Thursday, June 20, 2024
HomeComputer & TechnologyFlowchart क्या है और कैसे बनाएं?

Flowchart क्या है और कैसे बनाएं?

फ्लोचार्ट क्या है

फ्लोचार्ट एक ग्राफिकल प्रोग्रामिंग भाषा है जो उपयोगकर्ताओं को एक विशिष्ट कार्य या प्रक्रिया के लिए एक डायग्राम बनाने की अनुमति देता है। इस भाषा में, उपयोगकर्ता विभिन्न आइटमों जैसे त्रिभुज, आयत, संचय एवं लाइन आदि का उपयोग करते हुए डायग्राम बना सकते हैं। इस डायग्राम में आइटमों को जोड़ने के लिए उपयोगकर्ता तार, एरो आदि का उपयोग करते हैं। फ्लोचार्ट डायग्रामों को बनाने में बहुत आसान होता है और इसका उपयोग बहुत से विषयों में किया जाता है, जैसे कि संगणक विज्ञान, संचालन विज्ञान, अनुसंधान, वित्त विज्ञान और औद्योगिक प्रक्रियाओं को वर्णन करने के लिए।




 

Flowchart में प्रयोग किये गये कुछ चिन्ह कोन से है 

Flowchart में निम्नलिखित चिन्हों का उपयोग किया जाता है:

  • शुरुआत/अंत: फ्लोचार्ट की शुरुआत एवं अंत के लिए उपयोग किए जाने वाले चिह्न होते हैं। आमतौर पर शुरुआत चिह्न को बड़े वर्ग के अंदर लिखा जाता है और अंत चिह्न को बड़े वर्ग में लिखा जाता है जिसमें उसके आउटपुट का नाम लिखा होता है।
  • कार्य/प्रक्रिया: कोई एक कार्य या प्रक्रिया को दर्शाने के लिए बनाए गए चिह्न होते हैं जो आमतौर पर रेक्टेंगल शेप में होते हैं। इसमें कार्य या प्रक्रिया का नाम लिखा होता है।
  • निर्णय: इस चिह्न का उपयोग किसी निर्णय को दर्शाने के लिए किया जाता है। इसमें एक हाँ/हां या नहीं/ना चिह्न होता है जो निर्णय का प्रतिनिधित्व करता है।

Flowchart बनाने के नियम

फ्लोचार्ट बनाने के नियम निम्नलिखित हो सकते हैं:

  • ध्यान रखें कि फ्लोचार्ट एक विवरणशील चित्र होता है जो किसी विशेष प्रक्रिया को दिखाता है। इसलिए, उस प्रक्रिया की सम्पूर्ण जानकारी जुटाएं।
  • एक फ्लोचार्ट को एक्सेस करना आसान होना चाहिए। उसमें स्पष्टता और अक्षरशः सही होना चाहिए जिससे उपयोगकर्ता आसानी से समझ सकें।
  • शुरुआत से अंत तक की सही दिशा चिह्नित करें। यह फ्लोचार्ट में सबसे महत्वपूर्ण होता है।
  • एक चरण के बाद अगले चरण की सही दिशा बताएं। इससे फ्लोचार्ट निर्देशित होगा और उपयोगकर्ता बिना किसी समस्या के उसे समझ सकेंगे।
  • अपने फ्लोचार्ट के उपयोगकर्ताओं को समझाएं और इसमें संभवतः उनके सवालों का समाधान प्रदान करें।
  • स्पष्ट और संक्षिप्त होने के साथ-साथ एक फ्लोचार्ट को आकर्षक और आकर्षक बनाए रखने का विशेष महत्व है। एक सुंदर फ्लोचार्ट उपयोगकर्ताओं को आकर्षित करता है।

Flowchart बनाने के फायदे

फ्लोचार्ट बनाने के कुछ फायदे निम्नलिखित हैं:

  • स्पष्टता: एक अच्छी फ्लोचार्ट स्पष्ट निर्देशों के साथ आता है, जो किसी विशेष प्रक्रिया को समझने में सहायता करते हैं। इससे लोगों को प्रक्रिया को समझने में आसानी होती है।
  • संगठितता: एक फ्लोचार्ट प्रक्रिया को संगठित करता है, जिससे लोगों को प्रक्रिया में शामिल होने में आसानी होती है। इससे लोगों को अपनी भूमिका को समझने में मदद मिलती है।
  • समय बचाना: एक फ्लोचार्ट प्रक्रिया को समझाने में ज्यादा समय नहीं लेता है। इससे लोग जल्दी से प्रक्रिया को समझ सकते हैं और समय बचाते हैं।
  • त्रुटि कम करना: फ्लोचार्ट में विभिन्न चरणों और निर्देशों के लिए चिह्नों का उपयोग किया जाता है, जो लोगों को समझने में आसानी प्रदान करते हैं। इससे गलतिया कम होती हैं।



Flowchart बनाने के नुकसान

Flowchart बनाने के कुछ नुकसान निम्नलिखित हैं:

  • गलत समझ: एक असावधानी से बनाई गई फ्लोचार्ट, या अनुचित सामग्री का उपयोग करते हुए बनाई गई फ्लोचार्ट, लोगों को गलत समझने के लिए आसान होती है। इससे प्रक्रिया के दौरान त्रुटियों का सामना करना पड़ सकता है।
  • अधिक समय लगना: अगर फ्लोचार्ट बनाने के लिए सही सामग्री उपलब्ध नहीं है, तो इसे बनाने में अधिक समय लग सकता है।
  • संवेदनशीलता: कुछ फ्लोचार्ट विषय जो अत्यंत संवेदनशील हो सकते हैं, उन्हें उचित तरीके से चित्रित नहीं किया जा सकता है। इससे उन विषयों पर कुछ विवरण छूट सकते हैं जो बहुत महत्वपूर्ण हो सकते हैं।
  • भूमिका के संकट: फ्लोचार्ट की भूमिका को ठीक ढंग से समझना जरूरी है, लेकिन अगर भूमिका गलत हो तो फ्लोचार्ट भी गलत हो सकता है।
  • तकनीकी समस्याएं: फ्लोचार्ट बनाने के लिए कंप्यूटर या दूसरी तकनीक का उपयोग करना पड़ सकता हैऔर
    इसमें कभी कभी तकनीकी समस्याएं भी उत्पन हो जाती है।
RELATED ARTICLES
5 7 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Most Popular