You are currently viewing James Webb Space Telescope क्या है ? 

James Webb Space Telescope क्या है ? 

James Webb Space Telescope Kya Hai ? James Webb Space Telescope क्या है ? नमस्कार दोस्तों क्या आप भी अंतरिक्ष के अद्भुत नजारे दिखाने आ रही दूरबीन के बारे में जानना चाहते हैं James Webb Space Telescope Kya Hai ? तो दोस्तों आपको मालुम चल गया है की James Webb Space Telescope क्या है James Webb Space Telescope का क्या इस्तेमाल है  जिसका नाम james webb space telescope  है तो आपके मन में james webb space telescope को लेकर बहुत से प्रसन्न होंगे जैसे कि इस टेलिस्कोप से क्या हम अपना फ्यूचर देख सकते हैं या इस टेलिस्कोप से ब्रह्मांड को कई सालों पहले जैसा देख सकते हैं ऐसे ही सवालों का जवाब हम इस आर्टिकल में देने वाले हैं और इस आर्टिकल में हम आपको james webb space telescope के बारे में पूरी जानकारी देने वाले हैं |

James Webb Space Telescope Kya Hai ? को समझने के लिए हमें पहले स्पेस टेलीस्कोप तथा उसके कार्यों के बारे में पता होना जरूरी है अगर आपको स्पेस टेलीस्कोप के बारे में नहीं पता तो हम आपको बता देते हैं

 

Space Telescope क्या है ? 

space telescope से हमें दूर की वस्तुओं को देखने में आसानी होती है क्योंकि मानव नेत्र एक सीमा तक ही देखने की क्षमता रखती है स्पेस टेलीस्कोप भी किसी सामान्य टेलिस्कोप की तरह है जिसे पृथ्वी की बजाए अंतरिक्ष में स्थापित किया जाता है ताकि अंतरिक्ष में मौजूद विभिन्न तारों , ग्रहो , आकाशगंगा आदि का अध्ययन कर सकें. तो अब हम समझते हैं की James Webb Space Telescope Kya Hai ? James Webb Space Telescope Ka Istemal Ku Karte hai etc.  James Webb Space Telescope Kya Hai ? तो दोस्तों आपको मालुम चल गया है की James Webb Space Telescope क्या है James Webb Space Telescope का क्या इस्तेमाल है या James Webb Space Telescope से हम आपने इतिहास कैसे देख सकते है , James Webb Space Telescope प्रथ्वी की उत्पत्ति कैसे हुई।

 

James Webb Space Telescope Kya hai ?

James Webb Space Telescope Kya Hai ? दोस्तों मैं आपको बता दू की यह Space Telescope अमेरिकी स्पेस एजेंसी NASA , यूरोपियन स्पेस एजेंसी ESA और Canadian स्पेस एजेंसी CSA द्वारा किया जा रहा है | जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप अब हबल टेलीस्कोप की जगह लेगा। हबल टेलीस्कोप का काम ब्राह्मण की अनदेखी तस्वीरें भेजना और ब्राह्मण के रहस्य पर से पर्दा उठाना था पर समय के साथ मानव के खोज का का दायरा बढ़ता चला गया और हबल टेलीस्कोप इसे पूरा कर ना सका इस बात को ध्यान में रखते हुए नासा ने नई पीढ़ी के टेलिस्कोप पर काम करना शुरू किया जिसे शुरुआत में नेक्स्ट जेनरेशन स्पेस टेलीस्कोप यानी ngst नाम दिया गया था पर बाद में इसका नाम बदल कर james webb space telescope कर दिया गया नासा का यह टेलीस्कोप मानव इतिहास के सबसे ऐतिहासिक हबल टेलीस्कोप की जगह लेगा जो कि करीब 29 साल से लगातार काम कर रहा है नासा का James Webb Space Telescope Kya Hai ? मौजूदा हबल टेलीस्कोप लगभग 100 गुना ज्यादा शक्तिशाली है आकाशगंगा का पता लगा सकता है जो ब्राह्मणों के शुरुआती काल में बने थे यह पृथ्वी में कक्षा में रहकर ब्रह्मांड की सुदूर गहराइयों में मौजूद आकाशगंगाओं, एस्टेरॉयड, ब्लैक होल्स और सौर मंडलों आदि की खोज में मदद करेगा


जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप (James Webb Telescope) अपने गंतव्य तक पहुंचने में 16 लाख किलोमीटर या  Moon चार गुना अधिक दूरी की यात्रा तय करेगी.

इसे वहां पहुंचने में  one month का समय लगेगा और फिर  Next Five Months में इसकी अवरक्त आंखें ब्रह्मांड की पड़ताल शुरू करने के लिए तैयार होंगी.


James Webb Space Telescope का क्या इस्तेमाल है

वैज्ञानिको के अनुसार इस Telescope का मुख्य उदेश्य ब्रम्हांड के उत्पत्ति के शुरुआत में जन्मे आकाशगंगाओ, तारो और ग्रहो के फार्मेशन का अध्ययन करना है । अतः ऐसा करने के लिए इसे अपने भूतकाल में देखना होगा । चुकी ये तारे और आकाशगंगाये हमारे पृथ्वी से कई प्रकाश वर्ष दूर है इसके कारण इनके प्रकाश को पृथ्वी तक आने में कई प्रकाश वर्ष का समय लग जाता है । इसलिए हम ब्रम्हांड में जितना ज्यादा दूर देख सकते है उतना ही हम अतीत में पीछे देख रहे होंगे, और यह telescope ब्रम्हांड के उत्पत्ति को देखने में सक्षम होगा| .

साथ ही यह Telescope हाल ही में खोजे गए “TRAPPIST-1” ग्रह प्रणाली के ग्रहो की पड़ताल कर यह पता लगाने की कोशिश करेगा की क्या इन ग्रहो पर जीवन संभव है या नहीं। यह Telescope हमारे सौरमंडल के शुरूआती ग्रहो बृहस्पति और शनि के उपग्रहों जैसे की Europa , Titan और Enceladus पर जीवन के अस्तित्व की खोज भी करेगा।

 

ब्रह्मांड की उत्तपति पर खोज

जेम्स वेब टेलीस्कोप के अंतरिक्ष में पहुंचने के बाद ही , ब्रह्मांड के शुरुआती चरणों के दौरान बने सितारों और आकाशगंगाओं (galaxies) की ओर 13.7 अरब वर्ष पीछे देखने की कोशीश करेगा. जेम्स वेब टेलीस्कोप को धरती पर इंसानों द्वारा बनाया गया टाइम मशीन भी कहा जा रहा है, क्योंकि ये ब्रह्मांड की उत्तपति की खोज करने वाला है. दोस्तों ये टेलिस्कोप हमे बोहोत सी जानकारी देगा

 

क्या करेगा ये टेलीस्कोप?

नासा मुख्यालय से इस प्रोग्राम के डायरेक्टर ने बताया कि इस टेलीस्कोप को हमारे सोलर सिस्टम के रहस्यों को सुलझाने में मदद करने के लिए डिजाइन किया गया है। ये धरती से अलग दूसरी दुनिया और सितारों के बारे में जानकारी देगा। साथ ही हमारे ब्रह्मांड की रहस्यमय संरचनाओं और उत्पत्ति के बारे में भी पता लगाएगा। जेम्स वेब टेलीस्कोप का इस्तेमाल आज से करीब 13.5 अरब साल पहले प्रारंभिक ब्रह्मांड में पैदा हुई पहली गैलेक्सीज को देखने के लिए भी होगा। इसके साथ ही ये टेलीस्कोप सितारों, एक्सोप्लैनेट और सोलर सिस्टम के चंद्रमाओं और ग्रहों के स्रोतों का निरीक्षण करेगा।

जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप का इतिहास

इसकी शुरुआत आज से तकरीबन 32 वर्ष पूर्व सितंबर 1989 में हुई, जब स्पेस टेलीस्कोप साइंस इंस्टीट्यूट (Space Telescope Science Institute) तथा नासा (National Aeronautics and Space Administration) ने एक नई पीढ़ी के स्पेस टेलीस्कोप वर्कशॉप की सह-मेजबानी करी। वर्कशॉप का उद्देश्य एक ऐसे स्पेस टेलीस्कोप का निर्माण करना था, जो भविष्य में हबल स्पेस टेलीस्कोप को प्रतिस्थापित कर सके।

साल 2004 में वेब टेलीस्कोप का निर्माण कार्य शुरू हुआ। अगले वर्ष फ्रेंच गुयाना में यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी के सेंटर Centre Spatial Guyanais (CSG) को लॉन्च साइट तथा एरियन-5 रॉकेट को लॉन्च वाहन के रूप में चुना गया था। 2011 तक सभी 18 दर्पण खंड निर्मित कर लिए गए तथा 2012 एवं 2013 के बीच विभिन्न स्थानों में निर्मित टेलीस्कोप के अलग-अलग हिस्सों को नासा के गोडार्ड स्पेस फ्लाइट सेंटर में स्थानांतरित किया गया।

 

क्या जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप एक टाइम मशीन है?

जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप को टाइम मशीन की संज्ञा दी जा रही है। हालाँकि यह फिल्मों में दिखाई देने वाली टाइम मशीन के समान नहीं है, किन्तु इसकी सहायता से हमें ब्रह्मांड के शुरुआती समय तथा उसके विकास की यात्रा को समझने में बहुत हद तक मदद मिल सकती है, दूसरे शब्दों में हम अतीत में झाँक कर ब्रह्मांड का शुरुआती रूप देख सकते हैं। आइए जानते हैं यह टेलीस्कोप कैसे एक टाइम मशीन है।

हमें कोई भी वस्तु दिखाई देती है, क्योंकि प्रकाश उस वस्तु से परावर्तित होकर हमारी आँखों तक पहुँचता है और जैसा कि, हम जानते हैं प्रकाश एक स्थान से दूसरे स्थान तक एक निश्चित गति (लगभग 3 लाख किलोमीटर/घंटा) से चलता है अतः हमारे द्वारा देखी जाने वाली वस्तुओं की छवि असल में उस क्षण की होती है, जब कि हमारी आँखों पर पड़ने वाला प्रकाश उस वस्तु से परावर्तित हुआ था।

चूँकि हमारे आस-पास अथवा पृथ्वी पर मौजूद वस्तुएं प्रकाश की गति की तुलना में हमसे बहुत नजदीक हैं दूसरे शब्दों में प्रकाश किरण के वस्तु से परावर्तित होने तथा हमारी आँखों तक पहुँचने के मध्य का समय नगण्य होता है अतः हमें, हमारे द्वारा देखी जाने वाली वस्तुएं वर्तमान प्रतीत होती है। इसके विपरीत अधिक दूरी वाली वस्तुओं जैसे आकाशीय पिंडों, तारों आदि की स्थिति में उनसे परावर्तित प्रकाश हम तक एक लंबे समायान्तराल के बाद पहुँचता है अतः ऐसी वस्तुओं की हमें दिखाई देने वाली छवि वास्तव में भूतकाल की होती है।

आइए इसे कुछ उदाहरणों की सहायता से समझने का प्रयास करते हैं। सूर्य से हमारी दूरी लगभग 14.7 करोड़ किलोमीटर है तथा उससे आने वाले प्रकाश को हम तक पहुँचने में तकरीबन 8 मिनट 20 सेकेंड का समय लगता है अतः हमें सूर्य की, जो छवि किसी क्षण दिखाई देती है वह वास्तव में 8 मिनट 20 सेकेंड पूर्व की होती है।

क्या एलियंस की तलाश करेगी 

ऐसे ही यदि कोई तारा पृथ्वी से सौ प्रकाश वर्ष की दूरी पर हो तो उसकी, जो छवि हमें आज दिखाई देती है वो वास्तव में उस तारे की आज से सौ वर्ष पूर्व की छवि है, उस तारे की वर्तमान स्थिति हमें सौ वर्ष पश्चात दिखाई देगी, क्योंकि उस तारे से निकले प्रकाश को हम तक पहुँचने में 100 वर्षों का समय लगेगा।

चूँकि हमारी आँखें एक सीमा तक ही देखने में सक्षम हैं अतः यदि हम ऐसा कोई उपकरण बना सकें, जो पृथ्वी से 1000 प्रकाश वर्ष की दूरी पर मौजूद किसी गृह को देख सकने में सक्षम हो, तो हम ऐसे उपकरण की मदद से हज़ार साल पहले उस गृह की स्थिति के बारे में अध्ययन कर सकते हैं। स्पेस टेलीस्कोप ऐसे ही उपकरण हैं, जो ब्रह्मांड के शुरुआती स्वरूप को देख सकने तथा उसे समझने में खगोल वैज्ञानिकों की मदद करते हैं।


Read More :: Bitcoin Mining Kaise Kare


जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप क्या काम करता है ? 

नासा के अनुसार जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप ब्रह्मांड तथा हमारी उत्पत्ति को समझने की हमारी खोज में एक बड़ी उपलब्धि साबित होगा। JWST बिग-बैंग के बाद उत्पन्न हुए पहले चमकदार प्रकाश से लेकर आकाशगंगाओं, तारों और ग्रहों के निर्माण तथा हमारे सौर मंडल के विकास समेत ब्रह्मांडीय इतिहास के प्रत्येक चरण को समझने में मदद करेगा।

जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप इन्फ्रारेड विजन के साथ एक शक्तिशाली टाइम मशीन है, जो ब्रह्मांड के पहले प्रकाश तथा शुरुआती तारों को देखने की क्षमता रखता है। यह शुरुआती तारों से आ रहे इन्फ्रारेड किरणों को डिटेक्ट कर उनकी एक छवि तैयार करेगा। JWST की अभूतपूर्व इन्फ्रारेड सेंसिटिविटी खगोलविदों को सबसे शुरुआती आकाशगंगाओं को समझने में सहायता करेगी, जिससे यह समझा जा सकेगा कि, आकाशगंगाएं अरबों वर्षों में किस प्रकार से परिवर्तित हुई हैं।

यह धूल के बड़े अपारदर्शी बादलों, जिनसे विभिन्न तारों तथा ग्रहों का जन्म हुआ है को देख सकने में भी सक्षम होगा, जो इसके पूर्ववर्ती हबल टेलीस्कोप के लिए संभव नहीं था। इसके अतिरिक्त यह विभिन्न ग्रहों के वायुमंडल के बारे में जानकारी देगा तथा ब्रह्मांड में कहीं और जीवन की संभावनाओं को भी तलाशेगा। अतः इसमें कोई दो राय नहीं है कि, यह टेलीस्कोप मानव सभ्यता के लिए ब्रह्मांड की उत्पत्ति तथा इसके विकास क्रम को पूर्ण रूप से समझने में अहम भूमिका निभाएगा।

 

हबल स्पेस टेलीस्कोप का होता था इस्तेमाल 

James Webb Space Telescope Kya Hai  नासा (NASA) अभी तक अंतरिक्ष की जानकारियों के लिए हबल स्पेस टेलीस्कोप (Hubble Space Telescope) का इस्तेमाल किया करता था, लेकिन जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप, हबल टेलीस्कोप से कई गुना ज्यादा शक्तिशाली है. इसे बनाने से लेकर लॉन्च करने तक में 10 अरब डॉलर का खर्च आया है.

 लाइव स्ट्रीम

JWST दक्षिण अमेरिका के फ्रेंच गयाना में एक यूरोपीय-प्रबंधित स्पेसपोर्ट से आज यानी शनिवार – क्रिसमस के दिन – एरियन उड़ान VA256 के पीछे लॉन्चिंग के लिए तैयार होगा लॉन्च विंडो आधे घंटे से अधिक समय तक चलेगी ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि अंतिम समय में कोई त्रुटि या तकनीकी खराबी न हो। James Webb Space Telescope Kya Hai  नासा अपने YouTube चैनल पर शाम 4:30 बजे से एक लाइव स्ट्रीम चलाएगा, और साथ ही साथ अपने ट्विटर और फेसबुक अकॉउंट पर भी शुरुआत करेगा।  इसके अलावा, यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी अपनी वेबसाइट पर फ्रेंच और स्पेनिश भाषाओं में अपनी लाइव स्ट्रीम भी चलाएगी।

विश्व की सबसे बड़ी और सर्वाधिक शक्तिशाली अंतरिक्ष दूरबीन ‘जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप’ (James Webb Telescope) शनिवार को अपने अभियान पर रवाना हो गई, James Webb Space Telescope Kya Hai ? तो दोस्तों आपको मालुम चल गया है की James Webb Space Telescope क्या है James Webb Space Telescope का क्या इस्तेमाल है या James Webb Space Telescope से हम आपने इतिहास कैसे देख सकते है , James Webb Space Telescope प्रथ्वी की उत्पत्ति कैसे हुई।

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments