Thursday, February 29, 2024
HomeBloggingCanonical Tag क्या है और क्यों प्रयोग किया जाता है?

Canonical Tag क्या है और क्यों प्रयोग किया जाता है?

Canonical Tag क्या है-हेलो दोस्तों आज हम आपको Canonical Tag क्या है इसके बारें में पूरी जानकारी देंगे। Canonical Tag एक HTML टैग होता है जो एक वेब पेज के HTML चिह्नित किए गए विभिन्न URL को एक मुख्य URL के साथ संबद्ध करता है।

Canonical Tag क्या है?

Canonical Tag क्या है-Canonical tag एक HTML टैग होता है जो एक वेब पेज के HTML चिह्नित किए गए विभिन्न URL को एक मुख्य URL के साथ संबद्ध करता है। यह टैग वेब साइटों के लिए उपयोगी होता है जहाँ कई वेब पेजों में समान सामग्री होती है, लेकिन URL अलग-अलग होते हैं। इस समस्या को निवारित करने के लिए, वेबमास्टर वेब पेजों में एक मुख्य URL को चुन सकते हैं जो वास्तविक विषय होता है और उस URL के साथ Canonical tag जोड़ते हैं।

जब गूगल या अन्य वेब क्रॉलर वेबसाइट पर पहुँचते हैं, वे Canonical tag के माध्यम से संबद्ध URL को उस मुख्य URL से संबंधित मानते हैं और समान सामग्री के द्वारा अधिक विस्तृत वेब साइटों के माध्यम से डुप्लिकेट कंटेंट की समस्या से बचते हैं।

इस तरह से, Canonical tag वेबसाइट ऑडिटिंग और योग्यता के लिए एक उपयोगी उपकरण होता है, जो वेबमास्टर को वेबसाइट के लिए उपयुक्त चुनाव करने में मदद करता है।



Canonical Tag की परिभाषा

Canonical Tag क्या है-Canonical Tag (Canonical Tag) एक HTML टैग होता है जो एक वेब पेज के HTML कोड में शामिल होता है और इसका उपयोग डुप्लिकेट कंटेंट (Duplicate Content) समस्याओं को दूर करने के लिए किया जाता है। जब एक वेबसाइट पर एक से अधिक URL होते हैं जो एक ही सामग्री को दर्शाते हैं, तो गूगल जैसे खोज इंजन्स उन्हें डुप्लिकेट कंटेंट मानते हैं जो वेबसाइट के SEO (Search Engine Optimization) पर असर डाल सकता है।

Canonical URL क्या है?

Canonical Tag क्या है-Canonical URL वह URL होता है जो Canonical Tag के माध्यम से बताता है कि एक वेब पेज का मुख्य या कैनोनिकल URL क्या है। जब एक वेबसाइट पर एक से अधिक URL होते हैं जो एक ही सामग्री को दर्शाते हैं, तो गूगल जैसे खोज इंजन्स उन्हें डुप्लिकेट कंटेंट मानते हैं जो वेबसाइट के SEO (Search Engine Optimization) पर असर डाल सकता है।

इस समस्या को दूर करने के लिए, वेबमास्टर Canonical Tag का उपयोग करते हैं जो इन URLs में से एक को मुख्य URL के रूप में चुनता है। जब गूगल और अन्य खोज इंजन्स वेबसाइट के सामग्री को क्रॉल करते हैं, वे Canonical Tag का उपयोग करके मुख्य URL को चुनते हैं और उसे वेबसाइट के मुख्य उपलब्ध सामग्री के रूप में मानते हैं। इस तरह से, Canonical Tag वेबसाइट के SEO के लिए एक महत्वपूर्ण उपकरण होता है जो डुप्लिकेट कंटेंट समस्याओं को दूर करता है।

Canonical Tag क्यों प्रयोग किया जाता है?

Canonical tag एक HTML tag होता है जो वेबमास्टर्स का उपयोग करके उन्हें बताता है कि किस पृष्ठ को साइट के पूर्वलेखक (website owner) संदर्भित नहीं करना चाहिए और इसके बजाय दूसरे संबंधित पृष्ठ को संदर्भित करना चाहिए।

यदि एक वेबसाइट पर अनुवादित सामग्री या अलग-अलग वेबपेज्स पर समान विषयों के विषय में जानकारी उपलब्ध होती है तो इससे गूगल क्रॉलर कन्फ्यूज हो जाता है कि कौन सा पृष्ठ संदर्भित करना चाहिए। ऐसे में, canonical tag का उपयोग सही पृष्ठ को संदर्भित करने में मदद करता है और इससे साइट का समर्थन भी मजबूत होता है।

समान या नकली सामग्री के मामले में, canonical tag इससे बचाव करने में मदद करता है कि उपयोगकर्ताओं को गलत पृष्ठ के लिए पंजीकरण न करना पड़े और साइट प्रदर्शन के साथ-साथ उनकी अनुभव भी सुधारता है।

Canonical Tag को कैसे बनाये?

Canonical tag आसानी से बनाया जा सकता है। निम्नलिखित चरणों का पालन करें:

  • सबसे पहले, वह पृष्ठ जिसके लिए आप canonical tag बनाना चाहते हैं, को चुनें।
  • अब, उस पृष्ठ की HTML कोड के head टैग के भीतर, निम्नलिखित लाइन को कॉपी और पेस्ट करें:
  • <link rel=”canonical” href=”http://www.example.com/original-page” />
  • अब, href अट्रिब्यूट को उस URL से बदल दें जिसे आप कैनोनिकल URL के रूप में उपयोग करना चाहते हैं। उदाहरण के लिए, यदि आपके पास एक असली पृष्ठ है और आप डुप्लिकेट पृष्ठों को कैनोनिकल बनाना चाहते हैं, तो आपको उस असली पृष्ठ का URL ही href अट्रिब्यूट के रूप में उपयोग करना चाहिए।
  • अंत में, HTML कोड को सहेज दें और अपनी वेबसाइट पर अपलोड करें।
    इस तरह से, आप canonical tag बना सकते हैं और अपने वेबसाइट के SEO को सुधारने में मदद कर सकते हैं।

WordPress में Canonical Tag कैसे add करें?

WordPress में Canonical tag जोड़ने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:

  • Yoast SEO Plugin को इंस्टॉल करें।
  • Yoast SEO Plugin को एक्टिवेट करें।
  • अपने WordPress डैशबोर्ड में Yoast SEO Plugin पर जाएं।
  • इसके बाद, साइट के साइटमैप के अंतर्गत सभी वेबपेज को सूचीबद्ध करें।
  • साइटमैप के अंतर्गत, उस पृष्ठ का URL चुनें जिसके लिए आप Canonical tag जोड़ना चाहते हैं।
  • Yoast SEO Plugin के “Advanced” टैब में “Canonical URL” ऑप्शन खोलें।
  • इसके बाद, “Canonical URL” ऑप्शन को “Enabled” पर सेट करें।
  • अंतिम रूप दें जब आप अपनी पृष्ठ संपादित करें, तो Yoast SEO Plugin के “Advanced” टैब में “Canonical URL” फ़ील्ड में इस पृष्ठ के Canonical URL का पता लगाएं।

WordPress में Canonical Tag कैसे add करें?

WordPress में Canonical tag जोड़ने के लिए आप निम्नलिखित चरणों का पालन कर सकते हैं:

  • सबसे पहले, अपने WordPress Dashboard पर लॉग इन करें।
  • अब, आपको उस पोस्ट या पृष्ठ को चुनना होगा जिसके लिए आप Canonical tag जोड़ना चाहते हैं।
  • उस पोस्ट या पृष्ठ के संपादक में जाएं और head टैग के भीतर निम्नलिखित लाइन को जोड़ें:
    <link rel=”canonical” href=”http://www.example.com/original-page” />
    अब, href अट्रिब्यूट को उस URL से बदल दें जिसे आप कैनोनिकल URL के रूप में उपयोग करना चाहते हैं। उदाहरण के लिए, यदि आपके पास एक असली पृष्ठ है और आप डुप्लिकेट पृष्ठों को कैनोनिकल बनाना चाहते हैं, तो आपको उस असली पृष्ठ का URL ही href अट्रिब्यूट के रूप में उपयोग करना चाहिए।
  • अंत में, पोस्ट या पृष्ठ को अपडेट करें।

Canonical Tag के Advantage

Canonical tag के कुछ मुख्य फायदे निम्नलिखित हैं:

  • डुप्लिकेट कंटेंट को रोकें: Canonical tag के माध्यम से, आप अपने वेबसाइट के अनुचित डुप्लिकेट कंटेंट को रोक सकते हैं। इससे आपकी वेबसाइट की रैंकिंग बेहतर होती है और आपके पेजों का अधिक से अधिक दौरा पड़ता है।
  • विभिन्न URL को एकीकृत करना: अगर आपकी वेबसाइट पर एक ही पेज कई विभिन्न URL से उपलब्ध हैं, तो canonical tag आपको यह सुनिश्चित करने में मदद करता है कि सभी URL के लिए एक ही निर्देशांक URL निर्धारित करें। इससे समान पेजों के साथ तुलना करने में सुधार होता है और आपकी वेबसाइट की रैंकिंग बेहतर होती है।
  • सामग्री संरचना को बेहतर बनाना: Canonical tag आपको अपनी वेबसाइट की सामग्री को संरचित करने में मदद करता है। इससे आप अपनी वेबसाइट के सामग्री को लोगों के लिए अधिक दोस्ताना बना सकते हैं और अधिक बढ़िया यूजर एक्सपीरियंस प्रदान कर सकते हैं।

RELATED ARTICLES
5 1 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Most Popular