Saturday, March 2, 2024
HomeजानकारियाँMBA का फुल फॉर्म क्या है? MBA full form in hindi

MBA का फुल फॉर्म क्या है? MBA full form in hindi

MBA Ki Taiyari Kaise Kare- क्या आप MBA बनना चाहते है क्या आप जानते है MBA का फुल फॉर्म क्या है? MBA बनने के लिए क्या क्या कोर्स होते है यदि आप जानना चाहते है तो आप इस ब्लॉग को जरूर पढ़े क्योकि मेने उन स्टूडेंट्स के लिए वह सभी जानकारी दी है जो एक MBA स्टूडेंट्स के लिए फायदेमंद हो तो ऐसे में आपका सपना है की MBA की तैयारी करेंके लिए टिप्स लेनी है तो आप इन स्टेप्स को जरूर करे फॉलो बाकि शुरू करते है आज का ब्लॉग




Quick Links

MBA का फुल फॉर्म क्या है

MBA का फुल फॉर्म “Master of Business Administration” होता है।

MBA का पूरा नाम क्या है?

MBA का पूरा नाम “Master of Business Administration” होता है।

MBA क्या है?

MBA एक पोस्ट graduate degree होती है जो Business, finance, management, और संबंधित क्षेत्रों में high level की Education प्रदान करती है। MBA Syllabus students को विभिन्न विषयों जैसे Accounting, finance, Marketing, Management, Communications, आदि के बारे में समझ देता है। MBA कोर्स के अंत में, students को अपनी क्षमताओं को बढ़ाने और Business क्षेत्र में करियर के अवसरों को बढ़ाने के लिए एक high level का Training प्रदान किया जाता है।

एमबीए का फुल फॉर्म हिंदी में

एमबीए का हिंदी में फुल फॉर्म “मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन” होता है।

MBA के बारे में

MBA Kaise Kare? MBA करने के फायदे – MBA (Master of Business Administration) एक पोस्ट graduate degree होती है जो Business, finance, management और संबंधित क्षेत्रों में high level की Education प्रदान करती है। एमबीए Syllabus विभिन्न विषयों जैसे Accounting, finance, Marketing, Management, Communications, आदि के बारे में समझ देता है। इसके अलावा, एमबीए Syllabus में व्यावसायिक नौकरियों में सफलता प्राप्त करने के लिए क्षमताओं को विकसित करने के लिए भी विभिन्न Training और Communications कौशलों का विकास कराया जाता है।

एमबीए एक प्रसिद्ध पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स है जो students को Business में high level की Education और कैरियर के अवसरों में Growth के लिए एक practical considerations प्रदान करता है। एमबीए के पास degree होने से, student banking, finance, Investment, Consultancy, Marketing, management, Marketing और अन्य क्षेत्रों में अपनी कैरियर की शुरुआत कर सकते हैं।

MBA Syllabus के विभिन्न प्रकार

Full Time MBA
Part Time MBA
Distance MBA
Online MBA
Executive MBA
5 year- Integrated MBA

Executive MBA

MBA क्या होता है – Executive MBA एक कंपनी में तीन साल के लिए और उससे अधिक के कार्य अनुभव के साथ काम करने के लिए उपलब्ध postgraduate Syllabus है। इसके लिए कामकाजी लोग कार्यकारी, प्रबंधक, नेता या अन्य हो सकते हैं। Syllabus के module के आधार पर executive MBA के लिए कोर्स की अवधि 1-2 वर्ष है।

Regular MBA

Regular MBA को फुल-टाइम MBA कोर्स के रूप में भी जाना जाता है, इसमें 50% और उससे अधिक न्यूनतम graduation marks की जरुरत होती है। आमतौर पर regular MBA Syllabus पूरा करने केलिए 2-3 साल लगते हैं।

MBA Correspondence

MBA correspondence जिसे डिस्टेंस लर्निंग एमबीए के रूप में भी जाना जाता है,यह 2-3 साल का MBA program है, जो किसी भी तरह के कारणों के कारण regular MBA कोर्स नहीं कर सकते। इस कोर्स की fees structure, regular MBA Syllabus की तुलना में अपेक्षाकृत कम है क्योंकि उम्मीदवार घर पर ही अध्ययन करते हैं और निकटतम केंद्र में परीक्षा के लिए आते हैं।

MBA का इतिहास

19 वी सदी के बाद से प्रचलन में आया, जिसका मुख्य उद्देश्य Graduate Education की quality को और ज्यादा refine करना था, जो बाद में चलकर प्रसिद्ध हुआ. MBA का इतिहास 19 वी सदी के दशक में शुरू हुआ। जब नई तकनीकी और उत्पादकता के अंतर्गत उभरती भारतीय और अमेरिकी उद्योगों की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए कुशल business की आवश्यकता थी।

फिलेडेल्फिया के व्हार्टन स्कूल ऑफ़ फ़ाइनेंस और कमर्शियल डेवलपमेंट को 1881 में स्थापित किया गया था। इस स्कूल ने पहली बार एक कार्यक्रम शुरू किया जो students को व्यापक finance, Marketing और management की Education देने के लिए था। यह कार्यक्रम बाद में “मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन” यानी MBA के नाम से जाना जाने लगा।

MBA course की शुरुवात united states में Harvard Graduate School of Business Administration द्वारा सन 1908 में 15 कर्मचारियों, 33 नियमित student और 47 विशेष student से किया

MBA की सैलरी कितनी है?

MBA की सैलरी कई elements पर निर्भर करती है, जैसे कि कंपनी का स्थान, विभाग, क्षेत्र, औसत वेतन, अनुभव और आपकी क्षमता आदि। यह भी निर्भर करता है कि आपने किस टाइप के MBA कोर्स किया है, क्योंकि इसमें विभिन्न स्पेशलाइजेशन जैसे कि financial management, Marketing, Marketing, Resources management आदि शामिल हो सकते हैं।

लेकिन सामान्य रूप से एक नई degree धारक MBA ग्रेजुएट की सालाना वेतन भारत में 5 लाख रुपये से 15 लाख रुपये तक हो सकता है। वहीं अमेरिका में एमबीए धारकों की मासिक वेतन औसत रूप से $ 7,500 से $ 12,000 तक होती है। यह सैलरी उनके अनुभव, कंपनी और उनके क्षेत्र के आधार पर भी बढ़ सकती है।

लेकिन फिर भी यह बात याद रखना चाहिए कि एमबीए एक बढ़िया करियर विकल्प है, लेकिन यह वास्तव में अपने क्षमताओं और प्रतिभाओं के आधार पर ही आपके लिए संभव होगा।

MBA के बाद नौकरियां

MBA के बाद आपके पास कई नौकरी के विकल्प होते हैं। यहां कुछ उन्हीं क्षेत्रों के बारे में बताया गया है जहाँ आप एक MBA के बाद नौकरी पा सकते हैं:

  • Financial सलाहकार: आप एक financial सलाहकार के रूप में कंपनियों, बैंकों या financial संस्थाओं में काम कर सकते हैं।
  • Marketing प्रबंधक: एक Marketing प्रबंधक के रूप में आप कंपनी के उत्पाद या सेवाओं को बेचने के लिए नई रणनीतियों को विकसित कर सकते हैं।
  • Marketing प्रबंधक: एक Marketing प्रबंधक के रूप में आप उत्पाद और सेवाओं की बिक्री और प्रचार को संचालित करते हैं।
  • Resources management: आप एक Resources प्रबंधक के रूप में कंपनी के Resourcesों को प्रबंधित कर सकते हैं, जैसे कि लोगों, धन, उपकरण आदि।
  • कानूनी सलाहकार: आप एक कानूनी सलाहकार के रूप में कंपनियों और संस्थाओं को कानूनी रूप से सलाह दे सकते हैं।
  • उत्पाद प्रबंधक: एक उत्पाद प्रबंधक के रूप में आप नए उत्पाद विकसित कर सकते हैं

एमबीए प्रवेश के लिए भारत में प्रवेश परीक्षा

CAT MAT
XAT NMAT
GMAT CMAT
SNAP KIITEE
  • कैट (Common Admission Test): यह भारत में सबसे लोकप्रिय एमबीए प्रवेश परीक्षा है। यह परीक्षा भारत के अनेक प्रतिष्ठित प्रबंध संस्थानों के लिए आयोजित की जाती है।
  • एमटीसी (Management Aptitude Test): यह भी एमबीए प्रवेश के लिए एक अन्य प्रसिद्ध परीक्षा है। यह देश भर के कई प्रबंध संस्थानों के लिए आयोजित की जाती है।
  • एक्सएट ( Xavier Aptitude Test): यह परीक्षा भारत में कुछ प्रबंध संस्थानों के लिए आयोजित की जाती है जो एक्सएवियर एजेंसी के अधीन होते हैं।
  • सीएमटी (Common Management Admission Test): यह परीक्षा भारत के कुछ प्रबंध संस्थानों के लिए आयोजित की जाती है।

इन परीक्षाओं के अलावा, कुछ प्रबंध संस्थान अन्य टेस्ट भी आयोजित करते हैं जैसे एमआईटी (Institute of Management Technology), एमडीआयम (Mudra Institute of Communications), सिंजेंटिस (Symbiosis), आईआईएम (Indian Institute of Management) इत्यादि।

MBA Career Options

Management Marketing
Human Resources Finance
Accounting Sales
Healthcare

भारत में Top MBA colleges कौन से हैं?

भारत में कई उच्चतम स्तर के एमबीए कॉलेज हैं जो विभिन्न प्रकार के प्रोग्राम्स ऑफर करते हैं। कुछ बेहतरीन एमबीए कॉलेजों के नाम निम्नलिखित हैं:

  • Indian Institute of Management – Indore
  • Indian Institute of Management – Kozhikode
  • Faculty of Management Studies – Delhi
  • IMT: Institute of Management Technology – Ghaziabad
  • Indian Institute of Management – Calcutta
  • SP Jain Institute of Management and Research – Mumbai
  • XLRI: Xavier School of Management – Jamshedpur
  • Indian Institute of Management – Ahmadabad
  • Indian Institute of Management – Bangalore
  • Indian Institute of Management – Lucknow

ये केवल कुछ उच्चतम स्तर के कॉलेजों में से कुछ हैं। इसके अलावा भी भारत में कई अन्य प्रतिष्ठित संस्थान हैं जो उच्चतम शैक्षणिक और अनुभव का संगम प्रदान करते हैं।

दुनिया में सर्वश्रेष्ठ MBA colleges कौन से हैं?

Stanford Business School, US Harvard Graduate School of Business, US
The Wharton School at the University of Pennsylvania London Business School, UK
MIT Sloan School of Management, US INSEAD, Paris
HEC Paris University of Chicago Booth School of Business, US
IE Business School, Spain Columbia Business School, US

एमबीए की सैलरी

  • एमबीए के धारकों की प्रारंभिक सैलरी सामान्य रूप से 5 लाख रुपये प्रति वर्ष से शुरू होती है।
  • 3-5 साल के अनुभव के बाद, सैलरी 10-15 लाख रुपये प्रति वर्ष हो सकती है।
  • 5-10 साल के अनुभव के बाद, सैलरी 20-25 लाख रुपये प्रति वर्ष हो सकती है।
  • high level के पदों में, जैसे कि CEO या high level के निदेशक, सैलरी कुछ करोड़ रुपये भी हो सकती है।
MBA in Finance 2,00,000 रुपये से 14,70,000 रुपये
MBA in Information Technology 10,000 रुपये से 6,00,000 रुपये
MBA in Human Resource Management 4,50,000 रुपये से 15,50,000 रुपये
MBA in Marketing 14,25,000 रुपये से 20,43,000 रुपये
MBA in Logistics Management 6,25,000 रुपये से 8,50,000 रुपये

MBA के लिए पहले कौन सी पढ़ाई करें?

MBA के लिए पहले कोई विशेष पढ़ाई की जरूरत नहीं होती है, लेकिन एक Graduate उपाधि धारक होना आवश्यक होता है। Graduate उपाधि में किसी भी विषय में प्रथम वर्ष या प्रथम दो वर्षों के साथ-साथ व्यावसायिक Education भी शामिल हो सकती है।

एक एमबीए कार्यक्रम में आमतौर पर प्रवेश लेने के लिए, उम्मीदवारों को सामान्यतया कम से कम 50% अंकों वाले एक Graduate degree की आवश्यकता होती है। यह Graduate degree किसी भी विषय में हो सकती है, लेकिन Business के कुछ क्षेत्रों, जैसे कि finance, बैंकिंग, बीमा, आदि में, इंग्लिश, मैथ्स और Accounting जैसे कुछ विषयों का अध्ययन करने की आवश्यकता होती है।

एक एमबीए प्रोग्राम को पूरा करने से पहले, students को कुछ बेसिक कोर्स लेने की भी आवश्यकता होती है, जैसे कि Business, Marketing, फाइनेंस, लॉगिस्टिक्स, आदि।

MBA करने के लिए स्टेप बाय स्टेप गाइड

स्टेप 1: उच्च Education योग्यता प्राप्त करें – MBA के लिए आवेदन करने से पहले, आपको एक संबद्ध Graduate की degree प्राप्त करनी होगी।

स्टेप 2: CAT/MAT/XAT जैसी प्रवेश परीक्षा दें – भारत में अधिकांश MBA कॉलेज एंट्रेंस परीक्षाओं के आधार पर students को चुनते हैं। आपको इन परीक्षाओं में सफलता प्राप्त करने की आवश्यकता होगी जो व्यापक ज्ञान, सामान्य अध्ययन, अंग्रेजी भाषा कौशल और Management क्षेत्र में आपकी रुचि की जाँच करती हैं।

स्टेप 3: एमबीए प्रवेश के लिए आवेदन करें – अपनी प्राप्त अंकों के आधार पर, आप अपने चयनित संस्थानों में एमबीए प्रवेश के लिए आवेदन कर सकते हैं।

स्टेप 4: एमबीए कार्यक्रम पूरा करें – अपने एमबीए कार्यक्रम में आपको विभिन्न प्रकार के विषयों में पढ़ाई करनी होगी जैसे financial विनिमय, Marketing, मानव Resources, Business विश्लेषण आदि

MBA में एडमिशन कैसे ले?

भारत के टॉप एमबीए कॉलेजों में एमबीए प्रवेश प्रक्रिया हर साल जुलाई / अगस्त के महीने में खुलती है.और इन तारीख को 2-3 महीने बाद बंद हो जाती है. जबकि IIFT, IIM, XLRI, NMIMS, SIBM आदि जैसे कॉलेजों के बीच जुलाई-अगस्त में अपनी प्रवेश प्रक्रिया शुरू होती हैं.

Step 1: Register & Apply for MBA Entrance Exam

एमबीए कॉलेजों में प्रवेश लेने के अपने इच्छुक अनुसार उम्मीदवारों को निर्दिष्ट पंजीकरण विंडो के भीतर CAT/XAT/IIFT/NMAT/SNAP आदि जैसे Entrance Exam के लिए आवेदन करे.

Step 2: Appear in MBA Entrance Exam

CAT/XAT/IIFT/NMAT/SNAP में पास होने अनिवार्य है

Step 3: Shortlisting Process

एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करने के बाद शॉर्टलिस्ट process शुरू होती है.

Step 4: Final Admission Process

सभी शॉर्टलिस्ट किए गए उम्मीदवारों को ग्रुप डिस्कशन (GD), लिखित योग्यता परीक्षा (WAT) और उसके बाद पर्सनल इंटरव्यू (PI) में शामिल किया जाता है अंतिम में उनके प्रदर्शन के आधार पर, प्रवेश स्कोर, शैक्षणिक प्रोफ़ाइल और विविधता, कार्य अनुभव और लिंग विविधता को दिए गए वेटेज के आधार पर, अंतिम मेरिट सूची तैयार होगी और उसके बाद एडमिशन शुरू होती है.

MBA के लिए एंट्रेंस एग्जाम

भारत में MBA के लिए कुछ एंट्रेंस एग्जाम होते हैं जिनमें दाखिला मिलना आमतौर पर आवश्यक होता है। इनमें से कुछ प्रमुख एग्जाम निम्नलिखित हैं:

Entrance Exam Full-Form
CAT Common Admission Test
XAT Xavier Aptitude Test
GMAT Graduate Management Aptitude Test
CMAT Common Management Admission Test
MAT Management Aptitude Test
ATMA AIMS TEST FOR MANAGEMENT ADMISSIONS
NMAT NMIMS Management Aptitude Test
SNAP Symbiosis National Aptitude Test
IIFT Indian Institute of Foreign Trade
IRMA Institute of Rural Management Anand
MICAT MICA Admission Test
TISSNET Tata Institute of Social Sciences
IBSAT  ICFAI Business Studies Aptitude Test

इन एग्जामों में से हर एग्जाम के लिए अलग-अलग पात्रता मापदंड होते हैं जो कि अलग-अलग कॉलेज या विश्वविद्यालयों के द्वारा निर्धारित किए जाते हैं। इन एग्जामों के अलावा, कुछ कॉलेज और विश्वविद्यालय अपनी खुद की प्रवेश परीक्षाओं का आयोजन भी करते हैं।

एंट्रेंस एग्जाम के अलावा, कुछ कॉलेज और विश्वविद्यालयों में गतिविधियों, नौकरियों, अनुभव आदि के आधार पर भी एडमिशन के लिए चयन किया जाता है।

MBA Syllabus

MBA Semester 1st Syllabus:

  • Financial Accounting
  • Quantitative Methods and Statistics
  • Information Technology Management
  • Organizational Behavior
  • Marketing Management
  • Principles of Accounting
  • Microeconomics
  • Corporate Social Responsibility
  • Quantitative Methods
  • Human Resource Management
  • Managerial Economics
  • Business Communication

MBA Semester 2nd Syllabus:

  • Marketing Research
  • Operation Management
  • Financial Management
  • Project Management
  • Management of Information System
  • Organization Effectiveness and Change
  • Management Accounting
  • Business Law
  • Management Science
  • Optimization and Project Research
  • Economic Environment of Business

MBA Semester 3rd Syllabus:

  • Supply Chain Management
  • Strategic Analysis
  • Marketing Research
  • Business Ethics & Corporate Social Responsibility
  • Managerial Economics
  • Legal Environment of Business
  • Corporate Governance and Business Ethics
  • Elective Course

MBA Semester 4th Syllabus:

  • Integrated Decisions Making
  • Elective Course
  • Leadership Development
  • Strategic Management
  • International Business Environment
  • Applied Business Research Project
  • Project Study
  • Ethics and Indian Ethos

प्रवेश परीक्षा में आने वाले प्रश्न टॉपिक

MBA प्रवेश परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्न विषय विशेषताओं, सामान्य ज्ञान, संख्यात्मक योग्यताएं, संवेदनशीलता और संवेदनशीलता और अन्य बिजनेस और Management से संबंधित विषयों से संबंधित हो सकते हैं।

यहाँ कुछ आम MBA प्रवेश परीक्षा टॉपिक दिए गए हैं:

हिंदी में करने वालो के लिए

  • भारतीय और विदेशी अर्थव्यवस्था
  • Business संस्कृति और नैतिकता
  • संख्यात्मक योग्यताएं, साझा finance एवं लेखा-जोखा
  • संगठन व्यवस्था, जानकारी management और Communications
  • संबंध निपटान क्षमता और टीम बिल्डिंग
  • संवेदनशीलता और संवेदनशीलता
  • बाजार अनुसंधान और Marketing
  • सामान्य ज्ञान और समसामयिक मुद्दे
  • अंतरराष्ट्रीय Business एवं विदेशी मुद्दे
  • management की मुख्य दृष्टियाँ
  • विश्व के मुख्य Businessों और उनकी उपलब्धियों
  • संबंध निपटान क्षमता और टीम बिल्डिंग
  • संगठन के लिए प्रारंभिक और उन्नत विकास

इंग्लिश में करने वालो के लिए

  • English Language & Logical Reasoning
  • Reading Comprehension
  • Quantitative technique
  • Logical reasoning
  • Data Interpretation & Data Sufficiency
  • Intelligence and Critical Reasoning
  • Verbal Ability
  • Language comprehension
  • General Awareness

निष्कर्ष

यह तक दोस्तों आपने सीखा की MBA का फुल फॉर्म क्या है?  उम्मीद है आपको मेरा बताया गया तरीका अच्छा लगा होगा यदि आप ऐसे ही और हिंदी ब्लॉग पढ़ना चाहते हैं तो आप बिलकुल सही वेबसाइट पर आये है में अपने ऑडियंस को हिंदी में और फ्री में जानकारी देती हूँ यदि आप मेरी इस वेबसाइट के साथ ऐसे बने रहते है तो आपको टेक्नोलॉजी से जुड़े या अन्य जानकारिया ऐसे हिंदी हिंदी में जानने को मिलेगी इसके लिए आपको सबसे पहले JUGADME को सब्सक्राइब करना होगा जिससे आप तक मेरे बनाये गए पोस्ट आप तक आसानी से पहुंच जाये। और अपने रिश्तेदारों को जरूर शेयर करे। मुझे आपलोगो को सहयोग की अति आवश्यकता है।
धन्यवाद

यह भी पढ़े :-

RELATED ARTICLES
5 1 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Most Popular