UPS Kya Hai और कैसे काम करता है UPS In Hindi

UPS Kya Hai नमस्कार दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं UPS क्या है और कैसे काम करता है जैसे कि अत्याधिक लोग UPS के बारे में जानते हैं पर उसी के साथ इसकी पूरी जानकारी कई लोग नहीं जानते तो आज आपको इस पोस्ट में UPS की पूरी जानकारी देने वाले हैं तो UPS के नाम से आप लोग जान चुके हैं कि एक कंप्यूटर से जुड़ा हुआ है जैसे कंप्यूटर के साथ एक आयत की शेप में आपने एक बॉक्स देखा होगा जिसमें आप अपने पीसी यानी कि डेक्सटॉप मैं डिवाइस को ऑन ऑफ करने के लिए होता है और इसी डिवाइस UPS कहा जाता है तो यहां तक आप लोग समझ चुके हैं UPS के बारे में तो आइए थोड़ा और विस्तार से UPS के बारे में जानते हैं Computer UPS In Hindi

About UPS

UPS एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस होता है जिसके अंदर कई सारे पार्ट्स तथा बैटरी कनेक्ट होती है UPS का इस्तेमाल कंप्यूटर के लिए किया जाता है UPS कई प्रकार के बनाए जाते हैं यह सीमित समय के लिए आप भी उपलब्ध कराने के अलावा भी कुछ और काम कर सकते हैं UPS कंप्यूटर की वोल्टेज कम या ज्यादा होने की स्थिति मैं नुकसान पहुंचाने से बचाता है

UPS Kya HaiUPS Kya Hai

और साथ ही और साथ ही बिजली चली जाने पर कुछ समय बाद तक UPS कंप्यूटर को बिजली प्रदान करता है UPS के कारण हम अपने पीसी को सही तरीके से शटडाउन कर पाते हैं यदि कंप्यूटर चलाते समय बिजली चली जाती है तो ऐसे में काम भी रुक जाता है और इससे हार्ड ड्राइव और रैम खराब होने की संभावना रहती है तथा मदरबोर्ड भी खतरे में पड़ सकता है। UPS में वोल्टता नियंत्रण भी अवश्य होना चाहिये, जिससे UPS इस खतरे से कम्प्यूटर को बचा पाये UPS Kya Hai





UPS Kya Hai 

UPS Kya Hai किसी भी कंप्यूटर सिस्टम में हम Alternative power source के रूप में UPS का उपयोग करते हैं।  UPS कंप्यूटर सिस्टम को अचानक से पावर बंद होने पर पावर Supply करता है।सरल भाषा में कहे तो UPS  बैटरी के साथ एक इन्वर्टर होता है। जिसका प्रयोग इलेक्ट्रिकल डिवाइस जैसे कि कंप्यूटरों आदि के लिए बैटरी बैकअप प्रदान करने के लिए किया जाता है। कई प्रकार के UPS, वोल्टेज रेगुलेशन के साथ भी आते हैं। UPS बैटरी को चार्ज करता है और अचानक से पावर Supply बंद होने पर सिस्टम को इलेक्ट्रिकल बैकअप देता है। UPS Kya Hai

UPS के प्रकार-

  • Standby UPS
  • Line Interactive UPS
  • Standby Online Hybrid UPS
  • Standby UPS

Standby UPS एक UPS होता है ,जोकि आपको अपने पर्सनल कंप्यूटरों में देखने को मिलता है। पावर बंद होने पर Standby UPS कंप्यूटर में Consumed power को Supply करता है।

Line Interactive UPS

Line Interactive UPS एक Designing UPS है। जिसका इस्तेमाल बिजनेस, वेब और सर्वर में किया जाता है इसमें एसी पावर कन्वर्टर को UPS के आउटपुट के साथ जोड़ा जाता है। इस UPS को ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह से Use  किया जाता है।

Standby Online Hybrid UPS

Standby Online Hybrid को on-line ups भी कहते हैं इस प्रकार की UPS का इस्तेमाल 10 kva के interval में किया जाता है यानी कि इस प्रकार के UPS में Hybrid 10 KVA ही इस्तेमाल किया जाता है।

UPS कैसे काम करता है –

  • Rectifier 
  • Battery 
  • Inverter 

Rectifier 

रेक्टिफायर UPS सिस्टम में Install रहता है जिसका मुख्य कार्य अल्टरनेटिव करंट को डायरेक्ट करंट में बदलने का होता है। क्योंकि बैटरी DC करंट के द्वारा चार्ज होती है   बैटरी को चार्ज करने के लिए ही UPS में रेक्टिफायर को इंस्टॉल किया जाता है।

Battery 

UPS में बैटरी को भी इंस्टॉल किया जाता है।  रेक्टिफायर, करंट को AC से DC में बदलने के बाद बैटरी में पावर सेविंग की जाती है. पावर ऑफ होने के बाद सिस्टम में बैटरी से ही Power की Supply कंप्यूटर सिस्टम में की जाती है । UPS में बैटरी जितनी अधिक होगी उस बैटरी का बैकअप उतना ही अधिक होगा 

Inverter 

इनवर्टर बैटरी में ऊर्जा को DC से AC ऊर्जा में परिवर्तन करने का कार्य करता है 

UPS के कार्य

  • UPS कंप्यूटर सिस्टम में Damage होने से सुरक्षा प्रदान करता है।
  • UPS शॉर्ट सर्किट से सिस्टम को बचाता है।
  • UPS एक प्रकार के Unstable सोर्स से पावर को नियंत्रित करता है।
  • UPS कंप्यूटर को सही ढंग से स्विच करने और कंप्यूटर को Battery देने में सक्षम है।
UPS के फायदे –
  • पावर मौजूद ना होने की स्थिति में UPS कंप्यूटर सिस्टम को पावर देता है और इलेक्ट्रिकल सिस्टम को फिर से स्थापित करता है।
  • UPS सिस्टम में अगर इलेक्ट्रिकल डिवाइस रुक जाए तो उसका डाटा सुरक्षित रहता है।
  • कंप्यूटर सिस्टम में अचानक से पावर बंद हो जाने पर सारा डाटा बंद हो जाता है लेकिन UPS का उपयोग करने पर कंप्यूटर सिस्टम अचानक बंद नहीं होता और डाटा भी सुरक्षित रहता है।
UPS के नुकसान –
  • साधारण UPS बैटरी अधिक लंबे समय तक नहीं चल सकती आवश्यकता होने पर हमें इसे बदलना भी पड़ता है।
  • UPS सिस्टम में UPS बैटरी को अधिक समय तक चार्ज रखना पड़ता है नहीं तो वह  बैकअप नहीं दे पाती है।
UPS तक़रीबन 1 घंटे से ऊपर कंप्यूटर को बिना बिजली के चला सकता है क्योंकि UPS के अंदर बैटरी लगा होता है जो कि कंप्यूटर को ऊर्जा देता रहता है जिससे कंप्यूटर में बिजली की आपूर्ति बनी रहती है।
UPS और इन्वर्टर में क्या अंतर है
  • UPS में आउटपुट हमेशा बैटरी से लिया जाता है जबकि इंवर्टर में सिर्फ बिजली चली जाने के दौरान ही बैटरी से Supply ली जाती है।
  • UPS सीधा बैटरी से Supply देता है इसलिए चेंजओवर या स्विचिंग की जरूरत नहीं पड़ती जबकि इन्वर्टर 10-50 MS का समय लेता है
  • UPS में सर्ज प्रोटेक्शन, वोल्टेज रेगुलेशन आदि के लिए अतिरिक्त इलेक्ट्रॉनिक सर्किट लगे होते हैं जबकि इन्वर्टर में ये नहीं होते हैं।
  • इलेक्ट्रॉनिक सर्किट लगे होने के कारण UPS महंगा होता है जबकि इन्वर्टर सस्ता होता है।

FAQ For UPS in Hindi

Q 1 UPS का क्या कार्य है?

UPS का मुख्य कार्य कंप्यूटर सिस्टम में पावर Supply अचानक से बंद होने पर कंप्यूटर सिस्टम में पावर Supply निरंतर देते रहना है. किसी भी कंप्यूटर सिस्टम में हम Alternative power source के रूप में UPS का उपयोग करते हैं

Q 2 UPS और इन्वर्टर में क्या अंतर है?

UPS और इन्वर्टर में अंतर यह है कि UPS की आवश्यकता किसी विशेष प्रकार के इलेक्ट्रिकल उपकरण जैसे कि कंप्यूटर, स्कैनर, प्रिंटर आदि के लिए होती है. इसी के विपरीत इन्वर्टर का उपयोग किसी भी घर के मेन Supply के साथ स्विच बोर्ड पर किया जा सकता है 

Q 3 UPS कितने प्रकार का होता है?

UPS मुख्यतः तीन प्रकार का होता है
1. Standby UPS
2. Line Interactive UPS
3. Standby Online Hybrid UPS

तो यहां तक दोस्तों हमारा यह पोस्ट फिनिश होता है उम्मीद करती हूं आपको यह पोस्ट अच्छे से समझ आ चुका होगा ऐसे ही जानकारी लेने के लिए आप मेरी वेबसाइट को सब्सक्राइब करें जिससे मैं आप लोगों के लिए जो भी ब्लॉग पोस्ट बनाऊं आप तक पहुंच सके







2 1 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments