Wednesday, May 29, 2024
HomeComputer & TechnologyKeylogger क्या है ? जानिए पूरी जानकारी in hindi .

Keylogger क्या है ? जानिए पूरी जानकारी in hindi .

हेलो दोस्तों आज हम आप सब के लिए ये पोस्ट Keylogger क्या है ? लेकर आए है उम्मीद करते है की आप को ये पोस्ट Keylogger क्या है ? जरूर पसंद आए इस पोस्ट में हमने इसकी पूरी जानकारी दी है और आप आपने दोस्तों को भी ये पोस्ट Keylogger क्या है ? शेयर करें तो दोस्तों पोस्ट को शुरू करते है की Keylogger क्या है ? in hindi.   

Also Read:-

Microsoft Word क्या है? और कैसे सीखें। पूरी जानकारी हिंदी 2023

Crickpe क्या है?

Keylogger क्या है ?What is Keylogger?

  • Keylogger एक प्रकार का सॉफ़्टवेयर या हार्डवेयर डिवाइस है जिसे कंप्यूटर या मोबाइल डिवाइस पर किए गए प्रत्येक कीस्ट्रोक को रिकॉर्ड करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। शब्द “कीलॉगर” इस ​​फैक्ट से आता है कि यह कीबोर्ड पर दबाए गए कुंजियों को लॉग या रिकॉर्ड करता है।
  • कीलॉगर्स का उपयोग अक्सर हैकर्स, साइबर अपराधियों, या अन्य मालिसियस अभिनेताओं द्वारा उपयोगकर्ताओं की गतिविधियों पर नज़र रखने और पासवर्ड, क्रेडिट कार्ड नंबर और अन्य व्यक्तिगत जानकारी जैसी सेंसिटिव जानकारी चुराने के लिए किया जाता है।
  • जबकि कुछ कीलॉगर्स को इनविजिबल होने और बैकग्राउंड में चलने के लिए डिज़ाइन किया गया है, अन्य अधिक क्लियर भी हो सकते हैं और सॉफ़्टवेयर या हार्डवेयर को स्थापित करने के लिए डिवाइस तक फिजिकल पहुंच की आवश्यकता होती है।
  • यह ध्यान देनेकी बात है कि कीलॉगर्स का उपयोग वैलिड ओब्जेक्टिवेस के लिए भी किया जा सकता है, जैसे कर्मचारी कंप्यूटर गतिविधि की निगरानी करना या परिवार के कंप्यूटर पर बच्चों की गतिविधि पर नज़र रखना। हालाँकि, मालिसियस ओब्जेक्टिवेस के लिए कीलॉगर्स का उपयोग इललीगल है और इसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं।

Keylogger कैसे काम करता है?

  • Keylogger सॉफ्टवेयर या हार्डवेयर डिवाइस होता है जो कंप्यूटर या मोबाइल डिवाइस पर टाइप किए जाने वाले सभी key-straps को रिकॉर्ड करता है। ये तकनीकी तरीके से समान्य यूजर द्वारा टाइप किए गए सभी शब्दों, नम्बरो, पासवर्ड, क्रेडिट कार्ड नंबर और अन्य तरह की जानकारी को रिकॉर्ड करता है।
  • सॉफ्टवेयर Keylogger कंप्यूटर पर स्थापित होता है जो बैकग्राउंड में चलता है और संग्रहित डेटा को एक फ़ाइल में रिकॉर्ड करता है। अधिकांश Keylogger सॉफ्टवेयर कंप्यूटर के सिस्टम रीस्टार्ट होने पर भी खुद को स्वचालित रूप से शुरू करते हैं ताकि यूजर उन्हें नहीं देख सके।
  • हार्डवेयर Keylogger डिवाइस एक छोटी डिवाइस होती है जो कंप्यूटर या मोबाइल डिवाइस के पास अटैच्ड किया जाता है। इसके बाद, यह सभी key-straps को रिकॉर्ड करना शुरू कर देता है और फिर उन्हें डिवाइस पर स्टोर्ड करता है।




Keylogger से कैसे बचे?

Keylogger से बचने के लिए कुछ उपाय हैं, जिनमें से कुछ निम्नलिखित हैं:

  • एंटीवायरस सॉफ्टवेयर का उपयोग करें: एंटीवायरस सॉफ्टवेयर कंप्यूटर सिस्टम को keylogger जैसे सॉफ्टवेयर से सुरक्षित रखने में मदद करता है। एंटीवायरस सॉफ्टवेयर सिस्टम में संभवतः उपलब्ध सभी keylogger सॉफ्टवेयर को खोजता है और उन्हें हटा देता है।
  • ध्यान रख्खे : ध्यान के साथ इंटरनेट पर साइटों को खोलने से पहले और विभिन्न सॉफ्टवेयरों को इंस्टॉल करने से पहले सतर्क रहें। केवल भरोसे मंदो का कहना है की सॉफ्टवेयर और फ़ाइलों को डाउनलोड करें और अज्ञात स्रोतों से उन्हें डाउनलोड ना करें।
  • समझदा पासवर्ड का उपयोग करें: वेबसाइटों पर लॉग इन करने के लिए समझदार पासवर्ड का उपयोग करें। अपने पासवर्ड को निरंतर बदलते रहें और एक्सेस करने से पहले इसे कहीं लिखित न करें।

Keylogger कितने प्रकार के होते है

Keylogger विभिन्न प्रकार के होते हैं। यहां नीचे बताया हैं:

  • Hardware Keylogger: यह Keylogger एक छोटा सा हार्डवेयर डिवाइस होता है जो कीबोर्ड से निकलने वाली सभी इनपुट को रिकॉर्ड करता है। यह केवल उन कंप्यूटरों में काम करता है, जिनमें कीबोर्ड युएसबी या पीएस2 पोर्ट के माध्यम से कनेक्ट होता है।
  • Software Keylogger: यह सॉफ्टवेयर होता है जो कंप्यूटर सिस्टम में स्थापित किया जाता है और सभी कीबोर्ड इनपुट को रिकॉर्ड करता है। यह कुछ फ़ाइलों, ईमेल अटैचमेंट या अन्य सॉफ्टवेयर के रूप में पहुंचा होता है।
  • Wireless Keylogger: यह एक वायरलेस डिवाइस होता है जो कंप्यूटर सिस्टम से डेटा को वायरलेसली रिकॉर्ड करता है। यह बाइनरी स्थानों पर डेटा स्टोर्ड करता है और यह डिस्टेंट लोगों द्वारा इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • Acoustic Keylogger: यह Keylogger इंटरनल और एक्सटरनल माइक्रोफ़ोन के जरिए आवाज के बंधन की एक रिकॉर्डिंग बनाता है। इसमें एक माइक्रोफ़ोन आर्गनाइज्ड किया जाता है।

Keylogger के फायदे

Keylogger के कुछ फायदे हो सकते हैं, जिनमें से कुछ निम्नलिखित हैं:

  • सुरक्षा और निगरानी: Keylogger इस्तेमाल करके, कंपनियों को अपने कर्मचारियों के वर्क स्टेशन का पूरी निगरानी करने में मदद मिल सकती है। यह अनुमति देता है कि कंपनी के प्रबंधकों को वे उन व्यक्तियों की एक्टिविटीज का पता लगा सकें जो परमिशन के बिना किसी अन्य यूजर के वर्क स्टेशन पर काम कर रहे हैं।
  • अभिभावक निगरानी: Keylogger अभिभावकों को उनके बच्चों के नेट सर्फिंग और सामग्री देखने में मदद कर सकता है। इससे वे अपने बच्चों की एक्टिविटीज का पता लगा सकते हैं और उन्हें उनके नेट सर्फिंग व्यवहार पर सीधा प्रभाव डाल सकते हैं।
  • डाटा लॉस की रोकथाम: जब कभी कंप्यूटर क्रैश होता है या डाटा लॉस होता है तो keylogger यूजर के सभी key-straps को स्टोर्ड करता है। इससे यूजर अपने डेटा को वापस प्राप्त कर सकता है।



Keylogger के नुकसान।

Keylogger के कुछ नुकसान हो सकते हैं, जिनमें से कुछ निम्नलिखित हैं:

  • गैर-ईच्छित उपयोग: Keylogger एक चोरी करने वाले के लिए बहुत उपयोगी हो सकता है। यदि कोई उनौतोरीज़ेड रूप से keylogger सॉफ्टवेयर इंस्टॉल करता है तो वह उसेर्स के बिना उनके कंप्यूटर सिस्टम में घुसकता है और उनकी गतिविधियों का अनुसरण कर सकता है।
  • निजता का उल्लंघन: Keylogger की वजह से लोगो की प्राइवेसी की कुछ भी जानकारी चोरी हो सकती है। इसमें लोगो के बैंक खाते की जानकारी, वेबसाइट पासवर्ड, क्रेडिट कार्ड जानकारी और अन्य जरूरी जानकारी शामिल होती है।
  • संदिग्ध उपयोग: Keylogger का इस्तेमाल बदमाशों और शूटर्स द्वारा संदिग्ध उपयोगों के लिए किया जा सकता है। उन्हें इससे अनुमति मिलती है कि वे अपने शिकार के वर्क स्टेशन में दर्ज की गई सभी key-straps की जानकारी जुटा सकें।

FAQa.

Q. कीलॉगर क्या है?
A. कीलॉगर एक प्रकार का सॉफ़्टवेयर या हार्डवेयर है जो कंप्यूटर या मोबाइल डिवाइस पर किए गए प्रत्येक कीस्ट्रोक को रिकॉर्ड करता है।

Q .लोग कीलॉगर्स का उपयोग क्यों करते हैं?
A. कीलॉगर्स का उपयोग आमतौर पर नियोक्ताओं द्वारा कर्मचारियों के कंप्यूटर उपयोग की निगरानी के लिए या माता-पिता द्वारा अपने बच्चों की ऑनलाइन गतिविधियों पर नज़र रखने के लिए किया जाता है। हालाँकि, उनका उपयोग दुर्भावनापूर्ण उद्देश्यों जैसे कि पासवर्ड और क्रेडिट कार्ड नंबर जैसी संवेदनशील जानकारी चुराने के लिए भी किया जा सकता है।

Q. आप कैसे पता लगा सकते हैं कि आपके डिवाइस पर कीलॉगर इंस्टॉल है या नहीं?
 A. आप कीलॉगर्स सहित किसी भी दुर्भावनापूर्ण सॉफ़्टवेयर के लिए अपने डिवाइस को स्कैन करने के लिए एंटी-मैलवेयर या एंटीवायरस सॉफ़्टवेयर का उपयोग कर सकते हैं। आप किसी भी असामान्य गतिविधि की जांच करने के लिए अपने कंप्यूटर के नेटवर्क ट्रैफ़िक की निगरानी भी कर सकते हैं।

Q. आप कीलॉगर्स से खुद को कैसे बचा सकते हैं?
A. आप मजबूत पासवर्ड का उपयोग करके, अपने एंटीवायरस सॉफ़्टवेयर को अद्यतित रखते हुए, और संदिग्ध अनुलग्नकों या सॉफ़्टवेयर को डाउनलोड करने से बचकर कीलॉगर्स से अपनी रक्षा कर सकते हैं। कीलॉगर्स को आपके कीस्ट्रोक्स को कैप्चर करने से रोकने के लिए आप वर्चुअल कीबोर्ड या टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन का भी उपयोग कर सकते हैं।

Q. क्या कीलॉगर का उपयोग करना कानूनी है?
A. यह उस उद्देश्य पर निर्भर करता है जिसके लिए कीलॉगर का उपयोग किया जा रहा है। कई देशों में, कर्मचारियों के कंप्यूटर उपयोग की निगरानी के लिए नियोक्ताओं के लिए कीलॉगर्स का उपयोग करना कानूनी है, बशर्ते कि वे अपने कर्मचारियों को निगरानी के बारे में सूचित करें। हालाँकि, व्यक्तिगत जानकारी चोरी करने जैसे दुर्भावनापूर्ण उद्देश्यों के लिए कीलॉगर्स का उपयोग करना अवैध है।




निष्कर्ष
तो दोस्तों आप के उम्मीद करते है की आप को ये पोस्ट Keylogger क्या है ? जरूर पसंद आया होगा इस पोस्ट Keylogger क्या है ? को पढ़ने के बाद आप को इसके बारे में पूरी जानकारी हो गई होगी

RELATED ARTICLES
1 1 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Most Popular