Sunday, February 25, 2024
HomeComputer & Technologyकंप्यूटर साउंड कार्ड क्या है क्यों यूज़ होता है?

कंप्यूटर साउंड कार्ड क्या है क्यों यूज़ होता है?

Sound card क्या है

कंप्यूटर साउंड कार्ड क्या है – साउंड कार्ड (Sound card) एक हार्डवेयर कंपोनेंट होता है जो कंप्यूटर में आवाज को बनाने, संचालित करने और सुनने के लिए उपयोग किया जाता है। यह कंप्यूटर में आवाज प्रबंधन के लिए आवश्यक है, जैसे वीडियो, गेम, संगीत और अन्य मल्टीमीडिया एप्लिकेशन्स के लिए।

साउंड कार्ड कंप्यूटर के मदरबोर्ड (Motherboard) पर स्लॉट में लगाया जाता है या फिर एक्सटर्नल एक्सेसरीज के रूप में भी उपलब्ध होता है। यह कंप्यूटर से संगीत और अन्य ऑडियो स्रोतों से संचालित किया जाता है और संगीत, वीडियो और गेम के ऑडियो आउटपुट के लिए उपयोग किया जाता है।

साउंड कार्ड के जरिए ऑडियो सिग्नल डिजिटल सिग्नल में बदला जाता है और इसे संगीत, गेम और अन्य मल्टीमीडिया एप्लिकेशन्स के लिए शोर्ट संकेतों (short audio signals) में ट्रांसफर किया जाता है।

Sound card का इतिहास

साउंड कार्ड का विकास 1980 के दशक में शुरू हुआ था जब IBM प्रथम डेस्कटॉप कंप्यूटर IBM PC को लांच किया। इस कंप्यूटर में, संगीत और अन्य ऑडियो स्रोतों से आवाज सुनाने के लिए एक आउटपुट पोर्ट की विलक्षणता नहीं थी।

इस समस्या का समाधान तलाशते हुए, पहली साउंड कार्ड पेश की गई, जो बीते तीन दशकों में धीरे-धीरे विकसित हुई। शुरू में, ये साउंड कार्ड केवल बीप संकेत उत्पन्न करते थे, लेकिन बाद में, वे धीरे-धीरे बेहतर ऑडियो क्वालिटी उत्पन्न करने लगे।

1990 के दशक में, साउंड कार्डों में सिंथेसाइजर (Synthesizer) जोड़े गए जिससे यह कंप्यूटर में म्यूजिकल इन्स्ट्रुमेंट्स के तरह आवाज उत्पन्न कर सकते थे। इसके साथ ही, साउंड कार्डों में मल्टी चैनल (Multichannel) सपोर्ट जोड़ा गया जिससे वे 5.1 और 7.1 सर्राउंड साउंड का समर्थन कर सकते थे।




सबसे पहला Sound Card कौन सा था, किसने बनाया और कहाँ इस्तमाल किया गया था?

कंप्यूटर साउंड कार्ड क्या है-साउंड कार्ड का विकास पहली बार 1981 में IBM द्वारा बनाए गए IBM PC के लिए किया गया था। इसके लिए, IBM ने अलाग-अलाग ऑडियो स्रोतों से आवाज सुनाने के लिए एक आउटपुट पोर्ट जोड़ा था जिसे “केंट्रोल पैनल” कहा जाता था। इस पोर्ट को उपयोग करके, यूजर्स केवल बीप संकेत सुना सकते थे जो कंप्यूटर द्वारा उत्पन्न किया जाता था।

1982 में, अमेरिकी कंपनी AdLib ने दूसरी जनरेशन की साउंड कार्ड AdLib Music Synthesizer Card बनाई। इसके साथ, उन्होंने एक सिंथेसाइजर जोड़ा था जो कंप्यूटर में अलग-अलग आवाज उत्पन्न कर सकता था।

1987 में, डेनमार्क की कंपनी Creative Labs द्वारा बनाई गई Sound Blaster एक और प्रमुख साउंड कार्ड थी। यह साउंड कार्ड उस समय बहुत लोकप्रिय थी और आज भी लोकप्रिय है। Sound Blaster साउंड कार्ड में, मल्टीमीडिया एप्लीकेशन्स के साथ संगीत को प्रभावी ढंग से सुनाया जा सकता है।

Sound card कार्ड कैसे काम करता है?

  • कंप्यूटर साउंड कार्ड, ऑडियो सिग्नल को कंप्यूटर से लेकर स्पीकर्स तक भेजता है। साउंड कार्ड शुरूआत में, माउथपीस या MIDI पोर्ट से संगीत डेटा और अन्य ऑडियो स्रोतों से आवाज सुनाने के लिए आउटपुट पोर्ट तक सिग्नल भेजती है।
  • साउंड कार्ड में आमतौर पर एक DAC (Digital-to-Analog Converter) होता है, जो डिजिटल आवाज सिग्नल को आउटपुट सिग्नल में बदलता है। यह आउटपुट सिग्नल फिर स्पीकर्स या हेडफ़ोन में जाता है जो आवाज को सुनाते हैं। इसके अलावा, साउंड कार्ड में एक ADC (Analog-to-Digital Converter) भी होता है, जो आवाज को सिग्नल में बदलता है। इसके बाद, कंप्यूटर सॉफ्टवेयर से इस सिग्नल को डिजिटल संगीत फाइल में सहेजा जाता है।

आज के समय में, साउंड कार्ड अक्सर कंप्यूटर मदों में इंटीग्रेटेड होती हैं, जिसका मतलब है कि वे कंप्यूटर के मदों के साथ आते हैं और बिना अलग से इंस्टॉल किए जा सकते हैं।

VOICES और CHANNELS क्या हैं?

VOICES और CHANNELS दोनों संगीत और ऑडियो निर्माता के लिए महत्वपूर्ण शब्द हैं।

  • VOICES एक आवाज के संख्या को दर्शाता है जो एक संगीतीय उपकरण द्वारा एक समय पर बजाने के लिए उपलब्ध होता है। इसे भी कुछ संगीत निर्माता लेयर या पार्ट के रूप में भी जानते हैं। एक सामान्य MIDI संगीत की फ़ाइल 16 या 32 वॉयसिस या संगीत लेयर का समर्थन करती है।
  • CHANNELS एक डिजिटल ऑडियो सिग्नल के लिए उपलब्ध स्टीरियो कंपोनेंट्स की संख्या को दर्शाता है। एक स्टीरियो ऑडियो सिग्नल दो अलग-अलग स्पीकर से आवाज निकालता है जिससे आप बजाते हुए संगीत का एक सुरीला और स्पष्ट संगीत सुन सकते हैं। एक स्टीरियो सिग्नल दो channels के साथ आता है, जो बाईं और दाईं तरफ के स्पीकरों के लिए होते हैं। अन्य संगीतीय समारोह जो सिग्नल के अधिक चैनलों का समर्थन करते हैं, उनमें 5.1 और 7.1 स्पीकर सिस्टम शामिल हैं।

Sound card की connections

कंप्यूटर साउंड कार्ड क्या है-साउंड कार्ड के बाहरी पोर्ट या कनेक्शन आपके संगीतीय समाधान के अनुसार अलग-अलग हो सकते हैं। कुछ आम पोर्ट निम्नलिखित हैं:

  • Line Out: इस पोर्ट से आप संगीत का आउटपुट सीधे स्पीकरों या स्टीरियो सिस्टम से कनेक्ट कर सकते हैं। यह साउंड को बाहर भेजता है।
  • Line In: इस पोर्ट से आप किसी भी डिवाइस जैसे कैसेट प्लेयर या रेकॉर्डर से संगीत को सीधे साउंड कार्ड में इनपुट कर सकते हैं।
  • Microphone In: इस पोर्ट से आप माइक्रोफोन को कनेक्ट कर सकते हैं और संगीत को रिकॉर्ड कर सकते हैं।
  • MIDI In / Out: इन पोर्ट्स का उपयोग MIDI कंट्रोलर के साथ कनेक्ट करने के लिए किया जाता है जो संगीत के लिए उपयोग किया जाता है।
  • Digital In / Out: इन पोर्ट्स का उपयोग डिजिटल ऑडियो सिग्नल को कनेक्ट करने के लिए किया जाता है। इसे बाहरी संगीत डिवाइस से संगीत को साउंड कार्ड में इनपुट करने या साउंड कार्ड से डिजिटल सिग्नल को बाहर भेजने के लिए भी उपयोग किया जा सकता है।

Sound Card की Description

साउंड कार्ड एक हार्डवेयर कंपोनेंट होता है जो कंप्यूटर में इंस्टॉल किया जाता है। इसका उपयोग ऑडियो सिग्नल को प्रोसेस और ऑडियो संग्रह करने के लिए किया जाता है।

  • एक साउंड कार्ड में एक ऑडियो प्रोसेसिंग यूनिट (एफएम) शामिल होता है, जो डिजिटल संगीत को एनालॉग सिग्नल में ट्रांसफ़र करता है ताकि यह स्पीकर या अन्य एनालॉग संग्रह उपकरणों से सुना जा सके। साथ ही, एक साउंड कार्ड एक या अधिक ऑडियो इनपुट यूनिट भी शामिल हो सकता है, जो एनालॉग या डिजिटल सिग्नल को कंप्यूटर में ले जाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।
  • एक साउंड कार्ड कई प्रकार के संगीत फ़ाइल फॉर्मेट को समर्थित करता है, जो अलग-अलग संगीतीय उपकरणों में उपयोग किए जाते हैं, जैसे WAV, MP3, MIDI, AAC आदि। साथ ही, एक साउंड कार्ड दरारों, सुरक्षा फ़ीचर्स और ऑडियो रिकॉर्डिंग फ़ीचर जैसे विभिन्न फीचर्स भी शामिल हो सकते हैं।

साउंड कार्ड के प्रकार

साउंड कार्ड के निम्नलिखित प्रकार है जिसे :-
Standard Sound Cards:- स्टैंडर्ड साउंड कार्ड आमतौर पर कंप्यूटर सिस्टम में उपयोग की जाने वाली साउंड कार्ड होती है। ये साधारण रूप से पीसी में साउंड प्रोसेसिंग के लिए उपयोग की जाती हैं और इसके साथ-साथ एक या एक से अधिक आउटपुट और इनपुट ऑडियो संदर्भों को भी अंतर्जोड़ करती हैं। इन कार्ड्स में आमतौर पर ऑडियो संकेतों को डिजिटल संदर्भ में प्रसारित करने वाले एक या एक से अधिक संसाधित चिप या प्रोसेसर शामिल होते हैं।

स्टैंडर्ड साउंड कार्ड दो विभिन्न विभाजनों में उपलब्ध होती हैं – PCI और USB। PCI साउंड कार्ड पीसी के मद्देनजर में स्थापित होती है जबकि USB साउंड कार्ड कंप्यूटर के USB पोर्ट पर कनेक्ट होती है। PCI साउंड कार्ड अधिक समर्थित होती है, लेकिन USB साउंड कार्ड पोर्टेबल होती है और कम स्पेस वाले कंप्यूटरों के लिए उपयोगी होती है।

External Sound Adapters:-एक्सटर्नल साउंड एडाप्टर एक उपकरण होता है जो कंप्यूटर के USB पोर्ट के माध्यम से एक्सेस करता है और ऑडियो संदर्भों को प्रोसेस करता है। ये उपकरण एक आउटपुट और इनपुट पोर्ट के साथ आते हैं जो स्टीरियो स्पीकर, हेडफोन, माइक्रोफोन आदि के लिए उपयोग किए जा सकते हैं।

एक्सटर्नल साउंड एडाप्टर एक पोर्टेबल विकल्प होता है जो कंप्यूटर के साथ पोर्टेबल स्पीकर और हेडफोन का उपयोग करने के लिए उपयोगी होता है। इन एडाप्टर्स में समान्य रूप से एक से अधिक ऑडियो आउटपुट जैसे स्टीरियो स्पीकर, हेडफोन आउटपुट और एक इनपुट जैसे माइक्रोफोन इनबिल्ट होते हैं।

बेहतर Sound Cards कैसे खरीदें?

यदि आप बेहतर साउंड कार्ड खरीदना चाहते हैं, तो निम्नलिखित चीजों का ध्यान रखना चाहिए:

  • Sound Quality: साउंड कार्ड की गुणवत्ता आपके लिए सबसे महत्वपूर्ण होनी चाहिए। अधिकतर साउंड कार्ड मल्टी-चैनल और हाई-रिसोल्यूशन ऑडियो के साथ आते हैं जो आपको उत्कृष्ट साउंड अनुभव देते हैं।
  • Compatibility: साउंड कार्ड का चयन करने से पहले, आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि वह आपके कंप्यूटर के सिस्टम रिक्त स्लॉट में फिट होगा।
  • Inputs and Outputs: साउंड कार्ड में इनपुट और आउटपुट के लिए पोर्ट की संख्या और उनका प्रकार भी महत्वपूर्ण होता है। आपको अपनी आवश्यकताओं के आधार पर साउंड कार्ड का चयन करना चाहिए।
  • Brand and Warranty: ब्रांड की विश्वसनीयता और वारंटी भी आपके लिए महत्वपूर्ण होती है। यदि आप एक उच्च गुणवत्ता वाले ब्रांड का चयन करते हैं, तो आपको लंबी वारंटी भी मिलती है जो उपयोगकर्ता की खुशी के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण होती है।
  • Price:- प्राइस इतना हो की यूजर आसानी से खरीद सके।

Sound Cards की Common Problems क्या हैं? कैसे इन्हें solve करें?

साउंड कार्ड के कुछ सामान्य समस्याएं निम्नलिखित हैं:

  • ध्वनि आउटपुट में अस्थिरता: यदि आपके कंप्यूटर से ध्वनि अस्थिर है, तो साउंड कार्ड में फिट कनेक्टर को ठीक से चेक करें। ध्वनि कार्ड और संगीत सॉफ्टवेयर के ड्राइवरों के समीक्षण और अद्यतन भी जरूरी हो सकता है।
  • स्पीकर नहीं काम कर रहे हैं: स्पीकरों का कनेक्शन सही तरीके से करें और स्पीकर की शक्ति सप्लाई के बारे में सुनिश्चित करें। साथ ही, स्पीकर के वायर के जैक और साउंड कार्ड में समस्या भी हो सकती है।
  • साउंड ड्राइवर में समस्या: साउंड कार्ड के ड्राइवर इनस्टॉल करने से पहले उनकी संगतता की जांच करें। अगर आपके कंप्यूटर सिस्टम के ड्राइवर समस्याओं से पीड़ित हैं, तो वे भी साउंड कार्ड के सही काम करने में दिक्कत पैदा कर सकते हैं।
  • दोहरी ध्वनि: साउंड कार्ड और स्पीकर का संबंध मिलता जुलता होना चाहिए। अगर ध्वनि दोहराने की समस्या आ रही है, तो स्पीकरों के वायरों को सही से लगाएं।

क्या SOUND CARDS को UPGRADE किया जा सकता है?

हाँ, साउंड कार्ड को अपग्रेड किया जा सकता है। यदि आपके कंप्यूटर का मॉदल पुराना हो जाता है और आपके पास सबसे नवीनतम साउंड कार्ड नहीं है तो आप उन्नत साउंड कार्ड का विकल्प चुन सकते हैं।

  • सबसे पहले, आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि आपका कंप्यूटर नए साउंड कार्ड को समर्थित करता है। आपके कंप्यूटर के मॉदल के लिए संबंधित ड्राइवर और सॉफ्टवेयर उपलब्ध होने चाहिए। नया साउंड कार्ड खरीदने से पहले आपको साउंड कार्ड की टाइप और आपके कंप्यूटर के साथ कौन सी कनेक्शन प्रदान की जाती है, इसे भी ध्यान में रखना चाहिए।
  • जब आप नए साउंड कार्ड को इंस्टॉल करते हैं, तो आपको फॉलो करने के लिए कुछ स्टेप्स होंगे, जैसे संबंधित ड्राइवर और सॉफ्टवेयर इंस्टॉल करना और साउंड कार्ड को आपके सिस्टम में एक्टिवेट करना होगा।
  • यदि आप इस प्रकार की अपग्रेड नहीं करना चाहते हैं, तो आप एक एक्सटर्नल साउंड कार्ड का भी उपयोग कर सकते हैं।

Sound Card के benefits क्या हैं?

Sound card के कुछ मुख्य फायदे निम्नलिखित हैं:

  • उच्च गुणवत्ता की ध्वनि: Sound card उच्च गुणवत्ता वाली ध्वनि उत्पन्न करती है जो कि कम्प्यूटर के माध्यम से सुनाई देती है।
  • अधिक शोर कम करें: एक अच्छी साउंड कार्ड, आपको अपनी पसंद के अनुसार शोर को नियंत्रित करने की अनुमति देती है। यह आपके सिस्टम में अन्य उत्पादों से आती शोर को भी कम करने में मदद करता है।
  • बेहतर रिकॉर्डिंग क्षमता: Sound card आपको अधिक अच्छी रिकॉर्डिंग क्षमता देती है। यह एक बेहतरीन एक्सपीरियंस प्रदान करता है जब आप ऑडियो संगीत, गेमिंग या ऑडियो संचार का आनंद लेते हैं।
  • ज्यादा Accurate bass, sounds और directional ऑडियो करें:-यह सही है, साउंड कार्ड ज्यादा एक्यूरेट बास, ध्वनि और दिशात्मक ऑडियो प्रदान करते हैं। एक्सटर्नल साउंड कार्ड कुछ नए और उन्नत ऑडियो फ़ीचर्स के साथ आते हैं जो स्टैंडर्ड साउंड कार्ड से भी अधिक एक्यूरेट बास, ध्वनि और दिशात्मक ऑडियो प्रदान कर सकते हैं। यह गेमिंग और मल्टीमीडिया अनुभव को बेहतर बनाने में मदद कर सकता है।
  • ज्यादा साउंड पोर्ट्स का होना :- जिससे अच्छी ऑडियो प्राप्त हो सकें।

RELATED ARTICLES
5 3 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Most Popular