Thursday, February 29, 2024
Homeपैसे कमायेंE-Commerce क्या है और इस व्यापार को कैसे करते है

E-Commerce क्या है और इस व्यापार को कैसे करते है

E-Commerce क्या है?- आज के युग में हर कोई चाहता है की ऑनलाइन नया बिज़नेस खोलना या ऑफलाइन बिज़नेस को ऑनलाइन बिज़नेस में बदलना क्योकि दोस्तों आज के में अधिकतर लोग ऑनलाइन शॉपिंग ही करता है ऐसे में बहुत कम लोग है जो ऑफलाइन प्रोडक्ट खरीदे और साथ आज के समय में ऑनलाइन बिज़नेस एक ट्रेंड की तरह बन चूका है

Free Amazon Keyword Research Tool

ऐसे में क्या आप चाहते है की आपका बिज़नेस आगे ग्रो करे , उसके लिए आपको ऑनलाइन बिज़नेस का सिस्टम को जरूर अपनाये आज के कई ऐसे प्लेटफार्म है जो ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों साथ वर्क करते है और कई प्लेटफार्म है जैसे फ्लिपकार्ट, अमेज़ॉन , शॉपफी , नयका इत्यादि प्लेटफार्म है जिसमे अपना प्रोडक्ट बेचा जा सकता है यदि आप भी बेचने की सोच रहे तो हम आपको ऑनलाइन सर्विसेज प्रोवाइड करते है इसके लिए आप हमसे Contact करे E-Commerce क्या है और इस व्यापार को कैसे करते है 

ई कॉमर्स का अर्थ क्या है?

ई कॉमर्स का अर्थ होता है “electronic commerce ” या “internet commerce”. यह एक marketing strategy है जिसमें Product और service को internet के माध्यम से order किया जाता है और उन्हें online  भुगतान करके लिया जाता है। ई कॉमर्स विभिन्न प्रकार के व्यवसायों के लिए एक option है, जिनमें से कुछ example online marketplace, online retailers,electronic payment gateway, logistics और shipping companies, Electronic Ticketing Website आदि हैं।

E-commerce क्या है?

E-Commerce क्या है-E-commerce एक electronic Business है जिसमें internet के माध्यम से Product और Services का लेन-देन होता है। इसमें ऑनलाइन विक्रेता (Sellers) , उपभोक्ता (Consumers) और इससे संबंधित अन्य लोग शामिल होते हैं। विभिन्न Selling (Sellers)platform जैसे Ecommerce वेबसाइट, mobile app और social media  इत्यादि इसका use करते हैं। E-commerce के माध्यम से उपभोक्ता आसानी से Products या Services को खरीद सकते हैं और भुगतान भी online होता है।

ई कॉमर्स के क्या कार्य हैं?

  • ई कॉमर्स कंपनियां Online Marketing करके उनके Product और Service को Reliable customers तक पहुंचाती हैं।
    ई कॉमर्स कंपनियां उनके websites या apps के माध्यम से Product और Service को बेचती हैं और उनके लिए online payment option भी प्रदान करती हैं।
  • internet payment gateway कंपनियां ई कॉमर्स कंपनियों के लिए भुगतान विकल्प प्रदान करती हैं जो उनके ग्राहकों के लिए सुविधाजनक होते हैं।
  • logistics companies Product और Service को customers तक पहुंचाने में help करती हैं। shipping companies Product को customers तक Safe और Time पर पहुंचाने में help करती हैं। ई कॉमर्स companies customers के संबंधित समस्याओं का समाधान प्रदान करती हैं और उन्हें समय से उत्तर देती हैं।

ई-कॉमर्स या इलेक्ट्रॉनिक कॉमर्स क्या है

ई-कॉमर्स या इलेक्ट्रॉनिक कॉमर्स एक business model है जिसमें products या Service को internet के माध्यम से बेचा जाता है। यह brick and mortar stores, wholesale stores या distributors के साथ option के रूप में भी मिलता है। इसमें online payment  और online order process शामिल होती है। इसके अन्य संबंधित गतिविधियां शामिल होती हैं जैसे ऑनलाइन मार्केटिंग, लॉजिस्टिक्स और संचार।

ई-कॉमर्स मार्केटिंग क्या है?

ई-कॉमर्स मार्केटिंग एक प्रकार का digital marketing  है जो comprehensiveness से e-commerce websites और उनके product को promote करने के लिए Internet advertising का use करता है। यह ई-कॉमर्स कंपनियों के लिए अहम होता है क्योंकि यह उन्हें अपने product और services की sale बढ़ाने में help करता है।

ई-कॉमर्स मार्केटिंग के लिए विभिन्न online marketing tools  का use किया जाता है, जैसे कि ईमेल मार्केटिंग, सोशल मीडिया मार्केटिंग, ब्लॉगिंग, सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन, पेपर क्लिक विज्ञापन और अधिक। इन टूल्स का उपयोग करके ई-कॉमर्स कंपनियां अपने उत्पादों और सेवाओं के बारे में अधिक से अधिक information share करती हैं और उन्हें अपने customers तक पहुंचने में help मिलती है।

बिजनेस-टू-बिजनेस ई-कॉमर्स क्या है?

बिजनेस-टू-बिजनेस ई-कॉमर्स (B2B E-commerce) एक ऐसी process है जिसमें दो या अधिक business के बीच product या services की खरीद-बिक्री online platform के माध्यम से की जाती है। इसका मुख्य लक्ष्य एक business से दूसरे business के साथ products और services की खरीद-बिक्री को Time-government बनाना होता है।

B2B ई-कॉमर्स एक बड़े level पर होता है और विभिन्न industries जैसे financial Services , fuel, building equipment, computer और Software, medical devices, physical services और अन्य industries में होता है।

B2B ई-कॉमर्स के फायदे में highest quality  के products की खरीद, समय की बचत, लागत की कमी, अधिक लाभ, बेहतर संचार और ग्राहक सेवा, विस्तृत बाजार और सुविधा शामिल होती हैं।

ई-कॉमर्स: प्रभाव एवं संभावनाएँ

  • ई-कॉमर्स के आने से Organisation और Product अधिक Modern हो रहे हैं और नए Option पेश कर रहे हैं।
  • customers को विभिन्न options के लिए अधिक उपलब्धता मिलती है, जो उन्हें अधिक options की तलाश में help करता है। विभिन्न options और पहुँच के लिए New Market  खुल रहे हैं
  • और Organization और Manufacturer नए विकास के द्वार खोल रहे हैं।ई-कॉमर्स कंपनियां उत्पादों को विभिन्न देशों और क्षेत्रों में बेचने में मदद करती हैं। ई-कॉमर्स कंपनियां उत्पादकों और ग्राहकों के लिए नए कारोबार विकल्प उपलब्ध कराती हैं।




E-commerce का इतिहास

E-commerce का इतिहास लगभग 40 वर्ष पुराना है। पहले E-commerce के सिस्टम को इलेक्ट्रोनिक डेटा इंटरचेंज (EDI) कहा जाता था, जिसका उपयोग विभिन्न उद्योगों में निर्यात-आयात ट्रांजेक्शन के लिए किया जाता था।

1990 के दशक में, इंटरनेट का प्रभाव से E-commerce के विकास में तेजी से बढ़ोतरी हुई। 1991 में, इंटरनेट पर पहली बार इंटरनेट मैगाज़ीन बना था जिसमें ऑनलाइन विज्ञापन शामिल थे। इसके बाद, 1994 में एमटीवी द्वारा अपनी वेबसाइट के माध्यम से commercial transaction करने का प्रयास किया गया था।

1995 में, इंटरनेट पर पहली बार E-commerce वेबसाइट बनाई गई थी, जो कि ऑनलाइन बुक स्टोर थी। उसी साल, इंटरनेट पर ऑनलाइन बिक्री की शुरुआत हुई, जिसमें कंपनियों ने बिक्री के लिए अपनी वेबसाइटों का उपयोग करना शुरू किया।

Ecommerce की शुरुवात कब हूई?

E-Commerce क्या है-E-commerce की शुरुआत ईस्ट टेक कंपनी के संस्थापक और संचालक माइकल एल. एमार्कोल (Michael Aldrich) द्वारा 1979 में की गई थी। उन्होंने इलेक्ट्रॉनिक डेटा इंटरचेंज (EDI) तकनीक का उपयोग करते हुए विभिन्न कंपनियों के बीच वस्तुओं के निर्यात आयात के लिए एक सिस्टम विकसित किया था।

उसके बाद, 1991 में इंटरनेट का उपयोग करके ऑनलाइन विज्ञापन शुरू हुआ। उसके बाद, 1994 में एमटीवी द्वारा अपनी वेबसाइट के माध्यम से commercial transaction करने का प्रयास किया गया था। और फिर, 1995 में इंटरनेट पर पहली बार E-commerce वेबसाइट बनाई गई थी, जो कि एक ऑनलाइन बुक स्टोर थी।



E-Commerce के प्रकार

E-commerce के कुछ मुख्य प्रकार हैं:

  • बी2सी (Business-to-Consumer): यह E-commerce में सबसे आम फॉर्म है, जिसमें Business किसी Products या सेवा को अपनी वेबसाइट या अन्य E-commerce platform के माध्यम से सीधे उपभोक्ताओं तक पहुंचाता है। उदाहरण के लिए, अमेज़न और फ्लिपकार्ट एक बी2सी E-commerce कंपनी हैं।
  • सी2सी (Consumer-to-Consumer): इसमें उपभोक्ता अपने सामान को अन्य उपभोक्ताओं को बेचते हैं, जिसे e-marketplace कहा जाता है। उदाहरण के लिए, ईबे के जैसी कंपनियां सी2सी Selling को प्रोत्साहित करती हैं।
  • बी2बी (Business-to-Business): इसमें एक Business अन्य Business को Products या Services की Selling करता है। यह उन Businessों के बीच मुख्य ट्रांजैक्शन के लिए होता है जो बड़े और उच्च मूल्य के Products को Selling करते हैं।

Ecommerce का कैसे उपयोग करें?

E-commerce एक ऐसा विकल्प है जो ऑनलाइन व्यापार के माध्यम से Products और Services की खरीद और बिक्री करने की सुविधा प्रदान करता है। इसका उपयोग करने के कुछ उपयोगी तरीके निम्नलिखित हैं:

  • ऑनलाइन दुकान शुरू करें: आप अपने ऑनलाइन दुकान को शुरू करके अपने Products को दुनिया भर में बेच सकते हैं। आप इसके लिए विभिन्न Ecommerce प्लेटफार्म जैसे Shopify, WooCommerce, Magento और BigCommerce जैसे options का उपयोग कर सकते हैं।
  • Marketing के लिए सोशल मीडिया का उपयोग करें: सोशल मीडिया आपको ऑनलाइन Marketing करने में मदद कर सकता है। आप इसका उपयोग करके अपने Products के बारे में जानकारी साझा कर सकते हैं और लोगों को इन्हें खरीदने के लिए प्रोत्साहित कर सकते हैं।
  • E-mail marketing का उपयोग करें: आप अपने Products  को उन लोगों को भेज सकते हैं जिन्होंने आपके साइट पर Registration किया है। इससे आप अपने Products की जानकारी का विस्तार कर सकते हैं और लोगो को बेच सकते है।

Ecommerce में अपनी वेबसाइट बनाएं

अपनी वेबसाइट बनाने के लिए आप निम्नलिखित चरणों का पालन कर सकते हैं:

  • डोमेन नाम का चुने : एक उचित डोमेन नाम चुनें जो आपके Business के लिए उपयुक्त हो। आप डोमेन नाम खरीदने के लिए नेमचीप्स, गोडैडी, होस्टगेटर जैसी कंपनियों से संपर्क कर सकते हैं।
  • वेब होस्टिंग का चुने : एक उचित वेब होस्टिंग सेवा का चुने करें, जो आपकी वेबसाइट को इंटरनेट पर होस्ट करेगा। आप वेब होस्टिंग सेवा प्रदाताओं जैसे कि ब्लूहोस्ट, होस्टगेटर, और साइटग्राउंड जैसी कंपनियों से संपर्क कर सकते हैं।
  • वेबसाइट डिजाइन: अपनी वेबसाइट के डिजाइन के लिए एक उपयुक्त थीम चुनें और अपनी वेबसाइट के लिए एक लोगो तैयार करें। आप एक वेब डिजाइनर या वेब डिजाइन टीम से संपर्क कर सकते हैं।

ऑनलाइन बिज़नेस कैसे स्टार्ट करें?

ऑनलाइन बिजनेस शुरू करना आसान हो सकता है लेकिन उसे सफल बनाना कुछ मेहनत की जरूरत होती है। निम्नलिखित चरण आपको ऑनलाइन Business शुरू करने में मदद कर सकते हैं:

  • बिजनेस आइडिया का चुने करें: सबसे पहले आपको एक बिजनेस आइडिया का चुने करना होगा। आप एक निश्चित बाजार और उसमें क्या लोग खरीदना पसंद करते हैं उसके बारे में सोच सकते हैं।
  • अपनी वेबसाइट बनाएं: अपनी वेबसाइट बनाना बहुत आवश्यक है। आप अपने बिजनेस आइडिया के अनुसार अपनी वेबसाइट को डिजाइन कर सकते हैं और इसके लिए आप वेब डेवलपर की मदद ले सकते हैं।
  • अपने Products की खोज करें: आपको अपने बिजनेस के लिए Products की खोज करनी होगी। आप वैश्विक बाजार में Products को खोजने और उन्हें अपनी वेबसाइट पर लिस्ट करने के लिए अमेरिका या चीन जैसे देशों से Products को आयात कर सकते हैं।

Ecommerce में अपनी कंपनी Register करें

E-commerce में अपनी कंपनी को Register करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:

  • Business Registration: अपने Business को आपके देश या राज्य के नियमों के अनुसार पंजीकृत करना होगा। आप Business Registration के लिए अपने नजदीकी Business Registration office में जा सकते हैं।
  • व्यापार लाइसेंस: आपको अपने Business के लिए व्यापार लाइसेंस प्राप्त करना होगा। यह लाइसेंस आपके Business की स्थापना और ऑनलाइन बिक्री के लिए आवश्यक होता है। आप अपने नजदीकी व्यापार विभाग के office में जाकर इसे प्राप्त कर सकते हैं।
  • GST Registration: आपको जीएसटी Registration करना होगा। GST, ऑनलाइन बिक्री के लिए आवश्यक है और इसे सरलता से इंटरनेट के माध्यम से पंजीकृत किया जा सकता है। आप GST Registration के लिए GST पोर्टल का उपयोग कर सकते हैं।
  • बैंक खाता: आपको अपने Business के लिए बैंक खाता खोलना होगा। यह आपके Business के लिए भुगतान और customers से भुगतान प्राप्त कर सकते है।



Ecommerce के फायदे

  • ज्यादा ग्राहक इससे जुड़े होते है :Ecommerce के माध्यम से आप विश्व भर में अपने Products और Services को बेच सकते हैं और विस्तृत ग्राहक बेस को तैयार कर सकते हैं।
  • 24×7 Availability: आपकी वेबसाइट आपके customers के लिए 24×7 उपलब्ध होती है जिससे उन्हें Products और Services की खोज और खरीद करने में आसानी होती है।
  • काम लोगो में अपना Business शुरू कर सकते हैं: Ecommerce में आपको अपने Products या Services की भंडारण और प्रदर्शन जैसी अधिक लागत नहीं होती है। इससे काम लोगो में में अपना Business शुरू कर सकते हैं।
  • ऑनलाइन मार्केटिंग के लाभ: आप Ecommerce के माध्यम से ऑनलाइन मार्केटिंग कर सकते हैं जो आपके Products और Services के प्रचार और प्रसार करने में मदद करता है।
  • अधिक लाभ: आप Ecommerce के माध्यम से आपके Products और Services की बिक्री बढ़ा सकते हैं जो आपके लाभ में सुधार करता है।

Ecommerce के नुकसान

  • बढ़ता Competition: E-commerce सेक्टर में तेजी से बढ़ता Competition हो रही है, जो बढ़ता मार्जिन दबाव और बढ़ते खर्चों का सामना करने को मजबूर करती है।
  • Reality: ऑनलाइन खरीदारी में customers की भरोसा कम होती है। इसलिए, कम्पनियों को customers को उनकी खरीद की गारंटी देने के लिए विभिन्न उपायों का उपयोग करना पड़ता है।
  • Financial loss: इस Business में बढ़ते खर्चों, Products वापसी के मामलों, अनुचित मूल्य निर्धारण और अन्य कई कारणों से कम्पनियों को Financial loss का सामना करना पड़ता है।
  • इंटरनेट कनेक्शन: एक सफल E-commerce Business के लिए तेज इंटरनेट कनेक्शन की जरुरत पड़ती है।

2023 में इंडिया में ई कॉमर्स बिजनेस कैसे शुरू करें।

Business को Choose करें

सबसे पहले आपको यह फैसला लेना होगा कि आप किस उत्पाद या सेवा का ई-कॉमर्स बिजनेस शुरू करना चाहते हैं। इसके लिए विभिन्न उत्पादों की विश्लेषण करें और वे उत्पाद चुनें जो अधिक विक्रय और उचित मुनाफ़े प्रदान करते हैं।

Business का Name का Choose करें

एक High और future growth business नाम चुनें। इसके लिए आप अपनी Website या online Portal के लिए उपयुक्त domain नाम चुन सकते हैं।

Website और E-Commerce Portal बनाएँ

अपने Business के लिए एक Website या online Portal बनाएं जिसमें आप अपने products या services को बेच सकते हैं। आप इसके लिए web developers की help ले सकते हैं या आपके पास शुरूआती दौर में आपके Business के लिए उपयुक्त online Portal  जैसे shopify आदि

Payment Gateway को Choose करें

Payment Process  को convenient बनाने के लिए विभिन्न online Payment Gateway , जैसे कि Paytm, PhonePe, Razorpay, आदि में से एक का चयन करें।

Logistic और Packaging की Arrangement करें

उत्पादों को ग्राहकों तक सुरक्षित और समय पर पहुंचाने के लिए एक अच्छी Logistic Arrangement का संचालन करें।

निष्कर्ष

E-Commerce Business – यह तक दोस्तों आपने सीखा की E-Commerce क्या है और इस व्यापार को कैसे करते है  उम्मीद है आपको मेरा बताया गया तरीका अच्छा लगा होगा यदि आप ऐसे ही और हिंदी ब्लॉग पढ़ना चाहते हैं तो आप बिलकुल सही वेबसाइट पर आये है में अपने ऑडियंस को हिंदी में और फ्री में जानकारी देती हूँ यदि आप मेरी इस वेबसाइट के साथ ऐसे बने रहते है तो आपको टेक्नोलॉजी से जुड़े या अन्य जानकारिया ऐसे हिंदी हिंदी में जानने को मिलेगी इसके लिए आपको सबसे पहले JUGADME को सब्सक्राइब करना होगा जिससे आप तक मेरे बनाये गए पोस्ट आप तक आसानी से पहुंच जाये। और अपने रिश्तेदारों को जरूर शेयर करे। मुझे आपलोगो को सहयोग की अति आवश्यकता है।
धन्यवाद

FAQ’s:-

Q. Ecommerce की शुरुवात कब हूई?

Ans. Ecommerce की शुरुवात 1979 में हूई।

Q. E-commerce क्या है?

Ans. E-commerce एक इलेक्ट्रॉनिक Business है जिसमें इंटरनेट के माध्यम से वस्तुओं और Services का लेन-देन होता है।

RELATED ARTICLES
5 4 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Most Popular