Thursday, February 29, 2024
HomeBloggingBounce Rate क्या है और इसे कैसे कम करे?

Bounce Rate क्या है और इसे कैसे कम करे?

Bounce Rate क्या है

Bounce rate एक वेब मेट्रिक है जो वेबसाइट पर ट्रैफिक की गुणवत्ता को मापता है।Bounce Rate क्या है

अर्थात, जब एक दर्शक आपकी वेबसाइट पर आता है और फिर उन्हें अन्य कोई पृष्ठों का दौरा नहीं करना पड़ता है, तो वह दर्शक bounce करते हुए माना जाता है। यह उन दर्शकों की संख्या को दर्शाता है जो केवल एक ही पृष्ठ पर आए और फिर वहां से ले जाए गए हैं।

जबकि उच्च bounce rate से संबंधित विभिन्न कारण हो सकते हैं, जैसे कि वेबसाइट का अविश्वसनीय लेआउट, बाध्यकारी सॉल्वर, वेबसाइट लोडिंग की देरी या अधिक बाउंस करने वाले पृष्ठों पर नवीन या दुर्लभ सामग्री की कमी।




Bounce Rate कितना होना चाहिए

बाउंस रेट को एक वेबसाइट या ब्लॉग के लिए मापने का एक तरीका होता है। इसे जांच करने के बाद, बाउंस रेट को संदर्भ में लेते हुए, यह निर्भर करता है कि आपकी वेबसाइट का उद्देश्य क्या है। एक ऐसी वेबसाइट जो एक लैंडिंग पेज पर निर्भर होती है, उसके बाउंस रेट को कम होना चाहिए। दूसरी ओर, जब आपकी वेबसाइट पर एकल उत्तर वाली पोस्ट या आलेख होता है, तो उसके लिए बाउंस रेट का उच्च होना स्वाभाविक होता है।

एक अच्छा बाउंस रेट क्या होता है, इसका कोई स्थापित स्तर नहीं होता है, हालांकि आमतौर पर एक अच्छी वेबसाइट के लिए एक बाउंस रेट 40% से कम होना चाहिए। इसका मतलब है कि आपकी वेबसाइट पर आने वाले 100 उपयोगकर्ताओं में से कम से कम 60 उपयोगकर्ताएं अपने दूसरे पृष्ठों पर जाना चाहेंगे। बाउंस रेट कम होने से आपकी वेबसाइट का ट्रैफिक बढ़ता है और अधिक उपयोगकर्ताओं को आपकी वेबसाइट को खोजने में मदद मिलती है।

किन गलतिओं से Website या Blog की Bounce Rate ज्यादा होता है

  • वेबसाइट धीरे लोड होना
  • कंटेंट का ज्यादा अच्छा न होना
  • वेबसाइट का डिज़ाइन अच्छा न होना
  • टाइटल का दमदार न होना
  • वेबसाइट में कंटेंट को सही से न समझाना
  • इंटरनल लिंक सही से न लगाना




Bounce Rate को कम कैसे करें?

बाउंस रेट कम करने के लिए निम्नलिखित टिप्स अनुसरण किए जा सकते हैं:

  • अच्छे शीर्षक: अपनी वेबसाइट या ब्लॉग पोस्ट के लिए आकर्षक और संगत शीर्षक बनाएं। शीर्षक उपयोगकर्ताओं को अपनी वेबसाइट पर रखने में मदद कर सकते हैं।
  • अच्छी वेबसाइट स्पीड: उपयोगकर्ताओं को अपनी वेबसाइट के लंबे लोडिंग समय से बचाएं। वेबसाइट की स्पीड को बढ़ाने के लिए आप वेब होस्टिंग कंपनी बदल सकते हैं, वेबसाइट को कैश कर सकते हैं या कम्प्रेस कर सकते हैं।
  • अच्छा डिजाइन: आपकी वेबसाइट का डिजाइन स्पष्ट और अनुरूप होना चाहिए। अपनी वेबसाइट के लेआउट को संगठित और स्पष्ट बनाएं।
  • अंतर्जातीय लिंक: उपयोगकर्ताओं को अंतर्जातीय लिंक उपलब्ध कराएं। अंतर्जातीय लिंक उपयोगकर्ताओं को अधिक सामग्री देखने के लिए प्रेरित कर सकते हैं।
  • अधिक आकर्षक सामग्री: अपनी वेबसाइट पर अधिक आकर्षक सामग्री जोड़ें जो उपयोग में आ सके।
  • लोडिंग पेज का टाइम काम रखे : लोडिंग पेज का टाइम काम रखने से यूजर काम समय में आपकी वेबसाइट पर विजिट केर पाएगा।
  • अपने कंटेंट को आसान शब्दो में लिखे : जिससे यूजर आपके कंटेंट को आसानी से समाज सके।
  • अपने लिखे गए कंटेंट को ज्यादा अट्रैक्टिव बनायें : जिससे ज्यादा यूजर attract हो और एडिटिंग का भी उसे करें।
  • कंटेंट से रिलेटेड इमेजेज और फोटो का उपयोग करना : जिससे यूजर को हमारे द्वारा दिए गयी जानकारी अच्छी तरह समाज आए।
    इसलिए, किसी भी वेबसाइट के लिए bounce rate को कम करना एक महत्वपूर्ण मिशन होता है, जिससे वह अपने दर्शकों को एक बार आने के बाद वेबसाइट पर रुकने के लिए प्रोत्साहित कर सके।

RELATED ARTICLES
5 7 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Most Popular