You are currently viewing Startup kya Hota Hai In Hindi | Startup In Hindi
Startup kya hai

Startup kya Hota Hai In Hindi | Startup In Hindi

Startup kya Hota Hai In Hindi | Startup In Hindi

Startup kya Hota Hai In Hindi | Startup In Hindi ; नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हमारी वेबसाइट पर आज हम आपको महत्वपूर्ण जानकारी लेकर आये है यह जानकारी के लिए अति आवश्यक है और हमारा आर्टिकल है।  स्टार्टअप क्या है और कैसे शुरू कर सकते है। Startup kya Hota Hai In Hindi | Startup In Hindi स्टार्टअप शब्द यह किसी ऐसे व्यक्ति द्वारा लिखा गया है जिसे हिन्दी अथवा स्रोत भाषा की सीमित जानकारी है। और कंपनी, साझेदारी या अस्थायी संगठन के रूप में शुरू किये गये उस उद्यम या नये व्यवसाय को स्टार्टअप कंपनी या स्टार्टअप कहते हैं और दोस्तों हम आपको इस आर्टिकल को विस्तार से व्यक्त करते है। बिना  वक़्त गुजारे। 





 

Startup kya hai

कंपनी, साझेदारी या अस्थायी संगठन के रूप में शुरू किया गया और  उस उद्यम या नये व्यवसाय को स्टार्टअप कंपनी या स्टार्टअप कहते हैं जो एक दोहराने योग्य और स्केलेबल व्यापार मॉडल की खोज के लिए आरम्भ किया जाता है।इन कंपनियों, आमतौर पर नए बनाए गए, एक प्रक्रिया में नवाचार के विकास, मान्यता और लक्षित बाजारों के लिए शोध कर रहे हैं। डॉट-काम कंपनियों के एक महान संख्या की स्थापना की थी। जब शब्द अंतरराष्ट्रीय स्तर पर डॉट-काम के दौरान लोकप्रिय हो गया। इस पृष्ठभूमि के वजह से कई स्टार्टअप केवल टेक कंपनियों किया जा करने के लिए विचार है, लेकिन यह हमेशा सच नहीं है: अधिक उच्च महत्वाकांक्षा, नवीनता, स्केलेबिलिटी और विकास के साथ क्या स्टार्टअप का सार है। ‘संगठन एक दोहराने योग्य और स्केलेबल व्यापार मॉडल के लिए खोज करने के लिए गठन किया।’ इस मामले में, क्रिया ‘खोज’ बड़ी है, अंतर करने के लिए इरादा है यानी अत्यधिक मूल्यवान, छोटे व्यवसायों, जैसे एक रेस्तरां में एक परिपक्व बाजार परिचालन से स्टार्टअप बाद एक अच्छी तरह से ज्ञात मौजूदा व्यापार रणनीति है, जबकि एक अज्ञात एक स्टार्टअप की पड़ताल या विद्यमान को बाधित करने के लिए अभिनव व्यापार मॉडल बाजार में, अमज़ोन, ऊबेर् या गूगल के मामले में लागू करता है। रिक्त और दोर्फ में जोड़ें कि स्टार्टअप बड़ी कंपनियों की नहीं छोटे संस्करणों रहे हैं: एक स्टार्टअप एक अस्थायी संगठन उत्पाद/फिट के लिए एक बाजार खोज करने के लिए डिज़ाइन किया गया है और एक व्यापार मॉडल है, जबकि इसके विपरीत, एक बड़ी कंपनी एक स्थायी संगठन है कि पहले से ही एक उत्पाद/बाजार फिट हासिल किया है और एक अच्छी तरह से परिभाषित, निष्पादित करने के लिए डिज़ाइन किया गया है पूरी तरह से पुष्टि, अच्छी तरह से परीक्षण किया, सिद्ध कर दिया है , सत्यापित, स्थिर, स्पष्ट, संयुक्त राष्ट्र अस्पष्ट, दुहराने योग्य और स्केलेबल व्यापार मोड।

Narco test kya hai kaise kiya jata hai – सरकारी योजना 

Google Web Stories kya hai Complete Guide

कंपनी को रेवेनुए कैसे होगा

एक स्टार्टअप को शुरू करने से पहले ही यह भी सोच लेना चाहिए कि कंपनी कैसे पैसा कमाने है। जब तक कोई कंपनी पैसा नहीं कमा सकती है तब तक वह कंपनी सफल ही नहीं सकती है। आपने जिस भी स्टार्टअप आईडिया को सोचा है वह सफल तभी साबित हो सकती है Startup kya hai जब उसमे पैसा कमाने का दम हो। वैसे तो हर एक कंपनी रेवेनुए बना ही लेती है लेकिन कुछ ऐसी भी कंपनी भी होती है जो कभी प्रॉफिट में नहीं होती है। कंपनी घाटे में ही चल रही होती है। आम इंसान को देखने में लगता है कि वह कंपनी काफी सफल है और काफी प्रॉफिट भी कमा रही है लेकिन ऐसा नहीं होता है। उदाहरण के तौर पर PayTm, PhonePay, आदि।

