Saturday, February 24, 2024
HomeComputer & TechnologyLinux क्या है, इसका इतिहास और फायदे

Linux क्या है, इसका इतिहास और फायदे

Linux क्या है- दोस्तों आज में आपको बताने वाली हूँ की Linux क्या है, क्या आप लोग जानते है वैसे तो अपने कई बार इसका नाम सुना ही होगा पर क्या है Linux और इसके ऍप्लिकेशन्स और काम क्या करता है यानी आपको इसके पूरी जानकारी नहीं पता होगी आज में आपको इसकी पूरी जानकारी देने वाली हूँ आपको हिंदी में ब्लॉग पढ़ना पसंद है तो में आपको यही सलाह दूंगी की आपके लिए यह साइट्स काफी सिक्योर है में यूजर्स के लिए हिंदी में जानकारी देती हूँ जिससे मेरे बताई गयी जानकारी आपको अच्छे से समझ आ सके। तो आइए जानते है और समझते है की Linux क्या है

Linux क्या है

लिनक्स एक मुक्त और खुला स्रोत ऑपरेटिंग सिस्टम है जो कंप्यूटर तकनीकी में उपयोग किया जाता है। यह एक उदाहरण हैं ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए, जो कि स्रोत कोड के अधीन हैं, इसका अर्थ है कि उपयोगकर्ता संपादित विवरणों को संशोधित कर सकते हैं और संशोधन के अनुरूप स्वयं के विशेषज्ञ सॉफ्टवेयर बना सकते हैं। यह फ्रीडम के लिए एक संगठित प्रयास है, जो सॉफ्टवेयर के स्वतंत्र उपयोग के लिए दृष्टिकोण से आता है।



लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम क्या होता है परिभाषा

लिनक्स एक मुक्त और खुला स्रोत का ऑपरेटिंग सिस्टम होता है जो कंप्यूटर तकनीकी में उपयोग किया जाता है। यह सॉफ्टवेयर होता है जो कंप्यूटर हार्डवेयर के साथ काम करता है और उपयोगकर्ताओं को इंटरफेस उपलब्ध कराता है ताकि वे कंप्यूटर का उपयोग कर सकें। लिनक्स एक उदाहरण हैं ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए, जो कि स्रोत कोड के अधीन होता है, इसका अर्थ है कि उपयोगकर्ता संपादित विवरणों को संशोधित कर सकते हैं और संशोधन के अनुरूप स्वयं के विशेषज्ञ सॉफ्टवेयर बना सकते हैं। यह फ्रीडम के लिए एक संगठित प्रयास है, जो सॉफ्टवेयर के स्वतंत्र उपयोग के लिए दृष्टिकोण से आता है।

यह भी पढ़े

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है

ऑपरेटिंग सिस्टम एक सॉफ्टवेयर होता है जो कंप्यूटर के हार्डवेयर के साथ संचालित होता है और उपयोगकर्ताओं को एक इंटरफेस प्रदान करता है ताकि वे कंप्यूटर का उपयोग कर सकें। इसका उद्देश्य कंप्यूटर हार्डवेयर को संचालित करना होता है और सॉफ्टवेयर अनुप्रयोगों को चलाने में मदद करता है। ऑपरेटिंग सिस्टम उपयोगकर्ताओं को कंप्यूटर के लिए संदर्भ तथा संचालन प्रदान करता है, जो साधारणतया माउस, कीबोर्ड और मॉनिटर के द्वारा होता है।

Linux का Owner कोन है?

लिनक्स का मूल निर्माता और मालिक लिनस टोरवाल्ड्स (Linus Torvalds) हैं। उन्होंने 1992 में लिनक्स के विकास की शुरुआत की थी और उसे वोगले यूनिवर्सिटी में अपने स्टडी के दौरान बनाया था। लिनक्स एक ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर है जो लिनस टोरवाल्ड्स के द्वारा निर्मित और बनाए रखा जाता है।

Linux की शुरुवात कैसे हुई?

लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम का विकास लिनस टोरवाल्ड्स नाम के एक स्टूडेंट द्वारा 1992 में किया गया था। वो फिनलैंड के एक विश्वविद्यालय में पढ़ रहे थे और वहां उन्हें मिनिकॉमप ऑपरेटिंग सिस्टम पर काम करना था। लिनस को मिनिकॉमप ऑपरेटिंग सिस्टम में कुछ ऐसी कमियां दिखाई देती थी जो उसे ठीक नहीं लगती थी, तो उसने एक नया ऑपरेटिंग सिस्टम बनाने का फैसला लिया। वह इस नए सिस्टम को लिनक्स नाम दे दिया था। लिनक्स का मतलब है लिनस का ऑपरेटिंग सिस्टम। इसके बाद से लिनक्स के विकास में कई लोगों ने योगदान दिया और आज यह दुनिया के सबसे लोकप्रिय ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर बन गया है।

लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम की विशेषता

लिनक्स एक ओपन सोर्स ऑपरेटिंग सिस्टम है जो एक निःशुल्क रूप से उपलब्ध है। यह एक मजबूत और सुरक्षित सिस्टम है जो विभिन्न विशेषताओं के साथ आता है। इसकी एक मुख्य विशेषता है कि यह मूल रूप से एक टेक्स्ट-आधारित ऑपरेटिंग सिस्टम है, जो यूजर को कमांड लाइन इंटरफेस का उपयोग करके अपने कंप्यूटर को संचालित करने की अनुमति देता है। इसके अलावा, यह एक अत्यंत विस्तृत समुदाय द्वारा समर्थित होता है जो इसे लगातार अपग्रेड और सुधारते रहते हैं। इसकी सुरक्षा भी अन्य ऑपरेटिंग सिस्टमों से अधिक होती है और इसमें वायरस आक्रमण की संभावना कम होती है। इसके अलावा, यह खुला स्रोत होने के कारण उपयोगकर्ताओं को इसे अपनी जरूरतों और पसंद के अनुसार समायोजित करने की स्वतंत्रता प्रदान करता है।




लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम के फायदे

लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम के कई फायदे हैं। नीचे कुछ मुख्य फायदों की सूची दी गई है:

Portable: लिनक्स एक मुक्त और खुला स्रोत सॉफ्टवेयर है, जिससे उपयोगकर्ताओं को संशोधित करने और समायोजित करने की स्वतंत्रता मिलती है।

Open Source: लिनक्स एक अत्यंत सुरक्षित सिस्टम है, जो वायरस आक्रमण की संभावना कम करता है। इसमें आधारभूत सुरक्षा विशेषताएं होती हैं, जैसे कि यूजर अकाउंट कन्ट्रोल, फायरवॉल, और डाटा एन्क्रिप्शन।

Multi-User: लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम कम लागत वाला होता है। इसे निःशुल्क डाउनलोड और उपयोग किया जा सकता है और इसके लिए अतिरिक्त लाइसेंस फीस नहीं होती है।

Multiprogramming: लिनक्स सिस्टम एक उत्पादकता केंद्रित सिस्टम है। इसमें कई टूल्स और एप्लीकेशन होते हैं, जो उपयोगकर्ताओं को काम करने में मदद करते हैं।

लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम के नुकसान

लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम के कुछ नुकसान हैं। नीचे कुछ मुख्य नुकसानों की सूची दी गई है:

लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम नए उपयोगकर्ताओं के लिए थोड़ा मुश्किल हो सकता है। यह एक बहुत उन्नत ऑपरेटिंग सिस्टम होता है और उसे सीखने के लिए कुछ समय लग सकता है।

कुछ समयों में, लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ संगतता की समस्याएं हो सकती हैं। यह उपयोगकर्ताओं को अनुपयुक्त एप्लीकेशन का चयन करने के लिए मजबूर कर सकता है।

कुछ उपयोगकर्ताओं को लगता है कि लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम की ग्राफिकल उपयोगकर्ता इंटरफेस अन्य ऑपरेटिंग सिस्टमों के मुकाबले कम आकर्षक होती है।

कुछ उपकरण और हार्डवेयर केवल विशेष लिनक्स डिस्ट्रीब्यूशन में ही समर्थित होते हैं। इससे उपयोगकर्ताओं को एक प्रतिष्ठित हार्डवेयर विकल्प का चयन करना पड़ सकता है।

लिनक्स और विंडोज़ के बीच अंतर

लिनक्स और विंडोज़ दोनों ऑपरेटिंग सिस्टम हैं, लेकिन दोनों में अंतर हैं। नीचे कुछ मुख्य अंतर बताए गए हैं:

लाइसेंस: लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम मुफ्त होता है जबकि विंडोज़ लाइसेंस आधारित होता है। इसलिए, लिनक्स को विंडोज़ की तुलना में अधिक खरीदने वालों के लिए सस्ता होता है।

संगतता: विंडोज़ का उपयोग संगतता के लिए अधिक लोकप्रिय है क्योंकि यह एक व्यापक सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर बेस पर काम करता है। लिनक्स भी संगत है, लेकिन इसमें कुछ समस्याएं हो सकती हैं।

ग्राफिकल उपयोगकर्ता इंटरफेस: विंडोज़ अपनी ग्राफिकल उपयोगकर्ता इंटरफेस के लिए ज्यादा जाना जाता है जबकि लिनक्स कम। लिनक्स को तो कंमांड लाइन इंटरफेस से भी चलाया जा सकता है।

सुरक्षा: लिनक्स को विंडोज़ से अधिक सुरक्षित माना जाता है क्योंकि इसमें वायरसों और मैलवेयर से बचाव के लिए ज्यादा सुरक्षा उपलब्ध है

लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम के Components

लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम के कुछ मुख्य Components निम्नलिखित हैं:

कर्नल (Kernel) –

यह सिस्टम का मुख्य हिस्सा होता है जो हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के बीच संचार करता है। यह सिस्टम की सुरक्षा, विशेषताओं, और प्रदर्शन पर असर डालता है।

सिस्टम उपयोगिता (System Utility) –

यह सिस्टम के विभिन्न पहलुओं को संचालित करने के लिए उपयोग किया जाता है। उदाहरण के लिए, फ़ाइल प्रबंधन, नेटवर्क कॉन्फ़िगरेशन, लोग फ़ाइलों का प्रबंधन आदि।

सिस्टम लाइब्रेरी (System Library)-

System libraries उन special functions या programs को कहते है जो application programs या system utility Kernel के features को access करती हैं। ये libraries operating system के सभी functionalities को implement करती हैं और उन्हें ऐसा करने के लिए kernel module’s code access rights की जरूरत नहीं होती है।

लेस्स कमांड इन हिंदी

यदि अपने कभी भी लिनक्स का इस्तेमाल नहीं किया है और आप पहली बार इस्तेमाल कर रहे है basic common Linux commands के बारे में आपको जानना जरुरी है। आपको मेने कुछ लिस्ट दी है जिसके मदद से आप आसानी से समझ सकते है।

Command Function
ls यह आपको current directory content को list कर देगी.
cd इससे आप आसानी से current Directory को change कर सकते हैं.
cat आप file content को screen पर display कर सकते हैं,और साथ ही  text files को copy और combine भी कर सकते हैं.
history इससे आप सभी executed commands list को screen में देख सकते हैं.
chmod file permission को बदल सकते हैं.
chown और साथ ही file owner बदल सकते हैं.
clear  clear screen कर सकते हैं और fresh start के लिए.
df used और available disk space देख सकते हैं.
date आप current system date और time को display कर सकते हैं.
du इसमें आप यह पता लगा सकते है की कोन सी file कितनी जगह ली हुई है.
file आप file में जरुरी type of data को recognise कर सकते हैं.
find आप file में कोई भी term search कर सकते हैं.
man आप specific command के लिए help display कर सकते हैं.
cp इससे files और folders copy कर सकते हैं.
mv इससे आप files और Directory को rename और move कर सकते हैं.
mkdir new directory create कर सकते हैं.
lpr इससे आप किसी भी प्रकार की file content print कर सकते हैं.
less आप file content को page by page देख सकते हैं.
tar कोई भी file को compress, create और extract tar file कर सकते हैं.
grep  एक file में string को search कर सकते हैं.
ssh remote machine के साथ connect और login encrypted & secure कर सकते हैं.
su इससे अलग user में switch कर सकते हैं.
rmdir empty directory remove कर सकते हैं.
rm  files and directories (empty or non-empty) remove कर सकते हैं.
pwd  current user working directory को display करवा सकते हैं.
ps आप running process id के साथ दुसरे information को display करवा सकते हैं.
passwd इससे user password change सकते हैं.
more इससे  file page by page display कर सकते हैं.
kill process को kill कर सकते हैं उनके process id की help से.
gzip इससे आप एक compress file with .gz extension create कर सकते हैं.
unzip इससे आप कोई file को unzip or uncompress कर सकते हैं.
shutdown इससे machine को shutdown कर सकते हैं.
free इसका use dhow के लिए किया जाता है
who इससे current user के information को display कर सकते हैं जो की logged in हो.
whatis इससे आप कोई भी command information एक single line में दिखा सकते हैं.
tail इससे आप किसी भी file के last ten lines को print करवा सकते हैं.
wget किसी भी file को internet से download करके rename कर सकते हैं और आप अपने हिसाब से store कर सकते हैं.
Distribution क्या है?

Distribution, लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम के विभिन्न विकल्पों में से एक होता है जो एक संपूर्ण ऑपरेटिंग सिस्टम का एक सेट प्रदान करता है। एक डिस्ट्रीब्यूशन टूलसेट, लाइब्रेरी, एप्लीकेशन और टूल्स के साथ आता है जिससे एक उपयोगकर्ता एक संपूर्ण लिनक्स सिस्टम को आसानी से संस्थापित और उपयोग कर सकता है। कुछ प्रसिद्ध लिनक्स डिस्ट्रीब्यूशन हैं – Ubuntu, Fedora, Debian, Red Hat, CentOS, Arch Linux आदि। डिस्ट्रीब्यूशन के अलावा, कुछ लिनक्स डिस्ट्रीब्यूशन निशुल्क होते हैं जबकि कुछ अन्य उपयोगकर्ताओं के लिए शुल्क लेते हैं।

Ubuntu Linux Linux Mint
Arch Linux Deepin
Fedora Debian
क्या Linux Operating System पूरी तरह से Virus /Malware मुक्त होता है?

यदि आप यह जानना है तो में आपको बतादू इसका जवाब नहीं, लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम पूरी तरह से वायरस और मैलवेयर से मुक्त नहीं होता है, लेकिन इसकी सुरक्षा बहुत ज्यादा होती है और इसके पास कम नुकसान होते हैं। यह इसलिए है कि लिनक्स एक ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर होता है जो उपयोगकर्ताओं को सोर्स कोड को देखने और एकदृष्टि में उसमें सुरक्षा बग या निष्क्रियताओं का पता लगाने की अनुमति देता है। इसके अलावा, लिनक्स में अधिकांश उपयोगकर्ताओं के लिए एंटीवायरस सॉफ्टवेयर उपलब्ध होता है जो इसे सुरक्षित रखने में मदद करता है। तथापि, अगर उपयोगकर्ता सुरक्षा समस्याओं और बग्स के लिए नियमित रूप से अपडेट नहीं करता है तो उनके सिस्टम को संक्रमण के जोखिम से अधिक भी प्रभावित होने का खतरा होता है।

Linux Operating Systems के Application

LibreOffice – एक मुफ्त ऑफिस सूट जो डॉक्यूमेंट, स्प्रेडशीट, और प्रेजेंटेशन तैयार करने के लिए उपयोग की जाती है।

GIMP – एक मुफ्त और खुला स्रोत छवि संपादक जो फोटोशॉप के समकक्ष होता है।

Firefox – एक मुफ्त और खुला स्रोत वेब ब्राउज़र।

Thunderbird – एक मुफ्त और खुला स्रोत ईमेल क्लाइंट जो ईमेल भेजने और प्राप्त करने के लिए उपयोग किया जाता है।

VLC – एक मुफ्त और खुला स्रोत मीडिया प्लेयर जो विभिन्न मीडिया फ़ाइलों को खेलने के लिए उपयोग किया जाता है।

Audacity – एक मुफ्त और खुला स्रोत ऑडियो संपादक जो आवाज रिकॉर्ड करने और संपादित करने के लिए उपयोग किया जाता है।

Inkscape – एक मुफ्त और खुला स्रोत वेक्टर ग्राफ़िक्स संपादक जो वेब डिज़ाइन और लोगो तैयार करने के लिए उपयोग किया जाता है

Linux Operating Systems का भविष्य

लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम का भविष्य बहुत उज्ज्वल है। लिनक्स एक मुक्त और खुला स्रोत सॉफ्टवेयर है जिसे दुनिया भर में लाखों लोगों द्वारा बनाया जाता है। इससे इसके समाजीक, आर्थिक और सांस्कृतिक विस्तार होते हैं जो इसे स्थायी बनाते हैं।

भविष्य में लिनक्स का उपयोग विभिन्न क्षेत्रों में बढ़ने की संभावना है, जैसे कि सर्वर, स्मार्टफोन, टैबलेट, IoT उपकरण और अन्य उपकरण। इसके अलावा, अनुकूलन, सुधार, सुरक्षा और संचालन के लिए लिनक्स में नए और उन्नत सुविधाएं भी जोड़ी जा रही हैं। इसलिए, लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम आने वाले समय में भी एक अहम और उपयोगी टूल बना रहेगा।

निष्कर्ष

यह तक दोस्तों आपने सीखा की Linux क्या है उम्मीद है आपको मेरा बताया गया तरीका अच्छा लगा होगा यदि आप ऐसे ही और हिंदी ब्लॉग पढ़ना चाहते हैं तो आप बिलकुल सही वेबसाइट पर आये है में अपने ऑडियंस को हिंदी में और फ्री में जानकारी देती हूँ यदि आप मेरी इस वेबसाइट के साथ ऐसे बने रहते है तो आपको टेक्नोलॉजी से जुड़े या अन्य जानकारिया ऐसे हिंदी हिंदी में जानने को मिलेगी इसके लिए आपको सबसे पहले JUGADME को सब्सक्राइब करना होगा जिससे आप तक मेरे बनाये गए पोस्ट आप तक आसानी से पहुंच जाये। और अपने रिश्तेदारों को जरूर शेयर करे। मुझे आपलोगो को सहयोग की अति आवश्यकता है।
धन्यवाद

FAQs Linux क्या है

Linux क्या है और यह कैसे काम करता है?
Linux एक ऑपरेटिंग सिस्टम है जो कंप्यूटर हार्डवेयर को मैनेज करने और उसपर सॉफ्टवेयर को चलाने के लिए डिज़ाइन किया गया है। यह उपयोगकर्ता इंटरफ़ेस, सिस्टम लाइब्रेरी और उपयोगकर्ता एप्लिकेशन जैसे कि वर्ड प्रोसेसर और इंटरनेट ब्राउज़र जैसे उपयोगकर्ता सॉफ्टवेयर के साथ आता है। Linux एक स्थिर, सुरक्षित और एकीकृत ऑपरेटिंग सिस्टम है जो विभिन्न उपयोगकर्ता स्तरों के लिए उपलब्ध है।

Linux के कुछ प्रसिद्ध डिस्ट्रीब्यूशन कौन से हैं?
कुछ प्रसिद्ध Linux डिस्ट्रीब्यूशन हैं: Ubuntu, Debian, Fedora, Red Hat Enterprise Linux (RHEL), CentOS, Arch Linux और SUSE Linux Enterprise आदि।

क्या Linux पर Windows सॉफ्टवेयर चलाया जा सकता है?
Windows सॉफ्टवेयर Linux पर सीधे नहीं चलता है। लेकिन आप Wine या CrossOver जैसे एप्लिकेशन का उपयोग करके Windows सॉफ्टवेयर को Linux पर चलाने की कोशिश कर सकते हैं।

RELATED ARTICLES
5 1 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Most Popular