Thursday, June 20, 2024
HomeBloggingGoogle BERT Algorithm क्या है? BERT से सम्बंधित सारी जानकारी

Google BERT Algorithm क्या है? BERT से सम्बंधित सारी जानकारी

Google BERT Algorithm क्या है-नमस्कार दोस्तों आज में माही आपको बताने वाली हूँ की  Google BERT Algorithm क्या है?  क्या आप लोग जानते है इस टॉपिक के बारे में यदि नहीं तो आप इस मेरे ब्लॉग पोस्ट के जरिये जान जायेगे। 

BERT का फुल फॉर्म क्या है (BERT Full Form)

Google BERT Algorithm क्या है-BERT का फुल फॉर्म Bidirectional Encoder Representations From Transformer है जिसे हम  हिंदी में ट्रांसफॉर्मर से द्विदिश एनकोडर प्रतिनिधित्व कहते हैं.

आपको अभी BERT की फुल फॉर्म बहुत मुश्किल  लग रही होगी लेकिन चिंता मत करिए, इस आर्टिकल को अंत तक पढने पर आप BERT को अच्छे से समझ जायेंगें.



Google BERT Algorithm क्या है?

  • Google BERT नेचुरल लैंग्वेज प्रोसेसिंग (NLP) के लिए गूगल सर्च इंजन का एक अल्गोरिथम है जिसे कि गूगल की AI टीम ने बनाया है. BERT किसी यूजर के द्वारा की गयी Query को नेचुरल तरीके से समझकर उसे सबसे बेस्ट रिजल्ट दिखाता है.
  • गूगल के अनुसार BERT अल्गोरिथम ह्यूमन के द्वारा सर्च की जा रही Query को Normal Human की तरह समझने में गूगल की मदद करता है. BERT अल्गोरिथम की मदद से गूगल पर Query करने वाले यूजर को उसकी Query से Exact Match कंटेंट मिल सकता  हैं.
  • कोई भी सर्च इंजन या कंप्यूटर सिस्टम इंसान की भावनाओं को समझ पाते हैं, क्योंकि इसमें केवल लैंग्वेज नॉलेज की जरुरत नहीं होती है बल्कि Query के इमोशन, कल्चर, कंडीशन को भी समझना होता है. और kai बार Same Sentence के कई मतलब हो सकते हैं.
  • लेकिन Google BERT यूजर के द्वारा की गयी Query के Words को समझकर यह पता लगा सकता है कि यूजर ने किस इमोशन, कंडीशन, रेफेरेंस या कल्चर के साथ Query की है. और फिर उसी के according सबसे सटीक रिजल्ट यूजर को दिखाता है.

Natural Language Processing क्या है?

Natural language processing (NPL) एक आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस होता है जिसका उद्देश्य कंप्यूटरों को मनुष्यों के नेचुरल रूप से कम्यूनिकेट करने के तरीके को समझने में सफल  बनाना है. NPL के कुछ उदाहरण Chatbot, स्मार्टफोन में Word Suggestion अगर  हैं.

Google BERT का इतिहास

BERT Algorithm कोई बहुत ज्यादा पुराना नहीं है. BERT को गूगल की AI Team ने नवम्बर 2018 को बनाकर रिलीज़ किया था. लेकिन गूगल में अपने सर्च सिस्टम में 21 अक्टूबर, 2019 से रोल आउट करना शुरू किया.

शुरुवात में BERT को अमेरिका में केवल इंग्लिश लैंग्वेज में 10 प्रतिशत Search Query के साथ शुरू किया गया था. लेकिन धीरे – धीरे गूगल ने BERT को और भी भाषाओं की Search Query में भी रोल आउट किया. आज Google BERT हिंदी, अंग्रेजी समेत दुनियाभर की 70 भाषाओं की Search Query में अच्छे से काम

करता है.

इन 70 भाषाओं में कई सारी भारत की क्षेत्रीय भाषायें भी शामिल हैं जिसमें गुजरती, मराठी, तमिल, तेलगु, कन्नड़ आदि भाषाएँ  हैं.

BERT से पहले भी गूगल एक पास बहुत  सारे लैंग्वेज प्रोसेसिंग मॉडल थे, लेकिन वे इतनी अधिक सटीकता से सर्च क्वेरी को नहीं समझ पाते थे. BERT काफी accuracy से सर्च क्वेरी को समझ सकता है

Google BERT कैसे काम करता है?

Google BERT के काम करने के तरीके को अच्छी से समझने के लिए हमें इसके हर एक word को अच्छे से समझने की जरुरत है.

  • BERT का पहला word है “Bidirectional” इसका मतलब होता है दो डायरेक्शन वाला. BERT से पहले जितने भी लैंग्वेज मॉडल थे वे सभी word को या तो right से left की ओर पढ़ते थे या फिर left से right की ओर. लेकिन BERT दोनों डायरेक्शन में word को समझ सकता है.
  • उदाहरण के लिए एक शब्द है Bank. अगर इसके आगे “Account” जोड़ दिया तो इसका मतलब है कि Bank Account की बात हो रही है, और अगर इसके आगे “Of River” लगा दिया जाये तो इसका मतलब नदी के किनारे की बात हो रही है.
  • यहाँ पर Bank शब्द में कोई बदलाव नहीं हो रहा है बस उसके आगे के शब्दों में बदलाव हो रहा है. Bank के आगे लिखे जाने वाले शब्दों से इसका पूरा मतलब बदल जा रहा है इसे ही Bidirectional कहा जाता  हैं.
  • अब समझते हैं, Encoder Representations From Transformer को. नेचुरल लैंग्वेज प्रोसेसिंग में Transformer का मतलब होता है दो या दो से अधिक शब्दों के रिलेशन को समझना. इसके भी दो पार्ट होते हैं एक Encoder और दूसरा Decoder.
  • Encoder का मतलब होता है किसी टेक्स्ट को पढ़कर उसके मतलब को समझना और Decoder का मतलब होता है किसी टेक्स्ट को पढ़कर बहुत सारे टेक्स्ट बना देना. Encoder Representations का मतलब होता है Encoder ने सेंटेंस का जो मतलब  उसे बताना.
  • इस प्रकार से अगर हम BERT को एक लाइन में कहें तो Transformer ने किसी सेंटेंस का दोनों डायरेक्शन में जो मतलब समझा है उसको परिभाषित करना. यानि यूजर गूगल सर्च इंजन में जो भी Query करता है BERT उसे समझकर accuracy के साथ रिजल्ट यूजर को दिखाता है.
  • BERT केवल Encoder है Decoder नहीं, यानि कि BERT टेक्स्ट के आधार पर कोई नया कंटेंट जनरेट नहीं कर सकता है यह केवल दिए गए टेक्स्ट को समझ सकता है.

Google BERT क्या कर सकता है?

]Google BERT नेचुरल प्रोसेसिंग लैंग्वेज में मुश्किल टास्क  हैंडल कर सकता है. BERT के द्वारा किये जाने वाले कुछ काम निम्नलिखित हैं.

  • किसी भी Movie या प्रोडक्ट का Review Positive है या Negitive इसे BERT समझ सकते हैं.
  • किसी बड़े से आर्टिकल की Summery को बनाना.
  • किसी भी Text की Predict करना. जैसे आप कोई word टाइप कर रहे हैं तो कीबोर्ड बता देता है कि आप आगे क्या टाइप करने वाले हैं.
  • Chatbot के लिए Question को Natural तरीके से answer करना.
  • किसी भी टॉपिक पर कंटेंट को लिख सकता है.
  • Speech से Text को ट्रांसक्रिप्ट कर सकता है.
  • हरासमेंट वाले कंटेंट को डिटेक्ट कर सकता है.
  • BERT यूजर की Query को बेहतर तरीके से समझ सकते है और उसके अनुसार बेस्ट रिजल्ट दिखा सकता है.
  • ये सभी कुछ प्रमुख कार्य हैं जिन्हें Google BERT कर सकता है.

BERT के लिए अपनी वेबसाइट में क्या बदलाव करें?

BERT के लिए आपको अपने कंटेंट में कुछ ख़ास बदलाव नहीं करने हैं जैसे आप कंटेंट लिख रहे हैं वैसे ही लिखते हैं. BERT का काम Search Query को समझना है, यह केवल Search Query के लिए apply किया जाता है.

BERT अल्गोरिथम गूगल ने अपने सर्च रिजल्ट को बेहतर बनाने के लिए लांच किया है जिससे कि यूजर को बेस्ट एक्सपीरियंस मिल सके. एक कंटेंट क्रिएटर को अपने कंटेंट में किसी भी प्रकार से बदलाव करने की जरुरत नहीं है. आप बस Quality Content अपने ब्लॉग पर पब्लिश करते रहें.

क्या BERT Feature Snippet को प्रभावित करता है?

  • जी हाँ BERT से गूगल Feature Snippet में दिखाये जाने वाले रिजल्ट को प्रभावित कर सकता है, क्योंकि BERT का मुख्य मकसद यही है कि यूजर की Query को अच्छे से समझकर उसे सबसे बेस्ट रिजल्ट दिखाना.
  • Feature Snippet वह सेक्शन होता है जिसमें गूगल यूजर की Query का Quick Result सर्च इंजन रिजल्ट पेज के सबसे टॉप में दिखाता है. यह रिजल्ट गूगल खुद से जनरेट नहीं करता है बल्कि उस Query से relevant वेबपेजों से ही दिखाता है.
  • अगर आपके आर्टिकल में यूजर की Query का सबसे बेस्ट answer होगा तभी आपकी वेबसाइट Feature Snippet में दिखाई जायेगी.
  • यहां तक यह  पोस्ट फिनिश होता ह।  ऐसे  ही और जानकरी जानने  के  लिए सबसे पहले  jugadme in को  सब्सक्राइब  करे जिससे  में माहि आपके  लिए कोई नया  ब्लॉग पोस्ट बनाउ आप तक पहुंच सके  thanks

 

 

RELATED ARTICLES
5 2 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Most Popular