You are currently viewing The 7 Habits of Highly Effective People

The 7 Habits of Highly Effective People

नमस्कार दोस्तों, हमारी वेबसाइट में आपका स्वागत है, आज हम चर्चा करेंगे The 7 Habits of Highly Effective People दोस्तों अक्सर लोगो को यह अच्छी आदत लाना पसंद होती है इसलिये आज हम इसके बार में जानेगे,दोस्तो रियल लाइफ मे कुछ लोग कफी संघर्ष या मेहनत  करते है और आखिरी में उनका परिणाम नकारात्मक आ जाता है जिससे वह काफी  निराश होते हैं दोस्तो The 7 Habits of Highly Effective People यह एक किताब है परंतु आज हम आपको किताब की सारांश के बारे मे बताने वाले है तो दोस्तों शुरू कर लेते है।

The 7 Habits of Highly Effective People

  •  Be Proactive
  • Begin With the End in Mind
  • Put First Things First
  • Think Win-Win
  • Seek First to Understand, Then to Be Understood
  • Synergize
  • Sharpen the Saw

1. Be Proactive

Proactive होने का मतलब यह है की – अगर कोई भी  हमें criticize भी करे तो भी हमें  over react नहीं करना चाहिए।और साथ ही बहुत से लोग दूसरों की बातों का बुरा मान जाते हैं। और निराश व  पलट कर उल्टा जवाब दे देने लगते है और  झगड़ा भी कर लेते है। ऐसे लोगों को reactive कह जाता है। क्योकि वो react कर रहे होते हैं Author कहते हैं कि reactive बनने की बजाय, proactive बनें। मतलब लोगों की बुरी बातों पर react ही न करें। उनकी बातो और कामो को अनदेखा करे और चुपचाप अपने goal (लक्ष्य ) पर ध्यान केंद्रित करे। आप लोग वे व्यक्ति जो negative सोच व आपके बारे में negative सोचते है उन्हें केवल smile करें। उन्हें reaction देंगे तो आप अपना time और energy ही बर्बाद करेंगे। मूड ख़राब होगा। इस से अच्छा है की , उनसे दूर रहें और केवल अपना काम करते रहें। दोस्तो, negative लोग आपको हर कहीं मिलेंगे और आपको घर में, ऑफिस में, स्कूल-कॉलेज में, सोसाइटी में हर जगह आपको नेगेटिव लोग मिलेंगे। तो दोस्तों आज से ही proactive बनने की कोशिश करें। Smile करें और उन्हें ignore करके आगे बढ़ जाएँ। उनकी बातों से आपकी लाइफ change नहीं हो पायेगी ।आपकी लाइफ बदलेगी आपके efforts से। इसलिए ऐसे लोगों की बातों का  बुरा न माने। लोगों के साथ -साथ नेगेटिव माहौल और आस- पड़ोस का भी खुद पर कोई असर न होने दें। एक दिन ऐसे माहौल से आप निकल ही जायेंगे।

Bharat mai best hindi ideas 2022

2. Begin With the End in Mind

आखिरी लक्ष्य जो की दिमाग में रखें लेखक ने कहा हैं कि जब  हम कोई काम किया करते हैं तो पहले उसकी प्लानिंग करते हैं।फिर उस कार्य को करने में जुड़ जाते है। और काम करने में हम इतना busy हो जाते है हम अपने फ्यूचर goal को भूल जाते है। इसलिए आज से जब भी कोई भी काम करें तो पहले ये सोचें कि आप कहाँ पहुँचना चाहते हैं। जैसे, अगर आप बॉक्सिंग सीखना चाहते हैं तो आपका फाइनल goal क्या है? क्या आप सिर्फ कॉलेज टीम में खेलना चाहते हैं, स्टेट लेवल पर खेलना चाहते हैं या ओलंपिक्स में जाना चाहते हैं? जब तक आप फाइनल goal ही decide नहीं करेंगे तो आपके दिमाग में confusion ही बना रहेगा। Confused दिमाग ठीक से काम नहीं करेगा।

एक्टर बनना चाहते हैं, तो भी फाइनल goal रखें। टीवी सीरियल में जायेंगे या फिल्म में? फिल्म में जायेंगे तो कौन से प्रोडक्शन हाउस में? सभी चीजों पर ध्यान रखना है और फिर Final goal सोच लेने के बाद ही काम में लगें। इस से आपका दिमाग पूरे जोश से आपको goal की तरफ बढ़ाने लगेगा। Company खोलना चाहते है तो ध्यान रखे की आपको उसमे क्या वर्क होगा कितने मेंबर्स होंगे और कितने प्रोडक्ट्स होंगे।

3. Put First Things First

दोस्तो, कई बार हमारे पास करने के लिए काफी काम होते हैं। तो ऐसे में कौन सा काम क,करना चाहिए कोनसा नहीं यह decide  करना मुश्किल होजाता है लेखक ने कहा है की ऐसे में जो कार्य  सबसे जरुरी है, सबसे पहले वे कार्य करना चाहिए। मान लो की आप एक blogger है तो सबसे पहले आपको quality post लिखनी चाहिए न कि आप social media पर ब्लॉग प्रमोशन में लग जाना चाहिए। Promotion का काम तो बाद में होना ही है परन्तु पहले अच्छा ब्लॉग तो बन जाये। लेखक ने बताया है कि हमेशा – To do की list बनायें और उस लिस्ट में आप पुरे दिन में जो भी कार्य करते है वो लिखे और उस पर नंबरिंग करे। और इस स्टेप से आप अपना वर्क सरल तरीके से कर पाएंगे। और आपने सरकारी clerks को तो देखा होगा। उनका जो भी कार्य होता है वह समय के अनुसार नहीं हो पाटा है। क्योकि असल में समझ ही नहीं पाते क्या काम सबसे जरुरी है और फालतू , बेकार के कार्य करने लगते है।  दोस्तों परन्तु सभी सरकारी नौकरी वाले ऐसे नहीं होते।  और वह कई बार अच्छे कार्य भी करते है जिससे उनकी काफी प्रशंशा होती है

4. Think win – win

लेखक ने बताया हैं कि जब भी कोई तकरार हो तो ऐसा तरीका निकालिए की आपकी दिक्कत आसानी से सुलझ जाए और किसी भी प्रकार की दोनों में मतभेद न हो। और ऐसा करे की खुद की जीत हो और सामने वाले की हार और उन्हें इस बात का अंदाजा भी न  लगा सके परन्तु कुछ लोग ऐसे होते है जिसका दिमाग लिमिट से ज्यादा चलता है और वह इस बात का अंदाजा भी लगा लेते है।  और फिर बुरी भावना के साथ आपके बुरा करने के लिए पूरी तरह से तैयार रहते है।   उदहारण देकर समझाए तो जिसे पकिस्तान और भारत win -win सिचुएशन तब होगी जब दोनों देश एक दूसरे के साथ friendship रखें ।

मान लीजिये की दोनों देशों में दोस्ती होती तो आप weekends पे शिमला, मनाली ही नहीं बल्कि लाहौर, कराची,इस्लामाबाद, पेशावर, मुल्तान भी घुमा करते।  और जो पकिस्तान के लोग है वह भारत के कई इलाको में जैसे जयपुर ,आगरा देहरादून अन्य स्थान पर आ जा सकते थे।दोनों देशों में tourism एक बहुत बड़ी इंडस्ट्री बन सकता था इस से कितने लाखों बेरोजगार युवकों को रोज़गार मिल जाता है कला-संस्कृति के कितने नए दरवाजे खुल जाते ? दोनों देशों में नुक्सान की परीस्थिति  है। जंग में हमेशा नुक्सान होता है जितने वाले के साथ भी और हरने वाले के साथ भी। तो win -win वाली इस आदत को भी आप जरूर अपनाये और  अगर हर जगह आपको सफल होना है तो ।

5. Seek First to Understand, Then to Be Understood 

इसका मतलब है की आप जब किसी व्यक्ति को समझते हो तो सामने वाला  व्यक्ति भी आपको समझेगा कोई भी दोस्त हमसे कोई परेशानी व अन्य बाते हमसे शेयर करता है तो हम उनकी परेशानी को सुन कर समझाने के लिए लेक्चर देने लगते है माता -पिता की कहानी आप लोगो में सुनी होगी  की वह चाहते है की उनका बच्चा आगे बढ़कर एक ऐसा व्यक्ति बने जैसे डॉक्टर , वकील , आईएएस ,आईपीएस अन्य पोस्ट।  परन्तु वह बच्चो के मन में क्या चल रहा है बिना जाने अपने  मन में अपने सपने जगाने लगते है और आज के समय में बच्चो को बेस्ट ब्लॉगर बनना चाहते है।  और you -tuber बनना चाहता है  animation सीखना चाहता हो organic farming करना चाहता हो परन्तु आज के समय में यह कोई भी नहीं समझता । दोस्तों कभी अपने यह नहीं सुना होगा की मेरा बेटा म्यूजिक की क्लास ले रहा है और मेरी बेटी डांस academy में डांस सीखा करती है।  इसलिए दोस्तों आपको सभी व्यक्तियों की बातो को धयानपूर्वक समझना चाहिए । हर कोई opinions उन पर नहीं लादने चाहिए। और दोस्तों दूसरे की भावनाओ को समझे और समझ भी पाएंगे।

6. Synergize

synergize का सरल भाषा में मतलब है की किसी भी टीम या ग्रुप को cooperate करना सीखना। लोगो के प्रति एकता बढ़ाना और एकता में शक्ति की बात लोगो ने कई बार सुना ही होगा।  किसी भी ऑफिस में एक व्यक्ति पूरा कार्य कल्हड़ अकेले नहीं संभाल सकता।  इसलिए हमेशा हर काम को एकजुट होकर कार्य करना पड़ जाता है यदि दोस्तों आप अपने हेड को या बॉस को पसंदीदा बनने के लिए आप लोगो से ज्यादा एक्स्ट्रा वर्क करते है या उस ऑफिस से अलग होकर आप कुछ नया कार्य करते है तो ऑफिस के हर व्यक्ति के सामने आपकी reputation खराब हो जाती है और साथ ही लोगो के मन में से भरोसा उठ जाता है इसलिए आप अपने ऑफिस में  सच्चे मन से व खुद का ऑफिस समझ कर कार्य करे।  और टीम के साथ मिल- झूल कर अपना कार्य करे।  और दोस्तों आप अपनी परिवार से हमेशा अच्छे से पेश आये और हर वक़्त आपका परिवार आपके लिए सहयतापूर्वक रहेगा।  और हर समय आपके साथ व काम आएगी

7. Sharpen the Saw

इसका अभिप्राय है यार को धार लगाते रहिए और लेखक द्वारा बताया गया है की आप अपनी skill को devlop करे और improve करे और आगे भी आप अपनी स्किल को इम्प्रूव करे ऐसे में आपकी स्किल को ख़राब  हो जाएगी और आप सफलता को प्राप्त नहीं कर नहीं कर पायेंगे और शारीरिक मजबूत रहना और डेली आप एक्सरसाइज करते रहिए। और साथ ही socially भी आप मजबूत रहे क्योकि यह समाज सेवा के लिए अत्यंत जरुरी और समाज में लोगो सहायता करना Spiritually fit रहने के लिए मैडिटेशन,, worship आदि हमेशा करते रहना चाहिए। और अपने मन को हमेशा निखारते रहे और खुश रखे और साथ ही नया कार्य करना सीखते रहे और जैसे गाना गाना और डांस करना।  और आप अच्छे डांसर है तो आप अपनी स्किल को दूसरे को भी साँझा व सिखाये आदि और साथ ही आप ऐसा व्यक्ति बने जो की आपके पास हर चीज की knowledge  होनी जरुरी  है। और जैसे कम्पनी का मालिक हैं तो इस तरह के कोर्स करते रहें। जैसे – finance courses, marketing courses, personality development courses, public speaking course आदि। और कहने का अभिप्राय है की इंसान को कभी भी रुकना नहीं है और हर उम्र में आप कुछ नया जरूर सीखे।

दोस्तों आज हमने महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त की है The 7 Habits of Highly Effective People  दोस्तों हमने आपको सरल भाषा में काफी आपको बताया है उम्मीद करते है आपको यह काफी पसंद आया होगा और दोस्तों आपको पसंद आया है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताये और अपने इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ा है तो आप अपने relatives एंड friends तक जरूर शेयर करे।

धन्यवाद

2 5 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

3 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Jespal
Jespal
3 months ago

I like content

Jespal
Jespal
3 months ago

Unique artical

Miskeen
Miskeen
3 months ago

I like content