Thursday, February 29, 2024
HomeComputer & TechnologyOMR क्या है

OMR क्या है

OMR क्या है

OMR क्या है-OMR का पूर्ण रूप होता है “Optical Mark Recognition”। यह एक प्रकार की तकनीक है जो आंकड़ों को दर्शाने और उन्हें स्कैन करने के लिए प्रयोग की जाती है। OMR प्रक्रिया के दौरान, एक स्कैनर का उपयोग करके एक स्पेशल पेपर शीट को स्कैन किया जाता है जिसमें छोटे गोल आकार के चिह्न होते हैं। ये चिह्न आंकड़ों को दर्शाते हैं जैसे कि सुविधाजनकता और अन्य पैरामीटर्स जो सर्वेक्षण या परीक्षा में उपयोग किए जाते हैं। OMR तकनीक अक्सर बैंक, शैक्षिक संस्थानों, आंकड़ों के संग्रह और अन्य संगठनों में उपयोग की जाती है।



OMR कैसे काम करता है

OMR तकनीक एक उच्च गुणवत्ता वाली आंकड़ा दर्शन तकनीक है जो सुविधाजनकता और अक्यूरेट रिजल्ट प्रदान करती है। OMR काम करने का तरीका निम्नलिखित होता है:

  • सबसे पहले, OMR पेपर को डिजाइन किया जाता है जो कि सुविधाजनकता और अक्यूरेट डेटा को दर्शाने के लिए उपयोग किया जाता है।
  • फिर इस पेपर को एक स्कैनर से स्कैन किया जाता है, जो विशेषताओं के आधार पर एक छवि उत्पन्न करता है।
  • इस छवि में, गोल चिह्नों को पहचाना जाता है और उन्हें उनकी स्थानों के आधार पर आंकित किया जाता है।
  • इसके बाद, सॉफ्टवेयर द्वारा OMR डेटा प्रोसेस होता है जो डेटा को विशेषताओं और स्थान के अनुसार सॉर्ट करता है।
  • अंत में, OMR सॉफ्टवेयर द्वारा एक रिपोर्ट तैयार की जाती है जिसमें आंकड़ों का सारांश और विस्तृत विश्लेषण शामिल होता है।

OMR का उपयोग कहाँ किया जाता है

OMR तकनीक का उपयोग इसके लिए किया जाता है कि बड़े संख्या में फार्म या पेपर पर जवाब दिए जाने की जरूरत होती है, जिसमें नंबर, टिकट, सर्वे फार्म, परीक्षा पेपर आदि शामिल होते हैं। निम्नलिखित कुछ क्षेत्रों में यह उपयोगी होता है:

  • परीक्षाओं में उपयोग: बड़ी संख्या में परीक्षाओं के लिए OMR शीट का उपयोग किया जाता है। इससे जवाब बॉक्सों में टिक प्रदान किए जाते हैं और उत्तर स्कैन करने के लिए योग्य होते हैं।
  • जांच-पड़ताल में: OMR टेक्नोलॉजी का उपयोग जांच-पड़ताल में भी किया जाता है, जहाँ लाखों फॉर्मों की जांच-पड़ताल की जाती है।
  • ज्ञान-आधारित परीक्षाओं में: ज्ञान-आधारित परीक्षाओं में भी OMR शीट का उपयोग किया जाता है, जैसे कि व्यापक विवरण और चयन संबंधी परीक्षाएं।
  • दक्षता विकास के लिए: OMR टेक्नोलॉजी को दक्षता विकास के लिए भी उपयोग किया जाता है।

OMR कैसे भरते है

OMR फॉर्म भरने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन किया जाना चाहिए:

  • अपने पास उपलब्ध ओएमआर फॉर्म को पढ़ें और उसमें उपलब्ध सभी जानकारी को ध्यान से पढ़ें।
  • फॉर्म के नाम, रोल नंबर, तारीख आदि विवरण जैसे टेक्स्ट फील्ड में अपनी जानकारी भरें।
  • OMR सर्किल में अपना उत्तर देने के लिए होता है, अपने सम्मति या जवाब के अनुसार सर्किल को भरके देते है । एक बार सर्किल भर देने के बाद आप उसे बदल नहीं सकते हैं, इसलिए सवाल के उत्तर के सर्किल को ध्यानपूर्वक भरें।
  • OMR फॉर्म भरने के बाद, आपको दिए गए जवाब प्रतिस्थापन पृष्ठ पर उत्तर की जाँच करनी चाहिए।
  • फॉर्म को अपने उद्देश्य के लिए उपयुक्त विभाग में जमा करें।

इस प्रकार, आप OMR फॉर्म भर सकते हैं। यह अत्यंत आसान होता है और आप अधिकांश स्कूल, कॉलेज, और प्रतियोगी परीक्षाओं में OMR फॉर्म का उपयोग देख सकते हैं।



OMR किसके द्वारा Read किया जाता है

OMR स्कैनर के द्वारा इसे Read किया जाता है।

OMR के फायदे

OMR या Optical Mark Recognition बहुत से फायदों के साथ आता है। इनमें से कुछ निम्नलिखित हैं:

  • त्वरित और अक्षमता कम करना: OMR टेक्नोलॉजी अपेक्षाकृत त्वरित और अक्षमता को कम करता है जो कि बड़ी संख्या में जवाब देने के लिए दर्शाता है। इससे समय और ऊर्जा बचाई जाती है।
  • त्रुटि मिनिमाइज करना: OMR टेक्नोलॉजी से त्रुटि की संभावना कम होती है जो दस्तावेजों में लिखित जवाब के मुक़ाबले कम होती है।
  • एकीकृत विवरण: OMR टेक्नोलॉजी का उपयोग एकीकृत जवाब प्रदान करने के लिए किया जाता है। इससे डेटा को समझना और उसे संशोधित करना अधिक सरल होता है।
  • सुरक्षित जवाब: OMR टेक्नोलॉजी सुरक्षित जवाब प्रदान करता है जो उस दस्तावेज में संग्रहीत होता है। इससे जांच-पड़ताल में भी सुरक्षित रखा जाता है।
  • ऊर्जा का कम लगना : OMR टेक्नोलॉजी दस्तावेजों के उत्तर को स्कैन करने के लिए इलेक्ट्रिसिटी की खपत को कम करता है।

OMR के नुकसान

OMR (Optical Mark Recognition) तकनीक के कुछ नुकसान निम्नलिखित हैं:

  • ओएमआर फॉर्म भरने के दौरान बबल को गलत भर देने से त्रुटि हो सकती है, जो अंततः गलत परिणाम देती है।
  • ओएमआर फॉर्म एक ही टाइप के पेपर और पेंसिल के साथ उपयोग किया जाता है, इसलिए यदि कोई अन्य पेंसिल या मार्कर का उपयोग कर दिया जाता है तो यह ओएमआर फॉर्म को अपस्वीकार कर सकता है।
  • ओएमआर फॉर्म की अनुपयुक्त छायांकन तकनीक के चलते, यह अस्पष्ट या अच्छी तरह से उत्तर नहीं ले पाता है।
  • जिस प्रकार से ओएमआर फॉर्म टेक्नोलॉजी काम करती है, वह उत्तर का अनुमान लगाती है, जिससे इसके परिणामों में त्रुटि होने का खतरा होता है।
  • ओएमआर फॉर्म को छायांकन करने के लिए उचित फ़ाइल साइज या रेजोल्यूशन न होने की स्थिति में इसके परिणामों में गलतिया होने की संभावना रहती है।

RELATED ARTICLES
5 7 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Most Popular