Saturday, March 2, 2024
HomeComputer & TechnologyCMOS क्या है और कैसे काम करता है?

CMOS क्या है और कैसे काम करता है?

CMOS क्या है-आइये दोस्तों आज हम CMOS के बारें में जानेगें यह एक प्रौद्योगिकी है जो चिप (chip) के रूप में उपयोग होती है। इससे बिजली की खपत बहुत कम होती है।

CMOS क्या है ?

CMOS क्या है-CMOS का पूर्ण रूप होता है “Complementary Metal-Oxide-Semiconductor”। यह एक प्रकार का इलेक्ट्रॉनिक उपकरण होता है जो कंप्यूटर और अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों में उपयोग किया जाता है। CMOS तकनीक इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के लिए एक बहुत ही लोकप्रिय तकनीक है क्योंकि इसमें कम बिजली का उपयोग होता है, जिससे बैटरी की जानकारी संरक्षित रहती है।

CMOS तकनीक के उपयोग से उत्पन्न उपकरणों में एक प्रकार का सेमीकंडक्टर लेयर होता है जो ऑक्साइड लेयर और मेटल लेयर से बना होता है। इस तकनीक के उपयोग से उत्पन्न उपकरणों में बहुत कम बिजली की खपत होती है, जिससे उपकरणों के बैटरी लास्ट लॉन्गर चलते हैं। इसके अलावा, CMOS उपकरण बहुत ही निरंतर होते हैं और उन्हें स्केल किया जा सकता है, जिससे वे और भी अधिक सक्रिय होते हैं।



NMOS क्या है?

NMOS एक प्रकार का इलेक्ट्रॉनिक उपकरण होता है जो कंप्यूटर और अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों में उपयोग किया जाता है। NMOS तकनीक का उपयोग डिजिटल सर्किट डिजाइन में होता है।

NMOS तकनीक में एक प्रकार का पीएमओएस (पॉजिटिव-मेटल-ऑक्साइड-सेमीकंडक्टर) होता है जो सेमीकंडक्टर लेयर, मेटल लेयर और ऑक्साइड लेयर से बना होता है। NMOS तकनीक में एक प्रकार का ट्रांजिस्टर होता है जिसे N-कंट्रोल-मेटल-ऑक्साइड-सेमीकंडक्टर ट्रांजिस्टर (N-CMOS ट्रांजिस्टर) कहा जाता है।

PMOS क्या है?

PMOS एक प्रकार का इलेक्ट्रॉनिक उपकरण होता है जो कंप्यूटर और अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों में उपयोग किया जाता है। PMOS तकनीक का उपयोग डिजिटल सर्किट डिजाइन में होता है।

PMOS तकनीक में एक प्रकार का एन-पी-एम-ओ-एस (नेगेटिव-पी-मेटल-ऑक्साइड-सेमीकंडक्टर) होता है जो सेमीकंडक्टर लेयर, मेटल लेयर और ऑक्साइड लेयर से बना होता है। PMOS तकनीक में एक प्रकार का ट्रांजिस्टर होता है जिसे P-कंट्रोल-मेटल-ऑक्साइड-सेमीकंडक्टर ट्रांजिस्टर (P-CMOS ट्रांजिस्टर) कहा जाता है।

PMOS ट्रांजिस्टर में, P-कंट्रोल-मेटल-ऑक्साइड-सेमीकंडक्टर ट्रांजिस्टर के तीनों प्रकार के लेयर्स में होल युक्त होते हैं, जिससे ट्रांजिस्टर की समझौती बढ़ती है।

CMOS की खोज सबसे पहले किसने की थी?

CMOS क्या है-CMOS (Complementary Metal-Oxide-Semiconductor) की खोज फ्रेडरिक एम स्कारमूर (Frederick Emmons Terman) द्वारा 1948 में की गई थी। उन्होंने अपने छात्र जॉन आटालें (John Atalla) के साथ संयुक्त धातु-ऑक्साइड-सेमीकंडक्टर (MOS) पर अपनी अध्ययन शुरू किया था।

फिर बाद में 1963 में बेल लैबोरेटरी के आलोक नेहरू और हरी भजनी ने MOSFET (Metal-Oxide-Semiconductor Field-Effect Transistor) का आविष्कार किया जो बाद में CMOS तकनीक के लिए उपयोगी साबित हुआ।

Computer में CMOS का मतलब क्या है?

Computer में CMOS का मतलब “Complementary Metal-Oxide-Semiconductor” होता है।

यह एक तकनीक होती है जो इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों में उपयोग की जाती है और मुख्य रूप से सिस्टम BIOS (Basic Input/Output System) के साथ संबंधित होती है।

इसके जरिए, सिस्टम के BIOS चिप या CMOS चिप में समय, तारीख, विभिन्न हार्डवेयर सेटिंग्स और सिस्टम सेटिंग्स के संग्रह को संचित रखा जाता है। जब भी कंप्यूटर चालू होता है, सिस्टम BIOS यह जानने के लिए CMOS चिप को जांचता है कि सिस्टम को कैसे विभिन्न हार्डवेयर डिवाइस के साथ संचालित करना है और कौन से सेटिंग्स लोड करने हैं।

इसलिए, CMOS चिप सिस्टम बूट के समय सिस्टम सेटिंग्स को सहेजता है जो सिस्टम के संचालन के लिए आवश्यक होते हैं।

CMOS के अलग अलग नाम क्या है?

CMOS (Complementary Metal-Oxide-Semiconductor) के अलग-अलग नाम हो सकते हैं, जो निम्नलिखित हैं:

  • Complementary Symmetry Metal-Oxide-Semiconductor (CSMOS)
  • Complementary Silicon-On-Insulator (CSOI)
  • Silicon-Gate CMOS (SGCMOS)
  • Twin-Well CMOS (TWCMOS)
  • Fully Depleted Silicon-On-Insulator (FDSOI)
  • High-k Metal Gate CMOS (HKMG CMOS)

CMOS और BIOS में अंतर

CMOS और BIOS दोनों कंप्यूटर सिस्टम में उपयोग किए जाने वाले अलग-अलग तत्व हैं। CMOS एक तकनीक होती है जो इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों में उपयोग की जाती है, जबकि BIOS (Basic Input/Output System) एक सॉफ्टवेयर होता है जो सिस्टम की मूल अभिव्यक्ति होता है।

जब कंप्यूटर को शुरू करने के लिए पावर ऑन किया जाता है, तो सिस्टम BIOS से संचालित होता है जो CMOS में संग्रहित सिस्टम सेटिंग्स को लोड करता है। BIOS सिस्टम के बूट प्रोसेस में सिस्टम को स्विच करने में मदद करता है और सिस्टम के सार्वजनिक अंगों जैसे कि प्रिंटर, कुंजीपटल, डिस्क ड्राइव आदि के साथ संचालित होता है।

इस प्रकार, CMOS और BIOS दोनों कंप्यूटर सिस्टम में उपयोग किए जाने वाले अलग-अलग तत्व होते हैं। CMOS सिस्टम सेटिंग्स को संचित रखता है जबकि BIOS सिस्टम के संचालन और संरचना से संबंधित होता है।

BIOS और CMOS एक साथ कैसे काम करते है?

BIOS और CMOS एक साथ निम्न प्रकार से काम करते है :-

  • BIOS और CMOS एक साथ काम करते हैं ताकि सिस्टम सही ढंग से काम कर सके।
  • सिस्टम को शुरू करने पर, BIOS सिस्टम के सभी हार्डवेयर के लिए सेटिंग्स को लोड करता है जो CMOS में संग्रहित होते हैं। CMOS में संग्रहित सेटिंग्स कुछ इस तरह हो सकते हैं:
  • बूट सिक्वेंस: सिस्टम बूट करने के लिए कौन सी स्टोरेज डिवाइस का उपयोग करना है, जैसे कि हार्ड डिस्क, सीडी या यूएसबी आदि।
  • समय और तिथि: सिस्टम की वर्तमान समय और तिथि।
  • पासवर्ड: सिस्टम के लिए निर्धारित पासवर्ड जो सिस्टम लॉगिन करने के लिए आवश्यक होता है।

CMOS Battery क्या होता है?

CMOS battery एक छोटी सी बैटरी होती है जो मदरबोर्ड पर लगी होती है और CMOS (Complementary Metal-Oxide-Semiconductor) चिप को पावर सप्लाई करती है। CMOS चिप में विभिन्न सिस्टम सेटिंग्स और जानकारी संग्रहित होती हैं जो सिस्टम को शुरू करने के लिए आवश्यक होती हैं।

जब कंप्यूटर को पावर दिया जाता है, CMOS चिप पावर के बिना रहता है, जो सिस्टम को सेटिंग्स भूलने के लिए प्रवृत कर सकता है। इसलिए, CMOS चिप को चलाने के लिए बैटरी की आवश्यकता होती है। यह बैटरी सिस्टम को उचित सेटिंग्स में रखने में मदद करती है जैसे कि वक्त, तिथि, सिस्टम कॉन्फ़िगरेशन, लॉगिन डिटेल्स आदि।

CMOS Battery कितने समय तक चल सकती है?

CMOS battery का उपयोग अपनी लम्बी जीवधारा के कारण उन्नत प्रौद्योगिकी के कंप्यूटरों में संभव होता है। यह आमतौर पर 3 से 5 वर्षों तक चलती है, लेकिन इसकी लाइफ स्पैन किसी भी विशिष्ट समय सीमा से कम हो सकती है या फिर अधिक भी हो सकती है।

CMOS और CMOS Batteries के बारे में

  • CMOS (Complementary Metal Oxide Semiconductor) चिप एक प्रकार का अर्थ विन्यास प्रौद्योगिकी है जो कंप्यूटर के मदद से तत्काल चालू होता है। यह चिप कंप्यूटर में सभी BIOS सेटिंग्स को संग्रहित करता है और कंप्यूटर के स्विच ऑन और ऑफ करने के बाद भी सेटिंग्स को संभालता है।
  • CMOS battery एक छोटी सी बैटरी होती है जो CMOS चिप को आवश्यक बिजली आपूर्ति प्रदान करती है। जब आप अपने कंप्यूटर को बंद करते हैं तो CMOS battery से आवश्यक बिजली आपूर्ति रुक जाती है। यदि बैटरी की स्तिथि खराब होती है, तो CMOS चिप शक्तिहीन हो जाता है और बाद में आपको अपने सिस्टम को फिर से सेट करना पड़ सकता है।
  • CMOS बैटरी का आकार छोटा होता है और आमतौर पर मॉडल के अनुसार अलग होता है। यह स्थायी नहीं होती है और अपने जीवधारा के अनुसार तब तक काम करती है जब तक इसे बदलने की जरूरत न हो जाए। आमतौर पर, इन बैटरियों की जीवधारा 3 से 5 साल तक होती है।

CMOS की Applications क्या है ?

CMOS (Complementary Metal Oxide Semiconductor) कई एप्लिकेशंस में उपयोग किया जाता है। यह तकनीकी प्रौद्योगिकी का एक विशेष प्रकार है जो एक संयुक्त धातु और अधातु अवरोधी सेट प्रौद्योगिकी आधार पर काम करता है। CMOS का उपयोग निम्नलिखित क्षेत्रों में किया जाता है:

  • संगणक: CMOS प्रौद्योगिकी विशेष रूप से कंप्यूटर हार्डवेयर में उपयोग किया जाता है। सभी मॉडर्न कंप्यूटर आधारित सिस्टम CMOS के उपयोग से काम करते हैं।
  • वीडियो गेम: CMOS तकनीक वीडियो गेम्स में भी उपयोग किया जाता है। यह वीडियो गेम डिवाइस में तार लगाने की जरूरत नहीं होती है जो इसे अधिक सुरक्षित बनाता है।
  • संचार: CMOS प्रौद्योगिकी के उपयोग से संचार उपकरणों में भी तार लगाने की जरूरत नहीं होती है।
  • सेंसर्स: बहुत सारे सेंसर जैसे कि वहन सेंसर, वातावरणीय सेंसर, एलईडी सेंसर और अन्य भी CMOS प्रौद्योगिकी पर आधारित होते हैं।

CMOS के Advantages

CMOS (Complementary Metal Oxide Semiconductor) प्रौद्योगिकी कई फायदों के साथ आती है। कुछ महत्वपूर्ण लाभ निम्नलिखित हैं:

  • कम बिजली की खपत: CMOS तकनीक का उपयोग करने से प्रकाश या बिजली की खपत कम होती है।
  • बेहतर बैटरी लाइफ: CMOS प्रौद्योगिकी बैटरी के लिए बहुत कम विद्युत खपत का उपयोग करती है, जिससे बैटरी लाइफ बढ़ती है।
  • ज्यादा सुरक्षा: CMOS प्रौद्योगिकी बहुत सुरक्षित होती है। इसमें कोई निर्देशिका नहीं होती है, जिससे इसे अधिक सुरक्षित बनाया जाता है।
  • अधिक तीव्रता: CMOS प्रौद्योगिकी में एक शक्तिशाली वाल्व वर्तमान होता है जो एक दूसरे के साथ संयुक्त होते हुए सभी लॉजिक को नियंत्रित करता है। इससे एक दूसरे को त्वरित और तीव्र संचालन मिलता है।

RELATED ARTICLES
4.5 2 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Most Popular