You are currently viewing Swadeshi Business Ideas  In Hindi

Swadeshi Business Ideas In Hindi

Swadeshi Business Ideas In Hindi 

 Swadeshi Business Kya hai नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हमारी वेबसाइट पर आज फिर से हम आपके लिए लेकर आये है ,एक और नयी जानकारी  लेकर आये है ,यकीन है आपको यह जानकारी भी जरूर पसंद आएगी और आपलोग यह जानना चाहते है तो आप सभी सही वेबसाइट पर आये है।  तो दोस्तों आप आपको बतायेगे की स्वादिश बिज़नेस आईडिया 2022 बताने वाले है

आज के समय में वही व्यक्ति देश तरक्की कर पाता है , जो अपने आप में आत्मनिर्भर हो , किसी भी देश को आत्मनिर्भर बनने के लिए जरूरी है  देश के नागरिक स्वदेशी बिज़नस अपनाए और इसी से किसी भी देश लोग एवं देश, दोनों ही आत्मनिर्भरता की तरफ बढ़ सकते है | भारत सरकार से साथ साथ अन्य देशो की सरकारे भी अपने अपने देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए इस पर लगातार कार्य कर रही है जिससे की किसी भी देश की विपरीत परिस्थियों में दुसरे देशो पर निर्भरता कम हो सके |दोस्तों अगर आप सभी भी कोई नया बिज़नस चालू करने की सोच रहे हैं, तो आपको अपनी एवं अपने देश दोनों की तरक्की के लिए स्वदेशी बिज़नस को अपनाना चाहिए ताकि आपलोग और देश, दोनों ही आत्मनिर्भर बन पाए एवं आपका देश विकसित देशो की सूचि में शामिल हो सके, अगर आपके मन सवाल है की ये स्वदेशी बिजनेस क्या होता है आपको पूरी जानकारी आपको इस पोस्ट में आगे देने वाले है।

Swadeshi Business Kya hai

जब हम किसी भी चीज को अपने ही देश में बनाते है और अपने ही देश में बेचते तो उसे ही स्वदेशी बिज़नस  कहते है वर्तमान समय में विश्व के अधिकतर देश स्वदेशी उत्पादों पर पर ही जोर दे रहे है और अच्छा मुनाफ़ा भी कमा रहे हैं| क्योकि स्वदेशी बिज़नस में देश का पैसा बाहर नहीं जाता है ,देश में घूमता है   Swadeshi Business Kya hai जिससे देश की जीडीपी में वृद्धि होती है आप भी स्वदेशी उत्पाद बनाने का बिजनेस शुरू करने की सोच रहे है तो आज हम इस पोस्ट में कुछ स्वदेशी बिज़नस आइडिया लेकर आए हैं जिनको आप कर सकते हो।

स्वदेशी साबुन बनाने का बिज़नस

आप स्वदेशी साबुन का काम कर सकते है इसके लिए आपको इसकी विधि जाननी होगी हैं इसके बाद आप स्वदेशी के  साबुन व्यवसाय में भी अपना हाथ आज़मा सकते हैं। अगर आप नहीं जानते तो आप किसी ऐसे प्रशिक्षित कारीगर को काम पर रख सकते हो जो इसके बारे में जनता हो और उससे ट्रेनिंग ले सकते हो | इस काम को आप आसानी से घर बैठे बैठे कर सकते हैं।  चूँकि प्रत्येक व्यक्ति हो साबुन की जरुरत होती ही है इसलिए इसको बजार में बेचना भी मुश्किल नहीं है यह एक बहुप्रचलित बिज़नेस है जिसमे कम लागत में ज्यादा मुनाफा कमा सकते हैं।

अगर आप स्वदेशी बिज़नस से जुड़ना चाहते हैं, तो खुद का एक ब्रांड रजिस्टर कराकर आप  कपड़ों का बिजनेस   शुरू कर सकते हैं और आप अपने द्वारा गए कपड़ों के बिजनेस विश्व में फैला सकते हैं जिससे आपकी ब्रांड को एक नही पहचान मिलेगी और अच्छा मुनाफा भी कमा पाओगे।

दूध से बने उत्पाद का बिजनेस

इस  समय में ऐसी बहुत सी कंपनियां हैं, जो कि दूध से बने कई उत्पादो का निर्माण कर रही हैं तथा लाखों-करोड़ों का मुनाफा कमा रही है,  Swadeshi Business Kya hai इसलिए आप भी दूध से घी, मक्खन, बटर, दही, मिल्क मेड और चॉकलेट  आदि बनाने का बिजनेस शुरू कर सकते हैं| हम आपको बता दे जैसे जैसे जनसँख्या बढती जा रही है ऐसे उत्पादों की डिमांड भी बढती जा रही है| इसलिए आप दूध के उत्पाद आसानी से बना एवं बेच सकते हैं|

स्वदेशी टूथपेस्ट बनाने का बिजनेस

यदि आप आयुर्वेदिक  में  उपयोग होने वाली जड़ी बूटियों की अच्छी नोलेज है तो आप इसका भी सवदेशी बिसनेस कर सकते हो , एवं स्वेदशी दंतमंजन बनाने का बिज़नस स्टार्ट कर सकते हैं। वर्तमान समय में कई लोग जड़ी बूटियों से बने दंतमंजन का इस्तेमाल पर जोर दे रहे है इसलिए इसकी मांग वर्तमान में बहुत अधिक हो गई है| तो आप भी यह बिजनेस शुरु कर सकते हैं, इससे कम लागत में लाखों रुपए की कमाई की जा सकती हैं। जैसे की कई स्वदेशी कंपनियां जैसे, विक्को ,पतंजलि, डाबर,विको बज्रादंती आदि स्वदेशी दंतमंजन बनती हैं,  ऐसे  में आप भी स्वदेशी दंतमंजन  बनाकर अच्छी कमाई कर सकते हैं

मार्केटिंग

अपने प्रोडक्ट को बाजार में लोकल वेंडर की मदद से बाजार में उतारे या फिर लोकल दूकान पर भी जैम की सप्लाई कर सकते हैं।

अन्य जानकारी

इस तरह आप विभिन्न प्रकार के स्वदेशी बिज़नेस को शुरू कर सकते हैं. जैसे, मोबाइल, घरेलू सामान, कार, मोटरसाइकिल आदि. इस तरह हमारा देश भी मेक इन इंडिया बना पाएगा. यह राह देश को ज़रूर   विकास की ओऱ ले जाएगी।

चाय और कॉफी का बिज़नस

हमारे देश में चाय और कॉफ़ी का उत्पादन अच्छी मात्र में होता है यहाँ चाय एवं कॉफ़ी का बिज़नेस बड़ी मात्र में होता है। देश के कई नामी कंपनिया चाय की बिज़नस कर रही है जिसमें टाटा भी शामिल है, वहीं अगर कॉफ़ी उत्पादन की बात करें तो सीसीडी का नाम शीर्ष पर है और अच्छा खासा मुनाफा कमा रही है | इसी तरह आप भी अपनी चाय और कॉफी की ब्रांड बनाकर स्वदेशी बिजनेस शुरू कर सकते हैं और अगर पैसे की कमी है तो आप बिज़नेस लोन भी ले सकते है।

स्वदेशी बिज़नस करने वाली चाय एवं कॉफ़ी ब्रांड:- Marvel टी, सोसाइटी टी, टाटा टी, ताजमहल,टेटले, वाघ बकरी, पताका, ब्रुक बांड आदि।

फ्रूट, जैम और जूस बनाने का बिज़नस

आप स्वदेशी बिजनेस में अपना luck अजमाना चाहते हो तो  हैं, तो फलों का अचार, जैम और जूस बनाने का बिज़नस शुरू कर सकते हो | वर्तमान समय में इस बिजनेस बहुत सारी कंपनियां अच्छा मुनाफा कमा रही हैं| जैसे पतंजलि, प्रिय, रसना, फ्रूटी आदि |  इस तरह आप बनाकर जैम और जूस बनाकर पैसा कमा सकते हैं। एवं लाखों रुपए की कमाई सकते हैं।

मुर्गी पालन

ठन्डे प्रदेशो में रहने वाले लोगो को ठण्ड से बचने के लिए गर्म खाने की जरुरत होती है और वैसे भी मुर्गी के अंडो और उसके मीट प्रोटीन का एक अच्छा स्रोत माना जाता है। अगर आप चाहे तो इस स्वदेशी बिज़नस को भी कर सकते हो। और विदशो में तक सप्लाई कर सकते हो | राज्य सरकारे तो मुर्गी पालन के इस बिज़नस के लोन सब्सिडी भी उपलब्ध करती है। मुर्गी पालन के साथ साथ आप अपना एक रेस्टोरेंट भी खोल सकते हो जिसमे अंडा एवं मीट से बने खाने के आइटम बनाकर बेच सकते हो इस काम को कम पढ़े लिखे भी आसानी से सकते हैं।

स्वदेशी बिज़नस करने वाली कंपनीयो के नाम जो भारतीय उत्पाद बनाती है

  • स्वदेशी दूध: – अमूल, अमूल्य, सरस, मदर डेयरी
  • स्वदेशी शैम्पू: – हिमालय, निरमा, मखमली
  • स्वदेशी कोल्ड ड्रिंक्स: – कलिमार्क बोवोन्टो, रोज़ ड्रिंक (शर्बत), बादाम पेय, दूध, लस्सी, दही, छाछ, जूस, नींबू पानी, नारियल पानी, शेक, जलजीरा, ठंडाई, रूहअफजा, रसना, फ्रूटी, गोदरेज जंपिन आदि।
  • भारतीय साबुन: – हिमालय, मेडिमिक्स ,मसूर संदल, सिनथोल, संतूर, नीम, गोदरेज, पतंजलि (केश कांति), विप्रो, पार्क एवेन्यू, स्वातीक, अयूर हर्बल, केश निखार, हेयर एंड केयर, डाबर वाटिका, बजाज, नाइल।
  • इंडियन टूथब्रश: – अजय, प्रॉमिस, अजंता, रॉयल, क्लासिक, डॉ स्ट्रॉक, मोनेट।
  • स्वदेशी डिटर्जेंट पाउडर: – निरमा, घड़ी, टाइड, व्हील आदि।
  • स्वदेशी टूथपेस्ट: – नीम, बबूल, विकको, डाबर, विको बजरादन्ती, एमडीएच, बैद्यनाथ, गुरुकुल फार्मेसी, चॉइस, एंकर, मेसवाक, बबूल, प्रोमिस, पतंजलि (दंत कांति, दंत मंजन)।
  • भारतीय चाय और कॉफी: – दिव्य पेया (पतंजलि), टाटा, ब्रह्मपुत्र, आसम, गिरनार, भारतीय कैफे, एमआर, एवीटी चाय, नरसस कॉफी, लियो कॉफी
  • स्वदेशी ब्लेड: – पुखराज, गैलेंट, सुपरमैक्स, लेजर, एस्क्वायर, सिल्वर प्रिंस, प्रीमियम।
  • भारतीय शेविंग क्रीम: – पार्क एवेन्यू, प्रीमियम, इमामी, बलसारा, गोदरेज, निविया।
  • भारतीय टैल्कम पाउडर: – संतूर, गोकुल, सिनथोल, बोरोप्लस, कैविन के उत्पाद
  • भारतीय मोबाइल कनेक्शन: – आइडिया, एयरटेल, रिलायंस, बीएसएनएल
  • स्वदेशी वस्त्र या कपड़े: – रेमंड, सियाराम, बॉम्बे डाइंग, एस कुमार्स, मफतलाल, गार्डन वरली, अमेरिकन स्वान, गिन्नी एंड जॉनी, ग्लोबस, मैडम, मोंटे कार्लो फैशन लिमिटेड, रिलायंस रिटेल, आरएमकेवी इत्यादि

स्वदेशी और विदेशी में अंतर

प्रत्येक उत्पाद के ऊपर एक प्रोडक्ट कोड होता है | जिसकी सहायता से आप आसानी से स्वदेशी और विदेशी उत्पाद में अंतर कर सकते है | प्रत्येक देश का एक प्रोडक्ट कोड अलग होता है जिसकी  सहयता से आप पता लगा सकते है की वो उत्पाद  किस देश का है |

इसलिए आप जब भी सामान तो उसका उत्पाद कोड के शुरूआती तीन अंक देखकर जान ले की उत्पाद स्वदेशी है या विदेशी यह  प्रोडक्ट कोड 10 डिजिट से ज्यादा का होता है  यदि यदि उत्पाद के तीन कोड 890 है तो समझ लो

दोस्तों  हमने इस आर्टिकल को काफी सरल भाषा में लिखा है उम्म्मीद है आपको यह जानकारी आपको अच्छे से समझ आ चुकी है। और दोस्तों आपने यह आर्टिकल को पूरा पढ़ा है तो आप यह आर्टिकल को अपने दोस्तों तक जरूर शेयर करे।  और  ऐसे ही हम आपके लिए ऐसे ही नयी जानकारी लाते रहेंगे।

धन्यवाद।


 

Related Link:

 

 

 

 

 

 

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments