Thursday, February 29, 2024
HomeComputer & TechnologySSD और HDD में अंतर क्या है

SSD और HDD में अंतर क्या है

SSD और HDD में अंतर क्या है – आइए जानते है की क्या है SSD क्या है और साथ ही HDD और SDD में क्या अंतर है इसके बारे में आपको बताने वाले यदि आपको इसके बारे में नहीं पता तो इस पोस्ट के जरिये आप जान जायेगे की HDD और SDD में क्या अंतर है

SSD क्या है (What is SSD in Hindi)

SSD और HDD में अंतर क्या है – SSD जिसका पूरा नाम Solid State Drive है यह हमारे कंप्यूटर में लगी एक Storage Device है जो कि कंप्यूटर में Data को Store करता है ठीक उसी प्रकार से जिस प्रकार हार्ड डिस्क हमारे कंप्यूटर में Data Store करता है. SSD भी Hard Disk का ही नया Version हैं या कहें तो SSD हार्ड डिस्क का अपडेट Version हैं जो Hard Disk की तुलना में ज्यादा Fast है और कम बिजली की खपत करता हैं.

SSD Flash Storage होती है अर्थात जिस प्रकार से मेमोरी कार्ड और पेन ड्राइव होते हैं उसी प्रकार से SSD भी Data को स्टोर करता है. अन्य हार्ड ड्राइव की तुलना में SSD आकार में छोटी और बजन में हल्की होती है. SSD में कोई Moving Part नहीं होते हैं इसमें सारा Data Chip में ही बचा कर रखता है

SSD अन्य हार्ड ड्राइव की तुलना में महंगी होती है क्योकि इसकी Quality, Performance और Feature अन्य ड्राइव की तुलना में बहुत Advance होते हैं. SSD बहुत अधिक कीमत में बहुत कम Storage प्रदान करती है.

SSD और HDD में अंतर

SSD और HDD दोनों डेटा स्टोरेज डिवाइस होते हैं लेकिन उनमें कुछ मुख्य अंतर होते हैं।

  • तेज़ी: SSDs अधिक तेज़ होते हैं जबकि HDDs अधिक समय लेते हैं तकनीकी कारणों के कारण जैसे कि शार्ट एक्सेस टाइम और फाइल पहुंच करने के लिए फिजिकल बिंदुओं को खोजना।
  • स्थायित्व: SSDs में कोई चलती हुई हिस्सेदार नहीं होती है जो इसे अधिक स्थायी बनाता है। वहीं, HDDs में एक चलती हुई हिस्सेदार होती है जो कि इसके टूटने के खतरे को बढ़ा देती है।
  • ऊर्जा की खपत: SSDs अधिक ऊर्जा उपयोग करते हैं। HDDs कम ऊर्जा उपयोग करते हैं।
  • कीमत: SSDs अधिक महंगे होते हैं जबकि HDDs सस्ते होते हैं।
  • कैपेसिटी: HDDs ज्यादा कैपेसिटी उपलब्ध कराते हैं। SSDs छोटे स्टोरेज कैपेसिटी के साथ आते हैं।

SSD का पूरा नाम (SSD Full Form In Hindi)

SSD का (Full Form) पूरा नाम Solid State Drive (सॉलिड स्टेट ड्राइव) होता है.

SSD कैसे काम करता है (How Does SSD Work in Hindi)

SSD और HDD में अंतर क्या है – हार्ड डिस्क में एक Magnetic Disk होती है जिसके घुमने के कारण Data Store, Transfer और Access होता है लेकिन SSD में ऐसा नहीं होता है इसमें कोई Moving Part नहीं होता है. SSD में छोटी -छोटी सेमीकंडक्टर चिप लगी होती है जो Data Store करने के लिए. सेमीकंडक्टर Magnate की तुलना में बेहतर Communicate कर सकता है इसलिए SSD हार्ड डिस्क की तुलना में बेहतर होती है.

SSD का इतिहास (History of SSD in Hindi)

पहली Solid State Drive को Sandisk Corporation के द्वारा 1991 में बनाया गया था. इस SSD की Storage Capacity 20 MB की थी लेकिन यह एक Flash SSD नहीं थी. इसके बाद 1995 में M – System के द्वारा पहला Flash SSD का निर्माण किया गया था. आज के समय में मार्केटि में बहुत ही Advance SSD उपलब्ध हैं जिनकी स्टोरेज क्षमता 30 TB तक की भी है.

SSD के प्रकार (Type of SSD in Hindi)

SSD मुख्य रूप से निम्न दो प्रकार की होती है –

SATA SSD (साटा एसएसडी)

NVMe SSD (एनवीएमइ एसएसडी)

  •  SATA SSD (Serial Advanced Technology Attachment)

SATA सबसे पुराने Type की SSD है जो कि एक लैपटॉप हार्ड ड्राइव की तरह ही होती है. SATA SSD की स्पीड 570 MB प्रति सेकंड होती है. ये SSD हार्ड डिस्क ड्राइव की तुलना में 5 गुना तक Fast हो सकती है.

  •  NVMe (Nonvolatile Memory Express)

NVMe SSD एक प्रोटोकॉल है जो कि SATA SSD की तुलना में 5 गुना Fast है. NVMe की स्पीड 2600 MB प्रति सेकंड तक होती है. अगर आप अपने लैपटॉप में NVMe SSD का इस्तेमाल करते हैं तो आपके लैपटॉप में बड़े से बड़े Software कुछ ही सेकंड में Open हो जायेंगे.

SSD में कनेक्टर (Type of SSD Connector in Hindi)

SSD कनेक्टर भी मुख्य रूप से दो प्रकार के होते हैं –

M2 Connector (एम2 कनेक्टर)

M2 कनेक्टर इस्तेमाल करने से SSD अपने Read And Write करने की उच्च सीमा तक पहुँच सकता है. M2 Connector का इस्तेमाल करके SSD की Speed को Boost किया जा सकता है. M2 Connector मदरबोर्ड में लगा होता है जिससे SSD Connect रहती है.

 PCIe Connector (पीसीआईई  कनेक्टर)

अगर मदरबोर्ड में M2 कनेक्टर इस्तेमाल नहीं होता है तो उस स्थिति में मदरबोर्ड में PCIe कनेक्टर लगा रहता है. PCIe कनेक्टर की मदद से SSD की Bandwidth भी बाद जाती है जिससे SSD अधिकतम गति से काम कर सकता है.

SSD के कार्य (Function of SSD in Hindi)

SSD का मुख्य कार्य हार्ड डिस्क की भांति Data को स्टोर करने का ही होता है लेकिन SSD की Performance, Speed हार्ड डिस्क की तुलना में बेहतर होती है जिसके कारण कंप्यूटर की Performance बढ़ जाती है. यह HDD के मुकाबले मबेहतर तरीके से काम करता है.

SSD और HDD में अंतर (Difference Between HDD and SSD in Hindi)

SSD के फायदे (Advantage of SSD in Hindi)

अगर आपके PC या लैपटॉप में SSD लगी होती है तो आपको इसके बहुत सारे फायदे मिलते हैं जो निम्न प्रकार से हैं –

  • SSD की स्पीड बहुत अधिक होती है.
  • SSD कम बिजली की खपत करते हैं.
  • SSD बहुत लम्बे समय तक चलते हैं.
  • Magnetism Effect से भी SSD Safe रहती है.
  • SSD Noise पैदा नहीं करती है.
  • SSD कम वजनी होते हैं और आकार में भी बहुत छोटे होते हैं.
SSD के नुकसान (Disadvantage of SSD in Hindi)

SSD के कुछ नुकसान भी हैं जो कि निम्न प्रकार से हैं –

  • SSD महंगी होती है यह अधिक दाम में कम स्टोरेज प्रदान करवाती है.
  • SSD के अधिक दाम के कारण इसकी स्टोरेज क्षमता भी कम रखी जाती है.
कैसे पता करें कि कंप्यूटर में HDD है या SSD?

अगर आप जानना चाहते हैं कि आपके कंप्यूटर में हार्ड डिस्क लगी है या SSD तो निम्न Process क Follow करें.

SSD और HDD में अंतर क्या है
SSD और HDD में अंतर क्या है
  • सबसे पहले Window Key के साथ R Press करें.
  • इसके बाद सर्च बार में Dfrgui सर्च करें. अब Media Type वाले कॉलम में देखकर आप पता कर सकते हैं कि आपके PC में हार्ड डिस्क है या SSD.

कंप्यूटर में SSD लगाये या HDD – कौन है बेहतर

अगर आप अपने कंप्यूटर की Performance और Speed High चाहिए और स्टोरेज ज्यादा नहीं चाहिए तो आपके लिए SSD बेहतर विकल्प है और साथ में ही SSD में आपका Data भी सुरक्षित रहता है.

लेकिन अगर आपको Storage बहुत अधिक चाहिए और Speed भी ठीक – ठाक चाहिए तो हार्ड डिस्क ड्राइव आपके लिए बेहतर है. हार्ड डिस्क ड्राइव कम खर्च में अधिक स्टोरेज प्रदान करवाती है.

हमारी माने तो अपने कंप्यूटर या लैपटॉप में 1TB HDD (हार्ड डिस्क ड्राइव) और 120GB या 256GB SSD एक साथ लगवा सकते है. जिससे आपके कंप्यूटर की बहुत अधिक स्पीड बढ़ जाएगी.

यह तक यह पोस्ट फिनिश होता है और अपने आज सीखा की SSD और HDD में अंतर क्या है यदि ऐसे ही और जानकारी हिंदी में जानना चाहते है तो सबसे पहले JUGADME सब्सक्राइब करे जिससे में आपके लिए जितने भी नए ब्लॉग पोस्ट बनाऊ आप तक आसानी से पहुंच सके।

RELATED ARTICLES
5 8 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Most Popular