Friday, June 14, 2024
HomeजानकारियाँGST रजिस्ट्रेशन कैसे करें : GST Registration Kaise Kare :

GST रजिस्ट्रेशन कैसे करें : GST Registration Kaise Kare :

नमस्कार दोस्तों आज में आपको बताने वाली हूँ की GST रजिस्ट्रेशन कैसे करें जैसा की आज के समय में हर कोई Online अपने प्रोडक्ट सेल करना चाहता है पर उसके लिए GST होना और GST रजिस्ट्रेशन जरुरी है यदि आप भी GST रजिस्ट्रेशन करना सीखना चाहते है या कैसे बनवा सकते है GST इसकी पूरी जानकारी आप को इस ब्लॉग पोस्ट में बताया गया है तो आइए जानते है सबसे पहले आपको यह पता होना जरुरी है की GST क्या है , GST रजिस्ट्रेशन क्या है इसके बारे में एक बार अपने समझ लिया तो आप चाहे तो खुद GST रजिस्ट्रेशन कर सकते है तो आइए जानते है GST रजिस्ट्रेशन कैसे करें




GST क्या है

GST (Goods and Services Tax) एक indirect tax है जो भारत सरकार द्वारा लागू किया गया है। यह एक एकीकृत कर है, जो भारत में विभिन्न वस्तुओं और सेवाओं पर लागू किया जाता है। GST भारत के सभी राज्यों में लागू होता है और इससे पहले के सभी indirect taxes को इसमें समाहित कर दिया गया है। GST Registration Kaise Kare 

GST दो भागों में बंटा हुआ होता है – संयुक्त राज्य GST और केंद्रीय GST। जब कोई व्यक्ति या कंपनी उत्पादों या सेवाओं का विक्रय करती है, तो वह उस पर GST दर्ज करना होता है। जब GST दर्ज किया जाता है, तो उत्पादक को इसका credit भी मिलता है, जिसे वह अपनी अगली tax liability में adjust कर सकता है।

GST का मुख्य उद्देश्य भारत में indirect taxes को एकीकृत करना है और इससे tax evasion को कम करना है। इसके अलावा, GST के लागू होने से व्यापार को आसानी से Online कर सकने की व्यवस्था हुई है जो व्यापारियों को लाभ देती है।

GST रजिस्ट्रेशन क्या है

GST रजिस्ट्रेशन कैसे करें- GST रजिस्ट्रेशन एक Online Process है जिसका उद्देश्य व्यापारियों को GST के तहत नोटिफिकेशन के अनुसार पंजीकृत करना है। यह उन सभी व्यापारियों के लिए अनिवार्य है जो गैर-अनुदेशित उत्पादों या सेवाओं को बिक्री करते हैं, जिनकी वार्षिक वित्तीय गतिविधि रुपए 20 लाख से अधिक होती है।

GST रजिस्ट्रेशन की Process Online उपलब्ध है और उत्पादकों, वितरकों, आपूर्तिकर्ताओं और सेवा प्रदाताओं को नोटिफिकेशन के अनुसार रजिस्टर करना होता है। इस Process में कुछ आवश्यक दस्तावेजों की जरूरत होती है, जैसे कि व्यवसाय का पंजीकरण प्रमाण-पत्र, प्रतिष्ठापन पत्र, बैंक खाता विवरण आदि।

GST रजिस्ट्रेशन एक महत्वपूर्ण Process है जो व्यापारियों को अपने व्यवसाय को समझने और उसके तहत GST के अनुसार नियमों का पालन करने में मदद करती है। इसके अलावा, यह व्यापारियों को अपने उत्पाद या सेवाओं के लिए GST के माध्यम से credit प्राप्त करने की अनुमति देता है।

GST के प्रकार कितने है

GST के चार प्रकार होते हैं।

  • Central Goods and Services Tax – CGST

  • State Goods and Services Tax – SGST

  • Integrated Goods and Services Tax – IGST

  • Union Territory Goods and Services Tax-UTGST 

सीजीएसटी (Central Goods and Services Tax – CGST) यह जीएसटी का प्रकार उस स्थानीय शुल्क को शामिल करता है, जो केंद्र और राज्य दोनों के बीच लगाया जाता है। इस शुल्क का आय उस राज्य को जाती है जहां उत्पाद या सेवा उपभोग किया गया है।

सीजीएसटी (State Goods and Services Tax – SGST) इस प्रकार का जीएसटी उन स्थानीय शुल्कों को शामिल करता है, जो राज्य सरकार द्वारा लगाये जाते हैं। इसका आय उस राज्य को जाता है जहां उत्पाद या सेवा उपभोग किया गया है।

आईजीएसटी (Integrated Goods and Services Tax – IGST) जो एक राज्य से दूसरे राज्य में बेची जाने वाली सामान्य वस्तुओं और सेवाओं पर लगता है। IGST का आय केंद्र और राज्य दोनों में बंटता है। इस प्रकार के जीएसटी का उपयोग उन व्यवसायों द्वारा किया जाता है जो एक राज्य से दूसरे राज्य में सामान्य वस्तुओं या सेवाओं को खरीदते हैं या उत्पादित करते हैं।
यूटीजीएसटी (Union Territory Goods and Services Tax-UTGST ) केंद्र शासित प्रदेश का माल एवं सेवा कर। यह किसी सौदे पर वसूले गए GST में, का वह हिस्सा होता है, जोकि केंद्र शासित प्रदेश (Union Terretory) को मिलता है।

GST रजिस्ट्रेशन कैसे करें 

  • इसके लिए आपको सबसे पहले GST पोर्टल की वेबसाइट पर जाना होगा और Register Now बटन पर क्लिक करना है
  • नया पंजीकरण’ का ऑप्शन दिखाई देगा उस ऑप्शन को चुनें और जिसके लिए आप आवेदन करना चाहते हैं। पंजीकरण दो प्रकार के होते हैं – सामान्य और संरचना।
  • इसमें आपको अपने पूरी डिटेल्स भरनी है जैसे नाम, पैन, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी और राज्य भरें।
  • आपको अपने मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी पर एक ओटीपी आएगा, नेक्स्ट करने के लिए आपको ओटीपी फील करें।
  • आपको अपने मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी पर एक temporary reference number (TRN) प्राप्त होगा
  • टीआरएन का उपयोग करके जीएसटी पोर्टल में लॉग इन करें और आवेदन फॉर्म भरें।
  • डॉक्युमेंट अपलोड करें ।
  • एक बार आवेदन जमा हो जाने के बाद, एक जीएसटी अधिकारी प्रदान किए गए विवरण और दस्तावेजों को एक्सेप्ट करेगा।
  • इसके बाद आप ने सभी जानकारी सही से भरी होगी तो आपके एक्सेप्ट कर लिया जायेगा

जीएसटी के लिए आवश्यक दस्तावेज:

  • पैन कार्ड 
  • आधार कार्ड 
  • व्यवसाय पंजीकरण दस्तावेज़ 
  • पहचान और पता प्रमाण 
  • बैंक खाता विवरण 
  • फोटोग्राफ 
  • बिजनेस प्लेस प्रूफ
  • डिजिटल हस्ताक्षर 

जीएसटी पंजीकरण के लाभ

जीएसटी पंजीकरण के बाद, आप आरंभिक विक्रय आदि के लिए ई-कॉमर्स वेबसाइटों और अन्य विक्रय प्लेटफॉर्मों में अपने व्यवसाय को नेटवर्क में प्रवेश कर सकते हैं।
नाम ही काफी: जीएसटी पंजीकरण करने से आपके व्यवसाय को नाम के साथ साथ एक अलग पहचान भी मिलती है। यह आपके व्यवसाय को दूसरों से अलग बनाता है और आपके व्यवसाय को पहचानने में मदद करता है।
सरल टैक्स रजिस्ट्रेशन: जीएसटी पंजीकरण एक सरल Process होती है जो आपके व्यवसाय के लिए टैक्स रजिस्ट्रेशन की Process को सरल बनाती है। इससे आपको अन्य व्यवसायों के मुकाबले टैक्स रजिस्ट्रेशन के लिए कम समय लगता है। जीएसटी पंजीकरण करने के बाद, आपको नियमित रूप से टैक्स कम्प्लायंस संबंधित कार्य करना होगा।

जीएसटी पंजीकरण क्यों जरुरी है

  • कानूनी आवश्यकता: जीएसटी पंजीकरण करना विनियमों के अनुसार अनिवार्य है। इसके बिना, व्यवसाय के लिए नियमों का उल्लंघन किया जाता है जो उसे कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।
  • सरल टैक्स रजिस्ट्रेशन: जीएसटी पंजीकरण करने से, व्यवसाय को सरल टैक्स रजिस्ट्रेशन की Process का लाभ मिलता है। यह व्यवसाय के लिए टैक्स रजिस्ट्रेशन की Process को सरल बनाता है और उसे टैक्स रजिस्ट्रेशन के लिए कम समय लगता है।
  • वित्तीय लाभ: जीएसटी पंजीकरण करने से, व्यवसाय को टैक्स भुगतान से जुड़ी सभी छूट मिलती हैं जो उसे अन्यथा भुगतान करना होता है।
  • व्यवसाय को अन्य व्यवसायों से अलग बनाने में मदद: जीएसटी पंजीकरण के बाद, व्यवसाय को नाम के साथ साथ एक अलग पहचान भी मिलती है। इससे व्यवसाय को अन्य व्यवसायों से अलग बनाने में मदद मिलती है

जीएसटी के अलग-अलग रेट क्यों होते हैं?

जीएसटी (GST) भारत सरकार द्वारा लागू की गई एक कर है जो भारत में सभी वस्तुओं और सेवाओं पर लागू होती है। GST नेता कर व उत्पाद कर जैसी अन्य करों को एक समान और सरल कर सिस्टम में सम्मिलित करने का उद्देश्य रखती है।

GST एक संयुक्त कर है, जिसमें आमतौर पर तीन प्रकार के करों का जोड़ होता है: संयुक्त राज्य कर (CGST), राज्य कर (SGST) और एकीकृत कर (IGST)। CGST और SGST द्वारा कलेक्ट किया गया कर राज्य सरकारों को जाता है, जबकि IGST द्वारा कलेक्ट किए गए कर केंद्र सरकार को जाते हैं।

  • GST रेट का निर्धारण उत्पादों और सेवाओं के प्रकार पर आधारित होता है। उत्पादों की वस्तुओं के लिए निम्नलिखित GST दरें हैं:
  • 0 % GST: सामान्य जनजीवन के लिए अत्यंत जरुरी चीजों पर 0% GST में रखा जाता है। जैसे कि बिना पैकिंग वाले अनाज, ताजे फल, सब्जियां नमक, गुड़ वगैरह।
  • 5% GST: normal life में जरूरत वाली वस्तुओं और पदार्थों पर 5 प्रतिशत जीएसटी तय किया गया है। जैसे कि चीनी, चाय, काफी, कोयला, खाद्य तेल वगैरह।
  • 12% GST: वस्तुओं और पदार्थों पर 12 प्रतिशत जीएसटी लगता है। जैसे कि घी, उर्वरक, मोबाइल फोन, कप्यूटर वगैरह।
  • 18% GST: कम अनिवार्यता वाली वस्तुओं और पदार्थों पर 18 प्रतिशत जीएसटी तय किया गया है। जैसे कि टूथपेस्ट, साबुन, हेयर ऑयल वगैरह।
  • 28% GST: हानिकारक और विलासिता वाली कुछ वस्तुओं पर और पदार्थों पर 28 प्रतिशत जीएसटी तय किया गया है। जैसे कि जैसे कि फ्रिज, एसी, महंगी कारें आदि



निष्कर्ष

GST रजिस्ट्रेशन कैसे करें– यह तक दोस्तों आपने सीखा की GST रजिस्ट्रेशन कैसे करें  उम्मीद है आपको मेरा बताया गया तरीका अच्छा लगा होगा यदि आप ऐसे ही और हिंदी ब्लॉग पढ़ना चाहते हैं तो आप बिलकुल सही वेबसाइट पर आये है में अपने ऑडियंस को हिंदी में और फ्री में जानकारी देती हूँ यदि आप मेरी इस वेबसाइट के साथ ऐसे बने रहते है तो आपको टेक्नोलॉजी से जुड़े या अन्य जानकारिया ऐसे हिंदी हिंदी में जानने को मिलेगी इसके लिए आपको सबसे पहले JUGADME को सब्सक्राइब करना होगा जिससे आप तक मेरे बनाये गए पोस्ट आप तक आसानी से पहुंच जाये। और अपने रिश्तेदारों को जरूर शेयर करे। मुझे आपलोगो को सहयोग की अति आवश्यकता है।
धन्यवाद

यह भी पढ़े :-

RELATED ARTICLES
5 2 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Most Popular