Wednesday, July 24, 2024
HomeपरिचयIAS रवि कुमार सिहाग का जीवनी परिचय IAS Ravi Kumar Sihag biography...

IAS रवि कुमार सिहाग का जीवनी परिचय IAS Ravi Kumar Sihag biography in Hindi

हेलो मेरे पिरे दोस्तों मैं हूँ आनंद और मैं आज आप शभी को बताने जा रहा हूँ की IAS RAVI KUMAR SHIAG कई जीवन परिचय कई बारें मैं तो चलिए बिना वक्त जाया करें शुरू करते है।

IAS (रवि कुमार सिहाग) का जीवन परिचय 

आईएएस रवि कुमार सिहाग का जीवन परिचय, बायोग्राफी, मार्कशीट, टाइम टेबल, वैकल्पिक विषय, आयु,  जन्मदिन,  जाति, परिवार, शिक्षा, रैंक, जन्म तिथि, पोस्ट, सैलरी यह साडी बातें मैं आज आप शभी को बताऊंगा आज के इस पोस्ट मैं या कहें की आज के इस सुन्दर से आर्टिकल मैं।




IAS रवि कुमार सिहाग जीवनी परिचय-संघ लोक सेवा आयोग आयोजित (UPSC) द्वारा आयोजित (CIVIL) सर्विस परीक्षा की हर वर्ष लाखों अभ्यर्थी तैयारी करते है जिसमे से यह एक है. यह सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक है जो की भारत मैं होता है. इस एग्जाम को पास करना कई युवाओं का सपना होता है क्युकी यह इतना कठिन होता हैं की विद्यार्ति अपना सब कुछ छोड़ कर के पढ़ाई मैं इतना ज्यादा धयान देते हैं की अपनी भूख प्यास सब भूल जाते हैं इस एग्जाम को क्रॉस करने के लिए और यह सपना जब सच हो जाता है तो उनकी जीत की कहानी लाखों युवाओं के लिए एक प्रेरणा का जरिया बन जाता है इस से उनक अंदर भी एक उम्मीद जग ती हैं . कुछ लोगो की कहानियाँ इतनी प्रेरणा जनक होती है कि उनके सामने घर संघर्ष और चुनौती फीकी पड़ जाती है.

हम बात कर रहे है एक किसान के परिवार से ताल्लुख रखने वाले रवि कुमार सिहाग जो की एक गरीब परिवार से विलोम करते हैं जिन्होंने सिमित संसाधन में रहकर (UPSC) सिविल सर्विस परीक्षा 2021 में ऑल इंडिया 18 रैंक प्राप्त की जो की उनके व्हे उनके पुरे परिवार के साथ साथ उनके गांव उनके स्टेट के साथ साथ ही उन्होंने पुरे भारत का नाम रोसन किया हैं. वैसे रवि ने 2 बार पहले भी  पर्यटन किया लेकिन रैंक कम होने की वजह से यह मुकाम हासिल नही हो सका और हिंदी माध्यम से निरंतर प्रयास कर 2021 में 18 रैंक हासिल की. तो आज के इस लेख में हम आपको आईएएस रवि कुमार सिहाग का जीवन परिचय (IAS Ravi Kumar Sihag) के बारें में  जानकारी देने वाले है.



आईएएस रवि कुमार सिहाग का जीवन परिचय 

  • अब हम आपको उनकी पूरी जानकारी देते हैं तो चलिए शुरू करते हैं।
  • नाम (Name)-रवि कुमार सिहाग (Ravi Kumar Sihag)
  • जन्म तारीख (Date of birth) -2 नवंबर 1995
  • जन्म स्थान (Place)-चक 3 बीएएम, विजयनगर, श्रीगंगानगर, राजस्थान
  • उम्र (Age)-27 साल
  • धर्म (Religion)-हिंदू धर्म
  • जाति (Cast)-बिश्नोई
  • समुदाय (Community)-ईडब्ल्यूएस (आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग)
  • पेशा  (Profession)-आईएएस अधिकारी
  • प्रयास (Attempt)-4 बार
  • सफल-3 बार
  • ऑल इंडिया रैंक (Rank)-18वीं  (2021)
  • मार्क्स (Marks)-1022
  • रोल नंबर (Roll Number)-6624586
  • वैकल्पिक विषय (Optional Subject)-हिंदी साहित्य
  • शिक्षा माध्यम (Education Medium)-हिंदी माध्यम
  • बैच (Batch)-2022
  • पोस्ट की जगह (Place Of Post)       –
  • कैडर (Cadre Allocation)-मध्यप्रदेश
  • वर्तमान पद (Current Position)       –
  • पहली सर्विस (First Service)-इंडियन रेलवे ट्रैफिक सर्विस (IRTS)
  • Rank – 317 (2018)
  • दूसरी सर्विस (Second Service)-इंडियन डिफेन्स अकाउंट सर्विस (IDAS)
  • Rank – 337 (2019)
  • शिक्षा (Educational Qualification)-स्नातक (राजनीती विज्ञान, अर्थशास्त्र और अंग्रेजी साहित्य) 2015
  • स्कूल (School)     न्यू आफ सीनियर सैकंडरी स्कूल, श्रीगंगानगर
  • कॉलेज(College)-शारदा कॉलेज, श्रीगंगानगर
  • नागरिकता (Nationality) -भारतीय
  • राशि (Zodiac Sign)-तुला
  • भाषा(Languages)-हिंदी, इंग्लिश
  • वर्तमान पता (Address)-विजयनगर, श्रीगंगानगर, राजस्थान
  • वैवाहिक स्थिति (Marital Status)-अवैवाहिक
  • शौक (Hobby)-वर्कआउट करना, खेती करना
  • सैलरी (Salary)-56,100 रुपये+टीए, डीए (7वें वेतन आयोग)

कौन है रवि कुमार सिहाग।

IAS रवि कुमार सिहाग जीवनी परिचय-रवि कुमार सिहाग राजस्थान के अंदर श्रीगंगानगर के रहने वाले है व्यक्ति हैं . किसान परिवार से ताल्लुख रखने वाले रवि कुमार की शिक्षा हिंदी मीडियम से हुई हैं . और इन्होने स्थानीय कॉलेज से राजनीती विज्ञान, अर्थशास्त्र और अंग्रेजी साहित्य से स्नातक किया हैं मेरा मतलब यह हैं की इन्होने यह से अपनी विद्या प्राप्त की हैं. साल 2017 से (UPSC) की तैयारी में जुट गए और चार बार प्रयास के बाद 3 बार मैं सफल रहे हालांकि (IAS) चौथे प्रायस में बने.जो साल 2021 में हिंदी मीडियम से 18वीं रैंक हासिल की. आईएएस रवि कुमार सिहाग का जन्म, परिवार हम इनकी और इनके परिवार की पूरी जानकारी दंगे इस आर्टिकल मैं।

IAS रवि कुमार सिहाग जीवनी परिचय-रवि कुमार सिहाग का जन्म राजस्थान के अंदर के जिले श्रीगंगानगर की तहसील चौक 3  BEM गली , विजयनगर में 2 नवंबर 1995 को एक मध्यमवर्गीय परिवार में हुआ था और वह शुरू साई मेहनती थे .उनके पिता रामकुमार सिहाग जो कि एक किसान परिवार से विलोम करते हैं और माता जी विमला देवी जो (HOUSE  WIFE)है. रवि की तीन बड़ी बहने भी है. बड़ी बहन पूनम सिहाग जो की  (HOUSE  WIFE)है,  दुशरी भएन जो हैं उनकी वह रवीना सिहाग जो कि सूरतगढ़ में अंग्रेजी टीचर है और सबसे छोटी बहन कोमल सिहाग रायसिंह नगर में कृषि पर्यवेक्षक है.




रवि कुमार सिहाग के परिवार की जानकारी।

  • पिता का नाम (Ravi Kumar Sihag )-राम कुमार सिहाग
  • माता का नाम (Ravi Kumar Sihag)-विमला देवी
  • बहन (Ravi Kumar Sihag)-पूनम सिहाग (हाउसवाइफ)
  • रविना सिहाग (अंग्रेजी टीचर)
  • कोमल सिहाग (कृषि पर्यवेक्षक)
  • आईएएस रवि कुमार सिहाग की शिक्षा।

आईएएस रवि कुमार सिहाग की शिक्षा।

IAS रवि कुमार सिहाग जीवनी परिचय-रवि कुमार की शुरूआती शिक्षा गांव के अंदर  3 BM विजयनगर के सरस्वती विद्या विधालय के मंदिर से हुई. कक्षा 11वीं की पढ़ाई अनूपगढ़ श्रीगंगानगर के शारदा स्कूल के विद्यालया से हुई और कक्षा की पढ़ाई 12वीं न्यू होप सीनियर सैकंडरी स्कूल के विद्यालाया  विजयनगर से पूर्ण हुई थी. इसके बाद साल 2015 में अनूपगढ़ के शारदा कॉलेज (Ravi Kumar Sihag College)से की झा पर उन्होने राजनीती विज्ञान, अर्थशास्त्र और अंग्रेजी साहित्य में BA किया. ग्रेजुएट के बाद यूपीएससी की तैयारी में लग गए.

रवि कुमार सिहाग का चुनौतीपूर्ण भरा सफ़र।

IAS रवि कुमार सिहाग जीवनी परिचय-रवि बचपन से ही अपने पिता के साथ-खेती बड़ी मैं मदद किया करते थे जिससे उनके पिता जी का काम आसान हुआ करता था  किसानी का काम देखते थे. अपने ग्रेजुएशन तक रवि ने खेती के काम से जुडी सभी ज़िम्मेदारी खुद बे खुद किया करते थे संभाली. जब रवि को खेती, सिंचाई या फिर इससे संबंधित समस्या आती तो कलेक्टर ऑफिस जाना होता था, वहा पर ही इस समस्या का समाधान हुआ करता था . तब से रवि के दिमाग में ये बात आती थी कि कलेक्टर कौन होता है जिसके पास सभी तरह की समस्या का समाधान रहता हैं. और गाँव के लोगों से भी अक्सर कलेक्टर की ही बात सुना करते थे कि तू कौनसा कलेक्टर है जो ये काम तू कर देगा. ऐसी बाते सुनकर रवि के मन में उत्सुकता पैदा होने लगी थी और एक दिन उन्होंने मन मैं  ठान लिया था कि कितनी भी परेशानी आये अब तो कलेक्टर ही बनना है.




 

 

 

RELATED ARTICLES
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Most Popular