Wednesday, September 27, 2023
Homeपरिचयसमरेश मजूमदार की कुल संपत्ति कितनी है 2023 Samaresh Majumdar Net Worth...

समरेश मजूमदार की कुल संपत्ति कितनी है 2023 Samaresh Majumdar Net Worth in Hindi

Samaresh Majumdar biography in hindi, Samaresh Majumdar biography, Samaresh Majumdar net worth, samaresh majumdar books pdf, samaresh majumdar family, samaresh majumdar short story, samaresh majumdar trilogy, samaresh majumdar upanyas, samaresh majumdar animesh series, samaresh majumdar latest book  




समरेश मजूमदार का जीवन परिचय

समरेश मजूमदार की कुल संपत्ति कितनी है- समरेश मजूमदार का जन्म 10 मार्च 1942 को जलपाईगुड़ी, बंगाल प्रेसीडेंसी, ब्रिटिश भारत में हुआ था। समरेश एक लेखक थे, जिन्हें जालबंदी (2022), बूनो हंस (2014) और अर्जुन: कलिम्पोंग ई सीताहरण (2013) के लिए जाना जाता है। समरेश का निधन 8 मई 2023 को कोलकाता, पश्चिम बंगाल, भारत में हुआ।

समरेश मजूमदार बंगाली भाषा के साहित्यकार हैं। इनके द्वारा रचित एक उपन्यास कालबेला के लिये उन्हें सन् 1984 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

समरेश मजूमदार की मृत्यु कब हुई

DiedMay 8, 2023(81) समरेश मजूमदार का 79 साल की उम्र में निधन हो गया है समरेश का निधन कॉर्पोरेट अस्पताल में हुआ है. उन्हे फेफड़ों और श्वसन नली में संक्रमण के कारण उनका निधन हो गया है

फेफड़े की समस्या के कारण उन्हें सांस लेने में समस्या हो रही थी जिस कारण मजूमदार कई समय से जूझ रहे थे 79 वर्षीय समरेश का निधन ईएम बाईपास रोड पर स्थित अपोलो अस्पताल में शाम करीब 6 बजे हुआ है

उन्हें ब्रेन हैमरेज की शिकायत भी थी जिस के बाद 25 अप्रैल को अस्पताल में भर्ती कराया गया था और उसके बाद उन्हें सांस लेने में तकलीफ होने लगी थी

समरेश मजूमदार का करियर (Samaresh Majumdar Career)

समरेश मजूमदार की कुल संपत्ति कितनी है– समरेश मजूमदार ने अपना पहला उपन्यास डौर (रन) 1967 में लिखा था, जिसे 1976 में बंगाल की एक प्रसिद्ध साहित्यिक पत्रिका देश द्वारा प्रकाशित किया गया था।

1979 से 1989 के बीच, समरेश ने अमृतेश नामक की कालबेला (1981), और कालपुरुष नामक तीन पुस्तकें प्रकाशित कीं।

और 1960 और 1970 के दशक में पश्चिम बंगाल में नक्सली आंदोलन के उदय पर आधारित थी। कालबेला पुस्तक के लिए, समरेश को 1984 में साहित्य अकादमी पुरस्कार मिला। गौतम घोष ने 2009 में कालबेला नामक एक बंगाली फिल्म का निर्देशन किया, जो कालबेला उपन्यास पर आधारित थी।

समरेश मजूमदार का जन्म और परिवार (Samaresh Majumdar Birth and Family)

हिन्दू बंगाली फॅमिली से है भारत के पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी जिले में गेरकाटा चाय बागानों में, मजूमदार बड़े हुए। जलपाईगुड़ी जिला स्कूल में पढ़ाई की। उन्होंने कोलकाता के स्कॉटिश चर्च कॉलेज में बंगाली साहित्य में स्नातक की उपाधि प्राप्त की। उनकी पहली पुस्तक, डौर (“रन”), 1976 में देश में छपी। कलकत्ता के एक महत्वपूर्ण प्रकाशन व्यवसाय, आनंद बाजार प्रकाशन से जुडी हुई थी

Wife & Children

समरेश मजूमदार शादीशुदा थे और उनके परिवार में दो बेटियां हैं।

Address

House number 64D, Shampukur Street, Shyambazar, Kolkata – 700004, West Bengal, India

साल पुस्तक  लेखक पुस्तकों की श्रेणी
1955 श्रेष्ठ कविता जीवनानंद दासो शायरी
1956 आरोग्य निकेतन ताराशंकर बंदोपाध्याय उपन्यास
1957 सागर थेके फेरा प्रेमेंद्र मित्र शायरी
1958 आनंदीबाई इत्यादी गलपा परशुराम छोटी कहानियाँ
1959 कोल्कतार कच्छी गजेंद्र कुमार मित्र उपन्यास
1961 भारतर शक्ति-साधना ओ शाक्त साहित्य शशि भूषण दासगुप्ता शाक्त संप्रदाय का एक अध्ययन
1962 जापान अन्नदा शंकर राय यात्रा
1963 घरे फेरार दिन अमिय चक्रवर्ती शायरी
1964 जाटो दुरेई जय सुभाष मुखोपाध्याय (कवि) शायरी
1965 स्मृति सत्ता भाविष्यती बिष्णु डे शायरी
1966 निशि-कुटुंब मनोज बसु उपन्यास
1967 तपस्वी ओ तरंगिनी बुद्धदेब बसु श्लोक नाटक
1969 मोहिनी अराली मनिंद्र राय शायरी
1970 अधुनिकता ओ रवींद्रनाथ: अबू सईद अय्यूब साहित्यिक आलोचना
1971 मणिमहेशी उमाप्रसाद मुखोपाध्याय यात्रा
1972 शेष नमस्कार संतोष कुमार घोष उपन्यास
1974 उलंगा राजा नीरेंद्रनाथ चक्रवर्ती शायरी
1975 असमाय: बिमल कारी उपन्यास
1976 ना हन्याते मैत्रेयी देवी उपन्यास
1977 बाबरेर प्रार्थना शंख घोष शायरी
1978 विवेकानंद ओ समकालिन भारतवर्ष , वॉल्यूम। मैं, द्वितीय और तृतीय शंकरी प्रसाद बसु जीवनी और सांस्कृतिक इतिहास
1979 अरण्येर अधिकारी महाश्वेता देवी उपन्यास
1980 शम्बो समरेश बसु उपन्यास
1981 कोलिकता दर्पण , पं. मैं राधारमण मित्र स्थानीय इतिहास और संस्कृति
1982 अमृतस्य पुत्री कमल दास उपन्यास
1983 जीते परी किंटू केनो जबो शक्ति चट्टोपाध्याय शायरी
1984 कालबेला समरेश मजूमदार उपन्यास
1985 सेई समय सुनील गंगोपाध्याय उपन्यास
1986 राज नगर अमिय भूषण मजूमदार उपन्यास
1987 खुजते खुजते एतो दुरी अरुण मित्र शायरी
1988 बारी बदले जय रामपद चौधरी उपन्यास
1989 मनबजामिन शिरशेंदु मुखोपाध्याय उपन्यास
1990 Tista Parer Brittanto देबेश रॉय उपन्यास
1991 सदा खामी मोती नंदी उपन्यास
1992 मरामी कराती आलोक रंजन दासगुप्ता शायरी
1993 शाहजादा दारासुकोही श्यामल गंगापाध्याय उपन्यास
1994 अलीक मानुषी सैयद मुस्तफा सिराजी उपन्यास
1995 कविता संग्रह नरेश गुहा शायरी
1996 ताल बेताल अशोक मित्र निबंध
1997 हर्बर्ट नबरुन भट्टाचार्य उपन्यास
1998 अनुभव दिब्येंदु पलितो उपन्यास
1999 नबा-नीता नबनीता देव सेन गद्य- कविता
2000 पगली तोमर सांगे जॉय गोस्वामी शायरी
2001 पंचशती गलपो अतिन बंद्योपाध्याय छोटी कहानियाँ
2002 अमी ओ बनबिहारी संदीपन चट्टोपाध्याय उपन्यास
2003 क्रांतिकारी प्रफुल्ल रॉय उपन्यास
2004 बाउल फकीर कथा Ka सुधीर चक्रवर्ती निबंध
2005 अस्पताल लेखा कबीतागुच्छा बिनय मजूमदार शायरी
2006 ध्रुबपुत्र अमर मित्र उपन्यास
2007 अमर समय अल्पा अमरेंद्र सेनगुप्ता शायरी
2008 घुमेर बोरिर मातो चांडो शरत कुमार मुखोपाध्याय शायरी
2009 केनो अमरा रवींद्रनाथके चाय इबोंग किभाबे सौरिन भट्टाचार्य निबंध
2010 खानमिहिरर धिपिक बानी बसु उपन्यास
2011 बने आज Concherto मनिंद्र गुप्ता [7] शायरी
2012 बिरसन सुब्रत मुखोपाध्याय उपन्यास
2013 द्वैपायन हरदेर धरे सुबोध सरकार शायरी
2014 पिया मान भाबे उत्पल कुमार बसु शायरी
2015 शोनो जबाफुलो आलोक सरकार शायरी
2016 महाभारत अस्तादशी नृसिंह प्रसाद भादुरी निबंध
2017 सेई निखोंज मनुस्ता अफसर अमेद उपन्यास
2018 श्रीकृष्णर शेष काटा दिन संजीब चट्टोपाध्याय उपन्यास
2019 घूमर दरजा थेले चिन्मय गुहा निबंध
2020 एका एकाशी शंकर संस्मरण

 

समरेश मजूमदार की कुल संपत्ति कितनी है 2023 Samaresh Majumdar Net Worth in Hindi

समरेश मजूमदार की नेट वर्थ करीब 1 मिलियन डॉलर है। मजूमदार एक लेखक हैं, उनकी कई पुस्तकों में रहस्य और रोमांच के तत्व शामिल हैं। आठ कुथुरी नोय दरजा, बंदिनीबश, दायबाधा, और बूनो हंसेर पालक उनकी कुछ पुस्तकें हैं।

निष्कर्ष

यह तक दोस्तों आपने सीखा की समरेश मजूमदार की कुल संपत्ति कितनी है उम्मीद है आपको मेरा बताया गया तरीका अच्छा लगा होगा यदि आप ऐसे ही और हिंदी ब्लॉग पढ़ना चाहते हैं तो आप बिलकुल सही वेबसाइट पर आये है में अपने ऑडियंस को हिंदी में और फ्री में जानकारी देती हूँ

यदि आप मेरी इस वेबसाइट के साथ ऐसे बने रहते है तो आपको टेक्नोलॉजी से जुड़े या अन्य जानकारिया ऐसे हिंदी में जानने को मिलेगी इसके लिए आपको सबसे पहले JUGADME को सब्सक्राइब करना होगा जिससे आप तक मेरे बनाये गए पोस्ट आप तक आसानी से पहुंच जाये। और अपने रिश्तेदारों को जरूर शेयर करे। मुझे आपलोगो को सहयोग की अति आवश्यकता है।
धन्यवाद

Other Link:-

RELATED ARTICLES
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Most Popular