Wednesday, May 29, 2024
Homeजानकारियाँ2023 में भारत की कुल जनसंख्या कितनी है ? 1951 से अब...

2023 में भारत की कुल जनसंख्या कितनी है ? 1951 से अब तक , What is the total population of India in 2023?

2023 में भारत की कुल जनसंख्या कितनी है ? 1951 से अब तक , What is the total population of India in 2023?,भारत की कुल जनसंख्या कितनी है ? Bharat Ki Jansankhya Kitni Hai, भारत अपनी विशाल और विविध आबादी के साथ दुनिया में एक महत्वपूर्ण स्थान रखता है। 2011 में हुई जनगणना से पता चला कि भारत की जनसंख्या लगभग 1.21 अरब थी। इसमें लगभग 623.7 मिलियन की पुरुष आबादी और लगभग 586.4 मिलियन की महिला आबादी शामिल थी।

2023 में भारत की कुल जनसंख्या कितनी है ? 1951 से अब तक

2023 में भारत की कुल जनसंख्या कितनी है ? 1951 से अब तक , Bharat Ki Jansankhya Kitni Hai, देश के जनसांख्यिकीय परिवर्तनों को समझने और उसके भविष्य की योजना बनाने में दशकीय जनगणना महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। इस लेख में, हम हाल के वर्षों में भारत की अनुमानित जनसंख्या का पता लगाएंगे और उन कारकों पर चर्चा करेंगे जो इसके विकास में योगदान करते हैं।

2023 में भारत की कुल जनसंख्या कितनी है ?

क्या आप जानते है जनसंख्या किसे कहते है ? एक निश्चित समय में किसी स्थान के निवासियों की संख्या में वृद्धि को जनसंख्या वृद्धि कहा जाता है।

हालाँकि, किसी भी स्थान पर जनसंख्या वृद्धि केवल दो कारकों पर निर्भर करती है: प्राकृतिक जनसंख्या वृद्धि या प्रवासन के माध्यम से जनसंख्या वृद्धि। आपकी जानकारी के लिए हम आपको यहां भारत की जनसंख्या के बारे में बताने जा रहे हैं।

एक अनुमान के मुताबिक भारत की वर्तमान जनसंख्या 1,420,096,703 (1.42 अरब) है। हालाँकि, ये सिर्फ एक अनुमान है. भारत सरकार जल्द ही सटीक जनसंख्या डेटा इकट्ठा करने के लिए एक जनगणना कार्यक्रम आयोजित करेगी।

जाने 2023 में भारत की जनसंख्या (भारत की जनसंख्या कितनी है)

साल 2023 में भारत की जनसंख्या कितनी है तो अभी तक जनगणना ना होने के चलते इसका कोई सरकारी डाटा उपलब्ध नहीं है, लेकिन वर्ष 2011 के बाद भारत की जनसंख्या वृद्धि दर के अनुसार भारत की जनसंख्या लगातार बढ़ने से इसका अनुमानित वृद्धि दर में काफी तेजी देखी गई है, जिसके अनुसार वर्ष 2023 तक भारत की जनसंख्या 140 करोड़ पहुँच चुकी है जिनकी जानकारी यहाँ आप सारणी के माध्यम से जान सकेंगे।

  • 2020 – 1,376,578,863
  • 2019 – 1,352,551,891
  • 2018 – 1,352,551,891
  • 2017 – 1,342,512,706
  • 2016 – 1,326,801,576
  • 2015 – 1,311,050,527
  • 2014 – 1,295,291,543
  • 2013 – 1,279,498,874
  • 2012 – 1,263,589,639
  • 2011 – 1,210,193,422
  • 2010 – 1,230,984,504
  • 2005 -1,114,326,293
  • 2000 – 1,053,481,072
  • 1995 – 960,874,982
  • 1990 – 870,601,776
  • 1985 – 782,085,127
  • 1980 – 697,229,745
  • 1975 – 621,703,641
  • 1970 – 553,943,226
  • 1965 – 497,920,270
  • 1961 – 438,936,918
  • 1951 – 361,088,090

Bharat Jansankhya अलग-अलग धर्मों के अनुसार

धर्म का नाम जनसंख्या प्रतिशत
हिन्दू 79.8%
सिख 1.72 %
बौद्ध 0.7 %
इस्लाम 14.2 %
जैन 0.37 %
ईसाई 2.3 %
अन्य धर्म को अपनाने वाले 0.9 %

भारत की जनसंख्या राज्यवार 2023

यहाँ हम आपको भारत की जनसंख्या राज्यवार बताने जा रहें है। नीचे दी गयी सारणी में हम आपको राज्य का नाम, वर्ष 2011 की जनगणना की रिपोर्ट के अनुसार (कुल जनसंख्या), वर्ष 2023 की जनसंख्या अनुमान बताने जा रहें है। समस्त जानकारी प्राप्त करने के लिए नीचे दी गयी सारणी में जानकारी देखें –

राज्य का नाम वर्ष 2011 की जनगणना की रिपोर्ट के अनुसार
(कुल जनसंख्या)
क्षेत्र जनसंख्या घनत्व
उत्तर प्रदेश 199,812,341 240,928 km2 828/km2
पश्चिम बंगाल 91,347,736 88,752 km2 1,029/km2
बिहार 103,804,637 94,163 km2 1,102/km2
महाराष्ट्र 112,372,972 307,713 km2 365/km2
तमिलनाडू 72,138,958 130,058 km2 555/km2
मध्य प्रदेश 72,597,565 308,245 km2 236/km2
कर्नाटक 61,130,704 191,791 km2 319/km2
गुजरात 60,383,628 196,024 km2 308/km2
आंध्र प्रदेश 49,386,799 162,968 km2 303/km2
राजस्थान 68,621,012 342,239 km2 201/km2
तेलंगाना 35,286,757 114,840 km2 307/km2
केरला 33,387,677 38,863 km2 859/km2
झारखण्ड 32,966,238 79,714 km2 414/km2
असम 31,169,272 78,438 km2 397/km2
पंजाब 27,704,236 50,362 km2 550/km2
ओडिशा 41,947,358 155,707 km2 269/km2
जम्मू एन्ड कश्मीर 12,548,926 222,236 km2 57/km2
छत्तीसगढ़ 25,540,196 135,191 km2 189/km2
हरियाणा 25,353,081 44,212 km2 573/km2
हिमाचल प्रदेश 6,864,602 55,673 km2 123/km2
त्रिपुरा 3,671,032 10,486 km2 350/km2
उत्तराखंड 10,116,752 53,483 km2 189/km2
मणिपुर 2,721,756 22,327 km2 122/km2
गोवा 1,457,723 3,702 km2 394/km2
नागालैंड 1,980,602 16,579 km2 119/km2
मेघालय 2,964,007 22,429 km2 132/km2
सिक्किम 607,688 7,096 km2 86/km2
मिजोरम 1,091,014 21,081 km2 52/km2
अरुणाचल प्रदेश 1,382,611

जनसंख्या वृद्धि को प्रभावित करने वाले कारक

1. जन्म दर और प्रजनन क्षमता 

जन्म दर और प्रजनन स्तर जनसंख्या वृद्धि के आवश्यक निर्धारक हैं। उच्च जन्म दर जन्मों की संख्या में वृद्धि का संकेत देती है, जिससे जनसंख्या वृद्धि होती है। विभिन्न सामाजिक-आर्थिक कारक, सांस्कृतिक प्रथाएं और स्वास्थ्य देखभाल तक पहुंच भारत के विभिन्न क्षेत्रों में जन्म दर को प्रभावित करते हैं।

2. मृत्यु दर और जीवन प्रत्याशा

मृत्यु दर और जीवन प्रत्याशा भी जनसंख्या गतिशीलता में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। कम मृत्यु दर और उच्च जीवन प्रत्याशा जनसंख्या वृद्धि में योगदान करती है। स्वास्थ्य सुविधाओं, स्वच्छता और रोग नियंत्रण में सुधार से भारत में मृत्यु दर में गिरावट आई है।

3. प्रवास

प्रवासन, आंतरिक और अंतर्राष्ट्रीय दोनों, जनसंख्या के आकार और संरचना को प्रभावित करता है। आर्थिक अवसरों, राजनीतिक कारकों और सामाजिक-सांस्कृतिक कारणों से प्रवास के पैटर्न राज्यों और क्षेत्रों में भिन्न-भिन्न होते हैं। इससे कुछ क्षेत्रों में जनसंख्या वृद्धि और अन्य में गिरावट हो सकती है।

RELATED ARTICLES
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Most Popular