Tuesday, July 23, 2024
Homeजानकारियाँभारत की नदियों की सूची List Of Rivers In India

भारत की नदियों की सूची List Of Rivers In India

भारत की नदियों की सूची List Of Rivers In इंडिया





 

गंगा नदी

भारत की नदियों की सूची List Of Rivers In India-  गंगा नदी भारत की सबसे महत्वपूर्ण नदियों में से एक है। यह उत्तराखंड के गोमुख से बहती है और बंगाल की खाड़ी में बंगाल दक्षिण में समुद्र में मिलती है। गंगा नदी का कुल लंबाई लगभग 2525 किलोमीटर है और इसका पानी उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, वेस्ट बंगाल और बंगाल के जिलों में बहता है।

गंगा नदी भारत के लिए धार्मिक और सांस्कृतिक महत्व रखती है। हिंदू धर्म में इसे अत्यंत पवित्र माना जाता है और इसके किनारे कई प्रमुख शहर व तीर्थ स्थल हैं जैसे वाराणसी, हरिद्वार, पटना, कानपुर और कलकत्ता। इसके अलावा गंगा नदी एक महत्वपूर्ण संचार व्यवसाय का माध्यम भी है, जिसमें कई नाविक यात्रियों, बार्जार्स और ट्रेडर लगे होते हैं।

यमुना नदी

यमुना नदी भारत की दो मुख्य नदियों में से एक है, जो उत्तर प्रदेश और हरियाणा राज्यों में बहती है। यह यमुनोत्री नामक स्थान से निकलती है और दिल्ली के करोल बाग में गंगा नदी से मिलती है। यमुना नदी का कुल लंबाई लगभग 1376 किलोमीटर है और इसका पानी उत्तर प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान और दिल्ली में बहता है।

यमुना नदी भारत के लिए धार्मिक और सांस्कृतिक महत्व रखती है। हिंदू धर्म में इसे अत्यंत पवित्र माना जाता है और इसके किनारे कई प्रमुख शहर व तीर्थ स्थल हैं जैसे मथुरा, वृंदावन, आगरा, इलाहाबाद और दिल्ली। यमुना नदी के किनारे वार्षिक कुंभ मेले का आयोजन भी किया जाता है। इसके अलावा, यमुना नदी भारत के संचार व्यवसाय के लिए भी एक महत्वपूर्ण स्रोत है, जो दिल्ली और अन्य नगरों को पानी और जल संसाधन प्रदान करती है।

ब्रह्मपुत्र नदी

भारत की नदियों की सूची List Of Rivers In India-ब्रह्मपुत्र नदी भारत और बांग्लादेश में बहने वाली एक महत्वपूर्ण नदी है। यह तिब्बत की गांगोत्री से निकलती है और भारत, चीन, भूटान, बांग्लादेश और म्यांमार के कुछ हिस्सों से होकर बहती है। इसकी कुल लंबाई लगभग 2,900 किलोमीटर है और यह बंगाल की खाड़ी में गिरती है। ब्रह्मपुत्र नदी के पानी एक महत्वपूर्ण संसाधन है जो लोगों को पानी और जल संसाधन प्रदान करता है।

ब्रह्मपुत्र नदी भारत और बांग्लादेश के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। यह एक प्रमुख नदी है जो पूरे उत्तर पूर्व भारत में बहती है और इसका प्रभाव बंगाल की खाड़ी तक फैलता है। इसके किनारे कई बड़े शहर हैं जैसे कि गुवाहाटी, दिब्रूगढ़, टेजपुरा, बंगलुरू और दिहिंग। यह नदी भारत के पूर्वी हिस्सों में वाणिज्य, उद्योग और पर्यटन के लिए महत्वपूर्ण स्रोत है।




