Sunday, February 25, 2024
HomeजानकारियाँSPG Security क्या हैं (full form, Salary) | प्रधानमंत्री की सुरक्षा कैसे...

SPG Security क्या हैं (full form, Salary) | प्रधानमंत्री की सुरक्षा कैसे की जाती हैं

एसपीजी सुरक्षा (SPG Security)

पूरा नाम: स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप  
सिद्धांत: बहादुरी, समर्पण, सिक्योरिटी  
निर्मित: 8 अप्रैल, 1985  
कुल कर्मचारी:   3000
सालाना बजट: 429.05 करोड़  
देश:   भारत
हेड क्वार्टर: नई दिल्ली  
डायरेक्टर: अरुण कुमार सिन्हा  
वेबसाइट:   Spg.nic.in
काम:‌ स्पेशल लोगों को सिक्योरिटी देना  

 

SPG Security क्या हैं

SPG Security क्या हैं-SPG Security भारत के प्रधानमंत्री और उनके परिवार की सुरक्षा के लिए जिम्मेदार होता है। यह भारत सरकार द्वारा स्थापित की गई एक विशेष सुरक्षा संगठन है जो उन्हें सुरक्षा की उच्चतम स्तर की रक्षा उपलब्ध कराता है।

SPG एक संघर्ष प्रबंधन संगठन भी है, जो भारत के राज्यपाल तथा उच्च स्तरीय नेताओं की सुरक्षा उपलब्ध कराता है। SPG सदस्य विशिष्ट ट्रेनिंग प्राप्त करते हैं जो विभिन्न सुरक्षा चुनौतियों का सामना करने में मदद करती है।

भारत सरकार द्वारा निर्धारित शर्तों के अनुसार, सदस्यों का चयन भारतीय सेना, आईबी, केन्द्रीय पुलिस एवं अन्य संगठनों के सदस्यों में से किया जाता है।

एसपीजी का फुल फॉर्म क्या है? SPG Full Form

SPG Security क्या हैं-एसपीजी का फुल फॉर्म होता है “स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप” (Special Protection Group)। SPG एक सुरक्षा संगठन है जो भारत के प्रधानमंत्री और उन्हीं के परिवार के लिए उपलब्ध होता है। SPG की स्थापना भारत सरकार द्वारा वर्ष 1985 में की गई थी।

एसपीजी सिक्योरिटी क्यों दी जाती है?

एसपीजी सिक्योरिटी एक ऐसी सुरक्षा है जो इंटरनेट कनेक्शन के माध्यम से संचार करते समय डेटा को सुरक्षित बनाने के लिए उपयोग की जाती है। यह एक प्रौद्योगिकी है जो संक्रमण और डेटा चोरी के खिलाफ सुरक्षा प्रदान करती है।

एसपीजी सिक्योरिटी इस्तेमाल करने से आप अपने नेटवर्क में उपलब्ध सभी उपकरणों और संचारों के लिए एक सुरक्षात्मक टनल बना सकते हैं। यह एक ऐसा तरीका है जिससे आप अपने डेटा को अन्य लोगों से बचा सकते हैं जो आपके नेटवर्क में हैं।

इस तरह की सुरक्षा आपके ऑनलाइन गतिविधियों को सुरक्षित बनाती है जैसे कि इमेल, ऑनलाइन बैंकिंग, ई-कॉमर्स आदि। इसके अलावा, एसपीजी सिक्योरिटी आपको खुले नेटवर्कों और वाई-फाई हॉटस्पॉट्स पर सुरक्षित संचार का भी सुनिश्चित करती है।



वर्तमान में एसपीजी सिक्योरिटी किसे दी जाती है?

वर्तमान में, एसपीजी सिक्योरिटी कंपनियों, सरकारी संस्थाओं, शैक्षणिक संस्थाओं, बैंकों, वित्तीय संस्थाओं, और अन्य ऑनलाइन सेवाओं के लिए उपलब्ध है। आमतौर पर, यह व्यक्तिगत उपयोगकर्ताओं के लिए भी उपलब्ध है जो अपनी ऑनलाइन गतिविधियों को सुरक्षित रखना चाहते हैं।

एसपीजी सिक्योरिटी कंपनियों द्वारा विकसित की जाती है और उन्हें नेटवर्क सुरक्षा और संचार सुरक्षा जैसी सुरक्षा सेवाएं प्रदान करने में मदद करती है। इन कंपनियों में नोर्डनेट, सिस्को, पालोआल्टो नेटवर्क्स, जुनाइपर नेटवर्क्स, बराकुडा नेटवर्क्स आदि शामिल हैं।

इसके अलावा, विभिन्न एंटीवायरस कंपनियां और इंटरनेट सुरक्षा स्थापनाएं भी एसपीजी सिक्योरिटी की सेवाएं प्रदान करती हैं।

 

स्पेशल प्रोटक्शन ग्रुप को कब बनाया गया था?

स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (SPG) की स्थापना भारत में 1985 में हुई थी। इसे राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (National Security Guard) से भी जाना जाता है। इसका उद्देश्य उच्च रिस्क के साथ सुरक्षा कार्यों को संभालना था, जो कि विशेष रूप से भारत के प्रधानमंत्री और उनके परिवार के लिए होते हैं। SPG के सदस्यों का चयन विशेष रूप से उनकी नौकरी के अनुभव और उनके शारीरिक और मानसिक तैयारी के आधार पर किया जाता है।

हालांकि, वर्तमान में भारत सरकार ने एसपीजी सिक्योरिटी के निर्माण पर ध्यान केंद्रित कर दिया है और अब एसपीजी सिक्योरिटी अधिनियम, 2019 के तहत संगठित होता है। इस अधिनियम के अनुसार, राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड अब एक स्पेशल सुरक्षा ग्रुप के तहत संगठित नहीं होगा।

एसपीजी में भर्ती होने के लिए क्या करें?

एसपीजी में भर्ती होने के लिए आपको निम्नलिखित चरणों का पालन करना होगा:

  • योग्यता दर्ज कराएं: आपको अपनी शिक्षा योग्यता को दर्ज करवाना होगा। एसपीजी के लिए, आपको कम से कम सेना, वायु सेना, या नौसेना में सैनिक या अधिकारी के पद से सेवानिवृत्त होने का अनुभव होना आवश्यक है।
  • भर्ती अधिसूचना के लिए देखें: भारतीय सरकार एसपीजी भर्ती के लिए समय-समय पर अधिसूचना जारी करती है। आपको भर्ती अधिसूचना के अनुसार आवेदन करना होगा।
  • आवेदन करें: आवेदन के लिए, आप अधिसूचना में दिए गए आवेदन पत्र को भरने के बाद उसे ऑनलाइन या ऑफ़लाइन जमा कर सकते हैं। आवेदन में अपने शिक्षा योग्यता, अनुभव, और अन्य आवश्यक जानकारी का विवरण शामिल होगा।
  • चयन प्रक्रिया के लिए तैयार रहें: आवेदन पत्र सफलतापूर्वक जमा होने के बाद, आपको लिखित परीक्षा, शारीरिक टेस्ट, और साक्षात्कार जैसी चयन प्रक्रियाओं के लिए तैयारी करें।

एसपीजी कमांडो की सैलरी क्या है SPG Salary

एसपीजी कमांडो की सैलरी विभिन्न स्तरों पर भिन्न होती है। एसपीजी कमांडो की वेतन संबंधित संस्थान या विभाग द्वारा निर्धारित किया जाता है।

एसपीजी कमांडो के लिए, सेना, वायु सेना, नौसेना और केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) आदि संस्थान एवं विभागों में वेतन भत्ते के रूप में निर्धारित होते हैं।

एसपीजी कमांडो की सामान्य वेतन स्तर कुछ इस प्रकार हो सकते हैं:

  • असिस्टेंट कमांडेंट (ACP) – 47,600 – 1,51,100 रुपये प्रति माह।
  • कमांडेंट (एसपी) – 56,100 – 1,77,500 रुपये प्रति माह।
  • डीएसपी – 67,700 – 2,08,700 रुपये प्रति माह।
  • एसपी – 78,800 – 2,09,200 रुपये प्रति माह।
  • यह सामान्य वेतन स्तर हैं और इनमें बोनस, भत्ते और अन्य भत्तों का भी शामिल हो सकता है। इसके अलावा एसपीजी कमांडो के लिए आकर्षक अन्य लाभ भी होते हैं जैसे कि मुफ्त चिकित्सा सेवाएं, सेवानिवृत्ति भत्ते, और सरकार द्वारा प्रदान की जाने वाली अन्य सेवाएं।
RELATED ARTICLES
5 4 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Most Popular