Thursday, April 25, 2024
HomeComputer & TechnologyEncryption और Decryption क्या अंतर है

Encryption और Decryption क्या अंतर है

Encryption और Decryption क्या अंतर है -हेलो दोस्तों मेरा नाम कासिम अली है आज मैं आप लोगो को बताने वाला हूँ कि Encryption and डेक्रिप्शन क्या है अगर आप लोग नहीं जानते हो तो आप इस ब्लॉग के जरिये जान जाओगे

Difference Between Encryption and Decryption in Hindi

Encryption और Decryption क्या अंतर है -एन्क्रिप्शन और डिक्रिप्शन गुप्त संदेश भेजने के दो ज़रूरी हिस्से हैं, जिन्हें आसानी से समझने के लिए हम दो तालों की कल्पना कर सकते हैं. एन्क्रिप्शन (Verschlüsselung) एक ताला लगाने की तरह इसमें आप अपने मूल संदेश (जिसे प्लेनटेक्स्ट कहते हैं) को एक गड़बड़ और समझ में न आने वाले रूप में बदल देते हैं, जिसे सिफरटेक्स्ट कहते हैं. ये ऐसा कोड या पाठ होता है जो बिना सही चाबी के किसी को समझ नहीं आता. इस प्रक्रिया में एक गुप्त चाबी का इस्तेमाल किया जाता है, जो खास नियमों के साथ प्लेनटेक्स्ट को सिफरटेक्स्ट में बदलता है. एन्क्रिप्शन का इस्तेमाल संवेदनशील जानकारी जैसे बैंक डेटा, ईमेल पासवर्ड या निजी दस्तावेजों को सुरक्षित रखने के लिए किया जाता है. डिक्रिप्शन (Entschlüsselung) तो दूसरा ताला खोलने की तरह है.


इसमें आप सिफरटेक्स्ट को वापस उसके मूल प्लेनटेक्स्ट रूप में बदल देते हैं. ये काम भी उसी गुप्त चाबी से किया जाता है जिसका इस्तेमाल एन्क्रिप्शन के लिए हुआ था.
बिना सही चाबी के डिक्रिप्शन करना बेहद मुश्किल होता है, जिससे अनाधिकृत लोगों द्वारा संदेश पढ़ने का खतरा कम हो जाता है.

उदाहरण के लिए, जब आप ऑनलाइन बैंकिंग करते हैं, तो एन्क्रिप्शन आपके लॉगिन विवरण को सुरक्षित रखता है. फिर डिक्रिप्शन बैंक को उन्हें पढ़ने और आपको लॉग इन करने की अनुमति देता है.
इस तरह, एन्क्रिप्शन और डिक्रिप्शन मिलकर एक सुरक्षित संचार चैनल बनाते हैं, जिससे आपका डेटा ऑनलाइन दुनिया में भी सुरक्षित रहता है.
मुझे आशा है कि यह आपके लिए आसानी से समझ में आया होगा. अगर आपके और कोई सवाल हों तो पूछिए!

What is Encryption in Hindi-Encryption किसे कहते है?

Encryption और Decryption क्या अंतर है -एन्क्रिप्शन एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें किसी जानकारी को एक गुप्त रूप में बदल दिया जाता है, जिसे केवल उन्हीं लोगों द्वारा पढ़ा जा सकता है जिन्हें इस गुप्त रूप को समझने के लिए एक कुंजी होती है।
एन्क्रिप्शन का इस्तेमाल संवेदनशील जानकारी को सुरक्षित रखने के लिए किया जाता है, जैसे बैंक खाते की जानकारी, पासवर्ड, क्रेडिट कार्ड नंबर, आदि। जब आप ऑनलाइन बैंकिंग करते हैं, तो आपका बैंक आपके खाते की जानकारी को एन्क्रिप्ट करके भेजता है, जिससे कोई भी बीच में उसका इस्तेमाल नहीं कर सकता है।


एन्क्रिप्शन के दो प्रकार होते हैं

इस प्रकार के एन्क्रिप्शन में, एन्क्रिप्शन और डिक्रिप्शन के लिए एक ही कुंजी का इस्तेमाल किया जाता है। यह प्रकार का एन्क्रिप्शन आमतौर पर कम शक्तिशाली होता है, लेकिन यह लागत प्रभावी होता है।
इस प्रकार के एन्क्रिप्शन में, एन्क्रिप्शन और डिक्रिप्शन के लिए दो अलग-अलग कुंजियों का इस्तेमाल किया जाता है। एक कुंजी को सार्वजनिक कुंजी कहा जाता है, और दूसरी कुंजी को निजी कुंजी कहा जाता है। सार्वजनिक कुंजी को किसी भी व्यक्ति के साथ साझा किया जा सकता है, लेकिन निजी कुंजी को गुप्त रखना चाहिए। असममित एन्क्रिप्शन सिमेट्रिक एन्क्रिप्शन की तुलना में अधिक शक्तिशाली होता है, लेकिन यह अधिक महंगा होता है।
एन्क्रिप्शन एक महत्वपूर्ण सुरक्षा तकनीक है जो हमारी ऑनलाइन दुनिया को अधिक सुरक्षित बनाने में मदद करती है।

What is Decryption in Hindi-Decryption किसे कहते है?

डिक्रिप्शन एन्क्रिप्शन की प्रक्रिया का विपरीत है। यह एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें किसी जानकारी को उसके गुप्त रूप से उसके मूल रूप में वापस बदल दिया जाता है।

डिक्रिप्शन का इस्तेमाल एन्क्रिप्टेड जानकारी को पढ़ने के लिए किया जाता है। उदाहरण के लिए, जब आप ऑनलाइन बैंकिंग करते हैं, तो आपका बैंक आपके खाते की जानकारी को डिक्रिप्ट करके आपको दिखाता है।
डिक्रिप्शन के लिए एक कुंजी की आवश्यकता होती है, जिसका इस्तेमाल एन्क्रिप्शन के दौरान किया गया था। यदि आपके पास सही कुंजी नहीं है, तो आप डिक्रिप्शन नहीं कर पाएंगे।

डिक्रिप्शन के दो प्रकार होते हैं

इस प्रकार के डिक्रिप्शन में, एन्क्रिप्शन और डिक्रिप्शन के लिए एक ही कुंजी का इस्तेमाल किया जाता है। यह प्रकार का डिक्रिप्शन आमतौर पर कम शक्तिशाली होता है, लेकिन यह लागत प्रभावी होता है।

प्रकार के डिक्रिप्शन में, एन्क्रिप्शन और डिक्रिप्शन के लिए दो अलग-अलग कुंजियों का इस्तेमाल किया जाता है। एक कुंजी को सार्वजनिक कुंजी कहा जाता है, और दूसरी कुंजी को निजी कुंजी कहा जाता है। सार्वजनिक कुंजी को किसी भी व्यक्ति के साथ साझा किया जा सकता है, लेकिन निजी कुंजी को गुप्त रखना चाहिए। असममित डिक्रिप्शन सिमेट्रिक डिक्रिप्शन की तुलना में अधिक शक्तिशाली होता है, लेकिन यह अधिक महंगा होता है। डिक्रिप्शन एक महत्वपूर्ण सुरक्षा तकनीक है जो हमारी ऑनलाइन दुनिया को अधिक सुरक्षित बनाने में मदद करती है।

Encryption और Decryption का इस्तेमाल क्यों किया जाता है?

Encryption और Decryption का उपयोग करने के लिए महत्वपूर्ण कारण हैं जो की इस प्रकार है। यह हमारे Confidential Data जैसे की User ID और Passwords को सुरक्षित रखता है।यह हमारी निजी जानकारी की गोपनीयता प्रदान करता है

आपको यह सुनिश्चित करने में मदद करता है कि Information या फ़ाइल को परिवर्तित नहीं किया गया है इंटरनेट पर होने वाले कम्युनिकेशन के लिए सहायक है जहां एक हैकर आसानी से आपके डेटा को एक्सेस नहीं कर सकता।

यह इसलिए भी आवश्यक है क्योंकि यह आपको डेटा को सुरक्षित रखने में मदद करता है जिसे आप नहीं चाहते कि कोई और उसे एक्सेस करे।

Difference Between Encryption and Decryption in Hindi

एन्क्रिप्शन (Verschlüsselung)

यह एक गुप्त भाषा की तरह है, जो आपके संदेश को पढ़ने लायक नहीं बनाता.
इसमें आप अपने मूल संदेश (जिसे प्लेनटेक्स्ट कहते हैं) को एक गड़बड़ और समझ में न आने वाले रूप में बदल देते हैं, जिसे सिफरटेक्स्ट कहते हैं.

इसका काम है संवेदनशील जानकारी को सुरक्षित रखना, जैसे बैंक डेटा, ईमेल पासवर्ड या निजी दस्तावेज.
इस प्रक्रिया में एक गुप्त चाबी का इस्तेमाल किया जाता है, जो एक पासवर्ड की तरह होता है और सिफरटेक्स्ट को वापस प्लेनटेक्स्ट में बदलने में मदद करता है.

डिक्रिप्शन (Entschlüsselung)

इसमें आप सिफरटेक्स्ट को वापस उसके मूल प्लेनटेक्स्ट रूप में बदल देते हैं.
बिना सही चाबी के, यानी पासवर्ड के, डिक्रिप्शन करना असंभव है, जिससे डेटा सुरक्षित रहता है.
इसका काम है एन्क्रिप्टेड जानकारी को पढ़ने लायक बनाना.

उदाहरण के लिए, जब आप ऑनलाइन बैंकिंग करते हैं, तो एन्क्रिप्शन आपके लॉगिन विवरण को सुरक्षित रखता है. फिर डिक्रिप्शन बैंक को उन्हें पढ़ने और आपको लॉग इन करने की अनुमति देता है.

इस तरह, एन्क्रिप्शन और डिक्रिप्शन मिलकर एक सुरक्षित संचार सुरंग बनाते हैं, जो आपके डेटा को ऑनलाइन दुनिया में भी सुरक्षित रखता है. उम्मीद है, यह स्पष्ट रूप से समझाता है कि दोनों कैसे अलग-अलग काम करते हैं और साथ में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं.

एन्क्रिप्शन और डिक्रिप्शन महत्वपूर्ण हैं क्योंकि वे संवेदनशील जानकारी को सुरक्षित रखने में मदद करते हैं। यह जानकारी किसी भी प्रकार की हो सकती है, जैसे बैंक खाते की जानकारी, पासवर्ड, क्रेडिट कार्ड नंबर, ईमेल, आदि।

एन्क्रिप्शन की प्रक्रिया में, किसी जानकारी को एक ऐसे रूप में बदल दिया जाता है जिसे केवल उन्हीं लोगों द्वारा पढ़ा जा सकता है जिन्हें इस गुप्त रूप को समझने के लिए एक कुंजी होती है। बिना सही कुंजी के, एन्क्रिप्टेड जानकारी को पढ़ना असंभव होता है।

एन्क्रिप्शन कैसे किया जाता है?

  • एन्क्रिप्शन: इस चरण में, मूल जानकारी (जिसे प्लेनटेक्स्ट कहा जाता है) को एक गुप्त रूप (जिसे सिफरटेक्स्ट कहा जाता है) में बदल दिया जाता है।
  • डिक्रिप्शन: इस चरण में, सिफरटेक्स्ट को वापस उसके मूल प्लेनटेक्स्ट रूप में बदल दिया जाता है।

    एन्क्रिप्शन और डिक्रिप्शन दोनों के लिए एक कुंजी की आवश्यकता होती है। कुंजी एक गुप्त नंबर या अक्षरों की श्रृंखला होती है जो एन्क्रिप्शन और डिक्रिप्शन प्रक्रियाओं को नियंत्रित करती है।

    एन्क्रिप्शन करने के लिए, एन्क्रिप्शन एल्गोरिथ्म का उपयोग किया जाता है। एन्क्रिप्शन एल्गोरिथ्म एक गणितीय सूत्र है जो प्लेनटेक्स्ट को सिफरटेक्स्ट में बदलता है।

    एन्क्रिप्टेड व्हाट्सएप संदेशों को कैसे पढ़ा जाए?

    एन्क्रिप्टेड व्हाट्सएप संदेशों को केवल उस व्यक्ति द्वारा पढ़ा जा सकता है जिसके पास संदेश को एन्क्रिप्ट करने के लिए इस्तेमाल की गई कुंजी है। यदि आपके पास उस कुंजी तक पहुंच नहीं है, तो आप संदेश को पढ़ने में सक्षम नहीं होंगे।

    हालांकि, कुछ तरीके हैं जिनसे आप एन्क्रिप्टेड व्हाट्सएप संदेशों को पढ़ने की कोशिश कर सकते हैं।

    एक तरीका है कि आप संदेश भेजने वाले व्यक्ति से कुंजी प्राप्त करने का प्रयास करें। यदि संदेश भेजने वाला व्यक्ति आपको कुंजी देने के लिए सहमत है, तो आप संदेश को पढ़ सकेंगे।

    एक अन्य तरीका है कि आप एन्क्रिप्शन एल्गोरिथ्म को तोड़ने का प्रयास करें। एन्क्रिप्शन एल्गोरिथ्म एक गणितीय सूत्र है जो एन्क्रिप्टेड संदेश को प्लेनटेक्स्ट में बदलता है। यदि आप एन्क्रिप्शन एल्गोरिथ्म को तोड़ने में सक्षम हैं, तो आप संदेश को पढ़ सकेंगे।

    हालांकि, एन्क्रिप्शन एल्गोरिथ्म को तोड़ना एक मुश्किल काम है। अधिकांश एन्क्रिप्शन एल्गोरिथ्म बहुत शक्तिशाली होते हैं, और उन्हें तोड़ने में कई साल या यहां तक ​​कि दशकों लग सकते हैं।

    अंत में, आप एक हैकर या अन्य साइबर अपराधी से मदद लेने का प्रयास कर सकते हैं। हैकर या अन्य साइबर अपराधी एन्क्रिप्शन एल्गोरिथ्म को तोड़ने या संदेश भेजने वाले व्यक्ति से कुंजी प्राप्त करने में आपकी मदद कर सकते हैं। हालांकि, यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि हैकर या अन्य साइबर अपराधी आपकी जानकारी का दुरुपयोग कर सकते हैं।

    कुल मिलाकर, एन्क्रिप्टेड व्हाट्सएप संदेशों को पढ़ना एक मुश्किल काम है। यदि आपके पास संदेश भेजने वाले व्यक्ति से कुंजी तक पहुंच नहीं है, तो आप संदेश को पढ़ने में सक्षम होने की संभावना नहीं रखते हैं।

RELATED ARTICLES
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Most Popular