नर्मदा नदी

भारत की नदियों की सूची List Of Rivers In India- नर्मदा नदी भारत की मध्य भागीय क्षेत्र से बहने वाली महत्वपूर्ण नदी है। यह नर्मदा नदी का प्राकृतिक रूप से उदय होता है और अंतिम रूप शिवपुरी जिले के हरणपिपलिया तहसील में लेती है। इसकी कुल लंबाई लगभग 1,312 किलोमीटर है और यह बड़ी संख्या में छोटी नदियों और सागरों से मिलती है। इस नदी के किनारों पर अनेक महत्वपूर्ण शहर हैं, जैसे कि इंदौर, ओंकारेश्वर, भोपाल, होशंगाबाद और जबलपुर।

नर्मदा नदी महत्वपूर्ण पानी संसाधन है और भारतीय उपमहाद्वीप के कुछ हिस्सों में सबसे बड़े जल संसाधनों में से एक है। इसका प्रयोग जल संयंत्रों, खाद्य उत्पादन, सिंचाई, उद्योग, पर्यटन और निर्माण कार्यों के लिए किया जाता है। इसके अलावा, नर्मदा नदी के नजदीकी क्षेत्र में रहने वाले लोगों के लिए यह जीवन का एक महत्वपूर्ण स्रोत है।

कावेरी नदी

कावेरी नदी भारतीय उपमहाद्वीप के दक्षिणी भाग में बहने वाली एक महत्वपूर्ण नदी है। यह कर्नाटक राज्य के तलाकावेरी नामक स्थान से निकलती है और तमिलनाडु राज्य के पूर्वी तटों पर समुद्र में मिलती है। इसकी कुल लंबाई लगभग 765 किलोमीटर है। कावेरी नदी तमिलनाडु राज्य में बहुत महत्वपूर्ण है, जहां यह समुद्र के साथ जुड़ी हुई है और कृषि, उद्योग और पर्यटन के लिए महत्वपूर्ण जल संसाधन के रूप में उपयोग की जाती है।

कावेरी नदी भारत में अनेक प्राकृतिक और ऐतिहासिक स्थलों से गुजरती है, जिनमें तलाकावेरी, शिवसमुद्रम, सृष्टि तीर्थ, तलकाडू और श्रवणबेलगोला शामिल हैं। कावेरी नदी का प्रयोग नहाने, प्रार्थना करने, पर्वतारोहण, शिकार, बाढ़ से बचाव और जल संयंत्रों के लिए किया जाता है। इसके अलावा, यह जीवन के लिए जरूरी जल स्रोत के रूप में भी महत्वपूर्ण है।

 

महानदी नदी

महानदी नदी भारत की एक प्रमुख नदी है जो छत्तीसगढ़, ओडिशा और तेलंगाना राज्यों से होकर बहती हुई बंगाल की खाड़ी में जाकर मुख्यतः कक्षा बनाती है। यह भारत की लंबी नदियों में से एक है और इसकी लंबाई करीब 860 किलोमीटर है।

महानदी नदी की उत्पत्ति छत्तीसगढ़ राज्य के दक्षिण में जंगलों में होती है, फिर यह उत्तर-पूर्व की ओर बढ़ती है। यह नदी अपने मैदानी भाग में कई छोटी नदियों और नालों को अपनी गोद में लेती है। महानदी नदी अपने राज्यों में कुछ बड़े जलाशयों को भी फिरती है, जिसमें एकमात्र हिरकुद बांध शामिल है।

महानदी नदी एक महत्वपूर्ण नदी है जो खेती और उद्योग के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। इसके किनारों पर कृषि, पशुपालन, खनन और उद्योग आदि के लिए काफी विकसित क्षेत्र हैं। इसके अलावा, इस नदी में पाये जाने वाले मछली भी खास होती हैं।

कृष्णा नदी

भारत की नदियों की सूची List Of Rivers In India-कृष्णा नदी भारत की एक प्रमुख नदी है, जो दक्षिण भारत के आंध्र प्रदेश और महाराष्ट्र राज्यों से होकर बहती है। यह नदी दक्षिण भारत की सबसे बड़ी नदी में से एक है और इसकी कुल लंबाई लगभग 1,400 किलोमीटर है।

कृष्णा नदी की उत्पत्ति महाराष्ट्र के महाबलेश्वर के पास स्थित महाबलेश्वर पहाड़ियों से होती है। यह नदी महाराष्ट्र और आंध्र प्रदेश के कुछ बड़े जलाशयों को भी फिरती है, जैसे नगर्जुन सागर, भीमाडोला, अलमाता आदि। कृष्णा नदी दक्षिण भारत के अनेक प्रदेशों में कई महत्वपूर्ण शहरों को भी अपनी गोद में लेती है।

कृष्णा नदी एक महत्वपूर्ण नदी है जो उत्पादक और उद्योगी क्षेत्रों को अपने साथ लेकर जाती है। यह नदी कृषि, पशुपालन और उद्योग आदि के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। इसके किनारे पर खेती और पशुपालन के लिए विशेष रूप से उपयुक्त भूमि है।

ताप्ती नदी

ताप्ती नदी भारत की महत्वपूर्ण नदियों में से एक है, जो मध्य भारत के महाराष्ट्र राज्य से होकर बहती है। यह नदी अंतिम लघु-मध्यम जल संसाधन विकास परियोजना के अंतर्गत भारत के मध्य भाग में स्थित है।



ताप्ती नदी की कुल लंबाई लगभग 724 किलोमीटर है और इसका स्रोत गढ़चिरोली जिले में स्थित गविलगड डोंगर है। यह नदी पुराणों में ‘तपती’ नाम से भी जानी जाती है जो इस नदी के उत्पादक क्षेत्र में मौसम के तापमान के कारण होता है।
ताप्ती नदी महाराष्ट्र राज्य के कुलाबा जिले से होकर बहती हुई नंदुरबार, धुळे, नाशिक, जलगांव, अकोला, अमरावती, बुलढाणा जिलों में जाती है। इस नदी का पानी कृषि, पशुपालन, उद्योग, ऊर्जा और पर्यटन आदि के लिए बहुत महत्वपूर्ण है।

गोदावरी नदी

गोदावरी भारत की पांच बड़ी नदियों में से एक है और दक्षिण भारत में तेलंगाना, महाराष्ट्र और आंध्र प्रदेश राज्यों से बहती हुई है। इस नदी की लम्बाई करीब 1465 किलोमीटर है और इसका उद्गम स्थल त्रंबकेश्वर महादेव मंदिर से होता है जो महाराष्ट्र के नासिक जिले में स्थित है।

गोदावरी नदी के तीन मुख होते हैं जो बंगारुकोट, कोनकन और डेवदारी के पास समुद्र में मिलते हैं। इस नदी का एक बहुत बड़ा स्रोत उदगम स्थल के पास गोदावरी जीवन जंगल है जो गोंदवाना खुर्द में स्थित है। यह नदी दक्षिण भारत के कई शहरों से होकर बहती है, जिसमें नासिक, नांदेड़, चंद्रपुर, रायगढ़, वाशिम, भद्रचलम, काकिनाडा, राजमहेंद्रावरम, विजयवाड़ा आदि शामिल हैं।

शरवती नदी

शरवती नदी भारत की एक महत्वपूर्ण नदी है जो दक्षिण भारत में कर्नाटक राज्य में बहती है। यह उत्तरी वेस्टर्न घाट के जंगलों से बहती हुई है और अरब सागर में मुंबई के दक्षिण में मिलती है। इसकी कुल लम्बाई लगभग 245 किलोमीटर है।

शरवती नदी का उद्गम स्थल कर्नाटक के कोडचाडि घाटों में है और यह बड़े शहरों के निकट से गुजरती है, जिनमें सगर, शिमोगा, होसनगर, उडुपी आदि शामिल हैं। इस नदी के तट पर कई पर्यटन स्थल हैं, जिसमें जोग फॉल्स, कुडुमारी बीच, मरवाने बीच, उडुपी बीच, जोगिगुड्डा शामिल हैं

शरवती नदी के तटों पर कई तीर्थ स्थल हैं, जिनमें श्री कोलार्म्मा तट, मरिकम्म तट, कोटी चेन्नय्या तट, सुब्रह्मण्य तट, अनन्तपद्मनाभ स्वामी तट, कप्प तट, महकलेश्वर तट, सदाशिवपुरा तट, संद्रेबैलु तट आदि शामिल हैं। यह नदी कर्नाटक राज्य के जल प्रबंधन में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती ह

 

बेस्टर नदी

बेस्टर नदी भारत की एक महत्वपूर्ण नदी है जो मध्य भारत में बहती है। यह नदी मध्य प्रदेश राज्य में बहती है और विंध्याचल पर्वत श्रृंखला से उत्पन्न होती है। इसकी कुल लम्बाई 584 किलोमीटर है।

बेस्टर नदी का उद्गम स्थल धुंडी में है और इस नदी के पास कई महत्वपूर्ण शहर हैं जैसे रायपुर, भिलाई, दुर्ग, राजनांदगांव, जबलपुर, कटनी आदि। यह नदी भारत में कुछ सबसे महत्वपूर्ण घाटियों में से एक है जिसमें बेस्टर घाटी और धुंडी घाटी शामिल हैं।

बेस्टर नदी के तट पर कई पर्यटन स्थल हैं, जिनमें भिलाई स्टील प्लांट, मार्कंडेश्वर मंदिर, दुर्ग किला, भिलाई उद्यान, महामाया मंदिर, केदार घाटी आदि शामिल हैं। इसके अलावा बेस्टर नदी धातु के लिए भी महत्वपूर्ण है, जो भिलाई स्टील प्लांट के लिए महत्वपूर्ण है। यह नदी मध्य प्रदेश राज्य के जल प्रबंधन में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।

सिंधु नदी

सिंधु नदी एक महत्वपूर्ण नदी है जो भारत और पाकिस्तान के बीच सीमा स्थित है। यह नदी भारत के उत्तर पश्चिमी हिमालय से उत्पन्न होती है और अरब सागर में विसर्जित होती है। सिंधु नदी की कुल लम्बाई 3,180 किलोमीटर है जिसमें से लगभग 1,100 किलोमीटर भारत में हैं।

सिंधु नदी का उद्गम स्थल तिब्बत में माना जाता है और यह जम्मू और कश्मीर राज्य से गुजरती है। इसके बाद यह पंजाब राज्य में बहती है और फिर पाकिस्तान में जाकर अरब सागर में मिलती है। सिंधु नदी ने अपने तीव्र जल प्रवाह, ऊँची बाढ़ों और उच्च स्तर के जल विवेक व्यवस्था के लिए विख्यात हो गई है।

सिंधु नदी ने अनेक प्राचीन सभ्यताओं के उदय को संभावित बनाया है, जैसे कि हड़प्पा सभ्यता। इसके अलावा, यह नदी भारत में उत्पादकता, पानी की आपूर्ति, पर्यटन और पानी के उपयोग के लिए महत्वपूर्ण है।

जेलम नदी

जेलम नदी, भारत के गुजरात राज्य में उत्पन्न होने वाली एक महत्वपूर्ण नदी है। इस नदी का उद्गम स्थल मध्य अरब सागर के पश्चिमी तट से लगभग 20 किलोमीटर उत्तर में स्थित है। यह नदी पश्चिमी गुजरात के जंगलों से बहती है और गोल्फ खंड में मुंबई के बाद दूसरी सबसे लंबी नदी है।

जेलम नदी की कुल लम्बाई लगभग 495 किलोमीटर है और इसके तटों पर कई महत्वपूर्ण शहर हैं जैसे कि अहमदाबाद, भावनगर, राजकोट और जामनगर। इस नदी का पानी कृषि, पानी की आपूर्ति और पानी के उपयोग के लिए महत्वपूर्ण है। यह नदी समुद्र तक बहती है जहां इसका पानी गुजरात के सौराष्ट्र तट को छूता है।

जेलम नदी के उपजाऊ क्षेत्रों में चना, घेवड़ा, मक्का, ज्वार, बाजरा, धान और कपास जैसी फसलें उगाई जाती हैं। इसके अलावा, इस नदी में कई प्रजातियों के मछलियाँ पाई जाती हैं जो मछली पकड़ने और खाने के लिए महत्वपूर्ण होती हैं।

चम्बल नदी

चम्बल नदी, भारत की उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और राजस्थान राज्यों में बहने वाली एक महत्वपूर्ण नदी है। इस नदी का उद्गम स्थल मध्य प्रदेश के उज्जैन जिले में स्थित मथुरा महाकालेश्वर पर्वत है। यह नदी नर्मदा और यमुना नदियों के संगम पर गंगा नदी में मिलती है।



चम्बल नदी की कुल लम्बाई लगभग 1,000 किलोमीटर है और इसके तटों पर उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और राजस्थान के कुछ महत्वपूर्ण शहर हैं जैसे कि कानपुर, एटा, मौ, शिवपुरी, विजयपुरा, कोटा और बारान। इस नदी का पानी विभिन्न उपयोगों के लिए उपयुक्त होता है, जैसे कि खेती, पशुपालन, जल आपूर्ति और औद्योगिक उपयोग।

सतलुज नदी

सतलुज नदी भारत की पंजाब राज्य में उत्तरी हिमालय से निकलती है और तिब्बत के मानसरोवर झील से आकर इस्कॉंग नगरी नामक स्थान पर गिरती है। यह नदी पंजाब राज्य को पार करते हुए पाकिस्तान में जाकर अरब सागर में मिलती है। सतलुज नदी की कुल लंबाई लगभग 1,550 किलोमीटर है।



सतलुज नदी का पानी उत्तरी भारत के कृषि और उद्योग के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है। इस नदी के तटों पर पंजाब, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और राजस्थान जैसे कुछ राज्य स्थित होते हैं। इसके तटों पर कुछ महत्वपूर्ण शहर हैं जैसे कि लुधियाना, जलंधर, करनाल, पटियाला और चंडीगढ़। यह नदी भारतीय सबमर्ज ट्रैंस-हिमालयन लघुत्रिप से भी गुजरती है जिससे इसके तट पर प्राकृतिक सौंदर्य का अनूठा नजारा होता है।

घाघर नदी

घाघर नदी भारत और पाकिस्तान की सीमा क्षेत्र में बहती है। यह नदी हिमाचल प्रदेश, पंजाब और हरियाणा से गुजरती है और फिर पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में जाकर सिंधु नदी में मिल जाती है। इस नदी की कुल लंबाई लगभग 830 किलोमीटर है।

घाघर नदी भारत के उत्तर पश्चिमी हिमालय से निकलती है और अपनी यात्रा में कई छोटी नदियों को जोड़ती हुई हिमाचल प्रदेश में नाहन और बिलासपुर जिलों से गुजरती है ।

बेतवा नदी

बेतवा नदी भारत में मध्य प्रदेश राज्य के उत्तर पूर्वी हिस्से से बहती है। यह नदी नर्मदा नदी की सहायक नदी है और नर्मदा नदी के उत्तरी किनारे से निकलती है। इसकी लम्बाई करीब 590 किलोमीटर है और इसमें कई छोटी-छोटी नदियां भी शामिल हैं।

बेतवा नदी उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के बीच सीमांत बनाती है। इसका उत्तरी किनारा मुख्य रूप से मध्य प्रदेश में होता है जबकि दक्षिणी किनारा उत्तर प्रदेश में होता है। यह नदी वर्षा के मौसम में फैले बाढ़ के कारण अक्सर बदलती रहती है।

बेतवा नदी के तटबंध और नहरों से पानी का उपयोग खेती के लिए किया जाता है। इसके अलावा इस नदी में मछली पकड़ने की भी परंपरा है।

 




 

RELATED ARTICLES
5 6 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Most Popular