Friday, June 21, 2024
HomeEvents Bloggingपकिस्तान मे शब-ए बरात कैसे मनाई जाती हैं

पकिस्तान मे शब-ए बरात कैसे मनाई जाती हैं

 

पकिस्तान मे शब-ए बरात कैसे मनाई जाती हैं

पकिस्तान मे शब-ए बरात कैसे मनाई जाती हैं – शब-ए बरात पाकिस्तान में मनाने के लिए लोग आमतौर पर मस्जिदों में जमा होते हैं और रात भर नमाज अदा करते हैं। यह रात इस्लामी कैलेंडर के अनुसार शब-ए बरात नाम से जानी जाती है और यह रात का इस्तेमाल अपने गुनाहों से तोबा करने और अपने आने वाले भविष्य की दुआओं के लिए किया जाता है।

  1. शब-ए बरात के दौरान, लोगों को अल्लाह के बहुत से नामों की याद दिलाई जाती है
  2. और उन्हें अपनी गुनाहों के बारे में सोचने के लिए प्रेरित किया जाता है। इस रात को बरकतदायक माना जाता है,
  3. और लोग इस रात के अंतिम तीन घंटों में नमाज अदा करते हुए अल्लाह से दुआ मांगते हैं।
  4. पाकिस्तान में शब-ए बरात को एक बड़ा महत्व होता है
  5. और इसे धूमधाम से मनाया जाता है। लोग घरों को सजाते हैं, मीठे खाने बनाते हैं और अपने दोस्तों और परिवार के साथ मनाते हैं।

पाकिस्तान में शब-ए बारात कब है

पकिस्तान मे शब-ए बरात कैसे मनाई जाती हैं – शब-ए बारात की तारीख प्रत्येक वर्ष उस समय के अनुसार बदलती है जब यह इस्लामी कैलेंडर के अनुसार शब-ए-ए-बारात महीने के आखिरी हफ्ते में पड़ती है। शब-ए बारात की तारीख भी पाकिस्तान के लिए इस्लामी कैलेंडर के अनुसार तय की जाती है। इस वर्ष (2023) शब-ए बारात 21 मार्च को है।

शब-ए-बारात के पीछे की क्या मान्यता है 

  शब-ए-बारात इस्लामी धर्म का एक महत्वपूर्ण त्योहार है जो मुसलमानों द्वारा बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है। इस रात को रात के नौ बजकर से फजर की नमाज के बीच में गुजारा जाता है। इस रात की महत्वपूर्ण मान्यताओं में निम्नलिखित शामिल हैं:

दुआ करना: मान्यता के अनुसार, शब-ए-बारात की रात में भगवान की कृपा और रहमत की बख्शिश के लिए अपनी दुआओं को असरदार बनाने का समय होता है।

पापों से मुक्ति: मान्यता के अनुसार, शब-ए-बारात की रात में भगवान अपने भक्तों के बुरे कर्मों को माफ करते हैं और उन्हें नयी शुरुआत करने का अवसर देते हैं।

मित्रता और सौहार्द: शब-ए-बारात की रात को एक भाईचारे और सौहार्द के वातावरण में बिताने की मान्यता है। लोग एक दूसरे से गले मिलते हैं, खाने-पीने का सामान बाँटते हैं और आपस में मित्रता बढ़ाते हैं। 

 

RELATED ARTICLES
5 3 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Most Popular