Tuesday, July 23, 2024
Homeजानकारियाँआधार कार्ड क्या हैं (डाउनलोड, स्टेटस चेक, अपडेट) Aadhar Card Download ,...

आधार कार्ड क्या हैं (डाउनलोड, स्टेटस चेक, अपडेट) Aadhar Card Download , update status check kaise kare

Quick Links

आधार कार्ड 2023 जानकारी

जारीकर्ता भारत सरकार
मन्त्रालय: इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, भारत
वैध: भारत में
दस्तावेज का प्रकार: पहचान पत्र
शुरू:  जनवरी 2009; 13 साल पहले
बजट: ₹11,366 करोड़
धारक: 1.253 (अरब)
वेबसाइट: uidai.gov.in

आधार कार्ड क्या है?

आधार कार्ड क्या हैं-आधार कार्ड एक भारत सरकार द्वारा जारी की जाने वाली एक पहचान पत्र है। यह एक यूनिक आईडी होता है जो भारतीय नागरिकों और निवासियों की पहचान करने के लिए उपयोग किया जाता है।

आधार कार्ड के माध्यम से, आधार अधिनियम 2016 के अंतर्गत, भारत के राज्यों में रहने वाले सभी लोगों के लिए एक यूनिक आईडी जारी किया जाता है। इसमें शामिल जानकारी में व्यक्ति का नाम, उम्र, लिंग, पता, फोटो, उंगली के निशान और अनुरोध पर आधार संख्या शामिल होती है।

आधार कार्ड का उपयोग भारत में सरकारी योजनाओं, सब्सिडी, वोटर आईडी कार्ड बनाने और बैंक खातों खोलने जैसे कई कामों के लिए किया जाता है। यह भारत के लोगों को एक पहचान पत्र के रूप में मदद करता है जिससे उन्हें सरकारी योजनाओं का लाभ मिल सकता है और अन्य आवश्यक कामों को करने में सुविधा होती है।




 

आधार कार्ड अपडेट कैसे करें?

आधार कार्ड क्या हैं-आप अपने आधार कार्ड में नए या अपडेट किए गए विवरण जोड़ने के लिए आधार सेवा केंद्र या आधार वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन अपडेट कर सकते हैं। निम्नलिखित हैं आधार कार्ड अपडेट करने के लिए कुछ स्टेप्स:

  • आधार सेवा केंद्र पर जाएं या ऑनलाइन पंजीकरण करें: आप अपने आधार कार्ड के विवरण अपडेट करवाने के लिए आधार सेवा केंद्र पर जाकर या आधार वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन पंजीकरण कर सकते हैं।
  • आधार विवरण अपडेट करें: आप अपने आधार कार्ड के नाम, पता, फोटो, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, जन्म तिथि और अन्य विवरणों को अपडेट कर सकते हैं।
  • अपडेट करने के लिए दस्तावेज जमा करें: आपको अपने अपडेट किए गए विवरणों के समर्थन में उचित दस्तावेज जमा करने की आवश्यकता होगी।
  • ऑनलाइन या ऑफ़लाइन माध्यम से अपडेट की स्थिति जांचें: आप अपने अपडेट की स्थिति की जांच करने के लिए आधार वेबसाइट पर जाएँ।

आधार कार्ड में फोन नंबर अपडेट कैसे करें?

आप अपने आधार कार्ड में फोन नंबर अपडेट करने के लिए आधार सेवा केंद्र या आधार वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन अपडेट कर सकते हैं। निम्नलिखित हैं आधार कार्ड में फोन नंबर अपडेट करने के लिए कुछ स्टेप्स:

  • आधार सेवा केंद्र पर जाएं या ऑनलाइन पंजीकरण करें: आप अपने आधार कार्ड के फोन नंबर अपडेट करवाने के लिए आधार सेवा केंद्र पर जाकर या आधार वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन पंजीकरण कर सकते हैं।
  • अपडेट करने के लिए आधार संख्या दर्ज करें: आपको अपने आधार संख्या दर्ज करने की आवश्यकता होगी।
  • OTP प्राप्त करें: आपके पंजीकृत मोबाइल नंबर पर OTP (One-Time Password) भेजा जाएगा।
  • OTP दर्ज करें: OTP प्राप्त करने के बाद, आपको ऑनलाइन पोर्टल पर OTP दर्ज करना होगा।
  • अपना फोन नंबर अपडेट करें: OTP दर्ज करने के बाद, आप अपना नया मोबाइल नंबर दर्ज कर सकते हैं और उसे सत्यापित कर सकते हैं।
  • URN (Update Request Number) प्राप्त करें: अपडेट सफल होने पर, आपको URN (Update Request Number) प्राप्त होग

आधार कार्ड में एड्रेस कैसे बदलें?

आप अपने आधार कार्ड में एड्रेस बदलवाने के लिए आधार सेवा केंद्र या आधार वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन अपडेट कर सकते हैं। निम्नलिखित हैं आधार कार्ड में एड्रेस अपडेट करने के लिए कुछ स्टेप्स:

  • आधार सेवा केंद्र पर जाएं या ऑनलाइन पंजीकरण करें: आप अपने आधार कार्ड के एड्रेस अपडेट करवाने के लिए आधार सेवा केंद्र पर जाकर या आधार वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन पंजीकरण कर सकते हैं।
  • अपडेट करने के लिए आधार संख्या दर्ज करें: आपको अपने आधार संख्या दर्ज करने की आवश्यकता होगी।
  • OTP प्राप्त करें: आपके पंजीकृत मोबाइल नंबर पर OTP (One-Time Password) भेजा जाएगा।
  • OTP दर्ज करें: OTP प्राप्त करने के बाद, आपको ऑनलाइन पोर्टल पर OTP दर्ज करना होगा।
  • नया एड्रेस दर्ज करें: आपको अपना नया पता दर्ज करना होगा जो आप अपडेट करना चाहते हैं।
  • सत्यापित करें: आपको नए पते की सत्यापित करने के लिए आवश्यक दस्तावेजों को अपलोड करना होगा।



 

मोबाइल पर आधार कार्ड कैसे देखें?

आप अपने मोबाइल फोन में आधार कार्ड का स्टेटस जानने के लिए निम्नलिखित कदमों का पालन कर सकते हैं:

  • अपने मोबाइल फोन में आधार ऐप डाउनलोड करें: आप अपने मोबाइल फोन में “mAadhaar” नामक ऐप डाउनलोड कर सकते हैं। यह ऐप अधिकृत रूप से आधार संगठन द्वारा जारी किया गया है। आप ऐप स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं।
  • अपना आधार नंबर और OTP दर्ज करें: आपको अपने आधार नंबर और एक OTP (एक बार का पासवर्ड) दर्ज करने की आवश्यकता होगी। OTP आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर प्राप्त होगा।
  • अपने मोबाइल फोन में आधार कार्ड को देखें: एक बार जब आप आधार ऐप के माध्यम से लॉग इन कर लेते हैं, आप अपने मोबाइल फोन में अपना आधार कार्ड देख सकते हैं।

मोबाइल पर आधार कार्ड कैसे देखें?

आधार कार्ड क्या हैं-आप अपने मोबाइल फोन में आधार कार्ड का स्टेटस जानने के लिए निम्नलिखित कदमों का पालन कर सकते हैं:

  • अपने मोबाइल फोन में आधार ऐप डाउनलोड करें: आप अपने मोबाइल फोन में “mAadhaar” नामक ऐप डाउनलोड कर सकते हैं। यह ऐप अधिकृत रूप से आधार संगठन द्वारा जारी किया गया है। आप ऐप स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं।
  • अपना आधार नंबर और OTP दर्ज करें: आपको अपने आधार नंबर और एक OTP (एक बार का पासवर्ड) दर्ज करने की आवश्यकता होगी। OTP आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर प्राप्त होगा।
  • अपने मोबाइल फोन में आधार कार्ड को देखें: एक बार जब आप आधार ऐप के माध्यम से लॉग इन कर लेते हैं, आप अपने मोबाइल फोन में अपना आधार कार्ड देख सकते हैं।
  • गूगल वर्चुअल विजिटिंग कार्ड क्या हैं
  • गूगल AdSense पिन कोड वेरीफाई कैसे करें

आधार कार्ड डीएक्टिवेट क्यों होता है?

आधार कार्ड डीएक्टिवेट होने के कुछ कारण हो सकते हैं, जो निम्नलिखित हैं:

  • अक्षम आधार कार्ड: आधार कार्ड अपडेट के दौरान अक्षम हो सकता है। यह होने का कारण हो सकता है कि आपकी आवेदन खारिज कर दी गई है या आपके द्वारा जमा किए गए दस्तावेज गलत थे।
  • अनुचित या गलत जानकारी: यदि आधार कार्ड में गलत जानकारी दी गई है या अनुचित जानकारी दी गई है, तो आधार कार्ड डीएक्टिवेट हो सकता है।
  • आधार धारक की मृत्यु: यदि आधार धारक की मृत्यु हो जाती है, तो उनके आधार कार्ड को डीएक्टिवेट कर दिया जाता है।
  • आधार कार्ड फ्रॉड: यदि आधार कार्ड के जरिए फ्रॉड किया जाता है, तो उसका उपयोग रोक दिया जाता है और आधार कार्ड डीएक्टिवेट कर दिया जाता है।
  • आधार कार्ड उपयोग अवैध कार्यों के लिए: आधार कार्ड का अवैध उपयोग करने वाले लोगों के आधार कार्ड डीएक्टिवेट कर दिए जाते हैं।

डीएक्टिवेट आधार कार्ड को एक्टिवेट कैसे करें?

यदि आपका आधार कार्ड डीएक्टिवेट हो गया है तो आप निम्नलिखित तरीकों से उसे एक्टिवेट कर सकते हैं:

  • आधार विभाग की वेबसाइट पर जाएं: आपको UIDAI की वेबसाइट पर जाकर अपने डीएक्टिवेट किए गए आधार कार्ड के लिए एक्टिवेशन अनुरोध जमा करना होगा।
  • सम्पर्क करें: आप निकटतम आधार केंद्र में जाकर अपने आधार कार्ड को एक्टिवेट करवा सकते हैं।
  • टोल फ्री नंबर पर संपर्क करें: आप आधार के टोल फ्री नंबर 1947 पर संपर्क करके भी अपने आधार कार्ड को एक्टिवेट कर सकते हैं।
  • ईमेल पर संपर्क करें: आप अपने डीएक्टिवेट किए गए आधार कार्ड के लिए एक्टिवेशन अनुरोध ईमेल द्वारा भी भेज सकते हैं।
आधार कार्ड के फायदे क्या है?

आधार कार्ड भारत में एक यूनिक आईडेंटिटी प्रमाणपत्र है जो भारत के नागरिकों के लिए बहुत उपयोगी है। कुछ आधार कार्ड के फायदे निम्नलिखित हैं:

  • यूनिवर्सल आईडेंटिटी प्रमाणपत्र: आधार कार्ड भारत के हर नागरिक को एक यूनिक आईडेंटिटी प्रमाणपत्र प्रदान करता है जो उन्हें भारत में कहीं भी पहचानने में मदद करता है।
  • दिग्गज सबसिडी के लिए योग्यता: आधार कार्ड नागरिकों के लिए विभिन्न सरकारी सब्सिडी योजनाओं में भाग लेने की योग्यता प्रदान करता है, जैसे कि पेट्रोल और गैस सब्सिडी और खाद्य उत्पादों के लिए राशि।
  • ऑनलाइन सेवाओं के लिए आवश्यकता: आधार कार्ड नागरिकों को ऑनलाइन सेवाओं का उपयोग करने की अनुमति देता है जैसे कि बैंक खाते खोलना, मोबाइल नंबर और इंटरनेट कनेक्शन को जोड़ना, आदि।
  • आसान रजिस्ट्रेशन: नई आधार कार्ड के लिए रजिस्ट्रेशन आसान होता है और इसके लिए विशेष कोई शुल्क नहीं होता है

आधार कार्ड बनवाने का उद्देश्य

आधार कार्ड बनवाने का मुख्य उद्देश्य भारत सरकार द्वारा अपनी जनता के लिए एक आईडेंटिटी प्रूफ उपलब्ध कराना है। आधार कार्ड भारत के नागरिकों को एक यूनिक आईडेंटिटी नंबर प्रदान करता है, जो विभिन्न सरकारी योजनाओं और सुविधाओं का लाभ उठाने के लिए उपयोगी होता है। इसके अलावा, आधार कार्ड बैंकिंग, वित्तीय सेवाओं, मोबाइल सिम कार्ड और अन्य सेवाओं के लिए भी एक मान्यता प्रूफ के रूप में काम आता है। आधार कार्ड बनवाने से भी आप निम्नलिखित लाभ प्राप्त कर सकते हैं:

  • सभी सरकारी योजनाओं का लाभ उठाने का अधिकार
  • दर्जों के दौरान अंगूठे की स्कैनिंग द्वारा पहचान
  • आधार के माध्यम से ई-वेरिफिकेशन के द्वारा आपके खाते की जानकारी की सत्यापन करना
  • ऑनलाइन आवेदनों के लिए एक मान्यता प्रूफ के रूप में
  • बिना वेतन परिवर्तन के आपके बैंक खाते में सीधे सब्सिडी भेजने के लिए
  • नागरिकता प्रमाण के लिए
  • शिक्षा

आधार कार्ड को बनवाने का फोर्मेट

आधार कार्ड बनवाने के लिए ऑनलाइन या ऑफ़लाइन तरीकों से आवेदन किया जा सकता है। आधार कार्ड आवेदन फॉर्म में निम्नलिखित जानकारी होती है:

  • पूरा नाम
  • पिता / पति का नाम
  • माता का नाम
  • जन्मतिथि
  • लिंग
  • पता
  • राष्ट्रीयता
  • मोबाइल नंबर
  • ईमेल आईडी (यदि हो)
  • इसके अलावा, आवेदकों को एक भारतीय नागरिकता सबूत के रूप में पासपोर्ट, वोटर आईडी कार्ड, पेन कार्ड, राशन कार्ड आदि की कॉपी प्रस्तुत करने की भी आवश्यकता होती है।

आधार कार्ड के लिए आवश्यक दस्तावेज

आधार कार्ड के लिए आवश्यक दस्तावेज निम्नलिखित होते हैं:

  • भारतीय नागरिकता सबूत के रूप में निम्नलिखित में से किसी एक दस्तावेज की कॉपी:
  • पासपोर्ट
  • वोटर आईडी कार्ड
  • पेन कार्ड
  • राशन कार्ड
  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • किसी सरकारी या निजी कंपनी का आईडी कार्ड
  • जन्मतिथि प्रमाणित करने वाला दस्तावेज (मूल या मान्यता प्राप्त करने के लिए पेश करें):
  • जन्म प्रमाण पत्र
  • स्कूल या कॉलेज की डिग्री का प्रमाणपत्र
  • पासपोर्ट
  • पता सबूत के रूप में निम्नलिखित में से किसी एक दस्तावेज की कॉपी:
  • विद्युत बिल
  • पानी का बिल
  • गैस बिल
  • लैंडलाइन टेलीफोन बिल
  • पोस्ट ऑफिस पता प्रमाण पत्र
  • ध्यान दें कि उपरोक्त दस्तावेज की जांच के बाद ही आधार कार्ड जारी किया जाता है।

आधार कार्ड की विशेषताएँ

आधार कार्ड भारत सरकार द्वारा जारी किया गया एक व्यक्तिगत पहचान प्रमाणपत्र है जो एक अद्वितीय 12 अंकों का संख्यात्मक आईडी प्रदान करता है। आधार कार्ड में निम्नलिखित विशेषताएं होती हैं:

  • यह भारत के किसी भी नागरिक द्वारा प्राप्त किया जा सकता है।
  • आधार कार्ड एक अद्वितीय 12 अंकों का संख्यात्मक आईडी प्रदान करता है।
  • आधार कार्ड में उपयोगकर्ता के नाम, पता, उम्र और लिंग जैसी महत्वपूर्ण जानकारी होती है।
  • आधार कार्ड में फोटो और बायोमेट्रिक डेटा (उंगली के निशान, आंखों का स्कैन आदि) भी शामिल होता है।
  • आधार कार्ड भारत सरकार के विभिन्न कार्यक्रमों जैसे कि लीव लाभ योजना, राशन कार्ड, पेंशन आदि में उपयोग किया जा सकता है।
  • आधार कार्ड के अंतर्गत ऑनलाइन वेरिफिकेशन, ई-साइन और ई-डॉक्युमेंट सेवाएं भी उपलब्ध हैं।
  • आधार कार्ड बनाने और उसे अपडेट कराने के लिए कोई शुल्क नहीं होता है।
  • आधार कार्ड की उपयोगिता

आधार कार्ड की उपयोगिता निम्नलिखित है:

यह आवश्यक दस्तावेजों की जगह ले सकता है: आधार कार्ड आपको विभिन्न सरकारी और गैर-सरकारी कामों में आपकी पहचान के तौर पर उपयोगी होता है। इसे बैंक खाते, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट और वोटर आईडी कार्ड जैसे अन्य दस्तावेजों की जगह ले सकता है।

  • ऑनलाइन पहचान: आधार कार्ड ऑनलाइन पहचान का एक सुविधा होता है जो आपको ऑनलाइन दस्तावेजों और सेवाओं का उपयोग करने में मदद करता है।
  • सरकारी योजनाओं के लिए योग्यता: आधार कार्ड आपको सरकारी योजनाओं जैसे कि प्रधानमंत्री जन धन योजना, उज्ज्वला योजना, राशन कार्ड और अन्य योजनाओं के लिए योग्यता का प्रमाण देने में मदद करता है।
  • सरकारी लाभ: आधार कार्ड आपको सरकारी लाभ जैसे कि अनुदान, पेंशन और समग्र विकास योजना जैसे अन्य योजनाओं के लिए आवेदन करने में मदद करता है।

आधार नंबर क्या है?

आधार नंबर भारत सरकार द्वारा जारी किया गया एक 12-अंकों का अंक है जो भारतीय नागरिकों और विदेशी नागरिकों को उनकी पहचान के लिए दिया जाता है। यह नंबर आधार कार्ड में दर्ज किया जाता है जो भारत सरकार द्वारा प्रदान की गई एक आईडेंटिटी प्रमाणपत्र है। आधार नंबर एक मान्य और स्थायी नंबर होता है जो व्यक्ति की पहचान के लिए उपयोग किया जाता है।

आधार संख्या का फोर्मेट

भारत में आधार संख्या का फॉर्मेट 12-अंकों का होता है जिसमें पहले 4 अंक आधार केंद्र कोड को दर्शाते हैं, अगले 5 अंक आधार निर्माता कंपनी कोड दर्शाते हैं, अगले 1 अंक व्यक्ति के जन्म की स्थिति को दर्शाता है, अगले 3 अंक जन्म के वर्ष को दर्शाते हैं और अंतिम अंक एक संदर्भात्मक संख्या होती है। उदाहरण के लिए, अगर एक व्यक्ति का आधार नंबर 1234 5678 9012 है, तो इसमें पहले 4 अंक 1234 आधार केंद्र कोड को दर्शाते हैं, अगले 5 अंक 56789 आधार निर्माता कंपनी कोड दर्शाते हैं, अगले 1 अंक 0 जन्म की स्थिति को दर्शाता है, अगले 3 अंक 901 जन्म के वर्ष को दर्शाते हैं और अंतिम अंक 2 एक संदर्भात्मक संख्या होती है।

मास्क्ड आधार कार्ड क्या है?

मास्क्ड आधार कार्ड, भारतीय नागरिकों के लिए आधार कार्ड के एक सुरक्षित संस्करण है जिसमें आधार नंबर का अंतिम चार अंक गुम होते हैं। इसका उद्देश्य आधार कार्ड के उपयोग के दौरान आधार नंबर की सुरक्षा सुनिश्चित करना है। इस तरह के मास्क्ड आधार कार्ड का उपयोग ऑनलाइन और ऑफलाइन आधार संबंधित सेवाओं जैसे बैंकिंग, आयकर रिटर्न भरना और विभिन्न सरकारी योजनाओं के लिए किया जाता है।

ई आधार कार्ड क्या है?

ई आधार कार्ड भारत सरकार द्वारा निर्मित एक इलेक्ट्रॉनिक आधार कार्ड है जो आधार कार्ड के मानक प्रिंट आउट के साथ समान है। इसमें आपकी आधार जानकारी जैसे नाम, लिंग, पता, आधार नंबर, फोटो, उम्र, उपयोगकर्ता का फोटो और बायोमेट्रिक्स जानकारी शामिल होती है।

इसका उपयोग आप विभिन्न सरकारी और गैर-सरकारी सेवाओं और वित्तीय संस्थाओं में आधार कार्ड के बजाय किया जा सकता है। इसमें QR कोड होता है, जिससे इसे स्कैन करके आपकी आधार जानकारी का उपयोग करके इस्तेमाल किया जा सकता है। ई आधार कार्ड को आप UIDAI की वेबसाइट से डाउनलोड भी कर सकते हैं।

ई आधार कार्ड डाउनलोड कैसे करे?

ई-आधार कार्ड डाउनलोड करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:

  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं: इसके लिए https://eaadhaar.uidai.gov.in/ खोलें।
  • आधार नंबर दर्ज करें: यहां आपको अपना 12-अंकीय आधार नंबर दर्ज करना होगा।
  • वेरिफिकेशन कोड दर्ज करें: उसके बाद आपको वेरिफिकेशन कोड दर्ज करना होगा जो कि एक टेक्स्ट मैसेज के रूप में आपके पंजीकृत मोबाइल नंबर पर भेजा जाता है।
  • डाउनलोड करें: जब आप उपरोक्त विवरण दर्ज कर देंगे, तो “आदेश का विवरण” पृष्ठ खुलेगा, जिसमें आपका आधार कार्ड डाउनलोड करने के लिए एक लिंक होगा। इस लिंक पर क्लिक करें और अपना ई-आधार कार्ड डाउनलोड करें।
  • फ़ाइल पासवर्ड दर्ज करें: जब आप फाइल डाउनलोड करेंगे, तो आपको फ़ाइल पासवर्ड दर्ज करना होगा। फ़ाइल पासवर्ड आपके पिन कोड के पहले 4 अंक होंगे, जिसे आपने आधार कार्ड के लिए रजिस्टर करते समय दर्ज किया था।

आधार नंबर वेरीफाई करने की प्रक्रिया

आधार नंबर को वेरीफाई करने के लिए निम्नलिखित प्रक्रिया का पालन करें:

  • आधार कार्ड आधिकारिक वेबसाइट https://uidai.gov.in/ पर जाएं।
  • “My Aadhaar” विकल्प पर क्लिक करें।
  • “आधार संख्या वेरीफाई” विकल्प का चयन करें।
  • आधार नंबर और सुरक्षा कोड दर्ज करें।
  • “वेरीफाई और डाउनलोड” पर क्लिक करें।
  • आपके आधार नंबर की सफलतापूर्वक वेरीफाई हो जाएगी और आपके पास आधार कार्ड की कॉपी
  • उपलब्ध हो जाएगी।
  • आप भी आधार नंबर की वेरीफाई के लिए आधार संख्या को एसएमएस के माध्यम से भी वेरीफाई कर सकते हैं। इसके लिए आपको UID STATUS <14 अंकों का आधार संख्या> को 51969 पर भेजना होगा।

ईमेल/फोन नंबर वेरीफाई करने की प्रक्रिया

आधार नंबर को ईमेल या फोन नंबर के माध्यम से वेरीफाई करने के लिए निम्नलिखित प्रक्रिया का पालन करें:

  • आधार ऑफिसियल वेबसाइट https://resident.uidai.gov.in/ के माध्यम से लॉग इन करें।
  • “Verify Email/ Mobile Number” विकल्प पर क्लिक करें।
  • फिर आपके सामने एक नया पृष्ठ खुलेगा जिसमें आपको अपना विवरण भरने के लिए कहा जाएगा, जैसे आधार नंबर, ईमेल या फोन नंबर और सिक्योरिटी कोड।
  • सभी विवरण भरने के बाद, “Get One Time Password” बटन पर क्लिक करें जो आपके दिए गए ईमेल या फोन नंबर पर OTP भेजेगा।
  • OTP को टाइप करें और “Verify OTP” बटन पर क्लिक करें।
  • आपके ईमेल या फोन नंबर को आधार से वेरीफाई कर दिया जाएगा।

आधार/बैंक लिंकिंग स्टेटस चेक करने की प्रक्रिया

आप निम्नलिखित चरणों का पालन करके आधार लिंकिंग स्टेटस चेक कर सकते हैं:

  • आधार की आधिकारिक वेबसाइट https://uidai.gov.in/ पर जाएं।
  • “मेन्यू” विकल्प पर क्लिक करें और “विवरण अपडेट करें” विकल्प पर जाएं।
  • अब आपको “बैंक लिंकिंग स्टेटस” विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • एक नया पेज खुलेगा, जहां आपको अपना 12 अंकों का आधार नंबर, सुरक्षा कोड और कैप्चा टेक्स्ट दर्ज करना होगा।
  • इन विवरणों को दर्ज करने के बाद “विवरण अद्यतन करें” पर क्लिक करें।
  • अब आपके सामने आपकी बैंक लिंकिंग स्टेटस दिखाई देगा। यदि आपका आधार कार्ड आपके बैंक खाते से लिंक है, तो आपको “लिंक है” का संदेश दिखाई देगा। अन्यथा, आपको “लिंक नहीं है” का संदेश दिखाई देगा।

एनरोलमेंट सेंटर लोकेट करने की प्रक्रिया

आप निम्नलिखित चरणों का पालन करके एनरोलमेंट सेंटर खोज सकते हैं:

  • आधार कार्ड की आधिकारिक वेबसाइट https://uidai.gov.in/ पर जाएं।
  • सुविधाओं में से “Locate an Enrolment/Update Center” चुनें।
  • इसके बाद आपको अपना राज्य और शहर का नाम दर्ज करना होगा।
  • स्क्रीन पर एनरोलमेंट सेंटर का संपर्क विवरण दिखाई देगा। आप इसे नोट या डाउनलोड कर सकते हैं।
  • अगर आपके शहर में एनरोलमेंट सेंटर नहीं है तो आप अपने नजदीकी पोस्ट ऑफिस या बैंक में भी आधार कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं। आप आधार कार्ड की वेबसाइट पर जाकर सम्पूर्ण जानकारी जान सकते हैं।

अपॉइंटमेंट बुक करने की प्रक्रिया

आप ऑनलाइन या ऑफ़लाइन दोनों तरीकों से आधार एनरोलमेंट सेंटर में अपॉइंटमेंट बुक कर सकते हैं।

  • ऑनलाइन अपॉइंटमेंट बुक करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:
  • UIDAI की आधिकारिक वेबसाइट https://uidai.gov.in/ पर जाएं
  • “My Aadhaar” विकल्प पर क्लिक करें
  • “Book an Appointment” विकल्प पर क्लिक करें
  • स्थान, तारीख और समय के अनुसार अपॉइंटमेंट बुक करें।
  • सुनिश्चित करें कि आपने सही जानकारी दर्ज की है और “जमा” पर क्लिक करें।
  • ऑफ़लाइन अपॉइंटमेंट बुक करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:
  • UIDAI की आधिकारिक वेबसाइट https://appointments.uidai.gov.in/ पर जाएं
  • अपने राज्य का चयन करें और अपने शहर का नाम चुनें
  • अपने पसंदीदा एनरोलमेंट सेंटर का चयन करें और अपॉइंटमेंट तिथि और समय चुनें।
  • अपना नाम, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, आधार नंबर और अन्य आवश्यक जानकारी दर्ज करें।
  • आपके द्वारा चयनित एनरोलमेंट सेंटर को एक ईमेल या संदेश मिला होगा

आधार पीवीसी कार्ड ऑर्डर करने की प्रक्रिया

आधार पीवीसी (Aadhaar PVC) कार्ड आप ऑनलाइन ऑर्डर कर सकते हैं। इसके लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:

  • आधार कार्ड की आधार संख्या और सुरक्षा कोड दर्ज करें। यदि आपके पास आधार कार्ड सुरक्षा कोड नहीं है, तो आप उसे प्राप्त करने के लिए आधार कार्ड की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • सत्यापित करें कि आपके द्वारा दर्ज की गई जानकारी सही है।
  • ऑर्डर विवरण दर्ज करें, जैसे आपके नाम, पता और अन्य विवरण।
    भुगतान करें।
  • आधार पीवीसी कार्ड आमतौर पर 50 रुपये से कम की कीमत पर उपलब्ध होता है।
    आपके द्वारा प्रदान की गई जानकारी और भुगतान सत्यापित करने के बाद, आधार पीवीसी कार्ड को आपके नाम पर भेजा जाएगा।
  • आप आधार पीवीसी कार्ड ऑर्डर करने के लिए आधार कार्ड की आधिकारिक वेबसाइट https://resident.uidai.gov.in/order-reprint पर जा सकते हैं।




वर्चुअल आईडी जनरेट करने की प्रक्रिया

आप वर्चुअल आईडी वेबसाइट पर जाकर आसानी से वर्चुअल आईडी जेनरेट कर सकते हैं। निम्नलिखित धापों का पालन करें:

  • UIDAI की आधिकारिक वेबसाइट https://uidai.gov.in/ पर जाएँ।
  • “My Aadhaar” में से “Virtual ID (VID) Generator” पर क्लिक करें।
    आपके सामने एक फॉर्म खुलेगा, जिसमें आपको अपना Aadhaar नंबर और सिक्योरिटी कोड (captcha) डालना होगा।
  • इसके बाद “Send OTP” पर क्लिक करें।
  • OTP को डालें और “Submit” पर क्लिक करें।
  • अगले पेज पर आपके सामने वर्चुअल आईडी होगी जिसे आप अपने आधार नंबर के साथ इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • आप अपने Aadhaar नंबर और सिक्योरिटी कोड (captcha) डालने के बजाय आप अपने मोबाइल नंबर द्वारा OTP प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए आपको “OTP over SMS” का विकल्प चुनना होगा और आपके मोबाइल नंबर पर OTP भेजा जाएगा।

FAQ:

Q: आधार कार्ड किसके द्वारा जारी किया जाता है?
ANS: यूआईडीएआई

Q: यूआईडीएआई का हेल्पलाइन नंबर क्या है?
ANS: 1947

Q: आधार कार्ड की शुरुआत कब हुई थी?
ANS: साल 2009

Q: आधार कार्ड की आधिकारिक वेबसाइट क्या है?
ANS: uidai.gov.in

RELATED ARTICLES
5 9 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Most Popular