Friday, June 14, 2024
HomeComputer & TechnologyMICR क्या है ?

MICR क्या है ?

MICR क्या है-आइये दोस्तों आज हम MICR के बारें में जानेंगे के यह क्या है यह एक तकनीक है जो आकृतियों को मैग्नेटी चुंबकीय अवशोषण द्वारा पढ़ती है। इस तकनीक का उपयोग बैंक चेक और अन्य आर्थिक दस्तावेजों के लिए संभव होता है।

MICR क्या है ?

MICR क्या है-MICR टेक्नोलॉजी का उपयोग बैंक चेक और अन्य वित्तीय दस्तावेजों के लिए किया जाता है। इस टेक्नोलॉजी के जरिए, एक विशेष धातुवी इंक का इस्तेमाल किया जाता है जो चेक पर लिखे गए नंबरों और कोडों को ट्रैक करता है। ये धातुवी इंक अन्य इंक की तुलना में ज्यादा विशेष होता है, क्योंकि यह केवल एक विशेष प्रकार की रीडर से ही पढ़ा जा सकता है।




MICR की Full Form क्या है ?

MICR की Full Form Magnetic Ink Character Recognition है।

MICR कब बना ?

MICR 1950 के दशक में बना।

MICR कैसे काम करता है ?

MICR एक तकनीक है जो आर्थिक दस्तावेजों को पढ़ने और संसाधित करने के लिए उपयोग की जाती है। इस तकनीक में, एक विशेष प्रकार की मैग्नेटिक इंक का उपयोग किया जाता है जो कि उस दस्तावेज पर छपे हुए नंबर और टेक्स्ट को देखते हुए उन्हें एक विशिष्ट कोड में बदल देता है।

MICR के लिए खास मैग्नेटिक इंक का उपयोग करते हुए, जो एक स्थिर धातु का जोड़ होता है, दस्तावेज पर लिखे हुए नंबर और अक्षरों को छापा जाता है। जब इंक सूख जाता है, तो छपे हुए नंबर और अक्षरों के पास एक उच्च मैग्नेटिक फ़ील्ड पैदा किया जाता है। MICR के जरिये इसे रीड और स्कैन किया जाता है ।

MICR कहाँ कहाँ पर उपयोग किया जाता है ?

MICR (Magnetic Ink Character Recognition) तकनीक आर्थिक व्यवस्थाओं के विभिन्न क्षेत्रों में उपयोग किया जाता है। निम्नलिखित कुछ क्षेत्रों में इसका उपयोग किया जाता है:

  • बैंकिंग सेक्टर: बैंकों में MICR तकनीक का उपयोग चेक के नंबर को पढ़ने और चेक के मालिक के बैंक खाते के साथ जोड़ने के लिए किया जाता है। इसके अलावा, यह भी उपयोग किया जाता है जब एक बैंक दूसरे बैंक के खाते में पैसे ट्रांसफर करता है।
  • रेलवे सेक्टर: MICR तकनीक भी रेलवे टिकटों पर छपे गए नंबरों को पढ़ने के लिए उपयोग किया जाता है।
  • इंश्योरेंस सेक्टर: इंश्योरेंस कंपनियों में, MICR तकनीक का उपयोग आवेदन फॉर्मों और प्रीमियम चेक को प्रसंस्करण करने के लिए किया जाता है।
  • वित्तीय संस्थाएं: कुछ वित्तीय संस्थाओं में भी, MICR तकनीक का उपयोग उनके ग्राहकों के खातों में पैसे ट्रांसफर करने के लिए किया जाता है।

MICR के Advantage

MICR कई फायदे प्रदान करता हैं जो निम्नलिखित हैं:

  • सुरक्षा: MICR तकनीक के उपयोग से बैंकों और अन्य आर्थिक संस्थाओं में बहुत उच्च स्तर की सुरक्षा प्रदान की जाती है। चेक में छपे गए नंबरों का उपयोग करके, उपयोगकर्ताओं को बैंक खाते की सत्यता सत्यापित करने में मदद मिलती है।
  • स्थिरता: MICR तकनीक स्थिरता प्रदान करती है। चेक पर छपे गए नंबरों का उपयोग करके, बैंकों और अन्य संस्थाओं को सत्यापित और सत्यापित नंबरों का उपयोग करके गलतियों का पता लगाने में मदद मिलती है।
  • दुर्लभता: MICR तकनीक दुर्लभ है क्योंकि यह खास चार्ज स्ट्रिप वाले खास चार्ज स्ट्रिप वाले चार्जबल नामक स्पेशल टाईप के पेन से ही इस्तेमाल होती है।
  • एकीकरण: MICR तकनीक आर्थिक संस्थाओं के लिए एकीकृत और संगठित कार्य प्रदान करती है। इस तकनीक का उपयोग करके, बैंकों को आसानी से अधिकांश चेक को सत्यापित करने में मदद मिलती है।

MICR के Disadvantage

MICR (Magnetic Ink Character Recognition) कुछ नुकसान भी होते हैं, जो निम्नलिखित हैं:

  • कीमत: MICR तकनीक के उपयोग के लिए, विशेष चार्ज स्ट्रिप वाले खास चार्ज स्ट्रिप वाले चार्जबल नामक स्पेशल टाईप के पेन की आवश्यकता होती है, जो दूसरे टाईप के पेन से महंगा होता है।
  • स्पेशल इंक की आवश्यकता: MICR तकनीक के लिए स्पेशल इंक की आवश्यकता होती है, जो आम इंक से महंगा होता है।
  • ट्रेनिंग: MICR तकनीक का उपयोग करने के लिए उपयोगकर्ताओं को ट्रेन करना होता है, जो कभी-कभी समय लेता है।
  • संगठित फॉर्मेट की आवश्यकता: MICR तकनीक के उपयोग के लिए, चेक में एक संगठित फॉर्मेट का उपयोग करना होता है, जो उपयोगकर्ताओं के लिए थोड़ा मुश्किल होता है।

RELATED ARTICLES
4.5 2 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Most Popular