6G India Me Kab Aayega भारत में 6G की लॉन्चिंग को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया बड़ा ऐलान

6G India Me Kab Aayega: आइए जानते है की 6 G इंडिया में कब आएगा और कई लोगो को हैरानी होगी की हालही में तो 5 G का ट्रेंड चल रहा था पर अब 6 G इंडिया में कब आने वाला है। तो दोस्तों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत में 6जी को लेकर बड़ा ऐलान कर दिया है। पीएम मोदी ने घोषणा करते हुए कहा कि सरकार तेजी से 6जी की दिशा में काम कर रही है और 2022 के खत्म होते ही 2023 में 6 G लॉन्च करा जायेगा





5G To 6G

6G India Me Kab Aayega भारतीय टेलिकॉम इंडस्ट्री 5वीं पीढ़ी की टेलिकॉम सेवाओं यानि 5जी की लॉन्चिंग की तैयारी कर रही है। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक कदम आगे बढ़ते हुए भारत में 6जी को लेकर बड़ा ऐलान कर दिया है। पीएम मोदी ने घोषणा करते हुए कहा कि सरकार तेजी से 6जी की दिशा में काम कर रही है और इस दशक के अंत तक 6 जी लांच करने की तैयारी में है।

प्रधानमंत्री ने स्मार्ट इंडिया हैकाथान 2022 के ग्रैंड फिनाले को बताते हुए 6जी से के बारे में बताया और पीएम मोदी ने कहा 6G India Me Kab Aayega कि भारत में कृषि और स्वास्थ्य क्षेत्र में ड्रोन टेक्नोलॉजी के उपयोग की बड़ी संभावना है।

6G की तैयारी शुरू

6G डेवलेपमेंट पहले ही शुरू हो चुका है और इसे खत्म करने की 2024 या 2023 लास्ट में है। हम इसके लिए भारतीय टेलिकॉम के द्वारा बनाया गया टेलिकॉम सॉफ्टवेयर यूज किया जायेगा और जो बाद में ग्लोबल भी हो सकते हैं। 6G India Me Kab Aayega प्रधान मंत्री ने कहा कि 6जी के अलावा, स्वदेशी 5जी का भी शुरू हो रहा है

 5G Technology कैसे काम करती हैं

5G को समझने के लिए सबसे पहले में Wireless Network को समझना जरुरी है तो हालही में 4G यानि Fourth-generation (4G) Long-Term Evolution (LTE) wireless technology के भी Signal हमारे पास आते हैं वह सभी Radio Waves के थ्रू से मिलता हैं इनको Transmit करने के लिए बड़े-बड़े Mobile Towers लगाए जाते हैं वहीं 5G Wireless Signals को Transmit करने के लिए बहुत सारे छोटे Small Cell Stations बनायेंं जायेगेंं

5G में आप High speed से Data कैसे Transmit कर पाएंगे और यह multiple small wave antenna क्यों लगाया जायेगा हकीकत में 5G wireless broadband technology का spectrum 30 से 300 gigahertz (Ghz) के बीच होता हैं जिसे Millimeter wave या millimeter band कहा जाता हैं

Millimeter Wave Spectrum में band of spectrum हमेशा 30 GHz से 300 GHz के भीतर ही होती हैं Millimeter wave (MM Wave) केवल Short distances में Transmit हो सकती हैं जैसे Wifi work करता हैं, जिससे आपकी कोई Device इससे तुुरंत connect हो जायेगी, आपका phone Millimeter Wave Antenna से के बाद तुरंत  दूसरे Wave Antenna से connect होगा

5G के आने से बाद क्या बदल सकता हैं

और आज के समय में Machine Learning का या अगर इसका advance लेवल काफी हद तक बढ़ चूका है और artifical Intelligence fast से विकसित हो रहा हैं जिस में internet की बहुत बड़ा हिस्सा हैं जब आप internet पर कोई भी Data upload करते हो यानी input कराते हो तो एक दूसरे से बेहतर converstion कर पाएंगी और transportation और Maps से जुड़ा data live share कर पाएंगी 6G India Me Kab Aayega

8 Agencies से की Partnership थी।

Telecommunications Department ने 2018 में शुरू हुई 5 G Tasting project के लिए 8 agencies के साथ partnership की थी। Tasting 31 december, 2021 तक पूरी हुई ।

ये agencies IIT (india Institute of Technology) Bombay, IIT-delhi , IIT-Hyderabad, IIT-Madras, IIT-Kanpur, Indian institute of science (IISC) Bangalore, society for Applied Microwave electronics engineering and Research (SAMEER) और center for Excellence in wireless technology (CWC) हैं 6G India Me Kab Aayega

5G की कौन कौन से देश में आने की सम्भावना हैं

United States, Japan, South Korea और China इन for countries में 5G की main Development सबसे ज्यादा हैं , 5G technology का full use 2020 से होने की उम्मीद की जा रही हैं 6G India Me Kab Aayega

Telecommunications Department ने बताया कि 5G internet services की Tasting last step में पहुंच गयी हैं Department ने साल 2022 में iIndians को 5G को लॉन्च करेगी। Department ने बताया कि 2022 में यह services country में शुरू हो जाएगी। सबसे पहले 5G services देश के 13 countries  में शुरू की जाएगी। Department ने इन 13 शहरों की लिस्ट भी जारी की हैं । 6G India Me Kab Aayega Telecommunications Department (DoT) ने official statement में कहा कि Airtel, Jio और vodaphone idea telly com services providers ने Gurgaon, Bangalore, Kolkata, Mumbai, Chandigarh , delhi , Jamnagar, Ahmedabad , Chennai , Hyderabad, Lucknow , Pune और Gandhinagar में 5G trial site setup की हैं ।

These Metros और big cities में Next year Community-verified icon Verified सबसे पहले 5G services शुरू होंगी। Department के मुताबिक, Tasting project में 224 crore rupees की लागत आई हैं।

6G India Me Kab Aayega telecommunications Department . के अनुसार, मार्च-अप्रैल 2022 में 5G spectrum की auction होने की possibility हैं । last september में ही Reserve Price Band Plan, block size  व spectrum quantum के connection में Try से sanction मांगी जा चुकी हैं और senior ने सभी employees  से companies में बातचीत भी शुरू कर दी हैं ।

5G Technique के benefits

  • High Download Speed । 5G Network में download speed `को 20 गुना (200 MBPS (4G) से 10 G BPS (5G) तक और घटती delayed (Device के बीच Response Time) तक बढ़ाने की efficiency होगी। ये speed Procedures को convenient बनाकर browsing अनुभव को अधिकतम करेगी, हालांकि आज भी possible हैं , फिर भी presenting difficulties करती हैं
  • hyperconnectivity। 5G network अति वांछित “Smart city” होने के बिंदु तक पहुंचने के लिए एक hyper-interconnected environment होने की possibility का वादा करता हैं । इन new dynamics का perfect performance 5G की bandwidth और internet of thing (IoT) पर निर्भर करेगा।
  • प्रक्रिया का optimization। यह दवा (remote operation,example के लिए), और transportation management और autonomous vehicles के साथ-साथ resources को adapted करने और कम करने के लिए निर्माण area  में इसके execution जैसे areas में Revolutionary बदलाव की उम्मीद हैं । 6G India Me Kab Aayega

5G Technique के नुकसान

  • Immediate Obsolescence 5G Network में Infection के लिए ऐसे devices की आवश्यकता होगी जो इसका Support कर सकें; Present 4G devices में यह efficiency नहीं हैं और वे तुरंत obsolete हो जाएंगे।
  • Techniques exclusion 5G network के execution का मतलब average pocket के लिए Immediately पहुंच की कमी हैं , इसके use के लिए tool की कमी के कारण इसके execution में देरी के साथ joint।6G India Me Kab Aayega
  • Inadequate infrastructure. 5G network को ठीक से काम करने के लिए bandwidth बढ़ाने और coverage का विस्तार करने के लिए बुनियादी ढांचे में एक संपूर्ण रूप से खुद को अच्छा बनाना व invest की आवश्यकता होगी और यह सस्ता नहीं हैं । यह condition essential रूप से इसके execution में देरी की ओर ले जाएगी क्योंकि high cost के कारण governments को 5G को ठीक से काम करने के लिए cover करना होगा
  • इस सब के लिए best data management की जरुरत होती हैं , और यहीं पर benefits and harms का सबसे contradictory हिस्सा निहित हैं । और तथ्य यह हैं कि, इन सभी notifications के management में, companies और व्यक्तियों और यहां तक ​​कि governments दोनों से, न केवल big data Technique जैसे issues इसके अध्ययन में शामिल हैं  
  • प्रत्येक देश Present में इस डेटा के Operation और use के लिए legal और नैतिक मानकों पर चर्चा कर रहा हैं , ताकि इस सभी privacy from interconnectivity प्रभावित न हो।
  • 5G एक वास्तविकता हैं कि कम समय में पिछली Techniques की तरह हमारे life को छू जाएगा, और इसके benefits का benefit उठाने और इसके harms से बचने के लिए इसे अभी देखना बेहतर होगा।

Related Link: 

 







4 1 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments