Diode क्या है और Diode के प्रकार

Diode क्या है और Diode के प्रकार-हेल्लो दोस्तों आज हम Diode क्या है और Diode के प्रकार के बारें बताएँगे –

Diode क्या है ?

Diode क्या है और Diode के प्रकार-Diode एक प्रकार का इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है जो विद्युत वर्तुलों को आगे या पीछे की ओर अनुमति देता है। इसका उपयोग अधिकतर अलग-अलग प्रकार के विद्युत उपकरणों में समायोजित किया जाता है।

यह उपकरण एक प्रकार का अर्द्ध संचारक होता है, जिसे अनुपातिक आर-पी के प्रति विद्युत वृद्धि का प्रतिक्रियाशीलता कहा जाता है। जब एक Diode पूर्ववर्ती विद्युत वर्तुल के साथ लगाया जाता है, तो यह आवेदन की गई उच्चतम आवेदन वॉल्टेज से आवेदन करने की अनुमति नहीं देता है। इसके बजाय, यह विद्युत वर्तुलों को आगे या पीछे की ओर बाईस द्वारा विद्युत वृद्धि करने की अनुमति देता है।



Diode को विद्युतीय संरचनाओं, जैसे सॉलर पैनल, एलईडी, पावर सप्लाई, रेडियो, कंप्यूटर, स्मार्टफोन, टेलीविजन और अन्य उपकरणों में उपयोग किया जाता है।

Diode कैसे काम करता है ?

Diode क्या है और Diode के प्रकार-Diode एक प्रकार का अर्ध संचारक होता है, जो विद्युत वर्तुलों को आगे या पीछे की ओर अनुमति देता है। यह उपकरण दो प्रकार के प्रतिरोध होते हैं – एक एकल प्रतिरोध Diode और दूसरा विस्तार प्रतिरोध Diode।

एकल प्रतिरोध Diode में, Diode की संरचना दो विशेष प्रतिरोध क्षेत्रों से मिलकर बनी होती है। एक प्रतिरोध क्षेत्र, जो उत्तेजित होता है, विद्युत वर्तुलों को आगे की ओर अनुमति देता है, जबकि दूसरा प्रतिरोध क्षेत्र, जो अव्यवहार्य होता है, विद्युत वर्तुलों को अपनी पूर्ववर्ती निर्देशित करता है। इस प्रकार, एकल प्रतिरोध Diode विद्युत वर्तुलों को एकमात्र दिशा में बाईस करता है।




विस्तार प्रतिरोध Diode में, एक प्रतिरोध क्षेत्र के साथ एक सीधा-अवरुद्ध प्रतिरोध क्षेत्र भी मिलता है। इस प्रकार, यह Diode बड़े विद्युत वाले अंशों को बाईस करने की अनुमति देता है।

Diode का क्या काम है ?

Diode क्या है और Diode के प्रकार-Diode एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है जो विद्युत धारा को एकमात्र दिशा में पास करता है। यह प्रतिरोध कार्य करता है, यानी यह एक दिशा में संचारित विद्युत धारा को अन्य दिशा में संचारित विद्युत धारा से अलग करता है। इस प्रकार, Diode इलेक्ट्रॉनिक विद्युत उपकरणों के भीतर एक अहम घटक होता है।

Diode के अन्य उपयोगों में शामिल होते हैं:

  • सुधारण Diode: सुधारण Diode के उपयोग से अलग-अलग विद्युत स्तरों को संभव होने पर इकट्ठा किया जाता है।
  • LED (Light Emitting Diode): LED एक प्रकार का Diode होता है जो प्रकाश उत्सर्जित करता है।
  • सूचक Diode: सूचक Diode का उपयोग विद्युत वर्तुलों के स्थिति या धार्मिक रूप से अचानक उछालों के संदेश के लिए किया जाता है।
  • जंक्शन फिल्टर Diode: यह Diode सिग्नल विश्लेषण में उपयोग किया जाता है ताकि उसमें मौजूद अतिरिक्त विद्युत घटकों को दूर किया जा सके।

Diode के प्रकार ?

Diode कई प्रकार के होते हैं। निम्नलिखित कुछ प्रमुख Diode हैं:

  • जंक्शन Diode: यह सबसे सामान्य प्रकार का Diode होता है जो प्रत्येक इलेक्ट्रॉनिक्स उत्पाद में उपलब्ध होता है। यह दो प्रकार के परमाणुओं के आपसी जंक्शन पर आधारित होता है जो पॉजिटिव और नेगेटिव धारा के साथ काम करते हैं।
  • एमपीटी Diode: एमपीटी Diode, या एमटीजी Diode, काम विस्तार के लिए उपलब्ध होते हैं जैसे कि माइक्रोवेव फ्रीक्वेंस एमपीटी और रेडियो फ्रीक्वेंस एमपीटी Diode। यह Diode उच्च तरंग अनुकूलन क्षमता वाले होते हैं जो उच्च तरंगों पर काम करते हैं।
  • शॉट्की Diode: शॉट्की Diode विशेष रूप से अनुकूलन के लिए डिजाइन किए गए हैं। यह Diode निम्न अवधि में उच्च तरंग के संकेतों के लिए उपयुक्त होते हैं जो सामान्य शॉट्की बारिकर या परमाणु बारिकर द्वारा नहीं उत्पन्न होते हैं।

Ideal Diode क्या होता है ?

Diode क्या है और Diode के प्रकार-Ideal Diode (Ideal diode) एक धातु अविचलित Diode होता है जो पूरी तरह से अनुपातित होता है। इसे एक निष्क्रिय वस्तु के रूप में भी जाना जाता है। आईडल Diode को अनिवार्य रूप से समान Diode के साथ तुलना नहीं किया जा सकता है, जो अनुमानित विद्युत विघटक और विद्युत वर्तुळों के कारण तथा अन्य फिजिकल विशेषताओं के कारण संभव नहीं होता है।

आईडल Diode को कुछ समझने के लिए एक आसान तरीका है कि यह एक निष्क्रिय स्विच के रूप में कार्य करता है, जो अपनी वर्तमान वस्तु के रूप में एक अनुमानित विद्युत विघटक से भिन्न होता है। इसका उपयोग आमतौर पर संचार प्रणालियों और विद्युत प्रणालियों में किया जाता है जहां इसे एक संचार या विद्युत प्रणाली में एक अनुमानित विद्युत विघटक के रूप में उपयोग किया जाता है जो संचार या विद्युत वर्तुळ को संभव नहीं बनाता है।

Also Read:-

SSD और HDD में अंतर क्या है

Generation of Computer Explain in hindi

कंप्यूटर का उपयोग किन किन क्षेत्रों में किया जाता है?

Ideal Diode Characteristics क्या हैं ?

आईडल Diode के विशेषताएं (Ideal diode characteristics) निम्नलिखित होती हैं:

  • एकाग्रता (Unity forward voltage) – आईडल Diode को एकाग्रता वोल्टेज के साथ जोड़ा जाता है, जिससे इसे फॉरवर्ड बाइयास किया जाता है। आईडल Diode के पास एक निर्दिष्ट एकाग्रता वोल्टेज होती है जो उसके प्रथम एनोड और कैथोड में निर्दिष्ट होती है।
  • असततता (Zero reverse current) – आईडल Diode का प्रतिलोम धारा शून्य होता है, जिससे उसे रिवर्स बाइयास किया जाने पर भी कोई विद्युत धारा नहीं होती है।
  • अविचलित विघटक (Constant voltage drop) – आईडल Diode के पास एक निर्दिष्ट फॉरवर्ड बाइयास वोल्टेज होती है, जो इसके फॉरवर्ड रो को निर्दिष्ट करती है। यह विघटक संभव नहीं होता है कि किसी अन्य Diode में पाया जाए।
  • बिना संशोधन (No modification required) – आईडल Diode को एक मानक Diode के साथ तुलना नहीं किया जा सकता है जो कम से कम कुछ संशोधनों की आवश्यकता होती है। यह Diode अपने स्वयं के गुणों के आधार पर काम करता है।

5 3 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments