Friday, June 14, 2024
HomeजानकारियाँIPL Business Model क्या है- IPL Business Model In Hindi

IPL Business Model क्या है- IPL Business Model In Hindi

IPL Business Model क्या है- नमस्कार दोस्तों आज मैं आपको बताने वाली हूं IPL Business Model क्या है IPL के बारे में हर कोई जानता है IPL देखने वाले बहुत से लोगों को लगता है कि IPL में हारने के बाद भी Team की कमाई कैसे होती है इस सवाल का जवाब कई लोग नहीं जानते परंतु चिंता की कोई बात नहीं है आज मैं आपको पूरी जानकारी देने वाली हूं उसके लिए सबसे पहले आपको यह जानना होगा कि IPL क्या होता है और IPL Business Model क्या है तो आइए जानते हैं इसकी पूरी जानकारी

IPL क्या होता है

अब बात आती है IPL क्या है – IPL का पूरा नाम इंडियन प्रीमियर लीग है, यह भारतीय क्रिकेट खेल का एक प्रतिष्ठित टूर्नामेंट है जो भारत में हर साल खेला जाता है। इसमें विभिन्न टीमों के खिलाड़ियों को चयनित कर उन्हें आमने-सामने मुकाबले में भेजा जाता है।

इस टूर्नामेंट के माध्यम से भारत में क्रिकेट का लोकप्रियता बढ़ी है और यह विश्व स्तरीय क्रिकेट टूर्नामेंट में से एक है। इस टूर्नामेंट में सभी खिलाड़ियों को आकर्षक मुआवजे दिए जाते हैं जो इसे भारत में क्रिकेट खिलाड़ियों के बीच सबसे लोकप्रिय टूर्नामेंटों में से एक बनाता है।यह तक आप समझ गए की IPL क्या है तो आइए आगे और जानकारी लेते है 

IPL Business Model क्या है

IPL बिज़नेस मॉडल क्या है यदि आप भी जानना चाहते है की आखिरकार IPL बिज़नेस मॉडल क्या है तो आप सही साइट पर आये है आपको पूरी जानकारी यहां मिलेगी

IPL एक बड़ा व्यापार है जो क्रिकेट से जुड़ा हुआ है। इसमें विभिन्न टीमों के बीच मुकाबले होते हैं और इससे बहुत सारी आमदनी होती है। इस लीग में उपस्थित होने वाले दर्शक, स्थानों के स्पान्सर, टीवी के ब्रॉडकास्टिंग राइट्स और स्पॉन्सर्स आदि भी इसमें विभिन्न तरीकों से शामिल होते हैं जिससे यह एक पूर्ण व्यापार मॉडल के रूप में काम करता है।

इस लीग में टीमों की खरीद-फरोख्त, खिलाड़ियों की नियुक्ति, स्पॉन्सरिंग और टीवी राइट्स से बहुत सारी आमदनी होती है। इसके साथ ही इस व्यवसाय में बहुत सारे लोग भी रोजगार प्राप्त करते हैं। IPL एक व्यवसाय मॉडल के रूप में काम करता है जो बहुत सारी आय का स्रोत होता है और खेल की प्रतिष्ठा और मनोरंजन को बढ़ाता है।

IPL की शुरुआत

IPL की शुरुआत की बात करें तो यह टी20 क्रिकेट की शुरुआत है जो कि काफी पहले ही हो चुकी थी लेकिन क्रिकेट लोगों के मन में टी-20 क्रिकेट देखने वाली बड़ी दिलचस्पी हमेशा ही रहती है टी20 क्रिकेट के मैच लोगों को कम देखने को मिलता है

और इसी कमी को पूरा करने के लिए बीसीसीआई ने साल 2008 में IPL की शुरुआत कर दी थी जब से लेकर IPL की शुरुआत हुई IPL की एक लोकप्रियता कम नहीं हुई पहले से ज्यादा और भी लोग उसे पसंद करने लगे और पहले से ज्यादा काफी लोकप्रियता बढ़ गई

IPL की शुरुआत 2008 में 10 टीमों के साथ की गई थी IPL की सीजन 4 यानी की साल 2011 में 2 और तीनों को जोड़ा गया था 2016 और 2017 के IPL में चेन्नई सुपर किंग और राजस्थान रॉयल को अलग-अलग कारणों के चलते बैन होना पड़ गया था इन टीमों के बैन होने के बाद संतुलन बनाने के लिए गुजरात लायंस ओर राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स टीमों को जोड़ा गया था फिर 2022 में IPL में दो टीमों को और जोड़कर टीमों की संख्या 8 के बजाय 10 कर दी गई है 2022 की IPL में लखनऊ और अहमदाबाद टीमों को जोड़ा गया है

पर अब बात आती है बिजनेस और इंटरटेनमेंट और स्पोर्ट्स को छोड़ने के पीछे केवल गुजरात के ललित मोदी खो जाता है जो कि IPL की शुरू से ही देश के बिजनेसमैन और बॉलीवुड स्टार क्रिकेट खिलाड़ियों के बीच अच्छा रिलेशन बनाया है

IPL के फायदे

IPL के फायदे कुछ इस प्रकार हैं:

  • IPL टूर्नामेंट भारत में सबसे लाभदायक टूर्नामेंटों में से एक है जो भारतीय क्रिकेट बोर्ड को बहुत बड़ी आय का स्रोत प्रदान करता है।
  • IPL टूर्नामेंट के माध्यम से नए खिलाड़ियों की खोज की जाती है जो अन्य विभिन्न स्तरों से आते हैं और जिन्हें अधिक उचित मूल्य दिया जाता है।
  • IPL टूर्नामेंट के माध्यम से भारतीय क्रिकेटरों की पहचान विश्व स्तर पर बढ़ती है और वे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी दमखम दिखाते हैं।
  • IPL टूर्नामेंट से न केवल खिलाड़ियों को बल्कि क्रिकेट इंडस्ट्री के अन्य लोगों को भी रोजगार के अवसर प्राप्त होते हैं।
  • IPL टूर्नामेंट के बजाए कुछ टीमें खेल के माध्यम से समाज के लिए भी उपयोगी कार्य करती है

IPL में बड़ी-बड़ी कंपनियां पैसा लगाती है

पहले IPL शुरू होने से पहले स्पॉन्सर खिलाड़ियों को टी-शर्ट पर अपनी कंपनी का लोगो लगाने का पैसा नहीं दिया करते थे लेकिन हाल ही में यानी कि अब के समय में योग के शरीर पर दिखाई देने वाले छोटे से छोटे कंपनी के लोगों का पैसा भी दिया करती है

खिलाड़ियों को अपने नाम की टी-शर्ट पहनना है विदेश से बड़ी बड़ी कंपनियां पैसा खर्च करती है

इंडिया में IPL को एक त्यौहार के रूप में मनाया जाता है बच्चों से लेकर बड़ों तक सभी के मन में IPL का बहुत बड़ा क्रैज बना रहता है

IPL में हिस्सा लेने वाली टीमें और उनके मालिक

IPL टीम मालिक का नाम मालिकों का व्यवसाय
चेन्नई सुपर किंग्स एन श्रीनिवासन चेन्नई सुपर किंग्स क्रिकेट लिमिटेड चैंपियंस
दिल्ली केपिटल पार्थ जिंदल जीएमआर समूह और जेएसडब्ल्यू समूह
पंजाब किंग्स प्रीति जिंटा, नेस वाडिया, बॉम्बे बर्मा ट्रेडिंग कंपनी लिमिटेड
कोलकाता नाइट राइडर्स शाहरुख खान और जूही चावला रेड चिलीज एंटरटेनमेंट और मेहता ग्रुप
मुंबई इंडियंस मुकेश अंबानी रिलायंस इंडस्ट्रीज
सनराइजर्स हैदराबाद कलानिधि मारानी सन सन टीवी नेटवर्क
राजस्थान रॉयल्स मनोज बादले ब्रिटिश एशियन ट्रस्ट
रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर आनंद कृपालु यूनाइटेड स्पिरिट्स
गुजरात टाइटन्स स्टीव कोल्ट्स, डोनाल्ड मैकेंज़ी सीवीसी कैपिटल
लखनऊ सुपरजायंट्स डॉ संजीव गोयनका, आरपी संजीव गोयनका ग्रुप

IPL टीमें पैसे कैसे बनाती हैं।

IPL टीमें पैसे कई तरीकों से बनाती हैं। निम्नलिखित कुछ तरीके इसमें शामिल हैं:

स्पॉन्सरशिप

IPL टीमें उनकी जरूरतों के अनुसार स्पॉन्सरशिप के माध्यम से राजस्व बनाती हैं। इसमें IPL टीमें कुछ बड़े ब्रांड्स के साथ संबंध बनाती हैं, जिन्हें टीम के उपकरण, कपड़े, विज्ञापन आदि के लिए विपणन करने के लिए लोगों के सामने लाया जाता है।

अधिकारों की सेल्स 

IPL टीमें अपने खेलों के अधिकारों को सेल्स करती हैं। उन्होंने अपनी टीम के खेलों के अधिकारों के लिए भारत और विदेश में नियुक्ति भी की है।

टीवी राइट्स

IPL टीमें अपने खेलों के टेलीविजन प्रसारण के अधिकारों को भी विक्रय करती हैं। उन्होंने एक समझौता किया है जिसके अनुसार वे अपने खेलों को कुछ टेलीविजन नेटवर्क्स के माध्यम से प्रसारित करती हैं और इसे बड़े पैमाने पर बेचती हैं।

IPL टीमें खिलाड़ियों पर करोड़ों रुपये खर्च करती हैं।

अब बात आ जाती है की IPL टीमे खिलाड़ियों पर कितना पैसा खर्च करती हैं ये सवाल कई लोगो के मन में आता है की आखिरकार IPL टीमे खिलाड़ियों पर कितना पैसा खर्च करती हैं तो आइए जानते है इसके बारे में IPL टीमें खिलाड़ियों पर करोड़ों रुपये खर्च करती हैं।

खिलाड़ियों को ज्यादातर लागत मूल्य और टीम के बजट पर निर्भर करता है। कुछ शीर्ष खिलाड़ियों के लिए, टीमें लाखों या करोड़ों रुपये भी खर्च कर सकती हैं। उन्हें उनके खेल के आधार पर संबोधित किया जाता है और उन्हें उनकी संबंधित कौशल के अनुसार भुगतान किया जाता है।

इसमें हर साल तक़रीबन 35-50 करोड़ रुपए कास्ट के होते हैं। जिसमें खिलाड़ियों के आने जाने के लिए फ्लाइट,बस खर्च , होटल में रुकने का खर्च आदि शामिल हैं। प्रत्येक टीम हर साल टीम के खिलाड़ियों पर 140 से 150 करोड़ रुपये खर्च करती हैं।

IPL टीमों को हर साल कितना फायदा होता है

IPL टीमों को हर साल फायदा का अंदाजा टीम के बजट, खिलाड़ियों के वेतन, स्पॉन्सरशिप और मीडिया अधिकारों से लगाया जा सकता है। अनुसार, शीर्ष IPL टीमों को हर साल 100 करोड़ से अधिक रुपये का फायदा हो सकता है। हालांकि, यह फायदा टीम के प्रदर्शन और संबंधित विवरणों पर निर्भर करता है।

आज आपने सीखा

IPL Business Model क्या है- यह तक यह पोस्ट फिनिश होता है ऐसे ही और हिंदी में जानकारी पढ़ने के लिए Jugadme को सब्सक्राइब करे जिससे में जब भी में आपके लिए नया ब्लॉग पोस्ट लिखू आप तक आसानी से पहुंच सके। और अपने रिश्तेदारों को जरूर शेयर करे क्योकि मुझे आप लोगो की सहयोग की आवश्यकता है 

Also Read:

RELATED ARTICLES
5 1 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Most Popular