You are currently viewing Dhirubhai Ambani Amir Kaise Bane

Dhirubhai Ambani Amir Kaise Bane

धीरूभाई अंबानी का जीवन परिचय

Dhirubhai Ambani Amir Kaise Bane दोस्तों स्वागत है  हमारी वेब से Jugadme पर दोस्तों आज मैं आपको धीरूभाई अंबानी के बारे में बताने वाली हूं दोस्तों यह काफी अच्छे इंसान थे धीरूभाई अंबानी ने अपना बिजनेस काफी कम पैसों में शुरू किया था इसके बाद अपना बिजनेस को उन्होंने  मेहनत करके काफी ऊंचाइयों तक पहुंचा दिया था  इनके बेटे मुकेश अंबानी अनिल अंबानी धीरूभाई अंबानी के बाद उन्होंने इन की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्री को संभाला था  दोस्तों आपको इनके बारे में जानना है तो आप इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े और मैं बताने जा रही हूं धीरूभाई अंबानी की बायोग्राफी के बारे में अंबानी अमीर कैसे बने ऐसी से जुड़ी पूरी जानकारी मैं आपको  इस आर्टिकल में  दूंगी Dhirubhai Ambani Amir Kaise Bane 

Dhirubhai Ambani Amir Kaise Bane

धीरूभाई अंबानी को हीरालाल और धीरज लाल के नाम से जाना चाहता है  धीरूभाई अंबानी का 28 दिसंबर  1932 को गुजरात में जूनागढ़ के पास एक छोटा गांव चोरवार एक साधारण  अध्यापक  रहते थे उस घर में धीरूभाई अंबानी का जन्म हुआ के पिताजी का नाम हीरा चंद्र गोर्धनभाई अंबानी था और दोस्तों यह एक साधारण अध्यापक थे  उनकी मां जमनाबेन नाम था यह एक काफी घरेलू महिला थी जिनके पास परिवार को पालन पोषण करने के लिए  पैसों की आवश्यकता पड़ती थी और काफी मुश्किलों का हल होने सामना किया था उनके पिताजी की जो नौकरी थी उनसे उनका घर का खर्चा नहीं चल पाता था घर में तीन भाई थे और एक बहन थी जिसके बीच काफी रहा था इसी वजह से दोस्तों धीरूभाई अंबानी को अपनी हाई स्कूल की पढ़ाई के बीच  मैं हीअपनी पढ़ाई को छोड़ना पड़ गया था  धीरूभाई अंबानी के खर्चे को पूरा करने के लिए उन्होंने छोटा मोटा काम करना शुरू कर दिया था अपने पिताजी के साथ भजिया भेजना काम  के साथ शुरू कर दिया था और धीरूभाई अंबानी की शादी कोकिलाबेन से की गई थी इनकी शादी गुजरात की शहर में हुई थी  शादी के बाद उनके दो बच्चे थे दो बेटे जिसका नाम था मुकेश अंबानी अनिल अंबानी और साथ ही उनकी दो बेटियां भी  हुई जिसका नाम  है निना अंबानी  और दीप्ति अंबानी हुई चीन की 2 बेटियां थी जिनका जन्म हुआ था

धीरूभाई अंबानी के पुरस्कार उपलब्धियां

  • 1999 इंडिया बिजनेसमैन ऑफ द ईयर
  • 1999  TNS  मोड सर्वे इंडिया  मोस्ट  एडमायर्ड सीईओ
  • 1998    बिजनेस  विक स्टार ऑफ द एशिया
  • 2001 द इकोनामिक टाइम्स लाइफ टाइम  अचीवमेंट पुरस्कार
  • 1998  एक्सर्प्ट फ्रॉम एशिया वीक
  • 1998 एशिया  वीक हॉल ऑफ फेम
  • 2000 कैमटेक फाउंडेशन मीन ऑफ द सेंचुरी अवार्ड
  • 2000  फिक्की इंडियन आंत्रप्रेन्‍याेर ऑफ द 20 सेंचुरी
  • 19990  बिजनेस बारो इंडियन बिजनेस मैन ऑफ द ईयर
  • 2000  द एक्‍सरर्प्‍ट फ्रॉम एशिया  वीक

धीरूभाई अंबानी के विचार

  • एक ‘ना’ शब्द ही है, जिसे मैं हमेशा से ही अनसुना कर देता हूं।
  • यदि आप व्यवसायी है तो तभी आप सफल हो सकते है जब आप रिस्क लेना जानते है।
  • सभी का जीवन संघर्ष से भरा पड़ा है। अपने लक्ष्य के प्रति अडिग रहे और कभी उम्मीद न छोड़े। सफलता अपने आप मिलेगी।
  • अवसर आपके चारों ओर हैं, इन्हें पहचानिए और इनका लाभ उठाइए।
  • मेरी सफलता का राज़ मेरी महत्वाकांक्षा और अन्य पुरुषों का मन जानना है।
  • बुरे वक्त में आप अपने लक्ष्य को मत छोड़िए और इस बुरे वक्त को अवसर में बदलिए।
  • यदि आप गरीबी में पैदा हुए तो यह आपकी गलती नही है यदि आप गरीबी में मर जाते है तो यह आपकी गलती है।
  • बुरे वक्त में आप अपने लक्ष्य को मत छोड़िए और इस बुरे वक्त को अवसर में बदलिए।
  • अगर आप दृढ संकल्प और पूरी मेहनत के साथ काम करेंगे, तो आपको कामयाबी एक दिन जरूर मिलेगी।
  • यदि आप गरीबी में पैदा हुए तो यह आपकी गलती नही है यदि आप गरीबी में मर जाते है तो यह आपकी गलती है।

Click here 

Neo bank kya hai or kaise kaam karta hai 

MBA Chai Wala Kaun Hai ,(Prafull Billore Biography in Hindi)

Sidhu Moose Wala Biography In Hindi

Nupur Sharma kaun hai

कैरियर और जीवन संघर्ष

दोस्तों जैसा कि मैंने आपको बताया है  धीरूभाई अंबानी का जो जीवन था उनके परिवार की स्थिति भी अच्छी नहीं थी जिस कारण वह वह फलों को बेचना शुरू कर दिया था फिर इसके बाद नाश्ता को बेचना शुरू किया परंतु धीरूभाई अंबानी को इससे कुछ फायदा नहीं हो रहा था तो वह गांव की गांव के पास एक धार्मिक जगह पर पकोड़े बेचने का काम शुरू कर दिया था परंतु यह काम भी केवल उन्हीं लोगों के लिए था जो बाहर से आते जाते थे इनका काम कुछ समय के लिए चल पाता था  फिल्म इतना काम करने के बाद इस काम को भी  बंद कर दिया था  अपने पिताजी से सलाह ली  उनके पिताजी जी ने कहा  की  उन्हें  एक नौकरी करनी चाहिए   उन्हें काफी सफलता मिलीधीरूभाई अंबानी ने नौकरी करनी शुरू कर दी

उसके बाद हिंदू भाई अंबानी ने अपने बड़े भाई जी से मदद मांगी उनके बड़े भाई ने कहा कि उन्हें एक नौकरी कर लेनी चाहिए फिर इसके बाद दो सोम धीरूभाई अंबानी   ने एक नौकरी  करने का फैसला लिया   फिर उसके बाद  धीरूभाई अंबानी ने  पेट्रोल पंप पर अपनी पहली नौकरी शुरू कर  दोस्तों उस कंपनी का नाम का शेल कंपनी  38 के बाद लगभग 2 साल के बाद उनकी नौकरी उनकी की मेहनत रंग लाई  धीरूभाई अंबानी ने दोस्तों काफी संघर्ष और मेहनत की है धीरूभाई अंबानी से काफी कुछ सीखने को मिला है  और उनकी ऐसे ही मेहनत करते करते हैं  बैंक मैनेजर  पोस्ट हासिल कर ली दोस्तों धीरूभाई अंबानी जब पेट्रोल पंप में काम किया करते थे उनके कर्मचारियों को केवल ₹25 की चाय मिला करती थी परंतु धीरूभाई अंबानी को होटल में 21  रुपए  की चाय पीते थे  धीरूभाई अंबानी केवल इसलिए करते थे कि बड़े-बड़े होटल में जाकर  बातें सुन सके कि वह बिजनेस कैसे करते हैं  होटल में काफी बड़े बड़े बिजनेसमैन आया करते थे और बिजनेस के बारे में अच्छे से समझते थे कि वह बिजनेस कैसे  कर सकते हैं  धीरूभाई अंबानी बिजनेस की शिक्षा प्राप्त  की  धीरूभाई अंबानी को इसमें भी काफी सफलता हासिल हो गई आगे चलकर काफी अच्छे बड़े बिजनेसमैन बन गए और उनका सपना भी पूरा हो गया दोस्तों की इसके बाद उन्होंने रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड भारत के उद्योगपति धीरुभाई  अंबानी के द्वारा  लांच की गई थी दोस्तों यह एक ऐसी कंपनी है महाराष्ट्र में मुंबई शहर में स्थित है  जो कि यह  एक Indian conglomerate holding  कंपनी है  लीलैंड की कंपनी पूरे भारत देश में पेट्रो केमिकल कपड़ा और प्राकृतिक संसाधन में किस शहरों में काम किया करती है भारत में कंपनी ने काफी अधिक  मुनाफा आया है Dhirubhai Ambani Amir Kaise Bane और पेशेंट में रिलायंस इंडस्ट्री  के मालिक अपने बेटे मुकेश अंबानी को सौंप दिया  है और धीरूभाई अंबानी का बेटा मुकेश अंबानी को  संभाल रहा है

Last words 

धीरूभाई अंबानी के बायोग्राफी के बारे में जैसे कि मैंने आपको बताया था कि धीरूभाई अंबानी मेहनती इंसान है इन्होंने अपने जीवन में काफी संघर्ष किए है उनसे हमें काफी चीजें सीखने को मिली है धीरूभाई अंबानी के बाद कंपनी मुकेश अंबानी और अनिल अंबानी ने दोनों ने मिलकर संभाली है दोस्तों आपको यह धीरूभाई अंबानी के बारे में जानकारी अच्छे से समझ आ चुकी होगी  धीरूभाई अंबानी अमीर कैसे बने पर ऐसी आपको जानकारी चाहिए तो आप मुझे कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं Dhirubhai Ambani Amir Kaise Bane

धन्यवाद

1 1 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments