Saturday, February 24, 2024
Homeदेश दुनियाRam Mandir Aarti Timing: रामलला की आरती का समय क्या है

Ram Mandir Aarti Timing: रामलला की आरती का समय क्या है

Ram Mandir Aarti Timing: अयोध्या राम मंदिर की मूर्ति भगवान राम की बालस्वरूप मूर्ति है। यह मूर्ति काले पत्थर से बनी है और इसकी ऊंचाई 51 इंच है। मूर्ति में भगवान राम कमल के आसन पर खड़े हुए हैं और उनके हाथ में धनुष और बाण है। उनके चेहरे पर एक दिव्य मुस्कान है और उनकी आँखों में करुणा है।

मूर्ति को कर्नाटक के मूर्तिकार अरुण योगीराज ने बनाया है। मूर्ति को बनाने के लिए 12 साल का समय लगा और इसमें 300 कारीगरों ने काम किया। मूर्ति को बनाने के लिए काले पत्थर का उपयोग इसलिए किया गया क्योंकि यह पत्थर मजबूत और टिकाऊ होता है। साथ ही, काले पत्थर को भगवान राम के श्यामल वर्ण का प्रतीक माना जाता है।

रामलला की आरती का समय क्या है- मूर्ति को अयोध्या राम मंदिर के गर्भगृह में स्थापित किया गया है। मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा 22 जनवरी 2024 को हुई थी। मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा से पूरे देश में खुशी की लहर दौड़ गई थी।

Ram Mandir Aarti Timing

Ram Mandir Aarti Timing:

  • जागरण और शृंगार आरती: सुबह 6:30 बजे
  • भोग आरती: दोपहर 12:00 बजे
  • संध्या आरती: शाम 7:30 बजे

रामलला की आरती का समय क्या है- जागरण और शृंगार आरती में शामिल होने के लिए एक दिन पहले बुकिंग करानी होगी। भोग आरती और संध्या आरती में शामिल होने के लिए दिन में बुकिंग कराई जा सकती है। आरती में एक बार में सिर्फ 30 लोग ही शामिल हो सकेंगे।

अयोध्या में दर्शन का समय क्या है?

  • सुबह का सत्र: सुबह 7:00 बजे से 11:30 बजे तक
  • दोपहर का सत्र: दोपहर 2:00 बजे से शाम 7:00 बजे तक

दोनों सत्रों में दर्शन के लिए ऑनलाइन बुकिंग की जा सकती है। बुकिंग श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की वेबसाइट या मोबाइल ऐप पर जाकर की जा सकती है।

  • सभी श्रद्धालुओं को मास्क पहनना अनिवार्य है।
  • श्रद्धालुओं को मंदिर में प्रवेश करने से पहले अपना हाथ धोना होगा।
  • श्रद्धालुओं को मंदिर परिसर में साफ-सफाई का ध्यान रखना होगा
  • दर्शन के लिए सुबह जल्दी पहुंचें, क्योंकि लाइनें लंबी हो सकती हैं।
  • मंदिर परिसर में धूम्रपान और पान-मसाला जैसे पदार्थों का सेवन न करें।
  • मंदिर परिसर में बच्चों की सुरक्षा का ध्यान रखें।

अयोध्या में दर्शन का समय और नियम समय-समय पर बदल सकते हैं। इसलिए, दर्शन के लिए जाने से पहले श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की वेबसाइट या मोबाइल ऐप पर जानकारी प्राप्त कर लें।

राम मंदिर की पूजा कब हुई थी?

राम मंदिर की पूजा दो बार हुई है। पहली बार 5 अगस्त 2020 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भूमि पूजन किया था। दूसरी बार 22 जनवरी 2024 को मंदिर में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा की गई थी।

भूमि पूजन के बाद मंदिर निर्माण का कार्य शुरू हुआ और 22 जनवरी 2024 को मंदिर का निर्माण पूरा हो गया। 22 जनवरी 2024 को ही रामलला की प्राण प्रतिष्ठा की गई। इस अवसर पर देशभर से लाखों श्रद्धालु अयोध्या पहुंचे थे।

RELATED ARTICLES
5 1 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Most Popular