You are currently viewing Draupadi Murmu Biography in Hindi

Draupadi Murmu Biography in Hindi

Draupadi Murmu Biography in Hindi –  , draupadi murmu kon hai in hindi  , draupadi murmu daughter , draupadi murmu wikipedia , द्रौपदी मुर्मू की जीवनी , द्रौपदी मुर्मू का जीवन परिचय , draupadi murmu president , Draupadi murmu biography in hindi ,भारत में यह संविधान है कि जो राष्ट्रपति के इलेक्शन होते हैं उसमें नागरिक डायरेक्टली कोई भाग नहीं ले सकते बल्कि नागरिकों द्वारा चुने गए प्रतिनिधि प्रधानमंत्री या राष्ट्रपति चुनते हैं हर पाँच वर्ष बाद राष्ट्रपति का चुनाव होता है। वर्ष 2022 राष्ट्रपति चुनाव की घोषणा कर दी गयी है। Draupadi Murmu Biography in Hindi भाजपा ने राष्ट्रपति उम्मीदवार के रूप में उड़ीसा की आदिवासी समुदाय से संबन्ध रखने वाली द्रौपदी मुर्मु को उम्मीदवार घोषित किया है। यदि यह राष्ट्रपति चुनी जाती है, तो वह दूसरी महिला राष्ट्रपति (पहली प्रतिभा देवी सिंह पाटिल) होगी तथा पहली आदिवासी महिला होंगी।





 

Draupadi Murmu Biography in Hindi

Draupadi Murmu Biography in Hindi  यहां पर यह जानना बहुत जरूरी है कि हमारे जो प्रधानमंत्री हैं और जो राष्ट्रपति है उनके बीच में क्या फर्क है और सबसे पहले हमें यह जानना जरूरी है कि क्या इंडिया में प्रेसिडेंट के जो इलेक्शन होते हैं उसमें नागरिक भाग लेते हैं

Draupadi Murmu Biography in Hindi यहां पर बात करें द्रौपदी जो कि पहले हमारे भारत की अनुसूचित जन जाति से आने वाली महिला हैं और हमारी दूसरी महिला राष्ट्रपति के तौर पर चुना गया है

राष्ट्रपति चुनाव में खूब हुई क्रॉस वोटिंग, विपक्ष के कई सांसदों-विधायकों ने दिया द्रौपदी मुर्मू को वोट

बता दें कि पहले चरण में सांसदों के वोटों की गिनती हुई थी। इस चरण में द्रौपदी मुर्मू को 540 तो वहीं यशवंत सिन्हा को 208 वोट मिले थे। मुर्मू को मिलने वाले वोट की वैल्यू 3,78,000 तो वहीं यशवंत सिन्हा के वोटों की वैल्यू 1,45,000 है। बता दें कि दोनों सदनों के मिलाकर सांसदों के 780 वोट थे Draupadi Murmu Biography in Hindi जिनमें से 13 सांसदों ने वोटिंग में भाग नहीं लिया था Draupadi Murmu Kaun Hai और इस चरण में 15 वोट अमान्य भी पाए गए थे। यानी संसद में मुर्मू को 72 फीसदी सांसदों का समर्थन हासिल हुआ है, जबकि यशवंत सिन्हा के लिए सिर्फ 28 फीसदी सांसदों ने ही वोट डाला। लेकिन दोनों सदनों को मिलाकर एनडीए के इतने सांसद नहीं है। इसका मतलब है कि कई सांसदों ने पार्टी की राजनीति के ऊपर उठकर द्रौपदी मुर्मू का समर्थन किया।

राष्ट्रपति चुनाव भारत में कैसे होता है?

Draupadi Murmu Biography in Hindi  देश में होने वाला राष्ट्रपति का चुनाव अन्य चुनावों के मुकाबले थोड़ा अलग और जटिल है। देश में राष्ट्रपति के चुनाव (How President Is Elected in India) में सीधे जनता की भागीदारी नहीं होती, इसके विपरीत जनता का प्रतिनिधित्व करने वाले यानी सांसद और विधायक राष्ट्रपति के चुनाव में भाग लेते हैं। लेकिन जो सांसद या विधायक नॉमिनेटेड होते हैं वे इस चुनाव में भाग लेने के योग्य नहीं माने जाते क्योंकि वे नॉमिनेटेड होते हैं और सीधे जनता द्वारा नहीं चुने जाते। इसी तरह विधानसभाओं के सदस्य भी इस चुनाव में हिस्सा नहीं लेते।

प्रेसिडेंट के इलेक्शन में सिंगल ट्रांसफरेबल वोट का इस्तेमाल किया जाता है। वोटर एक ही वोट देता है पर वह सभी कैंडिडेट्स में से अपनी प्रायॉरिटी तय कर देता है यानी वह बैलट पेपर पर बता देता है कि उसकी पहली पसंद कौन है और दूसरी, तीसरी कौन। बैलेट पेपर पर कोई इलेक्शन प्रतीक नहीं मौजूद होता। जबकि पेपर पर दो कॉलम होते हैं

Read Also : Draupadi Murmu Kaun hai 

राजनीतिक यात्रा • वर्ष 1997 में उन्हें ओडिशा के रायरंगपुर के जिला पार्षद के रूप में चुना गया था। उसी वर्ष उन्हें रायरंगपुर के उपाध्यक्ष के रूप में चुना गया।
• 2000 के विधानसभा चुनाव में वह रायरंगपुर निर्वाचन क्षेत्र से भाजपा के मंत्री के रूप में चुनी गईं और 2004 तक वह परिवहन, वाणिज्य, मत्स्य पालन और पशुपालन विभाग की प्रभारी रहीं।
• 2004 में वह रायरंगपुर निर्वाचन क्षेत्र से भाजपा के विधायक के रूप में दोबारा से चुनी गईं।
• उन्होंने मयूरभंज में भाजपा की जिलाध्यक्ष और 2006 से 2009 तक भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष के रूप में कार्य किया।
• मई 2015 में उन्हें झारखंड की पहली राज्यपाल महिला के रूप में चुना गया। उन्होंने 2021 तक राज्यपाल के रूप में कार्य किया।
• वर्ष 2022 में उन्हें भारतीय जनता पार्टी की तरफ से भारतीय राष्ट्रपति चुनाव में राष्ट्रपति की उम्मीदवार के रूप में नामित किया गया।

 

Presidential election Result 2022

एनडीए उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मु ने राष्ट्रपति चुनाव जीत लिया है। उन्होंने अपने विपक्ष उम्मीदवार यशवंत सिंह को काफी अंतर से हरा दिया है। तीनों राउड की गिनती के बाद उन्होंने ने 50 फीसदी से अधिक वोट प्राप्त कर लिया है। द्रौपदी मुर्मु के वोटों का प्रतिशत 68 फीसदी के आसपास है।

कुल तीनों राउड की बात करें तो कुल वोट 3219 थे। जिसकी वैल्यू 8,38,839 थी। जिसमें द्रौपदी मुर्मु को 2161 वोट (वैल्यू 5,77,777), वहीं यशवंत सिंह को 1058 वोट (वैल्यू-2,61,062) मिले।

द्रौपदी मुर्मु पहली महिला आदिवासी राष्ट्रपति बन गयी। तथा दूसरी महिला राष्ट्रपति है। 25 जुलाई को राष्ट्रपति पद की शपथ लेगी। यह शपथ उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश द्वारा दिलायी जायेगी।

Draupadi Murmu का जीवन परिचय

द्रौपदी मुर्मु का जन्म 20 जून, 1958 को ओड़िशा के मयूरभंज जिले के  बैदापोसी गांव में एक संथाल परिवार में हुआ था। उनके पिता का नाम  बिरंचि नारायण टुडु था। जो गाँव के सरपंच भी रह चुके है। तथा इनके दादा जी भी गाँव के सरपंच रह चुके है। इसी लिए इसका बचपन राजनीति से गुजरा है।

झारखंड की पहली महिला राज्यपाल कौन है?
Ans: द्रौपदी मुर्मू
द्रौपदी मुर्मू का जीवन परिचय, draupadi murmu religion, द्रौपदी मुर्मू की जीवनी , draupadi murmu qualification , draupadi murmu daughter , draupadi murmu educational qualification, draupadi murmu wikipedia , द्रौपदी मुर्मू की शिक्षा

Important Links :





 

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments