You are currently viewing Blockchain Technology Kya Hai  कैसे काम करता है

Blockchain Technology Kya Hai कैसे काम करता है

Blockchain Technology Kya Hai  यह कैसे काम करता है – Blockchain क्या है in Hindi  ,  Blockchain Technology के बारे में और भी जानकारी में है अपने यूट्यूब वीडियो में भी है वहां से भी इसकी और ज्यादा अधिक जानकारी ले सकते हैं इसके अलावा Blockchain Technology का फिलहाल Basic Blockchain Technology Course Available है तो वह भी ज्वाइन कर सकते हैं

आज के दौर में आप किस प्रकार से देख पा रहे हैं कि बिटकॉइन इतना ऊंचाइयों को छू रहा है और तब से लेकर आज तक यह बढ़ता ही जा रहा है Bitcoin मैं जिस जिस ने पैसा लगाया था उसका कई गुना बढ़ चुका है
इन सब चीज के पीछे क्या टेक्नोलॉजी है कैसे बनाया जा रहा है और आगे अगर हमें बनाना हो तो कैसे बनाएंगे
अब सवाल उठता है की क्या आप जानते हैं की Blockchain Technology in hindi क्या है? क्यूँ इसके विषय में जानना जरुरी है? देखिए इस टेक्नोलॉजी को अगर हमने जान लिया तो हमें और भी सारी चीजें जिस तरह से कॉइंस बन रहे हैं कॉइन लोग खरीद रहे हैं उन सभी के बारे में बहुत अच्छे से पता चल जाएगा

Blockchain Technology Kya Hai हमारे IT industries को उस प्रकार से change होनेवाला है जैसे की open-source software ने एक बहुत समय पहले काम किया था. और जिस तरह से Linux करीब एक दशक से modern application development का मूल रहा है, उसी तरह से ठीक वैसे ही Blockchain भी आने वाले समय में एक बहुत ही बेहतरीन जरिया बनने वाला है किसी भी इंफॉर्मेशन को एक दूसरे तक पहुंचाना , और जो की lower cost होगा और बड़ी आसानी से इसे implement किया जा सकता है

Blockchain Technology को लेकर लोगों में काफी जागरूकता पैदा हुई है, क्यूंकि ऐसा माना जा रहा है कि हमारे भविष्य के technology को पूरी तरह से बदल सकता है. Blockchain Technology सिर्फ जाने से यह समझ नहीं आएगी बल्कि को पूरी तरह हमें वन बाय वन समझना होगा, इसके अलग अलग पहलुओं पर सोच विचार करना होगा, कहीं then कहीं जाकर हम इसे मेह्जुदा technology से बेहतर होने का बोल सकते हैं.

कि आप लोगों को बता दें कि अभी भी बहुत से लोग ऐसे हैं जो बिटकॉइन , Blockchain Technology Kya Hai  को नहीं जानते हैं नहीं पहचानते हैं और लोगों को तो यह भी नहीं पता कि ऐसा भी कोई टेक्नोलॉजी आने वाले टाइम में हो जाएगी. Blockchain को अपनाने की गति बहुत ही धिमी है लेकिन technology experts का मानना है की आने वाले समय में ये गति धीरे धीरे तेज होने वाली है, जो की हमारे लिए एक अच्छी खबर है. भविष्य में ये technology पुरे दुनिया को बदलने वाली है. हम देखते हैं पहले हम सूचना का आदान प्रदान करने के लिए डाकुओं का इस्तेमाल किया करते थे और उसके बाद हमारे पास टेलीफोन की सुविधाएं आई उसके बाद इंटरनेट और उसके बाद तो दुनिया बिल्कुल ही बदल गई परंतु हम सिर्फ यहां नहीं रुके blockchain technology आने वाले वक्त में हम अपनाने वाले हैं

तो तो इसके बारे में ब्लॉक बनाने से पहले मैंने बहुत ही ज्यादा रिसर्च की है और उसके बाद आपको आज बताने वाली हूं की Blockchain Technology Kya Hai और blockchain technology kaise kaam karti hai , या blockchain technology को कैसे इस्तेमाल करें इन सभी प्रश्नों का उत्तर आने वाले हैं

Blockchain Technology Kya Hai – (Blockchain Technology in Hindi)

Blockchain Technology Kya Hai देखिए दोस्तों अगर हम जाने तो Blockchain एक digital ledger होता है. और अगर हम आगे ledger को समझें तो Ledger एक ऐसा book है जो की ऐसे account रखता है जहाँ debis एवं credit transaction का लेखा-जोखा होता ना ना ना विपिन टिफिन बिक गया बिक गया टीटीएमएल बिक गया बिक गया हैं वो book से जहाँ की original entry होते हैं. या यूँ कहे की original book से entry इस ledger में update होते हैं. यह समझना थोड़ा tough है

Blockchain Technology आसान शब्दों में
थोड़ा और अच्छे से समझते हैं मान लीजिये की आपके पास एक file of transaction (a “node“) जो की आपके computer (a “ledger”) में है. दो government accountants (जिन्हें हम “miners” कहते हैं ) के पास भी वही समान file उनके system में हैं (इसलिए ये हैं “distributed“). जैसे ही transaction करते हैं, आपका computer उन दोनों accountant को e-mail करता हैं उन्हें inform करने के लिए.


ब्लॉकचेन तकनीक को सबसे सरल रूप से एक विकेन्द्रीकृत, वितरित खाता बही के रूप में परिभाषित किया जाता है जो एक डिजिटल संपत्ति के उद्भव को रिकॉर्ड करता है। अंतर्निहित डिज़ाइन के अनुसार, ब्लॉकचेन पर डेटा को संशोधित नहीं किया जा सकता है, जो इसे भुगतान, साइबर सुरक्षा और स्वास्थ्य सेवा जैसे उद्योगों के लिए एक वैध व्यवधान बनाता है।


Blockchain Technology को invent Satoshi Nakamoto ले 2008 मैं किया था क्योंकि वह cryptocurrency bitcoin में, उसके public transaction ledger के हिसाब से कर हो जाए


इसके पीछे एक बहुत ही main कारण था एक decentralized Bitcoin ledger—the blockchain जो लोगों को पैसों को कंट्रोल कर सके और लोग उसे कंट्रोल करें ना कि कोई गवर्नमेंट यह सिस्टम नॉर्मल सी बात है की बात करें तो जैसे 1 नवंबर को अचानक से देश के प्रधानमंत्री जी ने यह घोषणा कर दी कि कल से 500 और 1000 के नोट नहीं चलेंगे , ऐसे में बहुत से लोग थे बहुत से जिनके पास कैश में पैसा पड़ा था और ऐसा नहीं था कि सारा ही ब्लैक मनी हो या सारा वाइट हो परंतु हमारा कहने का तात्पर्य यह है कि जब कोई घोषणा अचानक से हो गई तो आपकी जो करंसी है जो नोट आपके पास है घोषणा से गिर भी सकते हैं और increase भी सकते हैं यहां पर कौन करंसी currency को rule कर रहा है गवर्नमेंट, और यह करंसी या पैसे आपको फ्री में तो नहीं मिले हैं इसलिए आपने इसके लिए कुछ ना कुछ काम या दाम दिया होगा यहां पर एक बहुत ही बड़ी प्रॉब्लम सामने आई

Bitcoin के जनक या creator जो की हैं Satoshi, sudden ही गायब हो जाते हैं सन 2011 में, और अपने पीछे इस open source software को छोड़ जाते हैं जिसे की Bitcoin users इस्तेमाल करें और उसे update और improving कर सके .
बहुत लोगों का मानना है की satoshi कोई व्यक्ति नहीं है बल्कि लोगों द्वारा बनाया गया अनुमान है असल में इसे बनाने वाले बहुत से लोग हैं परंतु हमारे सामने जो आंकड़े आए हैं उसके हिसाब से हमने आपको दोनों चीजें बताइए

Bitcoin के लिए blockchain का invention एक ऐसा पहला digital currency जो की Double spending problem को हल कर सकता है बिना किसी trusted central authority या central server के मदद के. इसलिए ये Blockchain Technology बहुत सारे दुसरे apps को बदल रहा है जैसे आज की तारीख में आप देखते हैं games मैं कई तरह के कॉइन से इस्तेमाल किए जा रहे हैं और लोग एक दूसरे से बात करते समय भी जो सूचना है उसका आदान प्रदान कर रहे हैं

Blockchain Technology कितने तरह की होती है

दोस्तों Blockchain Technology mainly 3 प्रकार की होती है Public Blockchain, Private Blockchain, Hybrid Blockchain, आइये इन चारो और अच्छे से समझते हैं और किस प्रकार blockchain technology के लिए यह महत्वपूर्ण है.

1. Public Blockchain Kya hai

Blockchain को समझने के लिए Public यानी ये पब्लिक ब्लॉकचेन का इस्तेमाल कोई भी कर सकता है. Bitcoin, Ethereum, Litecoin इत्यादि ये सभी पब्लिक ब्लॉकचेन है, यानी जो इसमें शामिल है information network में इकट्ठा होती है वो एक जगह स्टोर न होकर कई सारे कंप्यूटर में स्टोर होती है जिनको हम Nodes कह सकते हैं

अगर आपके पास wifi है या अच्छा इंटरनेट है तो आप भी पब्लिक ब्लॉकचेन का हिस्सा बन चाहते हैं जिसके बाद आपके पास जो भी गतिविधि अभी तक उस नेटवर्क में हुई है उसका सारा रिकॉर्ड आपको मिल जाएगा और साथ साथ ही आप माइनिंग भी कर पायेंगे.

2. Private Blockchain Kya hai

तो अभी हमने समझा एक प्रकार और अब हम समझते हैं blockchain technology का दूसरा प्रकार Public Blockchain एक Open Source है Private Blockchain इसका ठीक बिल्कुल अलग यह एक Closed Source नेटवर्क है जिसका इस्तेमाल करने के लिए आपको अनुमति लेनी पड़ती है. क्योंकी इसको एक single पार्टी कंट्रोल करती है.

इसलिए चुने हुए लोग ही इस नेटवर्क का इस्तेमाल कर सकते है, हालांकि Private Blockchain काम Public Blockchain की तरह करती है परन्तु यह एक दायरे के अंदर रहकर काम करती है ताकि हर कोई इसका इस्तेमाल न कर सके.

इसका इस्तेमाल कंपनी या संस्था वोटिंग, सप्लाई चैन प्रबंध या फिर डिजिटल पहचान का इस्तेमाल करने करती है. Hyperledger, Multichain, Ripple, प्राइवेट ब्लॉकचेन का उदहारण है.

3. Hybrid Blockchain Kya Hai

Hybrid Blockchain पब्लिक ब्लॉकचेन और प्राइवेट ब्लॉकचेन से मिलकर बना है. यानी यह दोनों चीजों को मेलजोल है यह Private Permission और Public Permissionless दोनों सिस्टम का इस्तेमाल करती है. जिसकी मदद से कोई भी यह decide कर सकता है की कौन सी जानकारी को पब्लिक रखना चाहिए और कौन सी जानकारी को प्राइवेट. means इसमें सिक्योरिटी आसानी से हो जाएगी

आम तौर पर Hybrid Blockchain में जो भी रिकॉर्ड और लेन देन होती है उसको पब्लिक नहीं किया जाता परन्तु उसको पब्लिक ब्लॉकचेन में वेरीफाई किया जा सकता है. Dragonchain, Hyrbrid Blockchain का उदहारण है.

 

Blockchain कितना Secure है?

ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी सबसे सुरक्षित टेक्नोलॉजी मानी जाती है क्योकि इसे हैक करना बहुत मुश्किल है। इसे हैक करने के लिए आपको पुरे सिस्टम को हैक करना होगा। जो की impossible है।

ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी में कोई भी ट्रांसक्शन को पूरा करने के लिए सभी नेटवर्क के नोड्स को allow. करना पड़ेगा तब वह ट्रांसक्शन होंगी।

यह ब्लॉक्स में डाटा को स्टोर करता है। एक ब्लॉक दूसरे ब्लॉक से जुड़ा हुआ होता है और पहले ब्लॉक के डाटा को दूसरे ब्लॉक में कॉपी किया जाता है। यह प्रोसेस लगातार चलती रहती है। जिससे डाटा सिक्योर होते जाता है।

ब्लॉक चैन क्या है , ब्लॉकचेन तकनीक क्या है दृष्टि आईएएस , इंडिया की क्रिप्टो करेंसी कौन सी है , क्रिप्टो करेंसी क्या है
बिटकॉइन , सबसे सस्ती क्रिप्टो करेंसी कौन सी है

Blockchain Technology कैसे काम करती है?

Blockchain के तीन सबसे महत्वपूर्ण भाग है Blocks, Miners, Nodes आइये इन तीनो के बारे में विस्तार से जाने.

Block
जैसा की आपको पता है Blockchain में कई सारे Block से मिलकर बना होता है जिनमे डाटा इकट्ठा होता है, हर Block का एक अलग hash नंबर होता है जो की पिछले ब्लाक से जुडा हुआ होता है और ये hash तब बनता है जब कोई लेन देन होती है.

Miners
Blockchain में Miner का काफी ज्यादा महत्वपूर्ण रोल होता है क्योंकी Miner ही होता है जो नए ब्लाक को Mining करके बनाता है. उदहारण के लिए जब भी बिटकॉइन या किसी भी क्रिप्टोकरेंसी में कोई लेन देन/Transaction होती है, तो उस लेन देन की जानकारी सबसे पहले माइनर के पास जाती है.

माइनर इस जानकारी को वेरीफाई करता है, अब इसके लिए माइनर को उस ब्लॉक में जो भी Transaction Data है उसकी जानकारी निकालनी पड़ती है जो की एक Mathematical Puzzle की तरह होती है जिसको केवल कंप्यूटर की मदद से हल किया जाता है.

परन्तु यह इतना आसान नहीं होता जितना सुनने या दिखने में लगता है, ब्लॉक की जानकारी निकालने के बाद माइनर उसको एक hash नंबर दे देता है जो की सभी ब्लॉक का अलग अलग होता है.

और हर ब्लॉक का hash नंबर पहले वाले ब्लॉक से जुड़ा होता है, उदहारण के लिए दो ब्लॉक लेते है Block A और Block B. अब माइनर को Block A को वेरीफाई करने के लिए सबसे पहले उसकी Transaction डिटेल निकालनी पड़ेगी और उसके बाद माइनर उसको एक hash नंबर देगा जिसको हम hash A मान कर चलते है.

अब इसी प्रकार से माइनर Block B की Transaction डिटेल निकालता है और उसको hash नंबर दे देता है hash B. अब ये hash B जो पहले वाला hash A है उससे मिलकर बना होगा यानी hash B + hash A.

अब आगे जो भी Transaction होगी वो hash B से जुडी होगी, अगर हैकर hash A पर अटैक करता है और उस hash नंबर को बदलने की कोशिश करता है तो hash B भी उसके साथ बदल जाएगा क्योंकी वो hash A से जुड़ा हुआ है और इसी तरह से आगे के सभी ब्लॉक भी बदल जायेंगे.

जिससे हैकर के लिए ब्लॉकचेन में अटैक करना काफी मुश्किल हो जाएगा क्योंकी उसको एक साथ सभी ब्लॉक को हैक करना पड़ेगा और यह सब करने के लिए उसको काफी ज्यादा शक्तिशाली कंप्यूटर की जरूरत पड़ेगी जो की लगभग नामुमकिन है.

Nodes
Blockchain Technology की जो सबसे बड़ी खासियत है वो है Decentralization यानी इसको कोई एक व्यक्ति या संस्था कंट्रोल नहीं करती. ब्लॉकचेन एक खाता बुक की तरह होती है जो हर प्रकार की जानकारी को जमा करके रखती है.

Blockchain Technology Kya Hai इस खता बुक को Nodes मेन्टेन करके रखते है जो की एक तरह से कंप्यूटर होते है जो पुरे नेटवर्क को आपस में जोड़ कर रखते है. ब्लॉकचेन में इसी तरह की कई सारे Node होते है और हर Node के पास ब्लॉकचेन की कॉपी होती है.

Nodes नेटवर्क में जो भी लेन देन या जो भी गतिविधि होती है उसको Verify करते है और नेटवर्क में अपडेट करते है, अगर उनको ऐसा लगता है की किसी प्रकार की गलत गतिविधि या लेन देन हुई है तो सभी Node मिलकर उसको रद्द कर देते है.

Blockchain Technology के फायदे और नुकसान

Blockchain Technology के फायदे

  • Blockchain Technology एक ऐसी तकनीक है जिसमें बहुत से कंप्यूटर आपस में जुड़कर कार्य कर सकते हैं।
  • Blockchain Technology High Security रखती है इसके सुरक्षित डाटा को किसी भी हैकरों द्वारा हैक नहीं किया जा सकता है।
  • Blockchain Technology किसी Third party की आवश्यकता नहीं होती है।
  • इसमें किसी भी लेनदेन का का रिकॉर्ड एक कंप्यूटर में सेव नहीं होता है बल्कि इससे जुड़े हजारों लाखों कंप्यूटरों में एक साथ सेव हो जाते है।
  • इस Technology में एक बार सेव किया गया डेटाबेस में किसी भी प्रकार का बदलाव नहीं किया जा सकता है। और न ही कीसिस प्रकार की त्रुटि में सुधार किया जा सकता है।
  • इसमें किसी भी रेकॉर्ड को सेव करने के लिए इससे जुड़े सभी कंप्यूटरों की अनुमति लेनी पड़ती है। बिना अनुमति के नया डाटा सेव नहीं किया जा सकता।
  • इस टेक्नोलॉजी में सभी कंप्यूटर पुराने से पुराने डेटाबेस का विवरण रखता है। जिसको आप कभी भी किसी भी समय देख सकते हैं।

शिक्षा (Education)-
आजकल शिक्षा के क्षेत्र में बताया Blockchain Technology का बहुत अधिक लाभदायक है आज के समय में हो रहे परीक्षा पेपरों में हो रही धांधली जैसे- Question paper को लीक करना हो तथा परीक्षा में प्राप्त अंकों को किसी विशेष Person द्वारा कहे जाने पर बढ़ता हो आदि को इस तकनीक द्वारा रोका जा सकता है।

जनता का लेखा जोखा ( Public Record)-
Public Record के लिए भी Blockchain Technology bahut सुविधाजनक है। सरकार को किसी पुराने कार्यों का लेखा जोखा तथा कुछ समय से बंद बड़े Criminal Records जिसकी आगे कभी आवश्यकता लग सकती है इन रिकॉर्डों को आप Blockchain Technology के जरिए से आप इसको सुरक्षित रख सकते है। तथा भविष्य में कभी भी कभी भी आवश्यकता पड़ने पर इसे देख सकते हैं।

संपत्ति लेन देन ( Property Dealing)-
Blockchain Technology ने संपत्ति के लेन देन को भी बहुत आसान बनाया है जमीन को खरीदते समय हमें बहुत से Documents की जरूरत होती है जिसका लेखा जोखा रखना बहुत ही जरूरी होता है क्योंकि भविष्य में इसकी आवश्यकता जरूर लगती है। इन Documents को आप Blockchain Technology की सहायता से सुरक्षित रख सकते है जिससे की भविष्य में कभी भी इसकी आवश्यकता पड़ने पर उपयोग में लाया जा सके।

साइबर सुरक्षा ( Cyber Security)-
Cyber सुरक्षा का संबंध इंटरनेट पर किए जाने वाले कार्यों से है। साइबर सुरक्षा के लिए भी Blockchain Technology बहुत उपयोगी बन सकती है जब आप इंटरनेट पर कार्य कर रहे होते हैं तो आपके द्वारा किए गए कार्य का डाटा के चोरी होने की आशंका भी बनी रहती है तथा चोरी भी हो सकता है जिसको Blockchain Technology का प्रयोग करके चोरी होने से बचा सकते हैं।

Blockchain Technology के नुक्सान

 

Cost
Blockchain Technology Kya Hai का इस्तेमाल करना काफी महंगा पड़ता है अगर आप इसका इस्तेमाल करते है तो आपको इसका इस्तेमाल करने के लिए नेटवर्क की फीस देनी पड़ती है जो की काफी ज्याद होती है.

हालाँकि ऐसे काफी ब्लॉकचेन प्लेटफार्म है जिन्होंने इसका हल ढूँढ लिया है परन्तु बड़ी क्रिप्टोकरेंसी जैसे बिटकॉइन और इथेरियम में यह समस्या अभी भी बनी हुई है.

Scalibility
जैसे जैसे ब्लॉकचेन का इस्तेमाल और ज्यादा लोग करते जायेंगे इसकी समस्या बढती जायेंगी और यह उतनी तेजी से लेन देन और बाकी गतिविधि नहीं कर पायेगा. और इसी परेशानी का सामना Ethereum भी कर रहा है.

और इसका समाधान करने के लिए Ethereum अब Ethereum 2.0 में खुद को अपग्रेड कर रहा है और इसके को-फाउंडर Vitalik Buterin का कहना है इससे Ethereum की स्पीड काफी ज्याद बढ़ जायेगी.

High Power
अभी भी काफी ब्लॉकचेन प्लेटफार्म ऐसे है जो ज्यादा मात्र में बिजली इस्तेमाल करते है और इसका सबसे बड़ा उदहारण है दुनिया की सबसे जानी मानी क्रिप्टोकरेंसी Bitcoin जो की Proof Of Work पर काम करती है.

एक साल में जितना UAE, Netherland जैसे देश बिजली का इस्तेमाल नहीं करते उनसे ज्यादा Bitcoin पुरे एक साल में बिजली इस्तेमाल करता है जो की काफी चिंता की बात है.

Immutable
एक बार ब्लॉकचेन में जो डाटा चला जाए उसको वापस से बदला नहीं जा सकता, मान लेते है आपके पास 10 बिटकॉइन है जिसमे से आप 5 बिटकॉइन बेचना चाहते है जिनकी कीमत करोड़ो में है परन्तु आप वो किसी गलत एड्रेस पर भेज देते है और गलती से आप एक की जगह 10 बिटकॉइन भेज देते है.

Internet Technology vs Blockchain Technology

Blockchain Technology Kya Hai अगर हम दोनों technology की बात करें तब Internet computers को allow करती है information exchange करने के लिए; वहीँ Blockchain computers को allow करता है information को record करने के लिए.

दोनों बहुत सारे computers (nodes) का इस्तमाल करते हैं.

Internet और Blockchain के विषय में चलिए कुछ नया जानते हैं.
Digital Revolution का पहला generation ने हमारे लिए Internet of information लाया. वहीँ second generation — जो की powered by blockchain technology है — उसने हमारे सामने Internet of value पेश किया: यह एक नया platform है जो की business की दुनिया को reshape कर देगा और पुराने order of human affairs को और भी बेहतर बना देगा.

Blockchain इतना vast, global distributed ledger और database है जो की millions of devices में continuously चल रहा है और ये किसी के लिए भी open है, यहाँ न केवल information बल्कि कोई भी चीज़ जिसकी कुछ value है जैसे की money, titles, deeds, identities, यहाँ तक की votes भी — इन्हें moved, stored और managed securely और privately किया जा सकता है.

यहाँ पर Trust को establish करने के लिए mass collaboration चाहिए और कुछ clever code इसे implement करने के लिए, वहीं पुराने तोर तरीकों में powerful intermediaries जैसे की governments और banks की जरुरत पड़ती है.

इसलिए हम कह सकते हैं की Blockchain technology हम से ही बनती है, हमारे लिए काम करती है और इसे control हम ही लोग करते हैं, जो की इसे बहुत ही secure और विस्वस्योगी बनता है. वैसे भी नहीं

Blockchain Technology के पीछे क्या Technology है 

Blockchain के पीछे जो मुख्य technology हैं वो मुख्य रूप से निचे दिए गए तीन technology हैं.
1. Private Key Cryptography
2. P2P Network (Peer-2-Peer)
3. Program (the blockchain’s protocol)

हमें blockchain technology की क्यूँ जरुरत हैं?

Blockchain एक ऐसा mechanism है जो की हम सभी लोगों को उनके highest degree of accountability तक पहुँचने में मदद करता है यानी अब और कोई भी missed transactions नहीं होगा, यानी हम अपनी ट्रांजैक्शन को ट्रैक कर सकते हैं और यह बहुत ही आसानी से पता लगा सकते हैं कि हम कितना secure है इंसानी और मशीनि गलतियाँ को कम कर देगा, ये सभी transaction के पीछे कोई भी तीसरा party या government का consent जरुरी नहीं बल्कि सभी connected nodes का trust या secure validation ही जरूरी रखता है.

सबसे critical area जहाँ Blockchain हमें मदद करता है और ये guarantee प्रदान करता है की validity of a transaction उन्हें record करके, ये केवल एक main register में नहीं किया जा रहा है बल्कि network में connect हुए सारे distributed system के registers, इन सभी register में secure validation होने के बाद ही Transaction को valid कहा जायेगा.

Blockchain technology का क्या future है

Blockchain Technology Kya Hai इस तरह से आने वाले टाइम में हम देख सकेंगे कि सभी चीजें डिजिटल हो रही है और हो जाएंगी और Blockchain technology इसमें एक बहुत बड़ा रोल प्ले करेगा हर एक चीज में चाहे वह आज कितनी ही बिना इंटरनेट के हो रही हो जैसे हम कॉन्ट्रैक्ट साइन करते हैं आने वाले टाइम में आप देख सकेंगे कि ऐसे कई कॉन्ट्रैक्ट डिजिटल भी निकल रहे हैं जो आप ऑनलाइन और इस टेक्नोलॉजी की मदद से बिल्कुल securely कर पाएंगे

1. Smart contracts – जैसे कोई भी industry हो अगर वो heavily contracts पर डिपेंड करती है blockchain ने , जैसे की insurance, financial institutions, real estate, construction, entertainment, और law, वो सारे industries इस technology से मददगार होने वाले हैं ज्ञानी लोग जैसे आज की डेट में कई सारी चीजों ऑनलाइन कर रहे हैं कल को स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट के थ्रू कर पाएंगे

क्यूंकि इस technology के मदद से बिना किसी dispute के आपके सारे contracts को update, manage, track और secure किया जा सकता है. Smart contracts, वो जो की embedded होते हैं if/then statements से और जिन्हें execute करने के लिए intermediary party का involvement जरुरत नहीं है.

2. Supply chain management – बहुत बड़ी चुनौती है जैसे आज हम देख पा रहे हैं बहुत बहुत सारी चीजें आपस में एक सीन बना रही हैं अब देख सकते हैं amazon एक ecommerce chain है आने वाले टाइम में किसी भी सामान को अपनी जगह पर पहुंचाने के लिए या आदान प्रदान करने के लिए ऐसी टेक्नोलॉजी बन जाएगी और सबसे बड़ी बात इसका फायदा सभी को होगा क्योंकि यह टेक्नोलॉजी है जब भी कोई value बदलते हैं या कोई asset का status बदलता है तब ये सारे process को manage करने के लिए Blockchain एक बहुत ही बढ़िया option है.

3. Asset protection – जैसे आप एक संगीतकार हो जो की अपने गाने की royalties ठीक तरह से पाना चाहता है या आप कोई property owner हो, जैसे आप YouTube पर कोई गाने का वीडियो डालते हैं और वह वीडियो पहले से किसी ने डाला है तो सबसे पहले जिस ने डाला होगा वह उसका original creator माना जाएगा और यह बात आने वाले टाइम में हमें बहुत अच्छा फायदा पहुंचाने वाली है blockchain technology मदद से हम अपनी चीजों को अपने बनाए गए assets को प्रोडक्ट कर पाएंगे अगर आप अपने asset की protection चाहते हैं तब blockchain technology आपकी बहुत मदद कर सकता है आपकी real-time ownership की एक indisputable record बनाकर तो यह बहुत ही महत्वपूर्ण होने वाला है

4. Personal Identification – आज की तारीख मैं Government अक्सर बहुत सारे amounts के data को manage करते हैं जैसे की personal data birth से death records तक, marriage certificates, passports और census data इत्यादि. Blockchain technology इन सारे data को streamlined solution के हिसाब से आसानी से manage कर सकता है और उन्हें securely store कर सकता है. लेकिन अक्सर यह फाइलों में दबा रह जाता है जिसका सही वक्त पर इस्तेमाल नहीं हो पाता और यह बहुत सारा डाटा बहुत सालों से ऐसे ही है Blockchain Technology Kya Hai ,  जिसे कोई भी संस्थान या खुद गवर्नमेंट भी ट्रैक नहीं कर पाती जैसे गवर्नमेंट को यह नहीं पता होता कितने लोगों ने मैरिज की है इस साल गवर्नमेंट को यह नहीं पता कितने बच्चे जो है किस बीमारी से ग्रस्त पैदा हुए हैं जिसका कोई इलाज कर सके या उसके बारे में कोई योजना बना सकें या गवर्नमेंट को कई सारी ऐसी चीजों का ट्रैकिंग नहीं है तो इस टेक्नोलॉजी की मदद से हम इन सभी चीजों को बहुत आसानी से कर पाएंगे और यह बहुत ज्यादा सिक्योर भी होने वाली है

5. Payment processing – Blockchain की ये खासियत है की वो किसी भी बड़ी company की payment processing को आसानी से संभाल सकता है. ये intermediaries की जरुरत हो पूरी तरह से ख़त्म कर सकता है जिन्हें की हम payment processing में अक्सर देखते हैं.

6. Crowdfunding Kya hai – Traditional crowdfunding की तुलना में एक blockchain powered crowdfunding campaign में ज्यादा secure investment होती है नए project के लिए एक interested community से. लेकिन ऐसे instance में, funding मुख्य रूप से bitcoin या दुसरे cryptocurrencies के आकार में होगी

Blockchain Technology के Real Life Apps कौन से हैं

1. Follow My Vote: ये हमारे vote करने के तरीकों को बदलना चाहता है और दुनिया में सबसे पहला open-source online voting solution बनना चाहता है. सबसे बड़ी बात यह है कि आज की डेट में हमारे वोट को हैक किया जाता है और जो हमारा वोटिंग का सिस्टम है वह बहुत ही weak है और blockchain technology ऐसे में बहुत बड़ी सिक्योरिटी देने वाला है

2. Arcade City:– ये एक true decentralized ridesharing service है जो की ‘Uber killer’ के नाम से भी जाना जाता है. जैसे कि ऑलरेडी चल रही है लेकिन यह एक Uber Killer है

3. ShoCard :– यह एक ऐसा ऐप है जो लोगों की identities को सिक्योर करता है और इसके साथ साथ लोगों के data से आप बहुत आसानी से किसी भी चीज का वेरिफिकेशन कर पाएंगे ये आपके identity को store करता है Bitcoin’s blockchain में ताकि आपकी easy verification हो सके.

4. Symbiont: – ये Blockchain में बेहतर smart securities प्रदान करता है. और आने वाले टाइम में भी बहुत ज्यादा अपनी सिक्योरिटी बढ़ा देगा

5. Bitnation: ये एक “Governance 2.0” initiative जो की एक collaborative platform के साथ काम करके DoItYourself governance की स्थपाना करना चाहता है. आपको जल्द ही इसका पता चल जाएगा और अपनी लाइफ में बढ़ा रहे हैं


Read Also  :

Blockchain Technology के Challenges कौन से हैं

Blockchain Technology Kya Hai के बहुत सारे advantages हैं, लेकिन फिर भी इसके भी कुछ कमियां है जिनके विषय में चलिए जानते हैं.

Need of Lots of Energy : इन blockchain के operation में बहुत ज्यादा computing power चाहिए होता है जिससे electricity की जरुरत बहुत ज्यादा होती है. यदि हम आज के climate change की परिस्तिथि को देखें तब किसी भी developing country के पक्ष में ये इतना आसान नहीं है क्यूंकि उनकी खुद की भी बहुत जरूरतें होती है. इसलिए ये केवल developed nations के लिए ही सही है.

Private key’s Security : ये Private key’s Security को हमेशा secret रखना चाहिए क्यूंकि यदि इनके विषय में third parties को पता चल गया तब ये ऐसी बात हुई की आपने अपने सारे bitcoin का control उनके हाथों में दे दिया है. इसके अलावा भी private key को back up करके protect करना चाहिए accidental loss से, क्यूंकि अगर ये एक बार खो गया तब इन funds को कोई भी और recover नहीं कर सकता है और ये हमेशा के लिए खो जायेंगे.

Transaction speed : Transaction speed भी एक समस्या बन सकती है. क्यूंकि हम जानते हैं chain में blocks को verify कराना distributed network से बहुत ही जरुरी है security के लिए और ऐसा करने में काफी समय लगता है.

Blockchain Technology लगातार अपनी जगह बना रही है और धीरे-धीरे करके यह पूरी तरह से फैल रही है Blockchain Technology मैं आप जो आज नहीं कर सकते वह कर पाएंगे छोटे-छोटे blocks को मिलाकर एक बहुत ही बड़ा जाल या यूं कहें chain create हो रही है और यह इतनी सिक्योर है जितनी आज की डेट में हमारी या किसी भी देश की करंसी नहीं है


दोस्तों आज हम इसको केवल करेंसी के कॉइन के रूप में जान रहे हैं लेकिन सिर्फ cryptocurrency या बिटकॉइन नहीं है
दोस्तों आप में से बहुत सारे लोग जो यह नहीं जानते की cryptocurrency क्या है
इसकी पूरी गाइड हमने पहले ही बना दी है उसे आप पढ़ सकते हैं और जानकारी ले सकते हैं


हमारी बात चल रही थी Blockchain Technology Kya Hai को लेकर आज केवल हम इसे देख पा रहे हैं लेकिन यह बहुत बड़ा revolution लेकर आएगी और हमारी लाइफ को पूरी तरह से बदल कर रख देगी तो दोस्तों आपको इसके आगे हम क्या बताएं आपको बस यह जान लेना है कि यह एक टेक्नोलॉजी है जिसे हमें समझना भी है सीखना भी है और इससे फायदा भी उठाना है
Blockchain Technology के बारे में और भी जानकारी में है अपने यूट्यूब वीडियो में भी है वहां से भी इसकी और ज्यादा अधिक जानकारी ले सकते हैं इसके अलावा Blockchain Technology का फिलहाल Basic Blockchain Technology Course Available है तो वह भी ज्वाइन कर सकते हैं

Blockchain Technology Kya Hai हमें आने वाले टाइम के लिए अभी से अपने आप को प्रीपेड करना है Blockchain Technology एक मात्र फ्यूचर है जैसे कंप्यूटर टेक्नोलॉजी था और आज आप देख सकते हैं जिन लोगों ने भी कंप्यूटर आज से 5-6 साल पहले सीख लिया था तो आज मैं इसका इस्तेमाल बहुत अच्छे से कर पा रहे हैं
Ecommerce बिजनेस कर रहे हैं , Online selling कर रहे हैं , Online Study भी कर रहे हैं इसमें बहुत बड़ा उदाहरण है Byjus जो सबसे बड़ा ऑनलाइन कोर्स का प्लेटफार्म है

तो इसी तरह से आप Future technology को समझ कर जोकि Blockchain Technology है Blockchain Technology कोर्स को भी समझ पाएंगे

3 4 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

1 Comment
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Nilam
Nilam
8 months ago

Best content