Startup आईडिया कैसे बनाये। 

एक अच्छा Startup आईडिया सोचने के लिए सबसे पहले आपको अपने दिमाग को शांत करना होगा। आप दिमाग पर दबाव देकर एक अच्छा बिज़नेस आईडिया कभी नहीं सोचे सकते है। अपने दिमाग को बिलकुल आजाद कर दे। आपका दिमाग जो सोचना चाहता है उसे सोचने दे। बस आप अपने मन में ख्याल रखे की आपको एक अच्छा सा बिज़नेस आईडिया ढूढना है। Startup kya hai कुछ देर के बाद आपके दिमाग में खुद ही एक से एक बड़ा Startup आईडिया आना शुरू हो जाएगा। आपके दिमाग में जो भी Startup आईडिया है उसको आप कही लिख ले। इसके बाद आप उस आईडिया पर विचार करे।Startup आईडिया ढूंढने का एक बहुत ही अच्छा तरीका है। इसमें आपको यह सोचना है कि आपको कब और किस काम से परेशानी होती  है। यदि अभी आपके काम से जुड़ा कोई भी परेशानी नहीं है तो बीते हुए समय के बारे में सोचे। अगर आपको तब भी कोई परेशानी न मिले तो कुछ समय इंतज़ार करे। आपके जीवन में कोई न कोई परेशानी जरूर आएगा। जिसको आपको हल करना होगा। जब कोई ऐसी परेशानी के  सामने आए तो आप विचार करे कि इस तरह का दिक्कते  कितने लोगो को आती होगी। अब आप यह भी सोचे कि वह अपना दिक्कत हल कर पाते होंगे या नहीं। यदि बहुत कम लोग  को ही अपने दिक्कत को  हल कर पाते होंगे तो यही परेशानी आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकती है। इस परेशानी को ख़त्म करने के लिए आप Startup शुरू कर सकते है।

Startup का प्रोसेस बनाए

यदि दोस्तों कभी अपने कोई लक्ष्य बनाया है , तो बहुत से लोग कोई न कोई लक्ष्य बनाते ही रहते है और उसके लिए काम भी करते है लेकिन उनका काम बस कुछ दिन ही चल पाता उसके बाद वह उस लक्ष्य को भूल जाते है या आने वाले समय पर टालने लगते है। पर कुछ लोग ऐसे भी होते है जो लक्ष्य को हासिल कर लेते है। ऐसा वह इसलिए कर पाते है क्योंकि वह अपने लक्ष्य को पाने के लिए प्रॉसेस को बनाते है और उस प्रॉसेस को फॉलो करते है। यदि आप स्टार्टअप शुरू कर रहे है तो आपका कोई न कोई लक्ष्य जरूर होगा। उस लक्ष्य को पाने के लिए आपको प्रॉसेस बनाना होगा। कंपनी में बस अकेले आप काम नहीं करेंगे। आपके साथ पूरी टीम होगी। Startup kya hai टीम को काम कराने और रिजल्ट हासिल करने प्रॉसेस का होना बहुत जरूरी है। आप स्टार्टअप को शुरू करने से पहले ही प्रॉसेस को बना लेंगे तो यह आपके लिए काफी सही होगा।

Fund का इंतजाम करें

एक स्टार्टअप बस सोचने से शुरू नहीं हो जाती है। स्टार्टअप को शुरू करने के लिए आईडिया होने के साथ फण्ड भी होना चाहिए। Startup kya hai अब आपको अपने स्टार्टअप को शुरू करने के लिए फण्ड का इंतजाम करना होगा। अब आपके मन में सवाल आ सकता है कि बिज़नेस के लिए फण्ड कहा से लेकर आए। तो चलिए हम आपको इसका तरीका भी जान लेते है।

स्टार्टअप के लिए पैसा कहाँ से लाए

चलिए अब हम आपको स्टार्टअप के लिए पैसा कैसे लेकर आना है यह बताते है। स्टार्टअप के लिए पैसा इकठ्ठा करने के तरीके कुछ इस तरह से है।

रिश्तेदार से पैसा लेना: यह काफी लोगों के लिए मुश्किल काम हो सकता है। जैसे हमारे दोस्त अनगिनत होते है वैसे हमारे रिश्तेदार भी अनगिनत होते है। पर कुछ ही रिश्तेदार हमारे साथ खड़े होते है। यदि आपके दिमाग में कोई ऐसा रिश्तेदार है जो आपके बिज़नेस में निवेश कर सकता है तो एक बार आप उससे बात कर सकते है।

एंजेल इन्वेस्टर: बिज़नेस में निवेश करने के लिए कोई परी आ जाए तो। ऐसा ही कुछ एंजेल इन्वेस्टर होता है। एंजेल इन्वेस्टर आपके बिज़नेस में ऐसे समय पर पैसे का निवेश करता है जब आपका बिज़नेस बिलकुल नया हो। यदि आपके बस बिज़नेस आईडिया है तो भी एंजेल इन्वेस्टर आपके आईडिया में निवेश करके उसको एक बिज़नेस बना सकता है। हम आपको बता दे कि आपका आईडिया काफी दम दार होना चाहिए इसके साथ ही उससे जुडी जानकारी भी आपके पास होनी चाहिए।

अन्य इन्वेस्टर: एंजेल इन्वेस्टर के बाद बहुत तरह के इन्वेस्टर होते है जो की तरह-तरह के स्टार्टअप में पैसे में निवेश करते है। यदि आपने खुद के पैसे या एंजेल इन्वेस्टर से लिए हुए पैसे से अपने बिज़नेस को बड़ा और कामयाब कर लेते है तो आपको बहुत तरह के इन्वेस्टर मिलेंगे जो आपके बिज़नेस में इन्वेस्ट करने को तैयार रहेंगे।

दोस्तों का पैसा: हम सभी के दोस्त होते हैं। वैसे तो अधिकतर दोस्तों समय पड़ने पर साथ नहीं देते है लेकिन कुछ बहुत करीबी दोस्त भी होते है। जो हमारे बुरे और अच्छे समय पर साथ रहते है। ऐसे दोस्तों से आप अपने स्टार्टअप के लिए पैसा ले सकते है। ऐसे दोस्तों से बस आपको एक बार कहना होगा। यदि उनके पास पैसा है तो वह तुरंत आपके बिज़नेस में निवेश करने के लिए तैयार हो जाएंगे।

खुद का पैसा: किसी स्टार्टअप को शुरू करने के लिए सबसे पहले खुद का पैसा लगाना होगा। यदि आपके पास पहले से कुछ पैसा है तो आप उस पैसे को अपने स्टार्टअप में निवेश कर सकते है। हम आपको बता दे की जब आप खुद का पैसा निवेश करेंगे तो ही कोई और आपके बिज़नेस में पैसा निवेश करेंगा।

शेयर बाजार: जब आपका बिज़नेस काफी बड़ा और सफल हो चुका होगा तब आपके लिए शेयर बाजार है। शेयर बाजार से कोई भी बिज़नेस कितना भी पैसा हासिल कर सकती है।

कंपनी रजिस्टर करवाएं

अब तक आप उस मोड़ पर आ चुके होंगे जब आपको अपने कंपनी को रजिस्टर करवाना होंगे। वैसे हर एक देश में कंपनी को रजिस्टर करवाने का प्रॉसेस काफी हद तक अलग है। यदि आप भारत में अपना स्टार्टअप शुरू करना चाहते है तो स्टार्टअप/बिज़नेस रजिस्टर करवाने के बहुत से ऑप्शन है, जैसे Public Limited Company, Private Limited Company, Joint-Venture Company, Partnership Firm, One Person Company, Sole Proprietorship, आदि। यदि आप किसी इन्वेस्टर से अपने बिजनेस में निवेश करवाना चाहते है तो आप अपने स्टार्टअप/बिज़नेस को Private Limited के तौर पर रजिस्टर कराए।

हम आपको यह भी बता दे कि यदि आपका बिज़नेस/स्टार्टअप आईडिया काफी यूनिक है और आप आगे चल करके इस बिज़नेस को पुरे देश और दुनिया में लेकर जाना चाहते है तो आप ट्रेडमार्क रजिस्टर करवा सकते है। इससे आपके बिज़नेस का कोई नक़ल नहीं कर सकता है।

उम्मीद है दोस्तों आपको यह आर्टिकल अच्छे से समझ आ चूका होगा और दोस्तों आपको और नयी जानकारी चाहिए तो आप हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताये और आपको कंटेंट लिखवाना है तो आप हमें इमेज पर दिए गए नंबर पर बता सकते है। 

धन्यवाद







 

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments