You are currently viewing Quantum Computer Kya Hai

Quantum Computer Kya Hai

आइए जानते है क्वांटम कंप्यूटर के बारे में नहीं जानते होंगे। और कई लोग कंप्यूटर को तो यूज़ करते है ही पर अब आप सोच रहे होंगे की क्वांटम कंप्यूटर कहा से आया तो क्वांटम कंप्यूटर भविष्य में आने वाले एक कंप्यूटर है जिसपे आने वाले समय में आप उसपे काम किया करेंगे । Quantum Computer Kya Hai  तो क्या अक्सर आपको भी आने वाली टेक्नोलॉजी के बारे में जानना पसंद होता है। यदि हाँ तो में आज आपको इस पोस्ट में एक भविष्य आने वाली टेक्नोलॉजी के बारे में बताने वाली हूँ।





 

Quantum Computer Kya Hai

आधुनिक दुनिया में कंप्यूटर अब जीवन का एक आवश्यक घटक है। शिक्षा के क्षेत्र में, अंतरिक्ष विज्ञान में, या किसी अन्य प्रयास में, कंप्यूटर हर जगह कार्यरत हैं, और उनके बिना आधुनिक जीवन असंभव होगा। इस वजह से, कंप्यूटरों का आकार छोटा हो गया है, लेकिन पहली बार बनाए जाने के बाद से उनकी भंडारण क्षमता बढ़ गई है। उदाहरण के लिए, आपने देखा होगा कि आपके स्मार्टफोन की चिप, जो 2010 में 1 जीबी थी, अब 1 टेराबाइट है। इससे आपको पता चलता है कि तकनीक कितनी तेजी से विकसित हो रही है।

हालांकि जब से कंप्यूटर बने हैं तब से वह और भी पावरफुल बनते जा रहे हैं लेकिन फिर भी जिन कम्प्यूटर्स को आज आप इस्तेमाल कर रहे हैं उनकी कुछ लिमिटेशंस होती हैं जैसे कि इसको और पावर कंजप्शन आज बहुत सारी कंपनियां जैसे गूगल और आईबीएम क्वांटम फिजिक्स क्वांटम फिजिक्स का इस्तेमाल करके ऐसे कंप्यूटर बना रही हैं जिन्हें आप भविष्य का कंप्यूटर कह सकते हैं और इन्हीं कंप्यूटर्स को हम कहते हैं क्वांटम कंप्यूटर|

ये कंप्यूटर पारंपरिक कंप्यूटरों की तुलना में काफी तेज कार्य कुशलता देते हैं क्योंकि ये एक साथ दो से अधिक मान प्रदर्शित कर सकते हैं। क्वांटम कंप्यूटरों में प्राकृतिक रूप से पाए जाने वाले क्वाइब का उपयोग किया जा सकता है। इन क्वांटम बिट्स को सही ढंग से संचालित करने के लिए सिस्टम को शून्य डिग्री से नीचे के तापमान पर बनाए रखा जाता है। अधिक Qubits उपलब्ध होने पर ये कंप्यूटर अधिक तेज़ी से कार्य करते हैं। नतीजतन, आईबीएम भविष्य में एक 1000 Qubit क्वांटम कंप्यूटर बनाने का इरादा रखता है।

और कंप्यूटर के बिना आजकल किसी भी काम को करना संभव नहीं है तो जब पहली बार जब कंप्यूटर बना था तब से उसका साइज छोटा होता गया है और क्षमता बढ़ती गई है आपने देखा होगा के आपके मोबाइल की चिप जो सन 2010 में 1 जीबी की होती थी वही चिप उतनी ही आकार में आज आपको 1 टेराबाइट की मिल रही है इससे यह पता चलता है की आज के समय में टेक्नोलॉजी कितनी आगे जा चुकी है। यानी की साइज वही रहेगा लेकिन उसकी ram बढ़ती रहेगी।

पर्सनल कंप्‍यूटर से कैसे अलग है क्वांटम कंप्यूटर 

तो सबसे पहले बात कर लेते हैं आपके नार्मल कंप्यूटर कि आपके नार्मल कंप्यूटर में कैलकुलेशन के लिए बिट का इस्तेमाल किया जाता है जिसमें डेटा को जीरो और 1 की फॉर्म में रखा जाता है बाइनरी नंबर (Binary Number) या द्वयाधारी संख्या का प्रयोग मशीनी भाषा ( Machine language ) में प्रोग्राम लिखने के लिये होता है मशीनी भाषा बायनरी कोड में लिखी जाती है जिसके केवल दो अंक होते हैं 0 और 1 चूंकि कम्प्यूटर मात्र बाइनरी संकेत अर्थात 0 और 1 को ही समझता है और कंप्‍यूटर का सर्किट यानी परिपथ इन बायनरी कोड को पहचान लेता है और इसे विधुत संकेतो ( Electrical signals ) मे परिवर्तित कर लेता है इसमें 0 का मतलब Off है और 1 का मतलब ON

उसे बायनरी नंबर या फिर द्रव्याधारी नंबर का इस्तेमाल मशीन लैंग्वेज मैं प्रोग्राम को सीखने के लिए किया जाता था Quantum Computer Kya Hai  और कई लोगों को यह नहीं मालूम कि मशीन लैंग्वेज किस भाषा में लिखी होती है

कोई भी सॉफ्टवेयर कंप्यूटर के लिए तैयार किया जाता है तो उसे मशीनी भाषा में कन्वर्ट किया जाता है और आपका प्रोसेसर जब किसी सॉफ्टवेयर को रंग करता है तो इसी मशीनी भाषा का इस्तेमाल करके सभी प्रोसेस को अंजाम देता है अब बात करते हैं क्वांटम कंप्यूटर की किसी भी का सबसे छोटा मात्रक परमाणु  होता है और परमाणु प्राकृतिक रूप से एक सूक्ष्म केलकुलेटर है वैज्ञानिकों को इसका विचार तभी आया जब उन्होंने यह समझा की परमाणु से प्राकृतिक रूप से सूक्ष्म कैलकुलेशन की जा सकती है और तभी उन्होंने क्वांटम कंप्यूटर के निर्माण के बारे में सोचा

क्वांटम कंप्यूटर की क्या विशेषताएं हैं?

  • विज्ञान के क्वांटम सिद्धांत का उपयोग क्वांटम कंप्यूटर द्वारा किया जाता है।
  • ये कंप्यूटर हजारों के एक कारक द्वारा सुपर कंप्यूटर से बेहतर प्रदर्शन करते हैं।
  • इन कंप्यूटरों में, क्वांटम बिट्स या क्यूबिट्स कार्यरत हैं। यह एक साथ 0 और 1 नंबर दिखाने में सक्षम है।
  • संचालित करने के लिए, इस कंप्यूटर को शून्य से नीचे के तापमान पर रखा जाना चाहिए। कौन सा क्वांटम बिट काम पूरा करने की अपनी क्षमता को बरकरार रखता है।
  • प्रत्येक क्वांटम बिट द्वारा एक परमाणु या परमाणु का प्रतिनिधित्व किया जाता है। जिससे सूचना को इलेक्ट्रॉन और प्रोटॉन उदाहरणों की सहायता से समझा जाता है।

कैसे काम करता है क्वांटम कंप्यूटर

ये कंप्यूटर पारंपरिक कंप्यूटरों की तुलना में काफी तेज कार्य कुशलता देते हैं क्योंकि ये एक साथ दो से अधिक मान प्रदर्शित कर सकते हैं। क्वांटम कंप्यूटरों में प्राकृतिक रूप से पाए जाने वाले क्वाइब का उपयोग किया जा सकता है। इन क्वांटम बिट्स को सही ढंग से संचालित करने के लिए सिस्टम को शून्य डिग्री से नीचे के तापमान पर बनाए रखा जाता है। अधिक Qubits उपलब्ध होने पर ये कंप्यूटर अधिक तेज़ी से कार्य करते हैं। नतीजतन, आईबीएम भविष्य में एक 1000 Qubit क्वांटम कंप्यूटर बनाने का इरादा रखता है।

इस कंप्यूटर में अधिक डेटा मान हैं जो यह प्रदर्शित कर सकता है। यह इसे एक सामान्य कंप्यूटर की तुलना में अधिक उपयोगी बनाता है। वास्तव में, इन कंप्यूटरों में Qubits होते हैं। जो डेटा तक पहुंच प्राप्त करने के लिए इलेक्ट्रॉनों और प्रोटॉन का उपयोग करते हैं। क्यूबिट डेटा को समझने के लिए सुपरपोजिशन और उलझाव दृष्टिकोण का उपयोग करता है। इस सुविधा को बनाए रखने के लिए इन कंप्यूटरों में क्वांटम बिट्स को शून्य डिग्री से नीचे काम कर रहे तापमान पर ठंडा रखा जाता है। यह कार्य महंगा है और साथ ही साथ कंप्यूटर के मूल्य को भी बढ़ाता है। क्वांटम कंप्यूटर का उत्पादन वर्तमान में दुनिया भर में कई बड़े निगमों के लिए एक प्रमुख उद्योग है। इनमें Google, IBM, Microsoft और Intel शामिल हैं।

निष्कर्ष

मुझे आशा है की मैंने आप लोगों को  Quantum Computer Kya Hai  और कैसे काम करता है। और इसके बारे में पूरी जानकारी दी और में आशा करती हूँ की आप लोगों को Quantum Computer के बारे में अच्छे से समझ आ गया होगा ऐसे ही यहाँ तक मेरा यह पोस्ट अच्छा लगा होगा और आपको ऐसे ही आर्टिकल्स पढ़ने है। तो आपको Notifications allow करे और सपोर्ट करते रहे मेरा आप सभी निवेदन है की आप लोग भी इस जानकारी को अपने आस-पड़ोस, रिश्तेदारों, अपने मित्रों में Share करें, जिससे की हमारे बिच जागरूकता होगी और इससे सबको लाभ होगा. मुझे आप लोगों की सहयोग की आवश्यकता है जिससे मैं और भी नयी जानकारी आप लोगों तक पहुंचा सकूँ. में मुस्कान आपसे नेक्स्ट पोस्ट में मिलती हूँ







1 1 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments