Wednesday, May 22, 2024
HomeBloggingHTML क्या है और कैसे काम करता है?

HTML क्या है और कैसे काम करता है?

HTML क्या है और कैसे काम करता है?- क्या आप भी html के बारे में जानना चाहते है तो आप html के tags को समझना जरुरी है क्योकि इन्ही tags की मदद से आप design और structure बना सकते है html हाइपरटेक्स्ट मार्कअप भाषा या HTML वेब ब्राउज़र में प्रदर्शित होने के लिए डिज़ाइन किए गए दस्तावेज़ों के लिए मार्कअप भाषा है।





HTML में 3 तरीके के टेक्स्ट एडिटर की Use किया जाता है उसमें से कुछ फ्री होते हैं और कुछ आप ऐसे ही यूज कर सकते हैं और कुछ ऐसे सॉफ्टवेयर है जिसको आप को खरीदना पड़ता है तो आज हम आपको इसके बारे में भी कवर करने वाले हैं और कैसे आप इस टेक्स्ट एडिटर का इस्तेमाल कर सकते हैं पूरी जानकारी आपको मिलेगी तो सबसे पहले यह जानते हैं  What is HTML in Hindi

HTML क्या है 

HTML मारकप लैंग्वेज है जिसकी वजह से हम एक स्ट्रक्चर बना सकते हैं सरल भाषा में बताएं तो जब आपने किसी Website को बनाया है उस Website का नाम किस जगह और उसके अंदर तो कंटेंट किस जगह होना चाहिए वह इस तरीके से स्ट्रक्चर होता है और आप लोग आप सोच रहे होगे की Website बनाने के लिए केवल HTML का Use होता है तो ऐसा नहीं है इसके लिए आपको सीएसएस और वीएस कोड जैसे पहले हमने वीएस कोड इंस्टॉल कैसे करते हैं उसके बारे में बता रखा है यदि आप उसको एक्सप्लोर करना चाहते हैं तो कर सकते हैं तो यहां तक दोस्तों आप लोग समझ चुके हो गए तो आइए आगे जानते हैं

HTML के 3 Text Editor 

HTML में 3 टेक्स्ट एडिटर की जरूरत होती है इसके बारे में आपको पहले ही बता चुके हैं तो सबसे पहले आपको फ्री सॉफ्टवेयर के बारे में बता देते जो आपको इंस्टॉल करना है

Froala

Download Froala  

Froala यह एक ऑनलाइन टेक्स्ट एडिटर है जो कि आपको फ्री में Website से इंस्टॉल कर सकते हैं इसमें आप इमेजेस और प्लगइन इंस्टॉल कर सकते हैं इसमें आपको एक बेसिक फॉर्म फिल करना होता है इसके बाद आप आसानी से इंस्टॉल कर सकते हैं  सेकंड टेक्स्ट एडिटर है

Ultra Editor

Download UltraEdit

इसका काम प्रोफेशनल होता है यानी कि आप फ्रीलांसिंग करते हैं उससे आपको Website बनानी है तो आप इस टेक्स्ट एडिटर का यूज कर सकते हैं यह Paid Software है

 VS Code

अब बात आती है वीएस कोड की तो हम जब किसी कोडिंग लिखने के लिए वीएस कोड का Use करना जरूरी होता है आप अपने कंप्यूटर में नोटपैड पर भी HTML फाइल बना सकते हैं परंतु जो फीचर वीएस कोड देता है वह फीचर आपको नोटपैड पर नहीं मिलेगा

तो आपको भी वीएस कोड डाउनलोड करना चाहिए डाउनलोड करने का पूरा प्रोसीजर पहले पोस्ट में अपने आप को डिस्कस का रखा है वहां से आप देख सकते कैसे इंस्टॉल करना है 

HTML का फुल फॉर्म क्या है

HTML का फुल फॉर्म “Hypertext Markup Language” होता है।

HTML कैसे काम करता है?

HTML Web Page को बनाने और उसकी structure को दिखाने के लिए उपयोग किए जाने वाले एक मानक भाषा है। एचटीएमएल दस्तावेजों की structure और उनके आकार को परिभाषित करता है जो Web browser द्वारा पढ़े जा सकते हैं।

HTML का उपयोग करके, Web Developer Web Page के Layout , structure, कंटेंट और तस्वीरें जैसे तत्वों को दर्शाते हैं। HTML Tag को उपयोग करके Web Page को Tag द्वारा परिभाषित किया जाता है। इन Tags में कुछ Tag शुरू करते हैं और कुछ Tag समाप्त करते हैं, जब अन्य Tag structure और स्वरूपण को परिभाषित करते हैं।

जब Web browser एक Web Page को लोड करता है, तो वह HTML को पढ़ता है और पूरे दस्तावेज को अपने उपयोगकर्ता इंटरफ़ेस में रेंडर करता है। browser यह समझता है कि किस तरह से पृष्ठ को दिखाना है जैसे कि शीर्षक, पैराग्राफ, हेडिंग, तस्वीरें, लिंक और फार्म इत्यादि।

एचटीएमएल का उपयोग

HTML का उपयोग Web Pages को बनाने और उन्हें structured करने में किया जाता है। HTML भाषा के द्वारा लिखे गए Tag को Web browser पढ़ सकता है और उस Web Page के रूप में दर्शाता है।

एचटीएमएल Web Pages के structureत्मक हिस्सों को परिभाषित करने के लिए उपयोग किया जाता है जैसे कि शीर्षक, अनुभाग, फ़ॉर्म, लिस्ट, टेबल, इमेज, लिंक आदि। HTML Tag का उपयोग करके आप अपने Web Page को बनाने और संपादित कर सकते हैं।

HTML का क्या Use होता है?

HTML (Hypertext Markup Language) Web Page बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। HTML का उपयोग करके Web Page को अलग-अलग हिस्सों में विभाजित करना संभव होता है जो कि एक Website पर सामग्री को structured करने में मदद करता है। HTML को स्ट्रक्चरल मार्कअप लैंग्वेज के रूप में भी जाना जाता है। HTML Web डेवलपमेंट में एक मूल भूमिका निभाता है जिससे आप Web Page को उपयोगकर्ता के लिए अनुकूल बना सकते हैं।

HTML में विशेषता क्या है

HTML में कुछ विशेषताएं हैं जो इसे अन्य मार्कअप भाषाओं से अलग बनाती हैं:

  • आसानी से सीधे टेक्स्ट एडिटिंग: HTML के अंतर्गत टेक्स्ट आसानी से एडिट किया जा सकता है, इसे browser में देखने में अत्यंत आसान होता है और संबंधित टेक्स्ट स्टाइल का उपयोग किए बिना टेक्स्ट को संबोधित किया जा सकता है।
  • मल्टीमीडिया सपोर्ट: HTML में मल्टीमीडिया सपोर्ट होता है, इससे अलग-अलग फॉर्मेट में फ़ाइलों को Web पृष्ठों में एम्बेड किया जा सकता है। यह अनुमति देता है कि आप अपने Web पृष्ठों में चित्रों, वीडियो, ऑडियो आदि शामिल कर सकें।
  • कंपोनेंट structure: HTML के अंतर्गत कंपोनेंट structure होती है जो इसे अन्य मार्कअप भाषाओं से अलग बनाती है। यह सुनिश्चित करता है कि Web पृष्ठ सहज तरीके से संगठित और प्रभावी होते हैं।

HTML के फायदे क्या है

  • सरलता: HTML को सीखना बहुत आसान है। यह मानक Tags का उपयोग करता है जो अधिकतर लोगों को समझ में आते हैं।
  • व्यापकता: HTML का उपयोग करके आप Web Page के लिए कुछ भी बना सकते हैं, चाहे वह एक साधारण टेक्स्ट Page हो या फिर उच्च गुणवत्ता वाला इंटरैक्टिव Web Page ।
  • साझा कोड: HTML का साझा कोड एक ही Page पर लगाया जा सकता है जो दुनिया भर के लोगों तक पहुंचता है। इससे आपकी साइट के लिए संबंधित संदेशों को अधिक आसानी से पहुंच मिलता है।
  • सुरक्षित: HTML सामान्यतः सुरक्षित होता है। एक HTML Page पर जो कुछ है, वह अकेले उस Page के लिए होता है।
  • त्वरित लोडिंग: HTML लाइटवेट होता है जो उच्च गति वाली Web Page लोड होने में मदद करता है। इससे विश्वसनीय और विनम्र संदर्भों के लिए समय की बचत होती है।

HTML Tags कैसा होता है?

HTML tags एक टैगिंग लैंग्वेज होते हैं जो Web डॉक्यूमेंट को structured करने के लिए उपयोग किया जाता है। HTML Tag एक शुरुआती Tag (<tag>) और एक समाप्ति Tag (</tag>) से मिलकर बनते हैं। शुरुआती Tag में Tag का नाम दिया जाता है, जबकि समाप्ति Tag में उसी नाम के साथ “/” जोड़ा जाता है। HTML Tag के बीच में Tag के नाम के आधार पर अतिरिक्त विशेषताएं या वस्तुएं डाली जाती हैं, जो Web Page को structured करने में मदद करती हैं।

उदाहरण के लिए HTML Tag हैं:

  • <html>: इस Tag का उपयोग एक HTML डॉक्युमेंट की शुरुआत करने के लिए किया जाता है।
  • <head>: इस Tag के बीच में, HTML डॉक्युमेंट के विभिन्न मेटा डेटा जैसे कि शीर्षक, browser टाइटल, लिंक और स्क्रिप्ट के बारे में जानकारी जोड़ी जाती है।
  • <body>: इस Tag के बीच में वास्तविक Web Page का संगठन किया जाता है, जो browser में प्रदर्शित होता है।

Tags लिखने के रूल:

HTML tags लिखने के कुछ नियम होते हैं, जिनका पालन करना बेहद जरूरी होता है। यहां कुछ महत्वपूर्ण नियम बताए जा रहे हैं:

  • सभी HTML Tags को छोटे अक्षरों में लिखा जाना चाहिए।
  • एक Tag को दूसरे Tag के अंदर लिखा नहीं जा सकता।
  • एक HTML Tag के आगे और पीछे के स्पेस को नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए।
  • Tag के बीच एक से अधिक स्पेस नहीं होने चाहिए।
  • कुछ Tags को एक बंद Tag से बंद करना जरूरी होता है।

इन नियमों का पालन करने से आपके HTML कोड को सही तरीके से प्रदर्शित करने में मदद मिलेगी और आपके ब्लॉग का लुक भी बेहतर होगा।







 HTML tags कितने प्रकार के होते हैं -Types of HTML tag?

HTML में बहुत से Tag होते हैं, जो विभिन्न Web Page एलिमेंट को डिफ़ाइन करते हैं। ये Tag कुछ निम्नलिखित श्रेणियों में समायोजित होते हैं:

  • Basic HTML tags: जैसे कि <html>, <head>, <body>, <title>, <meta>, <link>, <script>, <style>, <div>, <span> आदि।
  • Formatting tags: जैसे कि <b>, <i>, <u>, <em>, <strong>, <small>, <sup>, <sub> आदि।
  • Heading tags: जैसे कि <h1>, <h2>, <h3>, <h4>, <h5>, <h6> आदि।
  • List tags: जैसे कि <ul>, <ol>, <li> आदि।
  • Link tags: जैसे कि <a>, <href>, <target> आदि।
  • Image tags: जैसे कि <img>, <src>, <alt>, <title> आदि।
  • Table tags: जैसे कि <table>, <tr>, <th>, <td>, <thead>, <tbody>, <tfoot> आदि।
  • Form tags: जैसे कि <form>, <input>, <button>, <textarea>, <select>, <option>, <label> आदि।
  • Multimedia tags: जैसे कि <audio>, <video>, <source>, <iframe>, <embed>, <object> आदि।
  • Semantic tags: जैसे कि <header>, <footer>, <nav>, <article>, <section>, <aside> आदि।

List of HTML Tag with Description – HTML tags के लिस्ट description के साथ

  • <html> – HTML दस्तावेज़ का शुरुआती tag है।
  • <head> – डॉक्यूमेंट का शीर्षक, मेटा डेटा, या अन्य जरूरी जानकारी को समायोजित करता है।
  • <title> – दस्तावेज़ का शीर्षक Tag होता है। जो browser टैब या Page के ऊपर दिखाई देता है।
  • <body> – Web Page की मूल सामग्री का समूह दर्शाता है।
  • <h1> – शीर्ष स्तर का हेडिंग Tag है। अन्य स्तरों के लिए h2, h3, h4, h5, h6 Tag होते हैं।
  • <p> – अनुच्छेद का Tag होता है।
  • <a> – हाइपरलिंक का Tag होता है।
  • <img> – छवि Tag होता है।
  • <ul> – असूची Tag होता है।
  • <ol> – सूची Tag होता है।
  • <li> – सूची का आइटम होता है।
  • <table> – टेबल का Tag होता है।
  • <tr> – टेबल रो का Tag होता है।
  • <th> – टेबल हेडिंग का Tag होता है।
  • <td> – टेबल डेटा का Tag होता है।

एचटीएमएल का उपयोग कैसे करे

HTML का उपयोग WebPage के डिजाइन और स्ट्रक्चर को बनाने के लिए किया जाता है। इसके माध्यम से, आप WebPage पर टेक्स्ट, इमेज, वीडियो, लिंक, फॉर्म, बटन और अन्य विभिन्न एलीमेंट्स को संरचित तरीके से प्रदर्शित कर सकते हैं।

HTML को लिखने के लिए, आपको कोई भी plain text editor जैसे Notepad, Sublime Text, या Atom जैसा सॉफ्टवेयर या IDE जैसे Eclipse, Visual Studio Code इत्यादि उपयोग कर सकते हैं। आप अपनी WebPage को बनाने के लिए एचटीएमएल टैग का उपयोग करके पूर्ण संरचना और फॉर्मेटिंग कर सकते हैं।

इसके अलावा, आप ब्राउज़र के डेवलपर टूल का भी उपयोग करके किसी भी WebPage के HTML को देख सकते हैं और संपादित भी कर सकते हैं।

निष्कर्ष

यह तक दोस्तों आपने सीखा की HTML क्या है और कैसे काम करता है? उम्मीद है आपको मेरा बताया गया तरीका अच्छा लगा होगा यदि आप ऐसे ही और हिंदी ब्लॉग पढ़ना चाहते हैं तो आप बिलकुल सही वेबसाइट पर आये है में अपने ऑडियंस को हिंदी में और फ्री में जानकारी देती हूँ यदि आप मेरी इस वेबसाइट के साथ ऐसे बने रहते है तो आपको टेक्नोलॉजी से जुड़े या अन्य जानकारिया ऐसे हिंदी हिंदी में जानने को मिलेगी इसके लिए आपको सबसे पहले JUGADME को सब्सक्राइब करना होगा जिससे आप तक मेरे बनाये गए पोस्ट आप तक आसानी से पहुंच जाये। और अपने रिश्तेदारों को जरूर शेयर करे। मुझे आपलोगो को सहयोग की अति आवश्यकता है।
धन्यवाद

यह भी पढ़े :-

 

 

RELATED ARTICLES
5 1 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Most Popular