Sunday, February 25, 2024
Homeपरिचयउमा हरति एन का जीवन परिचय (UPSC CSE Uma Harath N Biography...

उमा हरति एन का जीवन परिचय (UPSC CSE Uma Harath N Biography in hindi)

उमा हरति एन का जीवन परिचय-हेलो दोस्तों मेरा नाम नितिन और आज मैं आपको उमा हरित एन के जीवन परिचय के बारे मैं बताऊंगा। upsc परीक्षा  पास करने वाले एक ऐसी आईएएस अधिकारी  है



उमा हरति एन का जीवन परिचय (UPSC CSE Uma Harath N Biography in hindi)

उमा हरति एन का जीवन परिचय-लेकिन इन्होने हार ना  मानते हुए हर बार एक नए जोश के साथ अपने सपने को पूरा करने के लिए बहुत जयादा मेहनत की थी यदि हमें अपने अपने लक्ष्य तक पहुचना है तो हमें मेहनत करना बहुत जरूरी होता है। और  रास्ते पर आने वाली बाधाओं को पार करना होता है और यदि हम अपनी बाधाओ से डर गए तो हम अपने लक्ष्य तक नहीं पहुँच पाएंगे।

उमा हरति एन का जीवन परिचय-इसी तरह दोस्तों हम अपने जीवन की बाधाओ को पार करते हुए  उमा हरथी ने यूपीएससी की परीक्षा में चौथा स्थान प्राप्त किया था। इस बार जब यूपीएससी की परिणाम मंगलबार को  जारी हुआ तो ये हमारे भारत देश की बेटियों ने अपनी मेहनत से बता दिया।  भारत की बेटी किसी से कम नहीं है और वो जिस मुकाम  तक पहुचना चाहती वो उसे करके ही दिखती है चाहे उसके लिए उसे कितनी भी मुस्किलो  का सामना करना पड़े जिस तरह उमा हरथी ने चार चार असफलताओ का सामना किया  परन्तु फिर भी उन्होंने भारत में यूपीएससी की परीक्षा में चौथा स्थान प्राप्त किया था और दोस्तों यदि आप इस महान आईएएस ऑफिसर  के बारे और जानकारी लेना चाहते तो इस पेज को लास्ट तक पढ़े।

उमा हरथी का जन्म 

उमा हरति एन का जीवन परिचय-उमा हरथी ने  अपनी  प्रारंभिक शिक्षा भारतीय विद्या भबन स्कूल  बीएचईएल हैदराबाद  से की  तथा 10 के बाद इनके इनके पिता ने इनकी पढाई में रूचि देखते हुए उमा का एडमिशन  श्री चैतन्य विद्यालय में करवा दिया गया था। ताकि वे अपनी पढाई  अच्छे से कंप्लीट कर सके उनके पिता ने उन्हें आईएएस प्रोत्साहित किया।

उमा के पिता चाहते थे की उनकी बेटी  आईएएस अधिकारी बने उमा भी अपने पिताजी से बहुत प्यार  करती थी  और उनकी सारी बाते मानती थी इसलिए उन्होंने आईएएस अधिकारी बनने का निर्णय किया।

उमा हरति एन का जीवन परिचय- उमा ने अपनी upsc करने से पहले उन्होंने अपनी आईआईटी हैदराबाद से अपना ग्रेजुएशन कंप्लीट कर लिया था इसके बाद इन्होंने यूपीएससी की तैयारी शुरू कर दी उन्होंने अपना वैकल्पिक विषय नर विज्ञान चुना और फिर इन्होने upsc पाठ्यक्रम को  समझने के लिए 6 महीने तक upsc संस्थान में काम किया था।

उमा हरति एन का जीवन परिचय-उमा ने  एक सांस्कृतिक कार्यक्रम आदान-प्रदान में भाग लेकर फिर वो १५ दिनों के लिए जापान चली गई फिर वापस आकर upsc की तैयारी स्टार्ट कर दी  परन्तु उनका मन एक जगह पर शांत नहीं हो रहा था।

इसके बाद उन्होंने दोस्तों से सलाह लेकर गहन अध्ययन करना शुरू कर दिया।

उमा हरथी का यूपीएससी परीक्षा संघर्ष –

उमा हरति एन का जीवन परिचय-उमा का जीवन काफी संघर्ष पूर्ण रहा था क्युकी उन्होंने  upsc परीक्षा ४ में पास किया  था पर उन्होंने  कई  बार निराशा का सामना किया था। फिर भी उमा ने परेशानियों का सामना करते हुए  उन्होंने  अपने लक्ष्य कपो हासिल कर लिया उनके पिता का सपना था की बो आईएएस ऑफिसर बने और बो सपना उन्होंने पूरा करके बताया उमा अपने आईएएस बनने का पूरा श्रेय अपने पिता ही  को देती है। उमा का कहना है ह की उन्हें एक स्तम्भ की तरह साथ नहीं देते तो तो अपने लक्ष्य तक कभी नहीं पहुंच पाती। उमा ने जब पहली और दूसरी बार जब एग्जाम दी तो बो प्रिलिम्स निकल पाए परन्तु मैन्स परीक्षा नहीं  निकाल पायी  और बो अपने तीसरे प्रयास मैं इंटरव्यू में पहुंच गई थी।

उमा हरति एन का जीवन परिचय- उमा का परंतु मेंस परीक्षा मैं सफल हो जाने के कारण उनका अच्छा  मार्क्स स्कोर नहीं रह  पाया  परन्तु उमा किसी भीं बिना निराशा के अपना काम करती रही  परन्तु उनके जीवन  में एक बार ऐसा मोड़ आया की वो पूरी तरह से टूट गई। जब उमा ने चौथे प्रयास में यूपीएससी में  प्रिंस का पेपर दिया था तो बो असफल हो गया और निराशा ने उन्हें घेर लिया परन्तु उनके पिता के समझाने पर ध्यान दिया की कमी कुछ न कुछ वजह  से हो रही है।  उमा ने  अपने वैकल्पिक विषय भूगोल को बदलकर एन्थ्रोलॉजी को चुना  और फिर बाद मैं उन्होंने इस विषय को चुनने के बाद ५ परीक्षा में पुरे देश में upsc में तीसरा स्थान प्राप्त किया।  इसी तरह उमा को अपनी असफलताओ से ये सोचने को मिला कि वो अपने आप को किस तरह बेहतर करे जिससे की बे अपने जीवन को काफी अच्छे ढंग से समझ सके।




उमा हरति एन का जीवन परिचय- upse का संघर्ष बहुत ही कठिन रहा है  क्युकी किसी भी असफल का   चार बार सामना करने निराशा होना काफी निराशाजनक बात होती है परन्तु फिर भी हमें उमा की प्रशंशा करनी होगी। ऐसे ही उन्होंने एक बार फिर से प्रयास किया और इस बार ईश्वर ने भी उनका साथ दिया इसके बाद उमा ने अत्यन्त मेहनत करके पुरे भारत में तीसरा स्थान प्राप्त  कर अपने पिता का नाम रोशन किया।  हमें गर्ब है हमारे देश की बेटी उमा पैर जिन्होंने उनकी इतनी असफलताओं के बाद भी उस मुकाम को हासिल किया जिस मुकाम पे वो  पहुचना चाहती थी।  उमा कहते है की असफलता एक चुनौती है किक्या कमी रह गई है  और फिर सुधार करो इन पंक्तीयो के आधार पर ही उन्होंने अपने सपनो को पूरा किया इसी तरह उमा जी का कहना है की  कभी भी अपने जीवन में हार मत मानना और आगे निरंतर प्रयास करते रहना चाहिए।

उमा हरथी की तैयारी की रणनीति-

उमा हरति एन का जीवन परिचय-उमा ने अपनी upsc की तैयारी पहले एक 3  साल तक एक सरणी तैयार कर  उसका पालन किया उमा के  अनुशार  upsc की परीक्षा के लिए ध्यान एक जगह होना बहुत जरूरी है क्युकी वो क्या पता बो इसी वजह से 4 बार परीक्षाओ सफल रही हो

उमा हरति एन का जीवन परिचय- यदि आप किसी भी तरह की की एग्जाम देना चाहते  है तो वो इन बातो को ध्यान में रखे  तभी आप इस परीक्षा में आसानी से सफल हो सकते है ।

उमा हरति एन का जीवन परिचय-UPSC  का सिलेबस समझना बहुत ही ज्यादा जरूरी है क्युकी इसका स्लेव्स काफी बड़ा है किसी बजह से हमें  किस बजह से हमें जगह  से हमें शुरुआत करनी है हमें इस बात की जानकारी पहले ही अच्छे से निश्चित कर ले ।

उमा हरति एन का जीवन परिचय-तो इसलिए विद्यार्थी को ज्यादा से ज्यादा यूपीएससी परीक्षा में पहले पुराने प्रश्न को हल करना चाहिए पुरानी एग्जाम के पेपर आपको पिछली परीक्षाओ के सवालो और जबाबो और रुझानों में सुझाब देंगे।




Also Read

RELATED ARTICLES
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Most Popular