Wednesday, May 29, 2024
Homeजानकारियाँभारतीय सेना, बीएसएफ़ और सीआरपीएफ़ में अंतर | Difference Between BSF vs...

भारतीय सेना, बीएसएफ़ और सीआरपीएफ़ में अंतर | Difference Between BSF vs CRPF vs ARMY in hindi

भारतीय सेना भारत की संचार, सुरक्षा और रक्षा के लिए जवाबदेह है। यह भारतीय सरकार के अधीन है और उसका मुख्य उद्देश्य देश की सुरक्षा और अधिकारों की रक्षा है।

भारतीय सेना तीन मुख्य शाखाओं से मिलकर बनती है: भारतीय सेना, भारतीय वायुसेना और भारतीय नौसेना। सेना में सैनिकों की संख्या लगभग 1.4 मिलियन है और इसके लिए विभिन्न रूपों में नागरिकों की भर्ती होती है।

भारतीय सेना के पास विभिन्न शाखाएं होती हैं, जैसे कि पृथक सीमा बल, पृथक विमान बल, पृथक नौसेना बल और तनाव से मुक्ति बल, जो उनके विशिष्ट उद्देश्यों के लिए बनाए गए हैं। भारतीय सेना दुनिया की चौथी सबसे बड़ी
सेनाओं में से एक है और भारत दुनिया की सबसे बड़ी सेनाओं में से एक है।

भारतीय सेना ने विभिन्न संघर्षों और युद्धों में अपनी ताकत और साहस दिखाया है।

बीएसएफ़ या बार्डर सिक्योरिटी फोर्स (Border Security Force or BSF)-

भारतीय सेना, बीएसएफ़ और सीआरपीएफ़ में अंतर-बीएसएफ या बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स भारत की एक अर्ध-सैन्य सीमा सुरक्षा बल है। इसका मुख्य उद्देश्य भारत की सीमाओं की रक्षा और सुरक्षा करना है। यह बल 1965 में भारत-पाकिस्तान युद्ध के बाद भारत की सीमाओं की सुरक्षा के लिए स्थापित किया गया था।

बीएसएफ भारत की सीमा पर देश की सुरक्षा के लिए जिम्मेदार होता है और इसका काम सीमा सुरक्षा के साथ-साथ सीमान्त विवादों को निपटाना, नशीली पदार्थों, हथियारों, आतंकी गतिविधियों और अवैध वस्तुओं के प्रवाह को रोकना भी होता है। बीएसएफ अपनी सीमा सुरक्षा तथा आंतरिक सुरक्षा को मजबूत बनाने के लिए नियमित अभ्यास और तैयारी करता है। इसके अलावा यह आवश्यक निरीक्षण और जांच का काम भी करता है।

सीआरपीएफ़ या केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF or The Central Reserve Police Force) –

भारतीय सेना, बीएसएफ़ और सीआरपीएफ़ में अंतर-सीआरपीएफ भारतीय सुरक्षा बलों में से एक है जो विशेष रूप से विपदा प्रबंधन और विस्फोट प्रतिरोध के लिए तैनात है। यह भारत के मुख्य रक्षा सुरक्षा बलों में से एक है और इसे केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों में से अलग रूप से नहीं रखा जाता है।

सीआरपीएफ का मुख्यालय नई दिल्ली में है और यह भारत के विभिन्न राज्यों में तैनात है। यह संघर्ष क्षेत्रों, जैसे कि जम्मू-कश्मीर, छत्तीसगढ़, झारखंड, उत्तर प्रदेश, असम, मध्य प्रदेश, बिहार, ओडिशा और आंध्र प्रदेश में तैनात है।

सीआरपीएफ के फंक्शनल रोल अन्य सुरक्षा बलों से अलग होते हैं। इसके प्रमुख कार्य में शामिल हैं अंतर्राष्ट्रीय सीमाओं की सुरक्षा, विपदा प्रबंधन, जीवन रक्षा, सड़क सुरक्षा और विस्फोट प्रतिरोध। यह भी भारतीय नागरिकों के लिए सुरक्षा सुनिश्चित करता है जो देश के विभिन्न हिस्सों में रहते हैं।



बीएसएफ़ और सीआरपीएफ़ में अंतर (Difference Between BSF and CRPF)–

  • BSF (Border Security Force) और CRPF (Central Reserve Police Force) दो अलग-अलग प्रकार के भारतीय सुरक्षा बल होते हैं। इन दोनों बलों के बीच कुछ महत्वपूर्ण अंतर होते हैं जो निम्नलिखित हैं:
  • उत्पत्ति: BSF को 1965 में भारत-पाक सीमा की सुरक्षा के लिए बनाया गया था, जबकि CRPF को 1939 में ब्रिटिश सेना में तैनात सिपाहियों की स्थायी दल बनाने के लिए बनाया गया था।
  • भूमिका: BSF भारत की अंतर्राष्ट्रीय सीमाओं की सुरक्षा के लिए जिम्मेदार है, जबकि CRPF को सामान्य लोगों की सुरक्षा, विशेष रूप से राजनीतिक और सामाजिक संघर्षों के समय मुख्य रूप से सौंपा गया है।
  • क्षेत्र: BSF ज्यादातर बॉर्डर एरिया में तैनात होता है जबकि CRPF देश के विभिन्न हिस्सों में तैनात होता है।
  • फंक्शन: BSF अपनी चौथी आंख के रूप में भी जाना जाता है जो अंतर्राष्ट्रीय सीमाओं की सुरक्षा के साथ-साथ अन्य कई कार्यों के लिए जिम्मेदार होता है, जबकि CRPF के पास विभिन्न क्षेत्रों में तैनात होने के अलावा राजनीतिक और सामाजिक सुरक्षा के लिए भी काम करते है।




RELATED ARTICLES
5 5 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Most Popular