपने ब्लॉग पर Visitors को एक अच्छा Content दे सके ताकि उन्हें उसके द्वारा प्राप्त जानकारी से कुछ सीखने को मिले। एक अच्छा कंटेंट लिखने के बाद On Page SEO की सहायता से भी आपकी Blog Posts गूगल के 1st Page पर Rank हो सकती है।

Guest Post भी जरूर करें।

काफी सारे Bloggers अपने ब्लॉग में ही Guest Post करने का Feature add करके रखते हैं। High Quality Do-Follow Backlinks प्राप्त करने का यह तरीका आजकल ब्लॉगिंग क्षेत्र में काफी ज्यादा प्रचलन में है। अगर आप एक High Authority वाली Website या Blog से Backlinks प्राप्त करना चाहते हैं BACKLINK KYA HAI तो उनके ब्लॉग के लिए Guest Posting एक बहुत ही बढ़िया तरीका है। ऐसा कर आप अपने ब्लॉग को दूसरे Blogs की सहायता से Promote कर सकते हो। जिससे दूसरे Bloggers तथा उनके Visitors भी आपके ब्लॉग के बारे में धीरे-धीरे जानने लगेंगे तथा आपके ब्लॉग पर भी धीरे-धीरे Traffic बढ़ने लगेगा। हमारे ब्लॉग INDIGYAN में Guest Post करने के लिए यहां क्लिक करें।

साइट के लिए बैकलिंक क्यों जरूरी हैं

आपने ये तो जरूर सुना होगा कि वेबसाइट को गूगल में अच्छी position पर रैंक कराने के backlinks बनाना बहुत जरूरी होता है। लेकिन क्या आपने कभी जानने की कोशिश की हैBACKLINK KYA HAI  कि backlinks और हमारी साइट की Google Rankings में क्या connection है और आखिर क्यों गूगल किसी वेबसाइट को मिले backlinks के आधार पर उसकी ranking decide करता है?

किसी वेबसाइट का link अपनी साइट में देते हैं यानि किसी साइट को backlink देते हैं तो उसके पीछे कारण क्या होता है। ज्यादातर बार हम अपनी साइट में किसी दूसरी साइट का link सिर्फ और सिर्फ इसलिए देते हैं ताकि हमारे readers को किसी चीज के बारे में आसानी से ज्यादा जानकारी मिल जाए या फिर आसानी से उस वेबसाइट तक पहुँच सके। ज्यादातर cases में हमारा किसी वेबसाइट को backlink देने का कारण इनमें से ही कोई एक होता है।अब दोस्तों यह बताइये की आप ऐसे ही किसी की भी वेबसाइट का लिंक देते है या नहीं 

हममें से ज्यादातर लोग सिर्फ और सिर्फ उसी वेबसाइट को backlink देते हैं पहला जो कि useful होती है और दूसरा जिसपर कि हमें यकीन होता है।

इस बात को घुमाकर कहे तो ,और गूगल उसी वेबसाइट को अपने सर्च में top पर रैंक करना चाहता है जो कि लोगों के लिए useful हो और भरोसेमंद हो।और इस तरह अगर किसी वेबसाइट को बहुत सारी अच्छी साइटों से backlinks मिलते हैं तो गूगल की नज़रों में वह साइट लोगों के लिए useful और trustworthy हो जाती है ultimately वह अपने सर्च में उस साइट की rankings को बढ़ा देता है।

Backlink Benefits

बैकलिंक से काफी फायदा है. लेकिन, गूगल टीम का कहना है बैकलिंक से कुछ नहीं होता है. गूगल सर्च इंजन बैकलिंक कैलकुलेट नहीं करती है. जहाँ तक हम समझते है  बैकलिंक बहुत जरूरी है. बैकलिंक से आसानी से रैंक किया जा सकता है और लोग इसका उपयोग रैंकिंग बढ़ाने में कर रहे हैं. शुरूआती समय में Low Quality Backlink से भी Ranking में मदद मिल जाता था लेकिन, आज बैकलिंक का काम करने का तरीका बदल गया है. बैकलिंक से भी ज्यादा जरूरी है Unique Quality Content बैकलिंक तो इस बैकलिंक्स हमेशा Quality Sites से ही होनी चाहिए। जब तक Quality Backlink नहीं होगा कुछ भी नहीं हो सकता है. इससे पहले भी एक पोस्ट लिखा गया था SEO के लिए बैकलिंक कितना जरूरी है? इस पोस्ट को पढ़िए आपका कांसेप्ट और भी क्लियर होगा। और दोस्तों इसके फायदे आपको निम्न दिए है

Improve Organic Ranking

यदि वेबसाइट का कोई पोस्ट या पेज किसी अच्छी वेबसाइट से लिंक है तो वहां से भी ट्रैफिक मिलेगा और सर्च इंजन में उसकी रैंकिंग बहुत अच्छी हो जाएगी।

Post Indexing and Crawling

ब्लॉग पोस्ट को इंडेक्स कराने का कई तरीका है. जिसमें बैकलिंक काफी सहायता  करता है या तो आप मैन्युअली हर एक पोस्ट को क्रॉल करवाओ या अच्छी वेबसाइट से लिंक करने के  बाद सर्च इंजन बोट उस लिंक के जरिये आपके कंटेंट को भी इंडेक्स करने लगता है.  एक नई वेबसाइट या ब्लॉग के लिए यह बहुत जरूरी है. इससे Fast Indexing होती है और ब्लॉग पोस्ट जल्दी रैंक कर जाता है.

Referral Traffic

Google Analytics में देखा है आपकी वेबसाइट या ब्लॉग पर कहाँ से ट्रैफिक आ रहा है. नहीं तो आज ही देखिये यहाँ रेफरल ट्रैफिक भी दिखेगा। जिस किसी भी वेबसाइट से बैकलिंक मिला होता है वहां से भी बैकलिंक मिलता है. यही Referral Traffic है. जैसा की नीचे स्क्रीनशोर्ट में देख सकते हो.

दोस्तों आपको यह हमारी इस पोस्ट बैकलिंक क्या है और इससे जुडी जानकारी आपको दी है यदि आपको पसंद आयी है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताये और दोस्तों आप हमारी इस पोस्ट को अपने दोस्तों तक जरूर शेयर करे

धन्यवाद


Q-क्या backlinks आज भी काम करती हैं ?

जी हाँ, backlinks आज भी काम करती हैं। लेकिन हाँ, Google के algorithm अब ज़्यादा फ़ोकस कर रहे हैं कांटेंट की क्वालिटी के ऊपर, लेकिन फिर भी backlink का अपना ही महत्व होता है।

Q-एक दिन में कितने backlinks बनाना safe माना जाता है ?

एक दिन में 10 backlinks बनाना safe माना जाता है और ये आपके वेबसाइट के growth के लिए भी सही होता है। 

Q-क्या एक backlink को toxic बना देती है ?

Toxic backlinks ऐसे backlinks होते हैं जिनका कुछ महत्व ही नहीं होता है। ये ख़ास तोर से तैयार किए गए होते हैं सर्च रैंकिंग को हेरफेर करने के लिए। यदि कोई backlink किसी बहुत से ख़राब साइट यानी की ऐसी साइट जिसकी कोई टॉपिक किसी भी प्रकार से relevant नहीं होती, या ऐसी साइट जो अभी तक इंडेक्स भी नहीं हुई है गूगल के द्वारा से मिलती है तब ऐसी backlink को Toxic backlink कहा जाता है। ये सभी चीजें backlink को toxic बना देती है।


Related Link:

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments